अश्वगंधा टेबलेट के फायदे और नुकसान और सेवन विधि | Ashwagandha teblet ke fayde

Ashwagandha teblet ke fayde : दोस्तों नमस्कार आज हम आप लोगों को अश्वगंधा टेबलेट के फायदे बताएंगे अश्वगंधा टेबलेट कई सारी बीमारियों का रामबाण इलाज माना जाता है इसका सेवन पाउडर तेल या कैप्सूल के रूप में किया जाता है अश्वगंधा बहुत पहले से ही आयुर्वेद औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता है.



इसका प्रयोग करने से आपके शरीर के शारीरिक व मानसिक दोनों शक्ति बढ़ती है अश्वगंधा का इस्तेमाल गठिया , चिंता , नींद आना , ट्यूमर , दम अस्थमा , त्वचा पर सफेद दाग , आदि जैसी बीमारियों से आपको छुटकारा दिलाता है और अगर आपकी पीठ दर्द हो रही है मांसपेशियों में दर्द है मानसिक धर्म की समस्या है.

अश्वगंधा टेबलेट के फायदे

तो वह इसे भी ठीक कर देता है.

♦ लेटेस्ट जानकारी के लिए हम से जुड़े ♦
WhatsApp ग्रुप पर जुड़े 
WhatsApp पर जुड़े 
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
Google News पर जुड़े 

अश्वगंधा का इस्तेमाल सोचने की शक्ति को बढ़ाता है और आपके शरीर में कहीं पर भी सूजन है तो उसे भी कम करता है इसीलिए दोस्तों आज हम आप लोगों को अश्वगंधा टेबलेट के फायदे बताएंगे अगर आप सबको भी इन बीमारियों में से कोई एक बीमारी है.

आप अश्वगंधा का इस्तेमाल कर सकते हैं तो चलिए आज हम आप लोगों को ऐसे डिटेल से बताते हैं कि इसके क्या क्या फायदे हैं क्या क्या नुकसान है और इसे कब और कितनी मात्रा में लेना चाहिए।


अश्वगंधा टेबलेट का सेवन कैसे करें ? | Ashwagandha teblet ka sevan kaise kare ?

अगर हम बात करें अश्वगंधा की तो यह भारत में पाई जाने वाली जड़ी बूटी है जो जड़ के रूप में पाई जाती है इसे पुनर्नवा के नाम से जाना जाता है .इसे सफेद मुस्ली के नाम से भी जाना जाता है इसके अलावा यह लाल मुसली  प्रजाति की भी पाई जाती है .

अश्वगंधा पौधों की जड़ों को सुखाकरबारीक पीसकर पाउडर के रूप में इस्तेमाल किया जाता है इसकी जड़ को भी खाया जा सकता है  अश्वगंधा की जड़ों में बहुत सारे गुण पाए जाते हैं यह विटामिन से भरपूर होते हैं यह बहुत सारे मिनरल्स से भरा होता है जिसके कारण अश्वगंधा की जड़ों का इस्तेमाल किया जाता है.

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

अश्वगंधा के रूप में सैकड़ों आयुर्वेदिक अश्वगंधा ताकतवार औषधि के रूप में रिकमेंड किया जाता है और सैकड़ों सालों से इसे यूज किया जा रहा है अश्वगंधा खाने के दौरान लोगों को टेस्ट संबंधित शिकायत होती है तो पतंजलि ने उसे टेबलेट के रूप में बदल दिया . टेबलेट में स्वाद की कोई समस्या ना होती है . आजकल कई कंपनियों ने अश्वेगंधा के tablet तैयार किया है जिनको हम मेडिकल स्टोर से प्राप्त कर सकते हैं .

अश्वगंधा

अश्वगंधा के tablet प्रतितीं एक सुबह और दूसरा शाम को ले सकते  हैं अगर आप चाहें तो शुरू में इसे रात में भी ले सकते हैं . परन्तु ध्यान रहे कि खाने के डेढ़ घंटे बाद लेना फायदेमंद माना जाता है अश्वगंधा कैप्सूल को पानी के साथ लिया जाता है जैसे हम नॉर्मल कैप्सूल लेते हैं वैसे इसे दूध के साथ ले सकते हैं वह ज्यादा फायदा करेगा।

अश्वगंधा टेबलेट का इस्तेमाल कैसे करें ?

अश्वगंधा टेबलेट को इस्तेमाल करने के दो प्रकार हैं पहला पानी के साथ दूसरा दूध के साथ .अगर आप पानी या दूध किसी एक के साथ अश्वगंधा का इस्तेमाल करते हैं तो सबसे पहले पानी या दूध को गर्म करना आवश्यक है हो सके तो अश्वगंधा को दूध के साथ उबल कर ले जो अधिक लाभकारी है .

अश्वगंधा टेबलेट

 

इस टेबलेट को आप खाली पेट इस्तेमाल ना करें इससे आपको कई प्रकार के नुकसान भी हो सकते हैं अगर आप इसको दूध के साथ लेते हैं तो यह आपके लिए ज्यादा फायदेमंद साबित होगा इसीलिए अश्वगंधा टेबलेट का इस्तेमाल पानी या दूध के साथ ही कीजिए।

अश्वगंधा टेबलेट के फायदे | Ashwagandha tablet ke fayde

  1. यह अश्वगंधा टेबलेट तनाव के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होती है ।
  2. अश्वगंधा टेबलेट महिला और पुरुष की अंदरूनी कमजोरी बहुत जल्द ठीक कर देती है और यह उनके लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होती है।
  3. अश्वगंधा टेबलेट का इस्तेमाल सैकेबायोजिक प्रॉब्लम एनर्जी फिजिकल ईशु और कुछ मेंटल ईशु को दूर करने के लिए एक रामबाण औषधि मानी गई है।
  4. अश्वगंधा जिसका बोटैनिकल नेम ब्रिटानिया सौमिनी फेरा है इसको India winter cherry aur Indian Ginseng के नाम से भी जाना जाता है यह बहुत आसानी से चू या टेबलेट के तौर पर आपको दुकान या मेडिकल शॉप पर मिल जाती है इसका इस्तेमाल करने वाले जो पार्ट है वह इसकी जड़े हैं और इसमें घोड़े की स्मेल आती है इसीलिए इसका नाम अश्वगंधा पड़ा है कई लोग कहते हैं यह Mela के लिए ही है लेकिन यह जितना मेल के लिए है उतना ही female के लिए भी मायने रखता है।
  5. जिन लोगों को शुगर की शिकायत रहती है शुगर की वजह से शरीर की नसें कमजोर पड़ जाती हैं उनके लिए बहुत फायदेमंद है क्योंकि यह हमारे अमाशय पर असर करता है। क्योंकि यह हमारे नरवल सिस्टम पर असर करता है जिसकी वजह से हमारे शरीर की कमजोरी को भी कम करता है और उसी वजह से शुगर भी मेंटेन रहता है।
  6. जिनके शरीर में सूजन रहती है उनके लिए बहुत फायदेमंद होता है उनके लिए अश्वगंधा का पाउडर पीने मैं फायदेमंद है और लेप लगाने में भी फायदेमंद है।
  7. अगर आपकी हाइट नहीं बढ़ रही है तो केवल 30 दिन अश्वगंधा की टेबलेट या पाउडर खाया पी लेने से आप की हाइट दुगनी हो जाएगी।
  8. यह गुर्दों को भी ताकत देता है जिसकी वजह से पेशाब भी खुलकर आती है और भी इसके कई सारे फायदे हैं अगर आप अश्वगंधा नहीं पीते या खाते हैं तो आज से ही इसे खाना या पीना शुरू कर दीजिए।

अश्वगंधा टेबलेट के नुकसान | Ashwagandha tablet ke nuksan

अश्वगंधा चूर्ण के फायदे

  1. अश्वगंधा दवा चूर्ण कैप्सूल के रूप में आपको मिल जाता है कई रोगों मैं तो अश्वगंधा को रामबाण इलाज माना जाता है सदियों से अश्वगंधा को जड़ी-बूटी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।
  2. अश्वगंधा का ज्यादा सेवन करने से आप को नुकसान हो सकता है इससे आपको बुखार गर्दन दर्द की समस्या भी हो सकती है अश्वगंधा का अधिक इस्तेमाल आपके पेट के लिए नुकसानदेह हो सकता है अगर आप आज सुगंधा ज्यादा इस्तेमाल करते हैं.
  3. तो डायरिया लूज मोशन जैसी बीमारी उत्पन्न हो सकती है या आपके ब्लड प्रेशर को भी ग्रसित आ सकता है इससे पेट दर्द की भी समस्या होती है इसीलिए अश्वगंधा का ज्यादा इस्तेमाल ना करें और अश्वगंधा का ज्यादा इस्तेमाल करने से बचें। क्योंकि या जितना ही फायदेमंद है उतना ही नुकसानदेह भी हैं।

FAQ : अश्वगंधा टेबलेट के फायदे

अश्वगंधा टेबलेट खाने से क्या फायदा है?

अश्वगंधा टेबलेट खाने में बहुत ही फायदेमंद हैं क्योंकि यह तनाव , स्टेटस के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होती है।

अश्वगंधा टेबलेट खाने से क्या होता है?

अश्वगंधा टेबलेट आपके सर्दी जुखाम जैसी बीमारियों से लड़ने की ताकत देता है अश्वगंधा वाइट ब्लड सेल्स और रेड ब्लड सेल्स दोनों को बढ़ाने में आपकी मदद करता है या कई सारी गंभीर समस्याओं में लाभकारी है अश्वगंधा टेबलेट कई सारी मानसिक बीमारियों और तनाव जैसी समस्याओं को दूर करने में आपकी मदद करता है।

अश्वगंधा टेबलेट क्या है?

अश्वगंधा टेबलेट खाने से आपके दिल संबंधित समस्याओं का समाधान मिल जाता है क्योंकि इसमें एंटी ऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण कोलेस्ट्रॉल की कमी को पूरा करता है अगर आप इसका सेवन करते हैं तो यह आपके दिल की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है और बैड कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करता है। यह आजकल लोग डायबिटीज से सीधे ग्रसित हो रहे हैं।

निष्कर्ष

आशा करते हैं आपको हमारा यह अश्वगंधा टेबलेट के फायदे लेख आप को बहुत ही पसंद आया होगा उम्मीद करते हैं कि अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा है तो आप इसे ज्यादा से ज्यादा पढ़े और इसका इस्तेमाल करने की कोशिश करें जैसे हमने आपको बताया है अगर आप वैसे ही अश्वगंधा टेबलेट का इस्तेमाल करते हैं तो आपको कभी भी कोई दिक्कत नहीं होगी।

osir news
यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
कोई सलाह देना है या हम से संपर्क करना है ? अभी तुरंत अपनी बात कहे !
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले .

यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन