ब्रह्मचर्य के लाभ : ब्रह्मचर्य के 18 प्रमाणिक फायदे और शक्तियाँ | ब्रह्मचर्य के फायदे : Brahmacharya ke fayde

ब्रह्मचर्य के फायदे Brahmacharya ke fayde  दोस्तों ब्रह्मचर्य एक ऐसा नियम जिसको अपनाने के बाद व्यक्ति के अंदर आंतरिक और शारीरिक परिवर्तन आता है ब्रम्हचर्य के फायदों में देखा जाए तो हमारे अंदर बनने वाला वीर्य हमारी पौरूष की निशानी है।



Brahmacharya Ke Fayde के विषय में कहा जाता है कि यदि व्यक्ति गलत चीज में अपना ध्यान नहीं लगाता है और ब्रह्मचर्य के माध्यम से व्यक्ति महान बन जाता है.

आदिकाल में ब्रह्मचर्य को विशेष मह्त्व दिया गया था इसलिए सभी पुरुषों को अपनी आयु का प्रथम सोपान अर्थात जीवन के पहले 25 वर्षों  को स्त्री या लड़कियों से दूर रहना पड़ता था क्योकि ब्रह्मचर्य का प्रमुख उद्देश्य यही था की 25 वर्ष तक  यौन संसर्ग ना करे .

♦ लेटेस्ट जानकारी के लिए हम से जुड़े ♦
WhatsApp ग्रुप पर जुड़े 
WhatsApp पर जुड़े 
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
Google News पर जुड़े 

ब्रह्मचर्य के अंतर्गत यह यह बाध्यता थी कि कोई भी लड़का किसी भी प्रकार से अपने वीर्य की रक्षा करे क्योकि वीर्य पुरुष की ताकत होती है और इसे नष्ट करने से शरीरे की ताकत खत्म हो जाती है और व्यक्ति अपने लक्ष्य से दूर हो जाता है .

हमारे ऋषि मुनि साधू महात्मा अपने वीर्य की रक्षा करने के लिए ब्रह्मचर्य को प्रमुखता देते थे . ऐसा मानते थे की ब्रह्मचर्य से से मिक्ष की प्राप्ति की जा सकती है . आईये हम ब्रह्मचर्य के फायदे के बारे में जानते है.


ब्रह्मचर्य क्या है ? | what is celibacy

ब्रह्मचर्य का शाब्दिक अर्थ परमात्मा में विचरण करना होता है अर्थात ब्रह्म का मतलब है ब्रह्मा या परमात्मा तथा चर्य का मतलब विचरण करना है. इस प्रकार से ब्रम्हचर्य का शाब्दिक अर्थ परमात्मा में विचरण करना ही निकल कर आता है. लौकिक  भाषा में ब्रम्हचर्य का तात्पर्य है कि व्यक्ति को अपने पुरुषार्थ पर विजय प्राप्त करने तथा उसे आजीवन बनाए रखना ही ब्रम्हचर्य कहलाता है.

celibacy

ब्रह्मचर्य का पालन करने से व्यक्ति के अंदर असीम शक्तियां भर जाती है. व्यक्ति शारीरिक मानसिक रूप से बलिष्ठ होता है. इसीलिए शास्त्रों में ब्रह्मचर्य का पालन करने के लिए अनिवार्य रूप से कहा जाता है. ब्रह्मचर्य का एक अर्थ यह भी होता है कि समस्त प्रकार के विषयेद्रियों को संयमित तरीके से त्याग कर सुख-समृद्धि और आनंद प्राप्त करना है.

अब बात आती है कि ब्रह्मचर्य का पालन करने से कौन-कौन से लाभ है, तो आइए ब्रह्मचर्य के होने वाले विभिन्न प्रकार के लाभों के विषय में इस आर्टिकल के माध्यम से जानकारी प्राप्त करें ?

ब्रह्मचर्य के फायदे और लाभ 

  1. शारीरिक ऊर्जा बढ़ती है.
  2. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती हैं.
  3. मानसिक शक्ति बढती है .
  4. चेहरे पर तेज आता है .
  5. दिमाग शांत रहता है .
  6. आयु में वृद्धि होती है.
  7. आत्म नियंत्रण होता है.
  8. आत्मविश्वास में वृद्धि होती है.
  9. सभी के प्रति वफादारी और सम्मान होता है.
  10. संयमित गृहस्थ जीवन.
  11. हर काम में आनंद मिलता है.
  12. ब्रह्मचर्य करने वाला सभी कार्य करने में सक्षम होता है .
  13. रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है.
  14. शारीरिक सुंदरता में विकास होता है .
  15. आयु में वृद्धि होती है .
  16. मानसिक मजबूती  होती है.
  17. आकर्षक व्यक्तित्व होता है .
  18. सामाजिक जीवन में लाभ होता है .

ब्रह्मचर्य के फायदे क्या है ? | Brahmacharya Ke Fayde

Brahmacharya ke fayde हैं आइए हम कुछ संक्षिप्त बातें जानते हैं आखिर क्यों हमारे महापुरुषों ने ब्रह्मचारी पर अधिक से अधिक बल दिया है.

1. शारीरिक ऊर्जा बढ़ती है

ब्रह्मचर्य का पालन करने से शरीर में मजबूती और उर्जा में वृद्धि होती हैं व्यक्ति के जीवन में कभी भी किसी प्रकार की कमजोरी नहीं महसूस होती है उम्र के बढ़ते हुए पड़ाव के साथ-साथ शरीर में सभी प्रकार की बीमारियों से लड़ने की क्षमता पाई जाती है.

body fit

ब्रह्मचर्य शरीर में बल के साथ जोश उत्साह तेज में वृद्धि और मांस पेशी में ताकत भर जाती है विकी कभी भी किसी भी कठिन से कठिन संघर्ष में विचलित नहीं होता है और कभी किसी भी बात से मुकरता नहीं है.

2. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती हैं

Level in Body

 ब्रम्हचर्य का पालन करने वाले व्यक्ति के अंदर अभूतपूर्व प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है किसी भी प्रकार की बीमारियों से जीवन में नहीं छूती है और शरीर में फुर्ती और ऊर्जा का भंडार होता है ।

3. मानसिक शक्ति बढ़ती है 

ब्रह्मचारी का पालन करने वाले व्यक्ति के अंदर कभी भी मानसिक ह्रास नहीं होता है डिप्रेशन जैसी बीमारी का शिकार नहीं बनता है जो भी फैसले लेता है उसके फैसले हमेशा अटल होते हैं और सही होते हैं.

MIND DIMAG

Brahmacharya ke fayde यह भी है की मनुष्य के अंदर स्मरण शक्ति बढ़ जाती हैं जिसकी वजह से किसी भी प्रकार की बातों को कभी भूलता नहीं और अपने जीवन में हर इस तरह के संघर्षों में कामयाबी प्राप्त करता है.

4. चेहरे पर तेज आता है 

ब्रह्मचार्य का पालन करने वाले के चेहरों पर हमेशा एक इस प्रकार का तेज होता है कि जो भी उसको देखता उसकी ओर आकर्षित हो जाता है वह अपने पर पूरी तरह से काबू रखता है परंतु दूसरे लोग उसकी ओर आकर्षित जरूर होते हैं.

unblemished mind

यदि कोई भी व्यक्ति ब्रह्मचर्य का पालन करता है तो पुरुष और स्त्री सभी उसकी ओर आकर्षित होते हैं साथ ही दुनिया की हर कुदरती चीज उसकी ओर आना चाहती है।

यदि कोई स्त्री ब्रह्मचर्य का पाठ करती है तो पुरुष की ब्रह्मचर्य और स्त्री की पवित्रता में अद्भुत शक्ति दिखाई देती हैं.

5. दिमाग शांत रहता है

Brahmacharya ke fayde अगर देखा जाए तो व्यक्ति के मन को बड़ी शांति मिलती है उसका मन स्थिर पानी की तरह हो जाता है और जीवन में ब्रह्मचर्य का पालन करने में समय जरूर लगता है परंतु जीवन के पथ पर हमेशा आगे बढ़ जाता है.

unblemished mind

ब्रह्मचर्य के पालन करने वाले व्यक्ति के अंदर दूसरों को प्रभावित करने का अद्भुत लक्षण पाया जाता है क्योंकि उसकी द्वारा जो ही वचन कहे जाते हैं वह पूरे पैसे व्यक्ति की दशा को प्रभावित करते हैं.

6. आयु में वृद्धि होती है

ब्रह्मचर्य एक ऐसा साधन है जिसके माध्यम से व्यक्ति की उम्र बहुत अधिक बढ़ जाती है और उसके वृद्धावस्था तक शरीर पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है.

mantra anath old man

 

शरीर के सभी अंग सुचारू रूप से चलते रहते हैं जिसकी वजह से शरीर में एक आकर्षण होता है चेहरे पर तेज होता है और किसी प्रकार का कोई अधिकार नहीं होता है.

ब्रह्मचर्य पालन करने वाले व्यक्ति के अंदर वीर्य शक्ति होती है जिसकी वजह से वह जब भी संतान उत्पन्न करता तो उसके द्वारा उत्पन्न संतान बहुत ही टीचर बुद्धि वाली और तेजस्वी बलिष्ठ होती है..

7. आत्म नियंत्रण होता है

Brahmacharya Ke Fayde की बात की जाए तो व्यक्ति के अंदर एक धैर्य होता है और कोई भी काम जल्दबाजी में नहीं करेगा तथा गलत नहीं करेगा जिससे उसके द्वारा किए गए कार्य के परिणाम हमेशा सकारात्मक आते हैं .

ब्रह्मचर्य का पालन करने वाले व्यक्तियों के अंदर सोचने समझने की क्षमता अपार होती है जिसकी वजह से वह अपने अंदर सभी प्रकार से नियंत्रण कर लेते हैं उनकी सभी इंद्रियां उनके वश में होती हैं.

8. आत्मविश्वास में वृद्धि होती है

गणना करा जाए तो देखा जाता है कि व्यक्ति जो भी ब्रह्मचर्य का पालन करता है उसके अंदर सोच बहुत अच्छी होती है कभी दूसरों का अनभला नहीं सोचते हैं।

Businessman

इसीलिए उनके अंदर आत्मविश्वास बहुत अधिक होता है इंसान अपनी इज्जत को समझता है जिसकी वजह से वह हमेशा आत्मविश्वास के साथ दूसरों की नजरों में भी ऊंचा उठ जाता है.

9. सभी के प्रति वफादारी और सम्मान होता है

को देखते हैं तो पाते हैं कि ब्रह्मचर्य का पालन करने वाले व्यक्ति हमेशा पवित्र मन से कार्य करते हैं जिसकी वजह से वह किसी भी व्यक्ति के प्रति आदर और सम्मान के साथ देखते है.

Honesty

ब्रम्हचर्य का पालन करने वाले व्यक्ति के अंदर कभी भी काम इच्छा उत्पन्न नहीं होती है इसीलिए उसके साथ यदि स्त्री जैसी चीज होते हुए भी स्त्री के प्रति गलत विचार नहीं रखता है.

10. संयमित गृहस्थ जीवन

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

ब्रह्मचर्य के फायदे में यह देखा जाता है कि गृहस्थ जीवन बहुत ही सही अमित होता है अधिकांश व्यक्ति अपने गृहस्थ जीवन में बहुत अस्त व्यस्त रहते हैं परंतु ब्रम्हचर्य का पालन करने वाला व्यक्ति अपने गृहस्थ जीवन को बड़ी ही शालीनता के साथ निर्वहन करता है.

10 tips for personality development, personality development tips pdf, personality development tips in hindi, personality development topics,

ब्रह्मचर्य का पालन करने वाला व्यक्ति हमेशा इस बात को ध्यान रखता है कि स्त्री भोग की वस्तु नहीं है इसीलिए वह स्त्रियों के प्रति सम्मान रखता है उनका हर जगह पर ख्याल रखता है और उनसे अथाह प्रेम नहीं करता है.

11. हर काम में आनंद मिलता है

sun morning subah savera

ब्रह्मचर्य के फायदे में एक ब्रह्मचर्य का पालन करने वाले व्यक्ति के अंदर सभी कामों के प्रसिद्ध आनंद प्राप्त होता है उसका मन सदैव खुश और प्रसन्न रहता है.

जाने ब्रह्मचर्य क्या हैं ? और ब्रह्मचर्य के 7 बेहतरीन लाभ . ब्रह्मचर्य के लाभ : brahmacharya ke labh

Brahmacharya ke Labh kya hai ? brahmacharya ke Labh : भारत में आदिकाल से ब्रह्मचर्य brahmacharya के लिए एक परंपरा के रूप में रहा है. बड़े-बड़े तपस्वी महापुरुष ब्रह्मचर्य का पालन करते हुए अपने जीवन का आनंद उठा कर रहे हैं. ब्रह्मचर्य भारतीय परंपरा रही है.

जिसको अपनाकर भारत की महापुरुषों ने अनेकों असाध्य कार्यों को सिद्ध कर सरल कर दिया है अर्थात ब्रम्हचर्य एक  पुरुषत्व की निशानी है. हमारे आदिकाल के शास्त्रों में मनुष्य के जीवन को चार आश्रमों में  बांटा गया था. जिसमे ब्रह्मचर्य को पहले आश्रम कहा गया अर्थात मनुष्य के जीवन को 100 वर्ष का मानकर चार भागो में बाँट दिया गया.

brahmchary ke Labh ब्रह्मचर्य के फायदे और नुकसान, ब्रह्मचर्य का लाभ कितने दिन में मिलता है, brahmacharya se kya hota hai, brahmachari ka matlab kya hota hai

इन में प्रथम 25 साल ब्रह्मचर्य के लिए निर्धारित किए गए थे यानी कि इन 25 वर्षों में व्यक्ति पूर्ण रूप से ब्रह्मचर्य का पालन अवश्य करेगा. ब्रह्मचर्य का पालन करने की सभी स्त्री-पुरुष अपने जीवन में कई सारी शारीरिक शक्तियां अर्जित कर लेते हैं. ब्रह्मचर्य का पालन करने से व्यक्ति शारीरिक मानसिक रूप से भी मजबूत होता है.

प्रत्येक मनुष्य अपने जीवन में सुख ही सुख प्राप्त करना चाहता है, जरा सा भी दुख होने पर वह बहुत ही व्याकुल हो उठता है. ऐसे में यदि आप अपने जीवन में सुख प्राप्त करना चाहते हैं, तो ब्रह्मचर्य का पालन आवश्यक हो जाता है. ऐसा माना जाता है कि ब्रह्मचर्य का पालन करने के बाद व्यक्ति पर चतुर्मुखी विकास होता है.

जिसकी वजह से वह कभी भी किसी भी परिस्थिति का सामना करने के लिए सक्षम होता है, जो व्यक्ति पूर्ण रूप से ब्रह्मचर्य का पालन करता है. वह भी अपने जीवन में कभी भी दुखों का सामना नहीं करता है. ऐसी मान्यता है कि ब्रह्मचारी का मतलब स्त्री और पुरुष का एक साथ ना रहना. परंतु ऐसा कुछ नहीं है ब्रह्मचर्य का पालन हम घर पर रहकर भी कर सकते हैं.

ब्रह्मचर्य के लाभ और शक्तियाँ क्या है ? | brahmacharya ke Labh

काफी कठिन होता है, जो लोग ब्रह्मचर्य का पालन करते हैं. उनके जीवन में अनेक लाभ प्राप्त होते हैं, जो इस पप्रकार है :

1. सभी कार्य करने में सक्षम होता है 

ब्रह्मचर्य का पालन जो भी व्यक्ति करता है. वह मन, वचन और कर्म से मजबूत हो जाता है तथा जीवन में हर कार्य करने के लिए सक्षम होता है. व्यक्ति में एकाग्रता भी आ जाती है. जिससे इच्छा शक्ति बढ़ जाती है और कोंई भी कार्य करने में अपना दिमाग लगता है. मन पर पूर्ण controlling होती है.

2. रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है

ब्रह्मचर्य का पालन करने वाले लोगों की शारीरिक बौद्धिक क्षमता बढ़ जाती है. जिससे उनके जीवन में किसी भी प्रकार की कोई कठिनाई नहीं आती है और सभी कार्य बड़ी आसानी से कर लेते हैं, मन पर पूरा नियंत्रण होता है. किसी भी प्रकार के रोग से ग्रसित नहीं होती है.

immunity

जिससे स्वास्थ्य हमेशा अच्छा और चैतन्य पूर्ण होता है. व्यक्ति के अन्दर एक अलग तरह की उर्जा पैदा होती है. जिससे मोह माया से परे हो जाते हैं. वे दिव्य आत्मा की तरह होते हैं.

3. शारीरिक सुंदरता में विकास होता है 

जो व्यक्ति ब्रह्मचर्य का पालन करते हुए जीवन व्यतीत करते हैं. उनका शरीर आजीवन सुंदर, सुडोल बना रहता है, जीवन के अंतिम पड़ाव तक ऊर्जा से परिपूर्ण होते हैं. ऐसा कहा जाता है कि ब्रह्मचर्य का पालन करने वाले व्यक्तियों की शारीरिक कोशिकाओं को सिखाएं अत्यधिक मजबूत और ऊर्जा से भरपूर होती है.

girl beauty phone

जिसकी वजह से उनका शरीर क्षीणता को नहीं प्राप्त करता है. बल्कि पूरे जीवन भर हष्ट पुष्ट और सुंदर दिखाई देते रहते हैं.

4. आयु में वृद्धि होती है 

पहली तिमाही में बच्चे दानी

स्त्री पुरुष जो भी ब्रह्मचर्य का पालन करते हुए जीवन व्यतीत करते हैं. वे लोग जीवन में किसी भी प्रकार की बीमारी से पीड़ित नहीं होते हैं. जिसकी वजह से लंबी आयु मिलती है अर्थात सामान्य जीवन की तरह न जी कर किसी तपस्वी की तरह लंबी जीवन यात्रा पर रहते हैं.

5. मानसिक मजबूती  होती है

व्यक्ति के जीवन के लगभग 25 वर्ष ब्रह्मचर्य के लिए विशेष महत्वपूर्ण रखते हैं. इस दौरान ब्रह्मचर्य का पालन करने वाले मानसिक लाभ अधिक प्राप्त करते हैं. क्योंकि ब्रह्मचर्य के पालन करने से शारीरिक सख्त काफी मजबूत होती है, साथ ही मन मस्त अधिक बलिष्ठ हो जाता है.

जिसे किसी कार्य का निर्णय लेने में व्यक्ति स्वयं सक्षम होता है तथा किसी गंभीर परिस्थिति में भी विचलित नहीं होता है.

6. आकर्षक व्यक्तित्व होता है 

RICH MAN

जो व्यक्ति ब्रम्हचर्य के नियमों का पालन करते रहते हैं. वह व्यक्ति अत्यधिक ऊर्जावान होने के कारण आकर्षक व्यक्तित्व के धनी हो जाते हैं. ब्रम्हचर्य व्यक्ति के व्यक्तित्व को इतना मजबूत बना देते हैं कि वह किसी भी व्यक्ति पर अपना अपनी छाप छोड़ सकता है अर्थात ब्रह्मचर्य का पालन करने वाला व्यक्ति प्रत्येक व्यक्ति को प्रभावित कर देता है.

7. सामाजिक जीवन में लाभ होता है 

social-media-network

ब्रह्मचर्य एक ऐसा विषय है, जिसको पूर्ण रुप से पालन करना व्यक्ति के शारीरिक मानसिक विकास के साथ-साथ सामाजिक जीवन भी परिवर्तित हो जाता है. ऐसे व्यक्ति शांत प्रिय और तटस्थ रहते हैं अर्थात कभी भी किसी भी प्रकार की गुस्सा, बेचैनी, व्याकुलता, ईर्ष्या आदि भाव नहीं रहते हैं. इसके विपरीत उनके जीवन में दूसरों के प्रति सहानुभूति, प्रेम, ममता अधिक हो जाती है.

osir news
यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
कोई सलाह देना है या हम से संपर्क करना है ? अभी तुरंत अपनी बात कहे !
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले .

यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन