Brussels sprouts : ब्रुसेल स्प्राउट्स क्या है और इसकी खेती कैसे करे? | Brussels sprouts in hindi

Brussels sprout gobhi kya hoti hai ? Brussels sprouts एक गोभी वर्ग का पौधा है इसकी पत्तियां गोभी के जैसी होती है तथा तनु पर पत्तियों से गांठ जैसी निकलती है जिनका व्यास 2.5 – 4.0 सेन्टी मीटर तथा वजन 20-30 ग्राम होता हैं।



brussels sprout gobhi kya

Brussels sprouts कुछ सब्जियों के रूप में प्रयोग किया जाता है और इसमें विटामिन ए विटामिन सी तथा कैल्शियम आयरन प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट्स तथा अन्य खनिज तत्व की प्रचुर मात्रा के कारण पोषण की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण होता है।

Brussels sprouts प्रमुख रूप से अमेरिका जापान यूरोप जैसे शीतोष्ण प्रदेशों में उगाया जाता है आज के दौर में भारत में भी कुछ सीमित क्षेत्रों में इसकी खेती की जाती है खासतौर पर उत्तर भारत के मैदानी पहाड़ देश के लिए उपयुक्त जलवायु वाले क्षेत्र होते हैं।

♦ लेटेस्ट जानकारी के लिए हम से जुड़े ♦
WhatsApp ग्रुप पर जुड़े 
WhatsApp पर जुड़े 
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
Google News पर जुड़े 

ब्रुसेल स्प्राउट्स की खेती के लिए कैसी मिट्टी चाहिए ? Kind of soil is needed for Brussels sprouts

soil mitti

Brussels sprouts की खेती ऐसी जगह पर होनी चाहिए जहां पर मिट्टी में कार्बनिक पदार्थ अत्यधिक पाए जाते हो तथा जल आदि के निकास की व्यवस्था उचित होनी चाहिए.


ब्रुसेल स्प्राउट्स की कितने प्रकार की किस्में हैं ? Types of Brussels Sprouts

ब्रुसेल स्प्राउट्स खेती करने के लिए कई प्रकार की किस्म होती है जिसमें प्रमुख रूप से तीन समूह में बाटा जाता है।

1. बौनी किस्मे | Dwarf varieties

small plant paudhe

  • अर्ली इम्प्रूव्ड
  • अर्ली ड्वार्फ
  • ड्वार्फ इम्प्रूव्ड
  • अर्ली मोर्न

उपरोक्त प्रकार की किस्म के पौधों की ऊंचाई लगभग 50 सेंटीमीटर होती है जिसके कारण इनको बौनी किसे कहा जाता है।

2. मध्यम उँचाई वाली किस्मे | Medium Height Varieties

band gobhi sprout

  • लांग ए आइसलैण्ड
  • हाफ ड्वार्फ आदि

इस प्रकार के किस्म के पौधे की लंबाई 50 सेंटीमीटर से ऊपर होती है।

3. ऊँची किस्मे | High strands

small plant paudhesmall plant paudhe

  • वेड शायर
  • ऐवासम

इन पौधों की लंबाई लगभग 1 मीटर के आसपास होती है जिसकी वजह से यह सब से अच्छी किस्म के Brussels sprouts स्प्राउट्स माने जाते हैं।

4. अन्य किस्में | Other Varieties 

small plant paudhesmall plant paudhe

  • Hilds ideal
  • Amagar market
  • Danish prize
  • Rubine

कुछ अन्य प्रकार की Brussels Sprouts की किस्में है जो उत्तरी मैदानी तथा पहाड़ी क्षेत्रों के लिए उपयुक्त होती हैं.

ब्रुसेल्स स्प्राउट्स के लिए भूमि की तैयारी कैसे की जाती है ? How to prepare the land for Brussels Sprouts

ब्रुसेल्स स्प्राउट्स की खेती करने के लिए खेत की जुताई दो से तीन बार करें यदि भूमि हल्की चिकनी है तो 4 से 5 वर्ष जुताई कर के खेत को भुरभुरा बनाएं उसके बाद ही खेत में फसल की पैदावारी करें।

1. प्रति हेक्टेयर कितना बीज डाले ? How much seed to plant per hectare

seed beej

ब्रुसेल्स स्प्राउट्स का बीज दर गोभी वर्गीय अन्य सब्जियों के बराबर ही लगता है | प्रति हेक्टेयर 500 – 600 ग्राम बीज की मात्रा बोई जाती है.

2. ब्रुसेल्स स्प्राउट्स के बीज बुवाई का समय | Brussels Sprouts Seed Sowing Time

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

Brussels sprouts के बीजों की बुवाई सितंबर से प्रारंभ होकर अक्टूबर से नवंबर तक होती है यदि भारत के मैदानी क्षेत्रों में इसे बोया जाता है तो अक्टूबर या नवंबर में बुवाई करें परंतु क्षेत्रों में मार्च और अप्रैल में इसकी खेती करना उचित है।

3. ब्रुसेल्स स्प्राउट्स की नर्सरी तैयार करने की विधि | Procedure for preparing nursery of Brussels sprouts

ब्रुसेल्स स्प्राउट्स की नर्सरी तैयार करने के लिए सबसे पहले खेत को चार से पांच बार जुताई करके भरोसा बनाएं और एक 1 मीटर की दूरी पर क्यारी  बनाएं लंबाई अपने अनुसार प्रयोग करें . पौधों की बुवाई करने के लिए प्रत्येक पंक्ति की दूरी लगभग 3 से 4 सेंटीमीटर हो और बीजों की दूरी 1 से 2 मिली मीटर रखें.

gobhi sprout

बीजों की बुवाई करने के बाद हल्के पानी से सिंचाई कर दें जिससे 7 से 8 दिन में अंकुरण हो जाता है इसके लिए नर्सरी तैयार होने के बाद 25 दिन के बाद पौधे उखाड़कर खेत में लगाएं और सिंचाई करें।

4. ब्रसेल्स स्प्राउट्स की फसल में खाद और उर्वरक कितनी डालें ? Manure and fertilizer for Brussels sprouts crop

Brussels sprouts के पौधों की रोपाई करने के बाद खेत में खाद्य उर्वरक समय-समय पर डालते रहे खेत में यदि 10 से 12 टन तक गोबर की खाद डालने तो आपको अन्य उर्वरक डालने की जरूरत कम हो जाती है. इसके अलावा खेत को बोते समय कम से कम 80 से 100 किलो नाइट्रोजन 7 से 80 किलो फास्फोरस और 50 से 60 किलो फोटोस प्रति हेक्टेयर के हिसाब से डालना चाहिए.

पौधरोपण करने के बाद नाइट्रोजन खाद की मात्रा 20 दिन के बाद टॉप ट्रेसिंग के रूप में डालें।

5. पौधों की रोपाई तथा दूरी कितनी होनी चाहिए ? Spacing and planting of plants

Brussels sprouts के पौधों के उपाय 25 दिन के बाद करें तथा पौधे के बीच की लंबाई कम से कम आठ 10 सेंटीमीटर से ज्यादा हो पौधों की रोपाई हमेशा शाम के समय करें जिससे पौधे मुरझाए नहीं बना पाए पौधरोपण करने के बाद सिंचाई अवश्य करते हैं।

6. ब्रसेल्स स्प्राउट्स की निराई गुड़ाई और मिट्टी कब चढ़ाएं ? When to weed, hoe, and soil the Brussels sprouts

paudhe safai hand

ब्रुसेल्स स्प्राउट्स के पौधों की अच्छी सी देखभाल और उन्नत खेती के लिए समय-समय पर निराई गुड़ाई करते रहना चाहिए जिससे फसल अच्छी होगी और पौधे स्वस्थ रहेंगे। निराई गुड़ाई करते समय पौधों की जड़ों पर मिट्टी भी चढ़ा देनी चाहिए पूरी फसल तैयार होने तक कम से कम तीन से चार बार निराई गुड़ाई और मिट्टी चढ़ाने का कार्य करें।

7. ब्रुसेल्स स्प्राउट्स के फसल की कटाई कब करें ? When to Harvest Brussels Sprouts

tractor harvesting khet

ब्रसेल्स स्प्राउट्स की फसल कटाई परिपक्व फसल होने पर कई बार की जाती है क्योंकि इसमें छोटी-छोटी स्काउट तीन चार सेंटीमीटर की हो जाए तो उनकी कटाई कर लेनी चाहिए जब कटाई कर दी जाती है तो उन्हें नए ब्रुसेल्स स्प्राउट्स निकल आते हैं।

8. एक बार में कितनी उपज होती है ? How much is produced at a time

farmer kisan khet fasal

ब्रूसेल्स स्प्राउट की फसल एक बार में यदि अच्छे से देखभाल करते हुए पैदा की जाती है तो 800 से 1000 ग्राम स्प्राउट्स प्राप्त होता है यदि प्रति हेक्टेयर बात की जाए तो लगभग 15 100 से 2000 कुंतल तक उपज होती है।

osir news
यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
कोई सलाह देना है या हम से संपर्क करना है ? अभी तुरंत अपनी बात कहे !
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले .

यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन