लौंग खाने के फायदे : लौंग के पोषक तत्व, 8 नुकसान और 21 फायदे जाने | Laung khane ke fayde

लौंग खाने के फायदे और नुकसान :  लौंग (Mycenaean) ‘यूजीनिया कैरियोफ़ाइलेटा’ (Eugenia catastrophically) के पौधों से प्राप्त होने वाली सूखी हुई पुष्प कालिका है। लौंग का इस्तेमाल भारत में मसाले के रूप में किया जाता है। भारत में लौंग मसाले के साथ साथ पकवानों में और औषधि के रूप में भी किया जाता है।



खांसी में लौंग के फायदे, लौंग के क्या फायदे, लौंग के नुकसान और फायदे, laung khane ke fayde aur nuksan, laung ke fayde aur nuksan in hindi

लौंग एक बहुत छोटा सा फूल के आकार का होता है, जो लौंग के पेड़ से ही आता है. लौंग की हमारे भारतीय मसालों में मुख्य जगह है. इससे खाने को नया स्वाद, खुशबू मिलती है. लौंग खाने के अलावा औषधि के रूप में भी इस्तेमाल की जाती है. छोटे से छोटे व बड़े बड़े रोगों को लौंग झट से ठीक कर देती है।

लौंग में पोषक तत्व मात्रा प्रति 100 ग्राम (Clove nutritional value 100 gm)

S.N. पोषक तत्व का नाम   लौंग में पोषक तत्त्व की मात्रा 
1. सोडियम 277 mg
2. पोटेशियम 1020 mg
3. कार्बोहाइड्रेट 66 gm
4. प्रोटीन 6 gm
5. विटामिन A  3%
6. कैल्शियम 63%
7. आयरन 65%
8. मैग्नीशियम 64%
9. फाइबर 34 gm

लौंग के गुण 

लौंग के स्वास्थ्य लाभ के साथ-साथ लौंग के तेल में एंटीऑक्सीडेंट, रोग प्रतिरोधी, जीवाणुरोधी, एंटीवायरल, एंटीसेप्टिक, विरोधी भड़काऊ और एनाल्जेसिक गुण होते है. आयुर्वेद व चीनी चिकित्सा में लौंग के सूखे फूल की कलि, पत्ती, तना से तेल निकाला जाता है, फिर इस तेल का प्रयोग दवाई के लिए होता है. लौंग, लौंग का पाउडर व लौंग का तेल ये सभी बाजार में आसानी से मिल जाता है. इन सभी चीजों के अलग अलग फायदे है.

♦ लेटेस्ट जानकारी के लिए हम से जुड़े ♦
WhatsApp ग्रुप पर जुड़े 
WhatsApp पर जुड़े 
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
Google News पर जुड़े 

लौंग खाने के फायदे | Laung khane ke fayde

लॉन्ग एक औषधि पौधा है. जिसका उपयोग किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी समस्या के लिए प्रयोग करते हैं। यह एक प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को ठीक करने का तरीका है. आइए जानते हैं कि लौंग का हमारे दैनिक जीवन में कितना महत्व है?

यह कोई दवाई नहीं है बल्कि विभिन्न प्रकार की बीमारियों में प्रयोग की जाने वाली औषधि के रूप में है।


1. दांतों मसूड़ों और मुंह के लिए उपयोगी

Teeth

लौंग और लौंग का तेल विभिन्न प्रकार के पीरियडोंटल पैथोजेन (Periodontal Pathogens) से बचाव करता है। मसूड़ों में इंफेक्शन के कारण उत्पन्न होने वाले बैक्टीरिया, दांतों में दर्द आदि के लिए लौंग का तेल लाभकारी होता है। लौंग में यूजिनॉल नामक तत्व पाया जाता है, जो दांतों में होने वाले दर्द को नष्ट करता है।

2. डायबिटीज या मधुमेह के लिए लाभकारी

diabetes

लौंग में एंटीहाइपरग्लाइसेमिक, हाइपोलिपिडेमिक और हेपेटोप्रोटेक्टिव गुण होते हैं। इस गुण के कारण रक्त में उपस्थित ग्लूकोस या शर्करा की मात्रा को कम जाती है. जिससे मधुमेह की समस्या काफी हद तक नियंत्रित हो जाती है। डायबिटीज के साथ-साथ लौंग लिपिड में सुधार कर के लीवर की सुरक्षा करता है।

3. सर्दी या जुकाम खाँसी लौंग का इस्तेमाल

लौंग का उपयोग सर्दी खांसी जुखाम में किया जाता है. क्योंकि लौंग में एंटीइन्फ्लेमेटरी तत्व पाया जाता है, जो शरीर के अंदर बलगम को मुँह से निकाल कर श्वसन तंत्र को ठीक करता है।

4. पाचन और अपच में लौंग का प्रयोग

लौंग शरीर के एंजाइम्स को उत्तेजित करके पाचन तंत्र को ठीक करने का काम करता है। इसके सेवन से आंत में होने वाली जलन और अपच की समस्या को ठीक कर सकते हैं।

digestion pachan tantra

लौंग पाचन संबंधी समस्या जैसे पेट का फूलना, गैस, अपच, मतली, डायरिया और उल्टी के लक्षणों से राहत दिला सकता है। इसके अलावा लौंग और इसका तेल पेप्टिक अल्सर के लक्षण को भी कम कर सकता है। लौंग का सेवन शहद के साथ करने को कहा जाता है।

5. कान के दर्द में

संवेदना हारी और जीवाणुरोधी गुण मौजूद होने की वजह से लौंग कान में दर्द और कान में संक्रमण से तत्काल राहत दिलाने में अत्यंत सहायक है। लौंग का तेल और तिल के तेल को बराबर मात्रा में मिलकर गर्म करें। रुई की छोटी सी गोली बनाकर उसे तेल से भिगोकर कान के अंदर रखें, कान का दर्द ठीक हो जायेगा।

6. चेहरे पर मुहासे

Black Skin

लौंग चेहरे पर मुहासों को कम कर देता है, साथ ही मुहासों की वजह से गालों पर पड़ने वाले काले धब्बों को भी हटा देता है। इसके लिए लौंग का तेल और नारियल का तेल 1:10 के अनुपात में मिलाकर प्रभावित स्थान पर दिन में दो बार लगाने से काले धब्बे मिट जाते हैं।

7. तनाव को कम करने में

मनुष्य के शरीर में यूजिनॉल नामक तत्व पाया जाता है, जो शरीर के तनाव को कम करता है। जब कभी आप तनाव में हो, तो लौंग का सेवन करने से यूजिनॉल एक्टिव हो जाता है और मांस पेशियों के तनाव को कम कर देता है.

upset tanav tension

जिससे आपको तनाव से छुट्टी मिल जाती है। तनाव को कम करने के लिए लौंग का इस्तेमाल चाय के रूप में भी कर सकते हैं और नहाते समय लौंग के तेल को पानी में मिलाकर नहाने से तनाव कम हो जाता है।

8. सिर दर्द के दर्द में

सिर दर्द में लोंग का प्रयोग व्यक्ति को सिर दर्द जब भी होता है. उसका कारण माइग्रेन होता है. जब कभी आपको सर दर्द हो, तो आप लौंग के तेल को एक रुमाल में 10 से 15 मिनट तक माथे पर रख लें. जिससे रक्त वाहिकाएं शुद्ध रूप से कार्य करने लगेंगे और आपका सिर दर्द धीरे-धीरे समाप्त हो जाएगा।

Sick sir dard

इसके अलावा लोंग के तेल को किसी अन्य तेल जैसे बादाम, नारियल या सरसों के तेल में मिलाकर माथे पर मालिश करने से सिर दर्द धीरे धीरे कम हो जाएगा।

9- श्वसन संबंधी रोगों में U11 लौंग का प्रयोग

लौंग आम सर्दी, भरी हुई नाक, गले में खराश, वायरल संक्रमण, अस्थमा, तपेदिक, ब्रोंकाइटिस और विभिन्न साइनस की स्थिति के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। लौंग और लौंग के तेल कफ निस्सारक, जीवाणुरोधी और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के से भरपूर होता है.

जिसके कारण श्वसन तंत्र के लिए बहुत प्रभावी हैं।श्वसन के विकारों से बचाव करने के लिए, नियमित रूप से रोजाना दो-तीन लौंग चबाकर खाएं।

10. जोड़ों में दर्द

जोड़ो में दर्द , सूजी हुई मांसपेशियों, गठिया और सन्धिवात के दर्द से राहत पाने के लिए थोड़े से लौंग के तेल में जैतून तेल जैसा कोई भी वाहक तेल मिलाएं और इस मिश्रण से रोजाना दिन में कई बार प्रभावित क्षेत्र की मालिश करें।लौंग का तेल सूजन को कम करने और जोड़ों के दर्द, मांसपेशियों में दर्द और गठिया के दर्द को कम करने में अत्यंत प्रभावी हैं।

joint pain

इसमें कैल्शियम, ओमेगा -3 फैटी एसिड और लौह जैसे हड्डियों के लिए महत्वपूर्ण खनिज निहित हैं जो आपके जोड़ों और हड्डियों की ताकत व स्वास्थय में सुधार लाने में सक्षम है।

11. वजन कम करने मे

लौंग में एंटी ओबेसिटी प्रभाव होता है जिससे वसा के बढ़ते प्रभाव को रोका जाता है ।वजन कम करने के लिए लौंग का प्रयोग करें ।लौंग हमारे एंटी ओबेसिटी प्रभाव को बढ़ा देती है और वसा को कम कर देता है।

12. गर्भावस्था के दौरान उल्टी जी मिचलानाआदि में

गर्भावस्था किंग दौरान के दौरान होने वाली उल्टी जी मिचलाना होना स्वाभाविक है उस समय स्त्रियों को दो लॉन्ग बारीक पीसकर शहद के साथ खाने से लाभ होता है। इसके अलावा लौंग के तेल की2या3बूँद को गर्म पानी में डाल दें और धीरे धीरे पीये।

pregnant

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

आप ये भी कर सकते हैं कि2या3बूँद तेल कोरूमाल में लगाकर उसे बार बार सूंघते रहें तो उलटी या उबकाई रुक जाएगी।

14. त्वचा के रोग और घावों को ठीक करने में

दर्द को शांत तथा संक्रमण व बैक्‍टीरिया को भी रोकने की क्षमता लौंग में पाई जाती है। इसमें एनाल्‍जेसिक और एंटीसेप्टिक होने के कारण लौंग खरोंच, कट, चोट आदि का इलाज करने में प्रभावशाली होती है।

hand

इसके अलावा लौंग में मौजूद एंटी-इंफ्लामेटरी गुण घाव की सूजन को भी कम करती है। यदि आपको भी किसी प्रकार की चोट या घाव है तो आप लौंग का पेस्‍ट बनाएं और घाव के ऊपर लगाएं। आपके घाव जल्दी ठीक हो सकते हैं।

15. पुरुषों के लिए यौन स्वास्थ्य में लाभ

जायफल और लौंग के मिश्रित अर्क का सेवन पुरुषों के यौन स्वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होता है क्योकि लौंग में कामोत्तेजक गुण होते हैं।

16. नासूर को ठीक करने में

5-6लौंग10 ग्राम पिपली को हल्दी चूर्ण में मिलाकर नासूर पर लगाएं जिससे नासूर ख़त्म हो सकता है।

17. हृदय का दर्द ठीक करने में

heart- heart

 

जो लोग अक्सर सीने व हृदय के दर्द से पीड़ित हैं वे लोग 2-3लौंग को ठन्डे जल में पीसकर पिए।सीने का दर्द शांत हो जाता है।

18. दस्त को रोकने में

एक ग्राम लौंग और 3ग्राम हरड़ को मिलाकर काढ़ा बनाएं।इसमें थोड़ा सा सेंधा नमक डालकर पिलाने से दस्त ठीक हो जाते हैं।

19. गठिया रोग में सहायक

knee-arthritis gathiyaa

जिनको गठिया की शिकायत है वे लौंग के तेल की मालिश करें।

20. कुक्कुर खाँसी में लाभकारी है लौंग

कुक्कुर खाँसी की शिकायत होने पर लौंग के चूर्ण को शहद के साथ मिलाकर खाने से आराम मिलता है।

21. आँखों के लिए

red eye

लौंग को तांबे के बर्तन में पीस कर उसमें शहद मिलाकर आँखों में लगाने से आँखों के रोगों में आराम मिलता है। जहाँ लौंग रक्त संचार, पाचन,गैस,मितली और फूला हुआ पेट जैसे विकारो को ठीक करने में भी सहायक है,वहीँ लौंग रक्त विकार साँस की बीमारी और टी बी जैसे रोगों को दूर करती है।

लौंग खाने के नुकसान | Laung ke nuksan 

किसी भी चीज की अत्यधिक मात्रा हमेशा लाभ के साथ साथ हानिकारक हो सकती है. लौंग व उसके तेल के बहुत से फायदे है, लेकिन इसके नुकसान भी है, अधिक इस्तेमाल से ये हानि देते है. कई तरह की एलर्जी होने लगती है. आप इसे एक सीमित मात्रा में इस्तेमाल करें।

1. इससे ब्लीडिंग अधिक होती है 

बादी बवासीर

लौंग में उपस्थित यौगिक रस रक्त को पतला कर देता है जिससे गर्भवती महिलाओं को लौंग के इस्तेमाल से रक्तस्राव होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

2. ब्लड में शुगर का लेवल कम कर देता है 

जिन लोगों का शुगर लेवल कम है वे लोग लौंग का प्रयोग बिलकुल नहीं करें।क्योंकि लौंग एक अच्छा एंटी ऑक्सीडेंट होने के कारण शुगर लेवल को अत्यधिक काम कर सकती है ।इसके अधिक सेवन से शुगर की मात्रा इतना कम हो जाती है कि व्यक्ति को सुगर की मात्रा को बढ़ाना पड़ सकता है।

3. ज्यादा खाने से विषेले तत्व शरीर में इकठ्ठे होने लगते है 

take care of food

लौंग में एंटी इंफ्लेमेटरी तत्व होने से विषाक्तता को उत्पन्न करती है।जिससे शरीर में विषैले तत्व इकठ्ठा होने लगते और शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं।

4. एलर्जी होने लगती है 

लौंग की तासीर गर्म होती है. इसके अधिक सेवन से शरीर में खुजलाहट होने लगती है व अन्य प्रकार की एलर्जी हो सकती है।

osir news

लौंग के अन्य नुकसान क्या है ?

  1. लौंग की तासीर गर्म होने के कारण पेट के अंदर जलन होने लगती है।
  2. अत्यधिक गर्म तासीर के कारण गुर्दों आँतों को नुकसान होता है।
  3. लौंग का अत्यधिक सेवन कामोत्तेजना को कम कर सकती है।
  4. जो महिलाएं बच्चों को स्तन पान करा रही हैं उनको लौंग का सेवन कम करना चाहिए, इससे बच्चे पर बुरा असर पड़ता है।
यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
कोई सलाह देना है या हम से संपर्क करना है ? अभी तुरंत अपनी बात कहे !
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले .

यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन