मंत्र- भगवान शंकर को प्रसन्न कैसे करें ? भगवान शिव वशीकरण करने का मंत्र और तंत्र How to happy God Lord Shiv Shankar?

❤ इसे और लोगो (मित्रो/परिवार) के साथ शेयर करे जिससे वह भी जान सके और इसका लाभ पाए ❤
( कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया )

☛❤ मन पसंद & नये लेख पढ़े ❤☚

Bhagwan Shiv Shankar ko khush kaise kare mantra aur tantra ? आपकी जानकारी के लिए बता दें कि साधना और वशीकरण करने में शिव मंत्र साधना का विशेष महत्व हमारे धार्मिक ग्रंथों में बताया गया है, जो व्यक्ति शिव मंत्र साधना को कर लेता है वह अपनी सभी इच्छाओं की पूर्ति भगवान शिव की कृपा से कर सकता है|

साथ ही शिव साधना करने वाले व्यक्ति को अदभुत अध्यात्मिक फायदे भी प्राप्त होते हैं, शिव साधना करने से व्यक्ति को मानसिक शांति, संकल्प और संयम मिलता है, साथ ही व्यक्ति चरित्रवान, गुणवान और नियमों का पालन करने वाला बन जाता है और उसकी बुद्धि तेज होती है|

साधक अपनी अलग-अलग इच्छाओं के लिए शिव मंत्र की साधना करते हैं और इसकी विधि भी अलग-अलग बताई गई है,भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए तंत्र सिद्धि में सही दिशा और नियम का विशेष महत्व बताया गया है|

, शिव शक्ति मंत्र जाप, भगवान शिव को प्रकट करने का मंत्र?, मोहिनी मंत्र की विधि, शिव धन मंत्र, शिव मंत्र लिस्ट, शिव मोहिनी मंत्र, शिव तांत्रिक मंत्र, लोना चमारी साधना मंत्र, धनदायक शिव मंत्र, शिव ध्यान मंत्र, शिव मंत्र, शिव प्रार्थना मंत्र, शिव आरोग्य मंत्र, शिव को बुलाने का मंत्र, नित्य धन प्राप्ति मंत्र, शिव मंत्र लिस्ट, , शिव शक्ति मंत्र जाप Lyrics, शिव मंत्र संग्रह, शिव का शक्तिशाली मंत्र?, शिव धन मंत्र, शिव को बुलाने का मंत्र, शिव प्रार्थना मंत्र, शिव मंत्र लिस्ट, शिव मंत्र साधना, shiv ko kaise prasan kare, shiv ji ko kaise prasan kare, shiv ko prasan karne ke upay, shiv ko prasan kaise kare in hindi, bhagwan shiv ko prasan kaise kare in hindi, bhagwan shiv ko kaise prasan kare, shiv shankar ko kaise prasan kare, shiv guru ko kaise prasan kare, ,

क्योंकि कोई भी साधना बिना नियम और जानकारी के पूरी नहीं हो सकती, इसीलिए किसी भी साधना को करने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी इकट्ठा कर लेना अति आवश्यक होता है|

शिवजी को सावन का महीना बहुत ही प्रसन्न होता है, इसीलिए अगर कोई व्यक्ति भगवान शंकर के मंत्रों का सावन के महीने में जाप करता है, तो उसे काफी ज्यादा फायदे प्राप्त होते हैं|

शिव वशीकरण मंत्र साधना की विधि क्या है ?  Shiva Vashikaran Mantra Practice

अगर आप किसी का वशीकरण करना चाहते हैं और इसी उद्देश्य के कारण आप शिव साधना करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको पूरब दिशा की ओर अपना मुंह करके भगवान शंकर के मंत्रों का जाप करना चाहिए|

क्योंकि अगर आप पूरब दिशा की ओर अपना मुंह करके भगवान शंकर के मंत्रों का जाप कर रहे हैं तो ऐसा करने से वशीकरण मंत्र बहुत जल्दी सिद्ध हो जाता है|

इसके अलावा अगर आप अपने घर में धन की बढ़ोतरी के लिए भगवान शंकर की आराधना करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको पश्चिम दिशा की ओर अपना मुंह करके भगवान शंकर के मंत्रों का जाप करना चाहिए|

अगर आप किसी विशेष मनोकामना की पूर्ति के लिए भगवान शंकर की आराधना करना चाहते हैं तो इसके लिए आपका मुंह पूर्व या फिर उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए और उसी दिशा में आपको मंत्रों का जाप करना है|

अगर आपके घर में अक्सर लड़ाई झगड़े होते रहते हैं और आप घरेलू झगड़ों से बहुत ही ज्यादा परेशान हैं, तो ऐसी अवस्था में इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए आपको उत्तर दिशा की तरफ अपना मुंह करके भगवान शंकर के मंत्रों का जाप करना चाहिए|

अगर आप अपने दुश्मनों से छुटकारा पाना चाहते हैं या फिर शत्रु मारण का इस्तेमाल करना चाहते हैं,तो आपको दक्षिण दिशा की तरफ अपना मुंह करके मंत्रों का जाप करना चाहिए, साथ ही दुश्मनों का विनाश करने के लिए आपको उत्तर पश्चिम दिशा की तरफ अपना मुंह करके मंत्रों का जाप करना चाहिए|

अगर आप अपने ज्ञान और बुद्धि में बढ़ोतरी करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको उत्तर पूर्व दिशा में अपना मुंह करके भगवान शंकर के मंत्रों का जाप करना चाहिए|

ऐसा करने से आपकी बुद्धि में बढ़ोतरी होगी और आपका पढ़ाई में भी मन लगने लगेगा जिसके कारण आप प्रतियोगी परीक्षाओं को अच्छे से पास कर पाएंगे|

अगर आप अपने शरीर के अंदर अट्रैक्शन की शक्ति पैदा करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको दक्षिण पूर्व दिशा में मुंह करके भगवान शंकर के मंत्रों का जाप करना चाहिए|

क्योंकि इस दिशा में मुंह करके भगवान शंकर की आराधना करने से आपको सुंदरता की प्राप्ति होती है और आपका समाज में मान सम्मान बढ़ता है, इसीलिए भगवान शंकर की साधना में आध्यात्मिक उन्नति पर विशेष ध्यान दिया गया है|

शिव वशीकरण मंत्र क्या है ? भगवान शंकर को प्रसन्न करने का मंत्र क्या है ? Shiva Vashikaran Mantra

भगवान शंकर की आराधना करने के लिए सोमवार के दिन को सबसे अच्छा माना जाता है, क्योंकि सोमवार का दिन भगवान शंकर का दिन होता है,आप सोमवार के दिन को किसी भी भगवान शंकर के मंदिर में या फिर घर में ही भगवान शंकर की पूजा कर सकते हैं|

भगवान शंकर की पूजा करने के लिए आपको सोमवार के दिन एक चित्र या फिर मूर्ति लेना है,इसके अलावा आपको,

  1. फूल,
  2. रुद्राक्ष की माला,
  3. धूप,
  4. दीप,
  5. फल,
  6. घी का दीपक,
  7. नैवेद्य आदि

सामग्री लेनी है, इसके बाद आपको दिशा शोधन करने के लिए थोड़ा सा पानी लेकर ओम श्री ओम मंत्र का उच्चारण करते हुए चारों दिशाओं में पानी को छिड़कना है|

mantra kya hai ,manta kaise bole

ऐसा करने से दिशाएं शुद्ध हो जाती है, इसके बाद आपको भगवान शंकर की मूर्ति से चित्र के सामने साफ आसन लगाकर बैठ जाना है और फिर धूप, दीप और फूलों की सहायता से भगवान शंकर को थोड़ी देर तक प्राणायाम करना है|

ऐसा करने से आपकी सांसों का शुद्धिकरण हो जाता है, इसके बाद आपको रुद्राक्ष की माला लेनी है और नीचे दिए गए मंत्रों का 21 बार जाप करना है|

“ॐ हंस सोहं परम शिवाए नम:”

शिव को प्रसन्न करने की तंत्र सिद्धि कैसे करे ? Tantra accomplishment to please Shiva

इस साधना को करने के लिए आपको शिवरात्रि के 11 दिन पहले इस साधना को सोमवार से चालू करना है, इस शिवरात्रि के दिन चार पहर पूजा करें और सुबह के समय आरती अवश्य करें|

अगर आप शिव मंत्र साधना शिवरात्रि पर नहीं कर रहे हैं तो आप कभी भी सोमवार को इस साधना को चालू कर सकते हैं और लगातार आप इस साधना को 21 सोमवार तक कर सकते हैं|

अगर आपको ऐसा लगता है कि आपको अपने किसी दुश्मन से खतरा है तो आप पपीते के 21 बीज तथा कच्चा दूध लेकर भगवान शंकर के मंदिर में जाएं और उन्हें यह सामग्री अर्पण करें और पपीते के बीज को उनके सामने रख दें|

इसके बाद आपको अपना पूरा नाम लेना है और भगवान शंकर से दुश्मन से सुरक्षा के लिए प्रार्थना करनी है और रुद्राक्ष की माला से महामृत्युंजय मंत्र का जाप भी करना है|

जब आप का जाप समाप्त हो जाए तो सभी बीजों को इकट्ठा करना है और एक तांबे के ताबीज में डालकर उसे अपने गले में पहन लेना है, ऐसा करने से आपको निश्चित ही फायदा होगा|

अगर आप ऊपर बताए गए तरीके भगवान शंकर को प्रसन्न करने के लिए करते हैं तो आपकी हर तरह की मनोकामना पूरी हो सकती है, इसके अलावा आपके घर में धन की बढ़ोतरी भी होगी और आपके घर में सुख शांति का निवास होगा|

साथ ही महाशिवरात्रि के दिन आपको भगवान शंकर की विशेष तौर पर पूजा करनी चाहिए,क्योंकि इस दिन जो भी व्यक्ति भगवान शंकर को बेलपत्र दूध और बैर अर्पण करता है उसकी मनोकामना अवश्य पूरी होती है|

-: चेतावनी disclaimer :-

सभी तांत्रिक साधनाएं एवं क्रियाएँ सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से दी गई हैं, किसी के ऊपर दुरुपयोग न करें एवं साधना किसी गुरु के सानिध्य (संपर्क) में ही करे अन्यथा इसमें त्रुटि से होने वाले किसी भी नुकसान के जिम्मेदार आप स्वयं होंगे |

हमारी वेबसाइट OSir.in का उदेश्य अंधविश्वास को बढ़ावा देना नही है, किन्तु आप तक वह अमूल्य और अब तक अज्ञात जानकारी पहुचाना है, जो Magic (जादू)  या Paranormal (परालौकिक) से सम्बन्ध रखती है , इस जानकारी से होने वाले प्रभाव या दुष्प्रभाव के लिए हमारी वेबसाइट की कोई जिम्मेदारी नही होगी , कृपया-कोई भी कदम लेने से पहले अपने स्वा-विवेक का प्रयोग करे !  

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेअर करे, क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे|


💕❤ इसे और लोगो (मित्रो/परिवार) के साथ शेयर करे जिससे वह भी जान सके और इसका लाभ पाए ❤💕

आप को यह पोस्ट कैसी लगी  हमे फेसबुक पेज पर अवश्य बताये या फिर संपर्क करे |

यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले |

 

यदि मन में कोई प्रश्न या जानकारी है तो संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उसका जवाब देंगे |

हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने के लिए धन्यवाद !
( कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया )

☛❤ मुख्यपेज पर जाये या अपना मनपसन्द टॉपिक चुने ❤☚

✤ यह लेख भी पढ़े ✤