सोरायसिस क्या है ? सोरायसिस क्यों होता है ? | सोरायसिस को जड़ से खत्म करने के उपाय

psoriasis kya h :  दोस्तों अगर आपको सही पर किसी भी प्रकार के लाल चकत्ते दिखाई देते हैं तो कहीं ना कहीं सोरायसिस की समस्या हो सकती है ऐसे में सोरायसिस क्या है सोरायसिस को जड़ से खत्म करने के उपाय क्या है हम सोरायसिस से कैसे बचे इस संबंध में हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे।

सोरायसिस क्या है,, सोरायसिस क्या है इन हिंदी,, सोरायसिस क्या है हिंदी में,, सोरायसिस क्या होता है,, सोरायसिस बीमारी क्या है,, सोरायसिस रोग क्या है,, सोरायसिस की अंग्रेजी दवा क्या है,, लीवर सिरोसिस क्या है,, सोरायसिस क्या होती है,, psoriasis kya hai hindi me,, psoriasis kya h,, psoriasis kya bimari hoti hai,, psoriasis kya bimari hai,, psoriasis kya hai,, psoriasis ka hindi,, psoriasis in hindi wikipedia,, psoriasis hindi mein,, सोरायसिस क्या होता है in hindi,, लीवर सिरोसिस क्या होता है,, क्या सोरायसिस ठीक होता है,, सोरायसिस के लक्षण क्या होते हैं,, सोरायसिस बीमारी क्या होती है,, psoriasis ki bimari kya hoti hai,, psoriasis bimari kya hai,, psoriasis bimari kya hoti hai,, psoriasis disease kya hai,, psoriasis rog kya hai,, psoriasis rog kya hota hai,, सोरायसिस की आयुर्वेदिक दवा क्या है,, psoriasis ki allopathic dava,, psoriasis ki dava bataiye,, psoriasis ki dava bataen,, सोरायसिस ke lakshan,, psoriasis ke lakshan bataiye,, psoriasis k lakshan,, psoriasis bimari ke lakshan,, liver cirrhosis ke lakshan,, सोरायसिस के लक्षण,, सोरायसिस के लक्षण व उपाय,, psoriasis ke lakshan aur ilaaj,, psoriasis ke lakshan in hindi,, psoriasis ke lakshan,, psoriasis ke karan,, psoriasis lakshan,, psoriasis ke prakar,, psoriasis hone ke kya karan hai,, psoriasis ke lakshan hindi mein,, psoriasis ke lakshan kya hai,, सोरायसिस के लक्षण क्या है,, psoriasis lakshanalu in telugu,, psoriasis ke bare mein bataiye,, psoriasis ke bare mein bataen,, psoriasis ke bare mein,, psoriasis in korean word,, psoriasis treatment in kuwait,, psoriasis ke lakshan aur upay,, best describes psoriasis,, psoriasis k symptoms in hindi,, psoriasis ki dua,, psoriasis por que sale,, psoriasis ki pahchan,, सोरायसिस ke gharelu upay,, psoriasis ka gharelu upchar bataiye,, psoriasis ka gharelu nuksa,, psoriasis ka desi ilaaj,, psoriasis ka gharelu upay bataiye,, psoriasis ka jad se ilaaj,, psoriasis ka pakka ilaj,, psoriasis ka ilaaj,, psoriasis treatment in nepal,, psoriasis ka hindi,, best psoriasis treatment in gujarat,, psoriasis ke liye yoga,, psoriasis ka desi ilaj gharelu upay,, psoriasis ka ilaj patanjali,, psoriasis ko jad se kaise khatm karen,, psoriasis ko kaise khatam karen,, psoriasis ka permanent ilaj,, psoriasis ka ilaj hai ya nahin,, psoriasis ka ilaj kya hai,, psoriasis ki dava,, psoriasis ka ilaj hai ki nahin,, psoriasis ka ilaj homeopathic,, psoriasis ka ilaj ayurvedic,, psoriasis ka ilaj hindi me,, psoriasis ka ilaj in urdu,, psoriasis ka ilaj tib e nabvi,, psoriasis ka ilaj sambhav hai,, what are the treatment of psoriasis,, psoriasis eczema ka ilaaj,, chambal ka gharelu ilaj,, psoriasis ka ilaj hai,, psoriasis ka homeopathic ilaj,, psoriasis ka ayurvedic ilaj in hindi,, dad chambal ka ilaj in urdu,, psoriasis ka kya ilaaj hai,, psoriasis ka ayurvedic ilaaj kya hai,, psoriasis ka allopathic ilaj,, psoriasis bimari ka ilaaj kya hai,, psoriasis ka achuk ilaaj,, psoriasis ke liye ilaaj,, psoriasis ke liye dava,, patanjali mein psoriasis ka ilaj,, what are the characteristics of psoriasis,, psoriasis ka rohani ilaj,, सोरायसिस ka ramban ilaj,, psoriasis ka safal ilaaj,, psoriasis ka sampurn ilaj,, chambal ka ilaj ubqari,, psoriasis ka unani ilaj,,

बढ़ते प्रदूषण तथा बदलती दिनचर्या और असंतुलित भोजन के कारण व्यक्ति में त्वचा से संबंधित कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होती हैं हालात बहुत सारी समस्याएं सामान्य दवाइयों से ठीक हो जाती है परंतु कुछ है त्वचा संबंधी समस्याएं जीवन भर पीछा नहीं छोड़ते हैं।

सोरायसिस भी एक त्वचा संबंधी चर्म रोग है जिसकी वजह से व्यक्ति के शरीर में खुजली होती है और त्वचा लाल पपड़ी दार बन जाती है। सोरायसिस एक ऑटोइम्यून बीमारी है जो किसी भी उम्र में हो जाती है।

सोरायसिस की वजह से त्वचा पर लाल रंग की मोटी परत बन जाती है जिससे दर्द और सूजन होती है प्रमुख रूप से यह बीमारी कोहनी के बाहरी हिस्से और घुटने पर होती है। सोरायसिस की समस्या होने पर व्यक्ति ने प्रतिरोधक क्षमता भी कमजोर होती है

अगर आपको शरीर के किसी हिस्से में त्वचा पर लाल चकत्ते दिखाई दे और खुजली होती हो तो आप अनदेखा न करें बल्कि यह सोरायसिस का संकेत हो सकता है अगर समय पर इसे ध्यान नहीं दिया गया तो बीमारी गंभीर हो जाती है तथा इलाज होना संभव हो जाता है।

सोरायसिस क्या है ? | psoriasis kya h

दोस्तों सोरायसिस एक प्रकार का प्रचार संबंधी रोग है जो त्वचा की कोशिकाएं बाहर आकर बहुत जल्द नष्ट हो जाती हैं जिसकी वजह से त्वचा पर लाल सफेद चकते जलन के साथ बनते हैं। सोरायसिस का प्रभाव किसी भी उम्र के व्यक्ति पर बढ़ सकता है.


जिससे हर व्यक्ति अलग अलग तरीके से प्रभावित होता है। सामान्य रूप से सोरायसिस सिर कोहनी घुटने पीठ हाथ तलवा नाभि नाखून जोड़ जैसे अंगों को प्रभावित करता है, बहुत से लोगों में सोरायसिस की समस्या होने पर त्वचा से दुर्गंध आने लगती है. जिससे उनके आसपास बैठना बहुत कठिन हो जाता है।

सोरायसिस कितने प्रकार का होता है ?

सोरायसिस प्रमुख रूप से त्वचा का रोग है लेकिन यह त्वचा पर कई प्रकार से दिखाई देता है ।

1. एरि‍थ्रोडर्मिक psoriasis

इस प्रकार की सोरायसिस रोग में हमारे शरीर की त्वचा अत्यधिक लाल होती है और शरीर का ज्यादा हिस्सा प्रभावित होता है।

2. प्लाक सोरायसिस

प्लाक सोरायसिस

इस प्रकार के सोरायसिस में त्वचा लाल धब्बे दार और मोटी हो जाती है तथा हल्की सफेद पपड़ी दार होती है।

3. पस्टुलर psoriasis

इस प्रकार के सोरायसिस में पचा पर छोटे-छोटे छाले बन जाते हैं जिनमें पीले रंग का मवाद भरा होता है।

4. गुट्टेट सोरायसिस

किस प्रकार की सोरायसिस में त्वचा पर हल्के लाल गुलाबी और छोटे धब्बे बनते हैं।

5. इनवर्स सोरायसिस

इनवर्स सोरायसिस

इस प्रकार का सोरायसिस रोग कोहनी और घुटने मैं दिखाई देता है कभी-कभी बगल और कमर में भी होता है जिससे त्वचा लाल होती है और जलन अधिक होती है।

सोरायसिस के कारण

सोरायसिस एक ऐसी समस्या है जो व्यक्ति को किसी भी उम्र में हो जाती है ज्यादातर मामले 15 से 35 साल के लोगों में सोरायसिस की समस्या होती है। सोरायसिस जैसा चर्म रोग होने के कई कारण देखे गए हैं आइए हम कुछ कारणों पर प्रकाश डालते हैं

1. बैक्टीरिया या वायरस से संक्रमण

कई बार पाया गया है कि गले में खराश उत्पन्न करने वाले बैक्टीरिया या वायरस व्यक्ति में सोरायसिस रोग उत्पन्न करते हैं।

2. शुष्क हवा या शुष्क त्वचा

Black Skin

कभी-कभी मौसम में बदलाव के कारण हवा में शुष्कता बढ़ जाती है जिससे शरीर की त्वचा भी शुष्क हो जाती है और इन कारणों से शरीर में सोरायसिस रोग बनता है।

3. त्वचा पर चोट लगना

कुछ कारणों में सोरायसिस होना त्वचा का चोट खाना है जाने अनजाने में अगर त्वचा में चोट लग जाती है जिससे वहां पर पचा नष्ट हो जाती है जहां पर खुजलाहट के साथ सोरायसिस की समस्या होती है। इसके अलावा त्वचा पर कभी-कभी जलने या तो जाकर कटनी अथवा कीड़े के काटने के कारण या फिर दवाओं के दुष्प्रभाव के कारण भी सोरायसिस की समस्या बन जाती है.

4. तनाव

mood change

आदमी ने कभी कभी तनाव के कारण शरीर की त्वचा पर झुर्रियां पड़ जाती हैं जिसके कारण उसने रगड़ होती है और व्यक्ति ने सोरायसिस उत्पन्न होता है।

5. बहुत कम धूप

बहुत से लोग दिनभर धूप में नहीं निकल पाते हैं कहीं ऑफिस में बैठे रहते हैं तो कहीं घर में बैठे रहते हैं जिसकी वजह से विटामिन डी की समस्या उत्पन्न होती है और सोरायसिस रोग होने की संभावना बढ़ जाती हैं।

6. अधिक धूप के कारण सनबर्न

कम धूप के साथ-साथ कभी-कभी व्यक्ति दिन भर धूप में रहता है जिसकी वजह से सनबर्न की समस्या होती है और त्वचा में जलन खुजली तथा अन्य तरीके से खुजलाहट होती है त्वचा रूखी हो जाती है और धीरे-धीरे सोरायसिस की समस्या उत्पन्न होती है।

7. कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली

weakness man

शरीर में विभिन्न प्रकार के रोगों का कारण उसकी कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली होती है जब आदमी का इम्यून सिस्टम किसी भी प्रकार से कमजोर होता है तो सोरायसिस के साथ-साथ अन्य समस्याएं भी जन्म लेती है।

सोरायसिस के लक्षण

हालांकि मनुष्य में कई प्रकार के चर्म रोग दिखाई देते हैं ऐसे में सोरायसिस की प्रारंभिक शुरुआत को पहचान पाना मुश्किल होता है फिर भी कुछ लक्षण ऐसे हैं जिनसे यह पता चल जाता है कि सोरायसिस की समस्या है आइए हम सोरायसिस के लक्षण के बारे में जानते हैं

1. खुजली

अगर व्यक्ति को लगातार खुजली होती है और लाल चकत्ते बनते जाते हैं जलन होती है तो इस प्रकार का लक्षण सोरायसिस का लक्षण है सोरायसिस को जड़ से खत्म करने की उपाय यही है की खुजली का तुरंत इलाज किया जाए।

2. सूखी, सफेद और परतदार त्वचा

अगर आप सोरायसिस की पहचान करना चाहते हैं और सोरायसिस को जड़ से खत्म करने के उपाय करना चाहते हैं तो इससे पहले आपको यह ध्यान देना होगा कि आपकी त्वचा सूखी सफेद और परतदार ना हो। यह लक्षण भी सोरायसिस का ही है।

3. त्वचा का लाल-गुलाबी होना

 

किसी भी व्यक्ति की त्वचा पर लाल गुलाबी रंग के चकत्ते बनते हैं और उन में जलन होती है और उन में खुजलाहट के साथ जलन होती है तो यह लक्षण सोरायसिस का है

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 896 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

फिल्म हीरो कैसे बन सकते हैं : ये 8 टिप्स बना देंगे आप को फ़िल्मी एक्टर | Bollywood actor kaise bane
विवाहिता जाने पीला सिंदूर किस दिन लगाना चाहिए : कब कौन सा सिंदूर लगाये | Yellow shindur Peela sindur kis din lagana chahiye

4. त्वचा का मोटा होना

अगर आपके शरीर की त्वचा में रूखेपन के साथ-साथ त्वचा मोटी होती जा रही है तब आप यह कह सकते हैं कि आपको सोरायसिस हो रहा है।

5. जोड़ों में दर्द

जोड़ों में दर्द के कारण भी व्यक्ति की त्वचा में दिक्कत उत्पन्न होती है जिससे कई प्रकार के चर्म रोग के साथ-साथ सोरायसिस रोग हो जाता है

6. नाखूनों में बदलाव

नाखूनों पर निशान

सामान्य रूप से नाखूनों का रंग लाल होता है अगर कभी भी आपके नाखून मोटे होने लगे और उनका रंग पीला भूरा दिखाई देने लगे तथा कहीं-कहीं गड्ढे बन जाए तो यह सोरायसिस का लक्षण है

सोरायसिस को जड़ से खत्म करने के उपाय

जब कभी भी व्यक्ति को सोरायसिस की समस्या होती है तो इसका इलाज करना थोड़ा कठिन हो जाता है फिर भी प्रारंभिक स्तर पर इसका इलाज संभव है ऐसे में सोरायसिस को जड़ से खत्म करने के उपाय कर सकते हैं जो इस प्रकार से है।

1. डर्मोस्कोपी

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

डर्मोस्कोपी भी चर्म रोग के लिए किया जाता है जिससे सोरायसिस का इलाज किया जा सके हालांकि आज के समय में इस तकनीक का प्रयोग बहुत कम किया जाता है।

2. शारीरिक जांच

शरीर में किसी भी समस्या के लिए जांच करवाना अनिवार्य होता है ऐसे में सोरायसिस अगर गंभीरता से प्रभावित है तो सबसे पहले फिजिकल जांच होना जरूरी होता है और डॉक्टर इसके लिए जांच करवा कर ही इलाज करते हैं।

3. स्किन बायोप्सी

स्किन बायोप्सी

सोरायसिस का इलाज करने के लिए स्किन बायोप्सी भी की जाती है जिसमें त्वचा संबंधी रोग सोरायसिस की जांच होती हैं। सोरायसिस होने की स्थिति में स्किन बायोप्सी के माध्यम से शरीर से त्वचा के कहीं से उत्तक निकाले जाते हैं और उनको प्रयोगशाला में परीक्षण किया जाता है

4. ट्रॉपिकल ट्रीटमेंट

सोरायसिस को जड़ से खत्म करने के उपाय के अंतर्गत ट्रॉपिकल ट्रीटमेंट ही किया जाता है इस दौरान सोरायसिस के रोगी को विभिन्न प्रकार की मल्हन क्रीम तथा लोशन आग लगाने के लिए डॉक्टर सलाह देते हैं

5. सिस्टमिक ट्रीटमेंट

इस प्रकार के ट्रीटमेंट में सोरायसिस को जड़ से खत्म करने के लिए कुछ दवाइयां और इंजेक्शन दिया जाता है

6. फोटोथेरेपी

फोटोथेरेपी

फोटो थेरेपी के अंतर्गत सोरायसिस के इलाज के लिए अल्ट्रावॉयलेट लाइट का उपयोग किया जाता है जिसमें अल्ट्रावायलेट ए और अल्ट्रावायलेट बी लाइट भी प्रयोग की जाती है।

सोरायसिस के घरेलू उपचार

सोरायसिस जैसी गंभीर समस्या से निजात पाने के लिए कुछ घरेलू उपाय काफी कारगर होते हैं आइए हम कुछ ऐसे घरेलू उपाय के बारे में बताते हैं जो आपकी सोरायसिस को ठीक करने में मदद करेंगे

1. नीम का तेल और छाल

नीम का तेल और छाल कई प्रकार की शारीरिक समस्याओं के लिए रामबाण औषधि है नीम में एंटी बैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होने के कारण सभी प्रकार के जीवाणुओं को मार देता है ऐसे में सोरायसिस के बैक्टीरिया को भी मारने के लिए नीम एक अच्छा तेल है।

इसके अलावा आप नीम की छाल को भी किसी पत्थर पर रगड़ कर लेट बनाएं और इस लेप को प्रभावित अंग पर लगाएं इससे भी सोरायसिस ठीक हो जाता है।

2. एलोवेरा

सोरायसिस की समस्या से निजात पाने के लिए एलोवेरा के जल को लगाया जाता है इसके लिए आप एलोवेरा की पत्तियों से सफेद घोड़ा निकाल ले और उसे जेल के रूप में तैयार करें इसे प्रभावित अंग पर कम से कम 20 से 25 मिनट तक लगा रहने दें।

Aloe vera

इस जल को दिन में दो से तीन बार लगाएं और 20 से 25 मिनट तक लगाने के बाद साफ पानी से त्वचा को धो दें. एलोवेरा में भी एंटीबैक्टीरियल और एंटी वायरस गुण होते हैं जिसकी वजह से त्वचा में कहीं पर लगाने से सोरायसिस के कारण होने वाली जलन दर्द और सूजन ठीक हो जाती है क्योंकि इसमें जीवाणुओं को मारने की अभूतपूर्व क्षमता होती है।

3. हल्दी और गुलाब जल

हल्दी और गुलाब जल लगभग बराबर मात्रा में मिलाकर सोरायसिस प्रभावित क्षेत्र पर लगाने से लाभ मिलता है इस पेस्ट को बनाने के लिए दो चम्मच हल्दी और एक चम्मच गुलाब जल और दो चम्मच पानी के साथ उबालने उसके बाद ठंडा करके लगाएं.

haldi

इस पेस्ट को तब तक त्वचा पर लगा रहने दे जब तक पूरी तरह से सूख न जाए और सूखने के बाद पानी से धो लें हल्दी में करक्यूमिन कंपाउंड anti-inflammatory और एंटीवायरल गुण होते हैं जिसकी वजह से सोरायसिस से होने वाले दर्द और सूजन को ठीक कर देता है।

4. फिटकरी से सोरायसिस ठीक करें

फिटकरी से सोरायसिस को ठीक करने के लिए फिटकरी को पानी में घोलने और इस पानी से स्नान करें या फिर प्रभावित जगह पर लगाएं कम से कम 15 मिनट तक त्वचा पर फिटकरी युक्त पानी जरूर लगाए।

फिटकरी में एंटी-प्रुरिटस गुड होता है जो त्वचा की खुजली को कम कर देता है और बैक्टीरियल प्रभाव को नष्ट कर देती है। जिससे त्वचा संबंधी सभी प्रकार के रोग ठीक हो जाते हैं।

5. जैतून का तेल

सोरायसिस रोग होने पर जैतून के तेल का भी प्रभाव प्रयोग किया जा सकता है इसके लिए आपको जैतून की कुछ बूंदें हाथ में लेकर त्वचा पर लगाएं जैतून के तेल में फेनोलिक योगिक होता है जो सोरायसिस जैसी समस्या को दूर करने में कारगर है.

सोरायसिस के दौरान क्या खाएं ?

अगर आप सोरायसिस से पीड़ित व्यक्ति हैं तो आपको ऐसे ऐसे में आपको कम ऊर्जा वाले शाकाहारी ओमेगा 3 फैटी एसिड और विटामिन डी से भरपूर भोजन लेना जरूरी होता है जिसमें से आप कुछ भोजन इस प्रकार से ले सकते हैं.

हरी पत्तेदार सब्जियां, अलसी का तेल, अखरोट, चिया बीज, चीज़, अंडा, मशरूम, दूध, टूना फिश, सैल्मन मछली.

FAQ :

क्या सोरायसिस एक संक्रामक बीमारी है ?

सोरायसिस संक्रामक रोग नहीं है यह किसी भी व्यक्ति के साथ उठने बैठने रहने से दूसरे व्यक्ति पर कोई प्रभाव नहीं डालता है।

सोरायसिस में होम्योपैथिक दवा कौन है ?

सोरायसिस को ठीक करने के लिए होम्योपैथिक दवाओं के रूप में ग्रेफाइट्स नेचुरलिस (Graphites Naturalis) · कार्सिनोसिन (Carcinosin) · काली आर्सेनिकम (Kali Arsenicum) को दिया जाता है।

सोरायसिस से बचाव क्या है ?

सोरायसिस रोग से बचने के लिए आपको कभी भी शराब का सेवन नहीं करना चाहिए अधिक गर्मी और सर्दी से बचाव करना चाहिए और स्वस्थ जीवन शैली अपनाना चाहिए।

निष्कर्ष

सोरायसिस त्वचा संबंधी एक गंभीर समस्या है ऐसे में आपको इस रोग से बचने के लिए एक अच्छे देखभाल की जरूरत है प्रमुख रूप से हम अपने शरीर की साफ-सफाई और खान-पान पर विशेष ध्यान दें जिससे इस प्रकार का कोई भी रोग हमारी उत्पन्न होने ही ना पाए।

osir news

रोग कोई भी हो दर्द देता है ऐसे में हमें अपने शरीर को स्वस्थ चुस्त-दुरुस्त रखना आवश्यक है जिसके लिए हमें ऐसे जीवन शैली को अपनाना होगा जो एक शरीर की दृष्टि से शुद्ध और लाभकारी हो। अगर आप सोरायसिस को जड़ से खत्म करने के उपाय ढूंढ रहे हैं तो ऊपर दिए गए उपायों से अच्छा कोई उपाय नहीं हो सकता है।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

गोरा होने की टेबलेट का नाम , प्रयोग विधि और 3 घरेलू नुस्खे | Gora hone ki tablet : gora hone ki dawa
शरीर में कंही भी समुद्र शास्त्र के अनुसार तिल का मतलब जाने | samudrik shastra ke anusan til
WiFi : आसानी से वाई-फाई का पासवर्ड कैसे पता करे | [फ़ोन & लैपटॉप] | wifi ka password kaise pata kare app
आसाम का जादू कैसे सीखें? Assam ka jadu kaise sikhe in hindi | असम का जादू
नए दोस्त कैसे बनाएं ? How to make new friends in hindi ?
★ सम्बंधित लेख ★