जाने गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति के उपाय और 3 बेजोड़ नुस्खे | Garud puraan ke anusaar putr praapti ke upay

गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति के उपाय | Garud puraan ke anusaar putr praapti ke upay : हेलो दोस्तों नमस्कार स्वागत है आपका हमारे आज के इस नए लेख में आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति के उपाय के बारे में बताने वाले हैं वैसे तो हर एक महिला और पुरुष के अंदर पुत्र प्राप्ति की चाहत रहती है।

यह चाहत तब अधिक हो जाती है जब दंपत्ति को पहले से ही संतान के रूप में पुत्री की प्राप्ति हो जाती है वैसे तो आजकल के समय में पुत्र और पुत्री को एक समान ही माना जाता है। लेकिन कुछ ऐसे लोग होते हैं जो पुत्री के साथ पुत्र की भी चाहत रखते हैं ऐसे में कई दंपत्ति के भाग्य में पुत्र नहीं लिखा होता है।

Garud puraan ke anusaar putr praapti ke upay, garud puran ke anusar putra prapti ke upay, garud puran ke anusar putra prapti, गरुड़ पुराण के अनुसार पत्नी के कर्तव्य, पुत्र प्राप्ति के लिए कौन से दिन अच्छे होते हैं ?, garun puran ke anusar putra prapti ke upay, garud puran ke anusar karmo ka fal, पुत्र प्राप्ति के लिए गर्भधारण कब करें, पुत्र प्राप्ति के लिए डेट कैसे निकाले, putra prapti ke liye kab sambandh banaye, putra prapti ke liye kab sambhog karna chahiye, putra prapti ke liye kab sambhog karna chahie, पुत्र प्राप्ति के लिए घरेलू उपाय, Putra prapti ke liye gharelu upay , पुत्र प्राप्ति के लिए घरेलू उपाय, पुत्र प्राप्ति के आयुर्वेदिक उपाय, putra prapti ke liye gharelu upay, putra prapti ke gharelu upay, putra prapti ke liye upay in hindi, putra prapti ke upay in gujarati, putra prapti ke liye kya upay karen,

तो हर समय पुत्री की ही प्राप्ति होती रहती है ऐसे में उसे दंपत्ति को गरुड़ पुराण के अनुसार उपाय जो बताए जाते हैं उनका प्रयोग करना चाहिए गरुड़ पुराण के अनुसार बताए गए उपाय को करने से पुत्र की प्राप्ति होती है इसीलिए आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति के उपाय के बारे में बताने वाले हैं।

उसके साथ पुत्र प्राप्ति के कुछ अन्य उपाय भी बताएंगे तो आप यह सारी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति के उपाय | Garud puraan ke anusaar putr praapti ke upay

गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति के उपाय हम आप लोगों को नीचे देने वाले हैं अगर आप उन उपायों को अपनाते हैं तो अवश्य ही आपको पुत्र की प्राप्ति होती है।

1. अगर कोई भी महिला पुत्र की प्राप्ति चाहती है तो उसे अपने मासिक धर्म के 4 दिन पहले से ही अपने पति को अपना मुंह नहीं दिखाना चाहिए और इन चारों दिनों में पुरुष को भी महिला का मुंह नहीं देखना चाहिए और उस महिला से दूर भी रहना चाहिए।

ऐसा करने के बाद जैसे ही या 4 दिन खत्म होते हैं उस महिला को कपड़े सहित स्नान करना है उसके बाद वह मासिक धर्म से छूट जाती है उसके बाद पुरुष महिला का मुंह देख सकते हैं। उसके बाद आपको चारों दिन पूरे हो जाने के बाद 7 दिन होने पर उस महिला को भगवान की पूजा अर्चना करनी चाहिए और व्रत भी रखना चाहिए।

उसके बाद अगर आप गरुड़ पुराण के अनुसार उन 7 दिनों के भीतर संबंध बनाते हैं तो आपकी संतान बुरे विचार वाली होती है इसीलिए आपको इन 7 दिनों मैसंबंध नहीं बनाना है। उसके बाद गरुड़ पुराण के अनुसार अगर आप 7 दिन खत्म होने के बाद यानी कि आठवें दिन संबंध बनाते हैं तो आपको पुत्र की प्राप्ति अवश्य होती है।

2. हम आप लोगों को बता दें कि गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति के लिए मुलहठी,आंवला और सतावर को काटकर उन तीनों चीजों को अच्छी तरह से पीसकर उसके बाद कपड़े से छानकर रख लेना है उसके बाद आपको इस औषधि को रविवार के दिन से शुरू करना है आपको इस औषधि का सेवन गाय के दूध के साथ करना है अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको पुत्र की प्राप्ति अवश्य होती है।

3. वैसे क्या आप जानते हैं कि गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति का एक बहुत ही बेहतरीन उपाय बताया गया है वह उपाय इस प्रकार है पुत्र प्राप्ति के लिए आपको मंगलवार के दिन गहरा लाल कपड़ा लेना है और उस कपड़े में थोड़ा-सा सेंधा नमक बांध लेना है.

Son

उसके बाद आपको हनुमान मंदिर जाना है और उस पोटली को हनुमान जी के चरणों में समर्पित कर देना है उसके बाद वहां से आपको वापस आकर गर्भिणी के पेट से बांध देना है ऐसा करने से आपका गर्भपात तुरंत रुक जाता है।

4. गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति का एक बहुत ही बेहतर उपाय बताया गया है ऐसा कहा गया है कि पत्नी को शनिवार के दिन चने की रोटियां बनानी है और उन पर धी का लेप लगाना है आपको उस रोटी पर कोई भी सूखी सब्जी इस प्रकार रखें कि वह सब्जी दोनों रोटियों के मध्यम में हो अब आपको पति पत्नी दोनों ही किसी भूखे को रोटी खिला दे और उसे अपनी इच्छा अनुसार दक्षिणा भी दे यह उपाय करने से आपको एक सुंदर सा पुत्र प्राप्त होता है।

5. हम आप लोगों को बता दें कि गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति का एक बहुत ही अच्छा उपाय बताया गया है पुत्र प्राप्ति के लिए सोमवार के दिन गर्भवती स्त्री को कपूर का एक देसी टुकड़ा लेना है उसके बाद उसे आधा अपने सामने रखकर जला देना है और बाकी का आधा माता भगवती के चरणों में चढ़ा देना है गरुड़ पुराण के अनुसार ऐसा कहा गया है कि ऐसा करने से पुत्र की प्राप्ति होती है।

6. गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति के लिए एक बहुत ही बेहतर उपाय बताया गया है ऐसा कहा गया है कि अगर किसी स्त्री के बच्चे गर्भ में ही मर जाते हैं तो उन्हें चाहिए कि झड़बेरी के पत्ते, आक के पत्ते, बबूल के पत्ते,पीपल के पत्ते, अरंड के पत्ते, 7 कुओं का पानी,सात चौराहों की मिट्टी लाकर अमावस्या के दिन एक नए बर्तन में रख लेना है.

उसके बाद आपको एक बेरी के पेड़ के नीचे जाकर उसी पानी से स्नान करना है ऐसा करने से आपको गर्भपात के रोग से छुटकारा मिल जाता है और आपका पुत्र भी स्वस्थ रहता है।

7. हम आप लोगों को बता दें कि गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति का एक बहुत ही बेहतर उपाय बताया गया है अगर किसी महिला का गर्भ धारण हो गया हो तो उसे एक चांदी की बांसुरी बनाकर राधा कृष्ण के मंदिर में पति पत्नी दोनों साथ में गुरुवार के दिन चढ़ानी चाहिए गरुड़ पुराण के अनुसार गर्भपात होना बंद हो जाएगा और पुत्र की भी प्राप्ति होगी।

8. गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति का एक बहुत ही बेहतर उपाय बताया गया है ऐसा कहा गया है कि शुभ नक्षत्र में गूंजा मूल को चांदी के खोल में भरकर स्त्री अपनी कमर में धारण करें और अगर स्त्री स्वस्थ है तो उसे अपने पति के साथ संबंध बनाने पर आपको पुत्र की प्राप्ति होती है अगर आपको पहला पुत्र नहीं हो रहा है तो भी आप इस उपाय को कर सकते हैं।

9. गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति का एक उपाय बताया गया है ऐसा कहा गया है कि अगर प्रसव वेदना में आपको अधिक कष्ट हो रहा हो तो आपको नीम की जड़ को लेकर स्त्री अपने कमर में बांध ले ऐसा करने से स्त्री की प्रसव पीड़ा बंद हो जाती है और आपकी होने वाली संतान भी स्वस्थ रहती है।

10. गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति का एक उपाय और भी बताया गया है ऐसा कहा गया है कि कंड मुहूर्त में कलिहारी की जड़ को लेकर गंगाजल से पवित्र करने के बाद रेशम के धागे में बांधकर अगर गर्भवती स्त्री के बाए हाथ में बांधा जाए तो प्रसव आसानी से होता है और आपकी संतान भी स्वस्थ रहती है।

पुत्र प्राप्ति के लिए गर्भधारण कब करें ? | Putra prapti ke lie garbh dharan kab kare ?

अगर आप लोग पुत्र प्राप्ति करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको शुक्ल पक्ष की रात्रि को गर्भ धारण करना चाहिए ऐसे में आप लोग शुक्ल पक्ष की छठी 8वीं 10वीं 12वीं रात्रि को संबंध बनाकर गर्भ धारण कर सकते हैं.

गर्भाशय

गर्भधारण के समय आपको बिल्कुल भी खटाई नहीं खानी है और जैसे ही गर्भधारण हो जाता है तो उस महिला को बछड़े वाली गाय का दूध पीना शुरु कर देना चाहिए दोस्तों अगर आप लोग यह उपाय करते हैं तो आप अवश्य ही पुत्र के लिए गर्भधारण कर पाएंगे।

पुत्र प्राप्ति के लिए घरेलू उपाय | Putra prapti ke liye gharelu upay

Son

दोस्तों क्या आप लोग पुत्र प्राप्ति करना चाहते हैं अगर आप लोग पुत्र प्राप्ति करना चाहते हैं तो आज हम आप लोगों को पुत्र प्राप्ति करने के कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे बताने जा रहे हैं जो बहुत ही कारगर साबित होने वाले हैं

1.क्या आप जानते हैं कि लाल किताब के अनुसार ऐसा कहा गया है कि अगर किसी महिला को संतान की प्राप्ति नहीं हो पा रही है और संतान प्राप्ति में कई सारी बाधाएं उत्पन्न हो रही हैं तो ऐसे में आप लोगों को यह उपाय करना चाहिए.

एक चांदी का तार लेकर उसे किसी अग्नि में डाल देना चाहिए उसके बाद उसे दूध में डाल देना चाहिए और उसे निकालने के बाद दूध को पी लेना चाहिए अगर आप ऐसा 40 दिन तक लगातार करते हैं तो आपकी कुंडली में शुक्र की स्थिति मौजूद हो जाती है और आप को संतान की प्राप्ति अवश्य होती है।

2. अगर कोई भी महिला संतान प्राप्ति की इच्छा रखती है और उसे किसी कारणवश संतान की प्राप्ति नहीं हो पा रही है तो उस महिला को अपने पति के साथ लगभग 6 महीने पहले से ही तैयारी करनी होगी अपने पति को दूध से बनी हुई चीजें जैसे कि दूध मक्खन रबड़ी आदि जो का सेवन कराना चाहिए।

3. गर्भधारण ऋतुकाल की अष्टमी दसवीं और 12वीं रात्रि को ही किया जाना चाहिए जिस दिन मासिक ऋतुकाल की शुरुआत होती है उसी दिन की रात को प्रथम गिनती करना चाहिए पुत्र की प्राप्ति के लिए छठ की आठवीं आदि सम रात्रिया पुत्र प्राप्ति के लिए ही बनी होती है.

लेकिन इस समय एक बार ध्यान जरूर दें इन यात्रियों के समय शुक्ल पक्ष यानी चांदनी रात वाला पखवाड़ा भी हो, होना अनिवार्य होता है अगर आपको पुत्र की प्राप्ति चाहिए तो आपको यह जरूर करना चाहिए।

पुत्र प्राप्ति के लिए कौन से दिन अच्छे होते हैं ?

Son

दोस्तों अगर आप लोग यह जानना चाहते हैं कि पुत्र प्राप्ति के लिए कौन सा दिन सबसे अच्छा होता है तो हमारे आयुर्वेदा ग्रंथों में ऐसा बताया गया है कि शुक्ल पक्ष कृष्ण पक्ष तथा महावरी के दिन से 16 दिन तक इसका महत्व माना जाता है।

FAQ : गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति के उपाय

कौन सी पूजा करने से पुत्र की प्राप्ति होती है?

हमारे शास्त्रों में ऐसा कहा गया है कि अगर आपको पुत्र प्राप्ति करनी है तो आपको भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए शिव पार्वती सहित भगवान शंकर की पूजा करने से शीघ्र ही पुत्र की प्राप्ति होती है इसके अलावा अगर आप लोग भगवान विष्णु की पूजा करते हैं तो भी आपको पुत्र की प्राप्ति होती है पुत्र प्राप्ति के लिए भगवान शिव के पंचाक्षर मंत्र का जाप करना चाहिए।

पुत्र प्राप्ति के लिए शिवलिंग पर क्या चढ़ाना चाहिए?

पुत्र प्राप्ति के लिए भगवान शिव की आराधना करनी चाहिए उनकी अराधना करने के लिए आपको सोमवार के दिन जल्दी उठकर स्नान आदि से निश्चिंत हो जाना है उसके बाद शिवलिंग पर दूध चढ़ाकर सच्चे मन और श्रद्धा से भगवान शिव की आराधना करें.और साथ ही भगवान शिव की सेवा करें इसके दौरान आपको नारियल के बीज को निकालकर भगवान शिव के पास रख देना है और भगवान शिव के सामने देसी घी का दीपक जला देना है अगर आप इस प्रकार भगवान शिव की आराधना करते हैं तो आपको अवश्य ही पुत्र की प्राप्ति होती है।

पुत्र प्राप्ति के लिए कौन सा पाठ करना चाहिए?

ऊं देवकी सुत गोविंद वासुदेव जगत्पते ।

देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गत:।।

निष्कर्ष

दोस्तों जैसा कि आज हमने आप लोगों को इस लेख के माध्यम से गरुड़ पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति के उपाय बताया इसके अलावा पुत्र प्राप्ति के घरेलू उपाय क्या है और गर्भधारण कब करना चाहिए इन सारे विषयों के बारे में विस्तार से बताया है उम्मीद करते हैं आज का हमारा यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा और आपको पसंद भी आया होगा धन्यवाद।

Leave a Comment