गुस्सा क्यों आता है जाने 11 वजह : छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा क्यों आता है ? | Gussa kyu aata hai : gussa aane ki vajh | छोटी छोटी बात पर गुस्सा आना

गुस्सा क्यों आता है | Gussa kyu aata hai : आज के हमारे इस आर्टिकल का मुद्दा है कि गुस्सा क्यों आता है और हम अपने गुस्से को कैसे कंट्रोल कर सकते हैं.हमें पता है कि, इस बारे में जानने में बहुत कम लोग ही इंटरेस्टेड होंगे, परंतु जिन लोगों को यह पता करना है कि उन्हें गुस्सा क्यों आता है, तो उन्हें हमारा यह आर्टिकल अवश्य पढ़ना चाहिए.



गुस्सा क्यों आता है, गुस्सा क्यों आता है कारण बताइए, गुस्सा क्यों आता है इन हिंदी, गुस्सा क्यों आता हैं, गुस्सा तेज क्यों आता है, gussa kyon aata hai in hindi, gussa kyon aati hai, gussa kyun aata hai in hindi, bahut jyada gussa kyon aata hai, gussa jyada kyu aata hai, gussa q aata hai, gussa kyon hota hai, gussa kis karan se aata hai,

हमें कभी-कभी सामान्य परिस्थितियों में गुस्सा आ जाता है, जो स्वाभाविक है,परंतु यह उन लोगों के लिए बहुत ही ज्यादा चिंता का विषय है, जिन्हें बहुत ज्यादा गुस्सा आता है, क्योंकि गुस्सा करना हमारी सेहत के लिए तो अच्छा नहीं होता है, साथ ही साथ हमारी बॉडी के लिए भी अच्छा नहीं होता है. क्योंकि गुस्से में हम कुछ ऐसे काम कर डालते हैं.

जिसका पछतावा हमें तब होता है जब हमारा गुस्सा शांत होता है और तब हम यह सोचकर काफी दुखी होते हैं कि हमने क्या कर डाला. कई लोग ऐसे होते हैं. जिनहे छोटी-छोटी बातों पर भी बहुत तेज गुस्सा आ जाता है, वहीं कई लोग ऐसे होते हैं जो अपने गुस्से को कंट्रोल करना सीख जाते हैं. जिसके कारण वह जल्दी किसी वाद विवाद या लड़ाई झगड़े में नहीं पड़ते हैं.

♦ लेटेस्ट जानकारी के लिए हम से जुड़े ♦
WhatsApp ग्रुप पर जुड़े 
WhatsApp पर जुड़े 
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
Google News पर जुड़े 

गुस्सा क्या है ? | gussa kya hai ?

अगर सामान्य भाषा में कहा जाए तो गुस्से का मतलब होता है किसी की मनोवृति के प्रति पूर्ण भावना प्रकट होना. यह एक ऐसी कंट्रोल में ना आने वाली भावना होती है जो आदमी को मानसिक के साथ-साथ शारीरिक और आर्थिक नुकसान भी पहुंचाती है और अगर हम सामने वाले को भी गुस्से की नजर से देखते हैं तो उसे भी नुकसान पहुंचता है और अगर इसे परिवार के साथ जोड़कर देखा जाए, तो परिवार के लोगों को भी नुकसान पहुंचता है.

angry


गुस्सा हर प्रकार से नेगेटिव कैटेगरी में आता है, जिसके कारण पीड़ित व्यक्ति और पीड़ित व्यक्ति से जुड़े हुए लोग ज्यादा प्रभावित होते हैं. क्योंकि जब व्यक्ति को गुस्सा आता है, तब उसे यह समझ में ही नहीं आता है कि उसे क्या करना चाहिए. ऐसी अवस्था में वह कभी-कभी कुछ ऐसी अनहोनी कर बैठता है, जो बहुत ही खतरनाक मानी जाती है और जिसकी भरपाई कभी भी नहीं हो पाती.

गुस्सा क्यों आता है ? | Gussa kyu aata hai ?

dushman

आइए अब इस बात पर चर्चा कर लेते हैं कि आखिर हमें गुस्सा क्यों आता है और गुस्सा आने के पीछे कौन कौन से कारण जिम्मेदार होते हैं :

गुस्सा आने के 11 कारण | Gussa aane ke 11 karan

इस दुनिया में शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति हो जिसे गुस्सा ना आता हो, क्योंकि गुस्सा सभी लोगों को आता है. हालांकि कुछ लोगों को कम गुस्सा आता है और कुछ लोगों को ज्यादा गुस्सा आता है.जिस व्यक्ति को ज्यादा गुस्सा आता है उसे इस पर कंट्रोल करने की आवश्यकता होती है, अधिक गुस्सा आने के पीछे निम्न कारण हो सकते हैं.

ज्यादा गुस्सा आने के कारण  Reasons of Anger

1. अत्यधिक तनाव

वर्तमान के समय में व्यक्ति कौई न कोई टेंशन अवश्य होती है और लोग हमेशा किसी ना किसी बात को लेकर चिंतित रहते हैं. जो लोग बात बात में चिंता करते हैं उनकी वही चिंता बाद में जाकर टेंशन का रूप ले लेती है.

mood change

जिस आदमी को ज्यादा चिंता होती है, वह मानसिक तौर पर अपंग होने लगता है और उसकी इंद्रियां सही ढंग से काम नहीं करती हैं और बाद में यहीं टेंशन गुस्से के रूप में दूसरे लोगों पर निकलती है. जब आदमी टेंशन में होता है तो उसे छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा आने लगता है. ऐसी अवस्था में वह चाह कर भी टेंशन को दूर नहीं कर पाता है और ना ही अपने गुस्से पर काबू कर पाता है.

2. चिडचिड़ापन

जब आदमी चिड़चिड़ा हो जाता है,तो ऐसी अवस्था में भी वह अपनी भावनाओं पर कंट्रोल नहीं कर पाता है और ऐसे लोग छोटी-छोटी बातों पर बहुत ही ज्यादा व्याकुल हो जाते हैं. मनुष्य के चिड़चिड़ा स्वभाव के पीछे हीन भावना, टेंशन, कोई बीमारी या फिर आर्थिक स्थिति जिम्मेदार होती है और अधिकतर लोगों में गुस्सा और चिड़चिड़ापन एक साथ देखा जाता है. ऐसे में जब कोई व्यक्ति इनके साथ बदतमीजी से बात करता है, तो इन्हें बहुत ज्यादा गुस्सा आ जाता है और कभी-कभी तो यह मारपीट पर उतर आते हैं.

3. हीन भावना

कई व्यक्ति ऐसे होते हैं, जो अपने आपसे संतुष्ट नहीं होते हैं और वह हमेशा अपने दुख और सुख की तुलना दूसरे लोगों से करते हैं और ऐसा करने से उनके अंदर हीन भावना आ जाती है और वह हीन भावना का शिकार हो जाते हैं.

जिस व्यक्ति के अंदर हीन भावना आ जाती है. वह मानसिक तौर पर विकृत हो जाता है और उसे बात बात पर ही अचानक से बहुत तेज गुस्सा आने लगता है,जिसके कारण वह पहली बात तो ज्यादा लोगों से बात नहीं करता है और जब उसे गुस्सा आता है, तो वह किसी भी व्यक्ति से बदतमीजी से बात करता है. ऐसे लोगों को यह पता ही नहीं चलता है कि वह क्या बोल रहे हैं.

4. कमजोर होना.

weakness man

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

ऐसे लोगों को भी ज्यादा गुस्सा आता है, जो आर्थिक तौर पर या फिर शारीरिक तौर पर कमजोर होते हैं और ऐसे लोग हीन भावना के भी शिकार होते हैं. अगर देखा जाए, तो आर्थिक तौर पर कमजोर या फिर शारीरिक तौर पर कमजोरी हीन भावना को जन्म देती है और हीनभावना से ही गुस्सा पैदा होता है, जो आदमियों को ज्यादा गुस्से वाला बनाता है.

5. फैमिली प्रॉब्लम

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है जिसे अपने परिवार के साथ जिंदगी गुजारनी होती है और परिवार के सुख दुख के साथ ही उसका सुख और दुख जुड़ा हुआ होता है और अगर ऐसी अवस्था में उसकी फैमिली में कोई दिक्कत आती है या कोई भी परेशानी आती है तो उसके परिवार के साथ साथ यह परेशानी उसे भी बहुत ज्यादा प्रभावित करती है,जिसके कारण वह टेंशन लेने लगता है और यही टेंशन बाद में जाकर क्रोध का स्वरूप ले लेती है.

6. नौकरी की प्रकृति

कई लोग ऐसा काम करते हैं, जिनमें उन्हें मानसिक तौर पर बहुत ही ज्यादा प्रेशर का सामना करना पड़ता है और ऐसी अवस्था में भी उन्हें ज्यादा गुस्सा आता है. क्योंकि जब आदमी का दिमाग शांत नहीं होता है और उसके दिमाग में हमेशा प्रेशर और टेंशन भरी होती है, तो गुस्सा आना स्वाभाविक है.

7. नशीले पदार्थों का सेवन करना.

जो लोग नशीले पदार्थों का सेवन करते हैं, उन्हें भी काफी ज्यादा गुस्सा आता है. अगर कोई ऐसा व्यक्ति है, जो बीड़ी, सिगरेट, गुटका, तंबाकू या शराब का सेवन करता है तो शुरुआत में तो उसे काफी अच्छा लगता है परंतु जब धीरे-धीरे उसे इसकी लत लग जाती है तो वह इन सभी नशीली चीजों का सेवन काफी ज्यादा मात्रा में करने लगता है.

habits

ऐसी अवस्था में उसका दिमाग पहले जैसा शांत नहीं रहता है और हमेशा उसके दिमाग में उथल-पुथल और फालतू की चीजें आती रहती है जिसके कारण वह नशे का आदी हो जाता है और जब उसे नशा सही समय पर नहीं मिलता है तो उसे बहुत ही तेज गुस्सा आता है और गुस्से में वह कभी-कभी अनहोनी भी कर डालता है.

8. अनुवांशिक या संस्कार

ज्यादा गुस्सा आने का कारण अनुवांशिक भी हो सकता है. अगर आपके परिवार में आपके माता-पिता या फिर आपके दादा-दादी को बिना कारण ज्यादा गुस्सा आता है, तो ऐसी संभावना भी हो सकती है कि आप भी इसके शिकार आनुवांशिक तौर पर हो सकते हैं.

9. लाइफस्टाइल

खराब लाइफस्टाइल भी ज्यादा गुस्सा आने का कारण होती है. अगर आप अपनी रोजाना की नींद सही ढंग से पूरी नहीं कर पाते हैं या फिर अधिक मात्रा में आप तेल मसाले अथवा मांस का सेवन करते हैं, तो ऐसी अवस्था में भी आपको गुस्सा आता है.

10. बीमारी

disease-fever cold

जो लोग किसी बीमारी से परेशान होते हैं, वह लोग मानसिक और शारीरिक तौर पर कमजोर होने लगते हैं. जिसके कारण उनका स्वभाव भी चिड़चिड़ा हो जाता है और जब उन्हें परिवार से सहयोग नहीं मिलता है तो उनका स्वभाव गुस्से वाला हो जाता है.

11. धैर्य की कमी

यह भी देखा गया है कि अक्सर जिन लोगों में धैर्य की कमी होती है. उन्हें भी ज्यादा मात्रा में गुस्सा आता है, क्योंकि ऐसे लोग बहुत जल्द किसी चीज को पाना चाहते हैं और जब उन्हें वह चीज जल्दी नहीं मिलती है, तो उन्हें गुस्सा आने लगता है.

osir news
यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
कोई सलाह देना है या हम से संपर्क करना है ? अभी तुरंत अपनी बात कहे !
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले .

यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन