शमी के पेड़ के 14 चमत्कारी टोटके : विजय,ज्ञान प्राप्ति और गरीबी हटाने के टोटके | शमी के पेड़ के टोटके

shami ke ped ke totke : हेल्लो नमस्कार दोस्तों आज हम आप लोगों को शमी के पेड़ के टोटके बताएंगे शमी पेड़ के बारे में हमारे रामायण में या पुराण महाभारत में इसका जिक्र किया गया है शमी का पौधा धार्मिक रूप से बहुत ही ज्यादा माना जाता है.

शमी के पौधे की लकड़ी को धार्मिक अनुष्ठान में उपयोग किया जाता है और घर में अगर आपके कोई भी हवन हो रहा है तो उसमें भी उपयोग कर सकते हैं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ऐसा माना जाता है कि शमी के पेड़ की पूजा करने से शनि ग्रह के जितने भी प्रकोप होते हैं या दुष्ट परिणाम होते हैं वह सब दूर हो जाते हैं.

शमी का पेड़ की पहचान, शमी के पेड़ के फायदे और नुकसान, शमी के पेड़ की जड़, शमी का पेड़ घर के अंदर लगाना चाहिए, शमी का पेड़ कहां लगाना चाहिए, शमी का

जिस भी व्यक्ति पर शनि का प्रकोप होता है वह हमेशा के लिए दूर हो जाता है अगर आपको भी अपने घर के दुष्ट प्रभाव को शनि के प्रकोप को दूर करना है तो आप भी अपने घर में शमी का पेड़ लगा सकते हैं।

शमी के पेड़ को अपने घर में लगाने से शनि ग्रह शांत हो जाता है तो आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से शमी के पेड़ के टोटके बताएंगे तथा शमी के पेड़ से संबंधित और भी जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

शमी का फूल किस भगवान को चढ़ाना चाहिए ?

शमी का फूल शंकर भगवान को अर्पित करना चाहिए क्योंकि शंकर भगवान को यह फूल अति प्रिय है और फूल को अगर आप भगवान शंकर को चढ़ाते हैं तो भगवान शंकर आपसे बहुत प्रसन्न हो जाते हैं और आपके सारे कष्टों को दूर कर देते हैं अगर आप अपने घर में शमी का पेड़ लगाते हैं.

तो यह आपको शनि के प्रकोप से भी बचाता है इसीलिए शमी का पौधा या फूल अगर आप अपने घर में लगाते हैं या शंकर भगवान को चढ़ाते हैं तो आपकी सारी इच्छा पूरी हो जाती हैं और यह गणेश भगवान को भी अति प्रिय है अगर आप इसे गणेश भगवान की पूजा में रखते हैं या चढ़ाते हैं तो वह भी इस फूल से बहुत ही जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं।


शमी का पौधा किस दिशा में लगाना चाहिए ?

अगर आप कभी भी शमी का पेड़ अपने घर में लगाते हैं तो आपको इस बात का ध्यान जरूर रखना है कि आप शमी का पौधा किस दिशा में लगाते हैं क्योंकि अगर शमी के पेड़ को आप किसी अच्छी दिशा में लगाते हैं तो वह आपको काफी ज्यादा लाभ देगा

क्योंकि शमी का पौधा हमारे जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है लेकिन कुछ पौधे हमारे सांस्कृतिक जीवन के लिए काफी महत्वपूर्ण माने जाते हैं और इसीलिए यह शमी का पेड़ हमारे लिए अति पवित्र पौधा माना जाता है शमी का पौधा लगाने से पर्यावरण में भी फायदे मिलते हैं

शमी का पौधा

यह पौधा मरुस्थलीय रेगिस्तानी पौधा है जो राजस्थान का राष्ट्रीय वृक्ष माना जाता है तो आइए जानते हैं कि हम किसी भी वृक्ष को लगाने से पहले उसकी सही दिशा का चुनाव जरूर करें वास्तु शास्त्र के हिसाब से शमी का पौधा पूर्व और उत्तर दिशा के बीच में लगाना चाहिए

इससे ईशान दिशा वाली जगह पर लगाना चाहिए क्योंकि यह भगवान शिव को प्रिय है तो भगवान शिव की प्रिय दिशा में लगाना चाहिए जिससे आपको फायदा मिल सके और अगर आप इसे पश्चिम दिशा में लगाते हैं तो आपको इससे नुकसान भी हो सकता है केवल ईशान में ही लगाना शुभ माना जाता है।

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 872 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

गरीब कैसे करोड़पति बने : अमीर बनने के 12 जबरदस्त तरीके | Garib kaise bana crorepati
दस्त की टेबलेट नाम लिस्ट : लूज मोसन की रोकथाम में 5 असरदार घरेलु उपाय और इलाज

शमी का पेड़ किस दिन लगाना चाहिए ?

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

शमी का पौधा अगर आप लगाते हैं तो उसका सही दिन आपको पता होना आवश्यक है क्योंकि आपको शमी का पौधा दिन देखकर ही लगाना चाहिए वास्तु शास्त्र के हिसाब से शमी का पेड़ विजयदशमी या दशहरे के दिन लगाना चाहिए अगर आप विजयदशमी दशहरे के दिन लगाते हैं तो यह बहुत ही शुभ माना जाता है.

लेकिन अगर आप चाहे तो शनिवार को लगा सकते हैं क्योंकि ऐसा माना जाता है कि जिस घर में शमी का पौधा होता है उस घर पर शनि का प्रकोप नहीं रहता है और कोई संकट विपत्ति नहीं आती है.

इसीलिए आप भी अपने घर में शमी का पौधा जरूर लगाएं जिससे शनि का प्रकोप आपके परिवार से आपके परिवार के किसी भी सदस्य के ऊपर ना रहे और उससे आप लोग बच सके।

शमी के पेड़ के टोटके | Shami ke ped ke totke

शमी के पेड़

  1. आज हम आपको चने के पेड़ के टोटके बताएंगे दोस्तों सभी के पेड़ की पूजा विजयदशमी यानी कि दशहरे वाले दिन की जाती है जब विजयदशमी पर रावण दहन के बाद कई प्रांतों में यानी कई अलग-अलग राज्यों में शमी के पत्तों को सोना समझ कर एक दूसरे को गिफ्ट के तौर पर भेंट करते हैं.
  2. कई शहरों में और कई राज्यों में इस पूजा का नियमित प्रचलन होता है और कुछ जगह पर केले की नीम की पपीता की पूजा रोज की जाती है और उसी तरह शमी का पौधा भी रोज पूजा जाता है और शमी का पौधा टोने टोटके दुष्ट प्रभाव से दूर रखने के लिए नकारात्मक प्रभाव को दूर रखने के लिए लगाया जाता है.
  3. अगर आप दशहरे के दिन शमी के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाते हैं तो आपके घर में अगर कोई मुकदमा आदि जैसी समस्या है तो उससे आपको विजय प्राप्त कर आता है अगर आप से कुछ किसी से दुश्मनी आधी है तो उससे भी आपको विजय प्राप्त कर आता है.
  4. अगर आप दशहरे के दिन अपने घर के बाहर नीम का पेड़ लगाते हैं तो आपके लिए बहुत ही लाभकारी साबित होता है और आपके लिए कल्याणकारी होता है नवरत्नों में से शमी के पत्तों की पूजा करने का महत्व हमारे साथ में बताया गया है.
  5. नवरत्नों के दिनों में प्रतिदिन शाम के समय शमी के वृक्ष के नीचे पूजा करने से आपको धन लाभ भी होता है जिससे आप कभी भी निर्धन नहीं रहेंगे और आपके घर में मां लक्ष्मी की कृपा हमेशा बनी रहेगी और शमी के पेड़ को हमेशा घर के मुख्य द्वार पर बाई तरफ लगाना चाहिए क्योंकि इससे कुछ खास योग होते हैं.
  6. सलवार सिद्धि , अमृत सिद्धि , द्वार पूजन , त्रिपुरा कार , इन लोगों में आप इनको लाएं तो सिर्फ सरसों के तेल का दीपक रोज जलाएं क्योंकि यह आपको शनि के प्रकोप से बचाता है अगर आप रोजाना शमी के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाते हैं तो आपके घर में दुख दरिद्र सब दूर हो जाएंगे.
  7. क्योंकि यह हमारे साथ द्वारा प्रमाणित है अगर आपके घर में किसी भी सदस्य को यह परिवार में किसी भी सदस्य के ऊपर शनिदेव का प्रकोप है तो आप शमी के पेड़ के नीचे पूजा करके वह रोज शाम को सरसों के तेल का दीपक जलाकर अपने घर के सदस्यों या परिवार में किसी भी व्यक्ति को इस प्रकोप से बचा सकते हैं.
  8. घर में शमी का पेड़ लगाना पूजा करना आने वाले आपके नए कामों के लिए शुभ रहेगा क्योंकि आने वाले नए कार्यों में कई सारी बाधाएं आ सकती हैं तो शमी का पेड़ इससे भी बचाएगा आपको अगर आपके ऊपर किसी भी प्रकार का संकट है विघ्न है तो यह आपको इससे भी दूर होने में आपकी सहायता करेगा।
  9. अगर आपको किसी भी प्रकार का कोई कष्ट यह कुछ भी है तो आप शनिवार के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नाना आदि करके स्वच्छ कपड़े पहनकर गमले में स्वच्छ मिट्टी से शमी का पेड़ लगाएं तो आपके घर में कभी पैसे की कमी नहीं होगी और इस पेड़ के नीचे अगर आप सुपारी और 1 का सिक्का भी दवा देते हैं.
  10. तो फिर पौधा लगाने के बाद आप इसमें गंगाजल भी डाल सकते हैं। शमी पेड़ की लकड़ी बनी वेद का विशेष महत्व है कई ऐसी मान्यताओं के अनुसार कवि काली दास को शमी के वृक्ष के नीचे बैठाकर तपस्या करने से ही ज्ञान की प्राप्ति हुई थी तो अगर आप शमी के पेड़ के नीचे बैठकर पूजा तपस्या आदि करते हैं.
  11. तो आपको भी ज्ञान की प्राप्ति होगी और गणेश भगवान को शमी का पेड़ बहुत ही प्रिय है अगर आप कभी भी गणेश भगवान की पूजा करते हैं तो उनके लिए इस पेड़ के फूल को जरुर चढ़ाएं।
  12. आयुर्वेद के अनुसार शमी का वृक्ष बहुत ही गुणकारी होता है यह पेड़ हमारे देश में बहुत खास कहीं पर मिल पाता है।
  13. तो इसीलिए आप सुबह उठने के बाद तुलसी के साथ शमी के पेड़ का दर्शन भी करते हैं तो या शुभ माना जाता है शमी के पेड़ पर कई सारे देवताओं का वास होता है।
  14. शमी के पेड़ की लकड़ी यज्ञ करने के लिए सर्वश्रेष्ठ मानी जाती है।

शमी का पेड़ कहां मिलेगा

Shami

अगर आपको शमी का पेड़ चाहिए और आप भी आपके कई सारे कष्टों से जूझ रहे हैं तो आपको शमी का पौधा आपके घर के आसपास किसी भी नर्सरी में बहुत ही आसानी से मिल जाता है साथ ही आप इसके बीज भी लगा सकते हैं।

शमी पूजन मंत्र

आप जब कभी शमी के पेड़ की पूजा करते हैं या फिर शिव भगवान की पूजा करते हैं तो पूजा करते समय इस मंत्र का जाप कर सकते हैं।

“अमंगलानां च शमनीं शमनीं दुष्कृतस्य च दु:स्वप्रनाशिनीं धन्यां प्रपद्येहं शमीं शुभाम्”

FAQ : शमी के पेड़ के टोटके

शमी का पेड़ घर में क्यों नहीं लगाना चाहिए ?

शमी का पेड़ इसलिए घर में लगाना चाहिए क्योंकि शमी के पेड़ पर शनिदेव का वास होता है और उसमें आप से कोई गलती हो जाती है तो वह आपसे बहुत ही ज्यादा नाराज हो जाते हैं इसीलिए घर में शमी का पेड़ सोच-समझकर लगाएं या फिर पूजा करते समय कोई भी गलती ना करें नहीं तो शनिदेव नाराज हो जाएंगे।

शमी के पेड़ के कितने नाम है?

शमी के पौधे के अनेकों प्रकार के नाम है जिससे छोंकरा (उत्तर प्रदेश), जंड (पंजाबी), कांडी (सिंध), वण्णि (तमिल), शमी, सुमरी (गुजराती) आते हैं। और इस पौधे का व्यापारिक नाम कांडी है। इस वृक्ष को आप विभिन्न देशों में देख सकते हैं वहां पर यह पाया जाता है इसके अंग्रेजी में अलग-अलग नाम प्रोवाइड किए गए हैं जैसे कि प्रोसोपिस सिनेरेरिया के नाम से भी जाना जाता है।

शमी की पहचान कैसे करें?

शमी की पहचान करने के लिए आपको उस का पौधा 9 से 18 मीटर ऊंचाई मध्य कार का और प्रतीक समय हरा रहने वाला होता है शमी के पेड़ में छोटे-छोटे कांटे होते हैं और उनकी शाखाएं पतली और बुरी होती हैं और इस का पेड़ झुका हुआ होता है शमी के पेड़ की पहचान के लिए आपको कोई खास तरीका नहीं ढूंढना है।

निष्कर्ष

उम्मीद करते हैं कि आज का हमारा यह लेख शमी के पेड़ के टोटके अच्छा लगा होगा क्योंकि आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से शमी के पेड़ के टोटके बताने का प्रयास किया है इसके अलावा हमने शमी के पेड़ से संबंधित अन्य जानकारी भी देने का प्रयास किया है.

osir news

तो उम्मीद करते हैं कि आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित होगा आशा करते हैं कि हमारे द्वारा पेश किया गया लेख आपको अच्छा लगा होगा ।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

यक्षिणी साधना क्या है, मंत्र कैसे सिद्ध करे? अष्ट यक्षिणी के नाम और उनके मंत्र, साधना कैसे करे ? what is yakshini sadhana and mantra
माता काली की पूजा कैसे करें ? सही पूजा विधि, सामग्री और आवश्यक सावधानियाँ जाने ! How to worship Mata Kali in hindi?
मीन राशि के भगवान कौन है ? प्रसन्न करने कि पूजा विधि और आरती | Meen rashi ke bhagwan : बृहस्पति को मजबूत करने के 5 घरेलू उपाय
पति को वश में करने के 17 आसान उपाय जाने : पति बस आप की ही मानेगा | पति को काबू कैसे करे – Pati ko vash me karne ke upay
एलोवेरा से गोरे कैसे होते हैं : एलोवेरा के लगाने से 5 फायदे | aloe vera se gore kaise hote hain
★ सम्बंधित लेख ★