अच्छे स्वास्थ्य के लिये प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए ? | Pregnancy me subah kitne baje uthna chahiye

प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए | Pregnancy me subah kitne baje uthna chahiye : हेलो हमारी प्यारी बहनों आज मैं आप लोगों के लिए लेकर आई हूं एक बहुत ही महत्वपूर्ण टॉपिक जिसमें मैं आप लोगों को बताऊंगी प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए, क्योंकि प्रेगनेंसी 9 महीने की एक लंबी प्रक्रिया है.

प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए | Pregnancy me subah kitne baje uthna chahiye

जिसमें हर महिला को अपनी प्रेगनेंसी को स्वस्थ बनाए रखने के लिए अपने खान-पान पर ध्यान देने के साथ-साथ उठने, बैठने, सोने, जगने, आदि का समय निर्धारित कर लेना चाहिए. क्योंकि प्रेगनेंसी में सोने और जागने के लिए एक बेहतर समय निर्धारित कर लेने से गर्भ में पल रहे बच्चे का शारीरिक विकास होने के साथ-साथ मानसिक विकास भी काफी अच्छे से होता है.

5 महीने से गर्भ में पल रहा बच्चा मां की हर बातों को अनुभव करने लगता है इसलिए जरूरी है कि आप प्रेगनेंसी में हर कार्य को करने का एक समय निर्धारित करें और सब से प्रेम पूर्वक बातें करें तो आपके बच्चे के लिए काफी अच्छा रहेगा.

ऐसे में अगर आप भी प्रेगनेंसी के दौर से गुजर रही हैं और आपके मन में यह सवाल चल रहा है कि प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए, तो कृपया करके हमारे इस लेख को शुरू से अंत तक अवश्य पढ़ें, तो आपको आपके मन में प्रेगनेंसी से रिलेटेड जो भी प्रश्न है उनके सभी सरल और सटीक शब्दों में आंसर प्राप्त हो जाएंगे.

क्योंकि मैं इस लेख में आप लोगों को प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए इस जानकारी के साथ-साथ प्रेग्नेंसी के दौर से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण बातें भी बताऊंगी जो आपके गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास के लिए काफी महत्वपूर्ण है इसलिए कृपया करके इस लेख को शुरू से अंत तक अवश्य पढ़ें.

प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए ? | Pregnancy me subah kitne baje uthna chahiye ?

यहां पर मैं प्रेगनेंसी की अवस्था को ध्यान में रखते हुए बताऊंगी अगर आप प्रेग्नेंट है और काफी ज्यादा ठंडी का मौसम है तो आपको कितने बजे उठना चाहिए ,और अगर आप प्रेग्नेंट है और गर्मी का मौसम है तो उसमें कितने बजे उठना चाहिए. क्योंकि ठंड और गर्मी का प्रेगनेंसी पर काफी असर पड़ता है.


इसलिए जरूरी है कि मौसम के हिसाब से अपनी प्रेग्नेंसी का ख्याल रखना जाए. इसीलिए हम यहां पर ठंडी और गर्मी के हिसाब से प्रेगनेंसी दौर से गुजर रही महिलाओं को उठने का सही समय बता रही हूं.

1. ठंडी के मौसम में प्रेग्नेंट महिलाओं को उठने का सही समय

अक्सर करके दिसंबर महीने से लेकर ठंडी का मौसम आ जाता है, जिसमे रोज सुबह बहुत ज्यादा कोहरा पड़ता है, जिसके प्रभाव में ज्यादा देर तक रहने से आपको ठंड लगने के साथ-साथ सर्दी जुखाम पेट दर्द बार-बार दस्त जाना जैसी समस्याएं हो सकती हैं इसीलिए इस मौसम में प्रेग्नेंट महिला को सुबह 7:00 बजे उठकर ब्रश करके नाश्ता कर लेना चाहिए.

Sleep

उसके बाद फिर से रजाई में पैर डाल कर बैठ जाना चाहिए, क्योंकि ठंडी में प्रेग्नेंट महिला को जब तक धूप ना खुले तब तक घर का कोई काम नहीं करना चाहिए नहीं तो आपको ठंड लग जाएगी और जब आपको ठंड लगेगी तो उसका असर गर्भ में पल रहे बच्चे पर पड़ेगा.

इसीलिए ठंडी के मौसम में आप 6 से 7 के बीच में उठ जाए लेकिन कोई काम ना करें, चुपचाप रजाई के अंदर बैठी रहे या फिर आग तापती रहें,और अगर थोड़ी बहुत धूप है तो आप धूप में बैठकर आराम करें तो काफी अच्छा रहेगा.

2. गर्मी के मौसम में प्रेग्नेंट महिला को उठने का सही समय

गर्मी के मौसम में प्रेग्नेंट महिला को रात में 9 से 10 के बीच सो जाना चाहिए और सुबह 4 बजे उठ जाना चाहिए, सुबह 4 बजे उठने के बाद घर के बाहर थोड़ा टाइम टहलना चाहिए और फिर नाश्ता पानी करना चाहिए उसके बाद घर का सामान्य कार्य करना चाहिए, सामान्य कार्य मतलब छोटा मोटा काम.

क्योंकि प्रेगनेंसी में कठिन काम नहीं करना चाहिए जैसे खड़े होकर खाना बनाना झुक कर झाड़ू लगाना , सीढ़ियां चढ़ना आदि, क्योंकि यह काम करने से गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास पर दबाव पड़ता है इसीलिए आपको गर्मियों के मौसम में 4 बजे उठने के बाद ऐसा काम करना चाहिए जो आप सरलता पूर्वक से कर सके.

प्रेगनेंसी में दिन में कितने घंटे की नींद लेना चाहिए ?

sleeping sona

प्रेग्नेंट महिला को रात में 7 से 8 घंटे की नींद लेने के साथ-साथ दिन में 2 घंटे की पर्याप्त नींद लेना उसकी सेहत के साथ-साथ उसके गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास के लिए काफी ज्यादा सहायक आवश्यक है.

प्रेगनेंसी में ध्यान रखने योग्य बातें

पहली बार मां बनने का एहसास बेहद खास और अलग होता है क्योंकि पहली बार मां बनने पर सब कुछ नया नया सा लगने लगता है जिसमें थोड़ी सी खुशी और थोड़ा सा डर भी बना रहता है क्योंकि प्रेगनेंसी के शुरुआत के 3 महीने काफी बेहद खास होते हैं जिसमें प्रेग्नेंट महिला को अपने गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास के लिए कुछ बातों पर विशेष ध्यान रखना चाहिए.

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 892 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

सपने में दूध से भरा बर्तन देखना, फटा दूध और पीते हुये देखना Sapne me dudh se bhara bartan dekhna
क्या खायें : टाइफाइड में चावल खाना चाहिए या नहीं ? | Typhoid me chawal khana chahiye ya nhi

लेकिन वह कौन सी बातें हैं इसके विषय में उन लोगों को जानकारी नहीं होती है जिसकी वजह से बच्चे के विकास में बाधा आ जाती हैं इसीलिए हम यहां पर बताएंगे प्रेग्नेंसी के 3 महीने तक किन-किन बातों को ध्यान रखना बेहद आवश्यक होता है. प्रेगनेंसी की अवस्था में इन बातों पर विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए जैसे :

1. डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी दवा का सेवन ना करें

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

अगर आप पहली बार प्रेगनेंसी दौर से गुजर रही है तो आपको प्रेग्नेंसी के 1 महीने से लेकर 3 महीने तक बिना डॉक्टर की सलाह की कोई भी दवा सेवन में नहीं लेना चाहिए, क्योंकि इन 3 महीनों में आपके गर्भ में भ्रूण का निर्माण होता है इसीलिए इस अवस्था को काफी नाजुक अवस्था कहा जाता है.

tablets

जिसमें किसी भी प्रकार की दवा का सेवन आपके गर्भ में पल रहे भ्रूण के निर्माण में बाधा डाल सकती है. इसीलिए कृपया करके अगर आपको प्रेगनेंसी में किसी भी प्रकार की समस्या होती है तो अपने आप दवा खाने से पहले डॉक्टर से अवश्य संपर्क करें.

2. अपने खानपान पर विशेष ध्यान दें

प्रेग्नेंसी के दौर में अपने गर्भ में पल रहे शिशु के शरीर और मानसिक विकास के लिए आपको अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए ताकि आपका बच्चा स्वस्थ और निरोग रहे स्वस्थ बच्चे के लिए आप जितना ज्यादा हो सके तरल पदार्थों का सेवन करें जो आपके शरीर में पानी की कमी और खून की कमी को पूरा करते हो.

क्योंकि प्रेगनेंसी के बाद महिलाओं में हार्मोन परिवर्तन होने की वजह से उन्हें खाना नहीं अच्छा लगता है और अगर कुछ खाती है तो उल्टी के माध्यम से बाहर आ जाता है इसीलिए कई महिलाओं में चिड़चिड़ापन की समस्या भी पाई गई है लेकिन आपको इन सभी समस्याओं के होते हुए भी अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए नहीं तो आपकी सेहत के साथ-साथ बच्चे के विकास पर बुरा असर पड़ता है

3. समय-समय पर चेकअप करवाते रहें

check person

जब आपको मालूम हो जाए की आप प्रेग्नेंट है तो पहले महीने से 3 महीने के बीच में आप अपना चेकअप करवाएं ताकि मालूम हो सके कि आपके शरीर में कितनी मात्रा में खून है और आपके शरीर में कौन-कौन सी कमजोरी है, साथ में यह भी पता चल सके कि आपके गर्भ में पल रहे बच्चे का विकास कैसा हो रहा है और उसमें किस प्रकार की कमी है और फिर उसी हिसाब से आप अपनी प्रेगनेंसी की अवस्था में सुधार सकते हैं. इसलिए जरूरी है कि समय-समय पर चेकअप करवाया जाए.

4. भारी सामान उठाने से बचे

प्रेगनेंसी में कोई भी भारी सामान उठाने से बचे क्योंकि कोई भी भारी सामान उठाने से आपके गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए नुकसानदायक हो सकता है साथ में आपको गर्भावस्था के दौरान हाई हील्स का प्रयोग नहीं करना चाहिए जितना हो सके समतल चप्पल का प्रयोग करना चाहिए तो आपकी प्रेगनेंसी के लिए काफी अच्छा रहेगा.

5. मसालेदार चीजों का सेवन कम करें

oily food

गर्भावस्था के दौरान अधिक तेलदार और मसालेदार चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए नहीं तो आपके पेट में गैस और कब्ज जैसी समस्याएं हो सकती हैं जिसका असर आपके गर्भ में पल रहे शिशु के विकास की प्रक्रिया पर पड़ेगा.

6. प्रेगनेंसी के 3 महीने तक शारीरिक संबंध न बनाएं

अगर आप पहली बार मां बन रही है तो यह बात आपके लिए जानना बहुत जरूरी है कि प्रेगनेंसी के पहले महीने से लेकर 3 महीने तक आपको अपने पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध बनाने से दूरी बरतनी चाहिए क्योंकि इस दौरान गर्भ में पल रहा बच्चा बहुत नाजुक होता है यानी कि इन 3 महीनों में उसके अंगों का विकास होता है.

sleep lover

इसीलिए इस दौरान सेक्स करने से आपको गर्भपात की समस्या हो सकती है अन्य जरूरी बातें जैसे :

osir news
  1. प्रेगनेंसी में खड़े होकर नहीं नहाना चाहिए नहीं तो पैर फिसलने का डर रहता है.
  2. प्रेगनेंसी में पेट के बल लेटने से बचना चाहिए.
  3. अधिक से अधिक पानी का सेवन करें शरीर में पानी की कमी ना होने दे नहीं तो गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास में बाधा के साथ-साथ डिलीवरी होने में भी समस्या होगी.
  4. गर्भावस्था में ऐसा कोई एक्सरसाइज ना करें जिससे आपके पेट पर कोई प्रभाव पड़ता हो नॉर्मल एक्सरसाइज अपनाएं.
  5. गर्भावस्था में किसी प्रकार की यात्रा नहीं करनी चाहिए ना ही खड़े होकर कोई काम करना चाहिए ऑफिस के काम में किसी की मदद लेनी चाहिए.

FAQ : प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए

1 महीने की प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए ?

1 महीने की प्रेगनेंसी में ज्यादा गर्म खाना खाने से बच्चे साथ में ज्यादा तेल और मसाले वाले खाने से भी दूर रहें.

1 महीने की प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए ?

1 महीने की प्रेगनेंसी में आपको प्रोटीन, फाइबर, आयरन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए साथ में तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए जो आपके शरीर में पानी की कमी को पूरा करते हों.

प्रेगनेंसी में क्या पढ़ना चाहिए ?

प्रेगनेंसी में रामायण, भगवत गीता और कई प्रकार के धार्मिक ग्रंथों का अध्ययन करना चाहिए ताकि आपके बच्चे के अंदर वैसे ही गुण हो जैसे आप चाहती हैं.

निष्कर्ष

तो दोस्तों जैसा कि आज हमने आप लोगों को इस लेख के माध्यम से प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए इस टॉपिक से संबंधित जानकारी प्रदान की है अगर आप लोगों ने इस लेख को शुरू से अंत तक पढ़ा होगा तो आप लोगों को इस टॉपिक से संबंधित सारी जानकारी अच्छे से प्राप्त हो गई होगी.

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

दुबलापन / पतलापन क्यों होता है ? शरीर का वजन कैसे बढाये ? मोटे होने के नुस्खे How to increase body weight? Tips for getting fat
नीम करोली बाबा मंत्र : नीम करोली बाबा जी की सम्पूर्ण आरती और लाभ | Neem karoli baba mantra
सोया चंक्स खाने के क्या फायदे है ? What are the benefits of eating soya chunks?
फेमस रेड लाइट एरिया इन जयपुर के बारे में जाने Phone number | Red light area in jaipur : रेड एरिया जयपुर
शनि रक्षा मंत्र जप और सम्पूर्ण पूजा विधि की जानकारी | Shani raksha kavach mantra
★ सम्बंधित लेख ★