दस्त की टेबलेट का नाम : दस्त लगने की दवा और लक्षण | Dast ki tablet : dast ko kaise roke

Dast ki tablet kaunsi hoti hai ? दोस्तों दस्त एक ऐसी बीमारी है जो कभी ना कभी जीवन में व्यक्ति को हो जाती है जिसकी वजह से व्यक्ति को लगातार पतला दस्त होने लगता है लगातार मल त्यागने की आवश्यकता बनने लगती है जिससे व्यक्ति परेशान हो जाता है।

dast ki tablet

दस्त एक ऐसी समस्या है जो जीवन में कभी ना कभी व्यक्ति को होती जरूर है जिसकी वजह से व्यक्ति 1 से 2 दिन तक परेशान रहता है क्योंकि उसको बार-बार जल्दी-जल्दी मल त्यागने जाना पड़ता है उसे हर वक्त एहसास होता रहता है कि वह शौचालय में ही बैठा रहे।

दस्त जिसे अतिसार डायरिया लूज मोशन के नाम से जाना जाता है जिसका सीधा तात्पर्य व्यक्ति के पेट में गड़बड़ी होने पर पतला मल त्याग करना पड़ता है जिस धीरे-धीरे व्यक्ति के शरीर में पानी की कमी हो जाती है और व्यक्ति को कमजोरी महसूस होती चक्कर आना महसूस होता है कभी-कभी व्यक्ति चकरा कर गिर पड़ता है।

हालांकि यह कोई बहुत गंभीर बीमारी नहीं होती है बल्कि शरीर में पेट में किसी प्रकार से वायरल या बैक्टीरियल इन्फेक्शन होता है इसके अलावा कभी-कभी फूड पॉइजनिंग के कारण भी हो सकता है।

वैसे तो दस्त 1 या 2 दिन में ठीक हो जाते हैं परंतु कभी-कभी हफ्ता या दो हफ्ता तक हो जाता है जब यह लंबे समय तक होता है तो डायरिया के रूप में क्रॉनिक हो जाता है। क्रॉनिक अवस्था में दस्त पहुंचने के बाद देखते शारीरिक रूप से अत्यधिक लाचार हो जाता है।

दस्त के क्या लक्षण हैं ?

diarrhea stomach pet


दस्त कैसे होता है किसे कहते हैं यदि इसके लक्षणों के बारे में यदि जानने का हम प्रयास करें तो हम कई प्रकार के लक्षण हमारे सामने प्रकट होते हैं आइए हम दस्त के लक्षणों के बारे में पहले बात करते हैं-

  • यदि हम दस्त के लक्षणों पर ध्यान देते हैं तो लूज मोशन होने के कारण कई प्रकार के लक्षण दिखाई देते है दस्त कई कारणों से होता है।
  • कभी-कभी पेट का निर्जलीकरण अथवा विषाक्त भोजन के कारण भी दस्त होता है हां यह दस्त के लक्षण के बारे में बात करते हैं जो इस प्रकार से है
  • डायरिया हो जाने से निर्जलीकरण हो जाता है जिससे शरीर में पानी की मात्रा की कमी हो जाती है और दस्त होते हैं इसके अलावा उल्टी भी हो सकती हैं
  • डायरिया की वजह से मितली बनी रहती है हर वक्त उल्टी करने का एहसास होता है और कभी-कभी हो जाती है
  • दस्त की वजह से पेट में दर्द सूजन होता है पेट रह-रहकर ऐठन महसूस कराता है
  • दस्त होने की वजह से व्यक्ति को बार-बार मल त्यागने के लिए शौचालय जाना पड़ता है भले ही मल निकले लेकिन पानी के रूप में दस्त होता है।
  • व्यक्ति को बुखार और सिर दर्द की समस्या बन जाती है।
  • शरीर से पानी और नमक की मात्रा कम हो जाने के कारण कमजोरी महसूस होती है और आलस्य तथा निष्क्रियता होती है.
  • दस्त के रूप में पानी बाहर हो जाने की वजह से त्वचा और होठों पर रूखापन महसूस होता रहता है बार-बार पानी पीने की इच्छा होती रहती हैं .

दस्त के क्या कारण हैं ?

डायरिया या दस्त क्यों होता है इस समस्या पर होने के कारण कई है कुछ संभावित कारण इस प्रकार से होते हैं-

1. खानपान के कारण 

burger food fast

कई बार ऐसा होता है कि जब व्यक्ति कुछ इस प्रकार से खाना खा लेता है जो लेक्टोज एलर्जी जैसी समस्या उत्पन्न कर देता है जिसकी वजह से दस्त प्रारंभ हो जाता है कभी-कभी व्यक्ति अपच भोजन भी अधिक मात्रा में खा लेता है जिसकी वजह से ही डायरिया बन जाती है.

2. दवा के रिएक्शन के कारण

medicine dava

कई बार व्यक्ति में डायरिया या दस्त होने की वजह दवा का रिएक्शन होता है कभी-कभी व्यक्ति गंभीर बीमारियों से पीड़ित होने के कारण दवाएं करता रहता है जिसकी वजह से वे दवाएं रिएक्शन कर जाती है और डायरिया या दस्त बन जाता है।

3. वायरल और बैक्टीरियल संक्रमण के कारण

virus bacteria

मौसम के बदलते रहने से बैक्टीरियल और वायरल संक्रमण हो जाता है जिसकी वजह से पेट में पाचन क्षमता में परिवर्तन होता है और डायरिया या दस्त जैसी समस्या उत्पन्न होती है।

4. आंत संक्रमण के कारण

विषाक्त भोजन या अन्य तैलीय पदार्थों के सेवन से आंतों में संक्रमण हो जाता है जिसकी वजह से डायरिया या दस्त बन जाता है। रोटावायरस बच्चों में दस्त का एक आम कारण है। साल्मोनेला या ई कोलाई के कारण होने वाले बैक्टीरियल संक्रमण भी आम हैं।

5. परजीवी संक्रमण

bacteria virus

कभी-कभी परजीवी प्रोटोजोआ प्राणी या अन्य बैक्टीरिया पेट के अंदर परजीवी के रूप में पहुंच जाते हैं जो पेट की आंतों में संक्रमण पैदा कर देते हैं ऐसे में डायरिया या दस्त प्रारंभ हो जाता है

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 865 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

पपीता के पत्ते के फायदे और नुकसान : पपीता के पत्ते कितने दिन पीना चाहिए? | पपीता के पत्ते पीने के आयुर्वेदिक लाभ : Papaya ki patti ke fayde
खाटू श्याम को हारे का सहारा क्यों कहते हैं ? | Khatu shyam ko hare ka sahara kyu kehte hai ?

6. पेट या पित्ताशय की थैली की सर्जरी के कारण 

stomach pet intestine

ऐसे लोग जिनके पेट या पित्ताशय की थैली में पथरी याद के कारण सर्जरी हो जाती है 2 लोगों को भोजन पाचन में समस्या उत्पन्न होती है जिसकी वजह से भी डायरिया और दस्त की संभावनाएं ज्यादा बन जाती हैं।

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम या इंफ्लेमेटरी बाउल डिजीज बार-बार और गंभीर दस्त आंतों की बीमारी का संकेत हो सकता है।

दस्त को कैसे रोकें ? | dast ko kaise roke

man with pet

डायरिया या दस्त कोई गंभीर समस्या नहीं होती है जब कभी क्रॉनिकल डायरिया हो जाती है तो थोड़ा गंभीर हो जाती है फिर भी व्यक्ति के लिए उतना खतरनाक नहीं है ऐसे में दरियाई अगस्त को कुछ चीजों से रोका जा सकता है-

  • किसी भी प्रकार से डायरिया बचने के लिए घर की साफ सफाई अनिवार्य रूप से करें.
  • जहां पर भोजन बनता है रसोईघर को साफ सफाई करते रहे जिससे फूड प्वाइजनिंग जैसी समस्या से दस्त को रोका जा सकता है.
  • बैक्टीरियल या वायरल इन्फेक्शन को रोकने के लिए भोजन को पूरी तरह से उठाकर सुरक्षित रखें.
  • कोई भी खाद्य पदार्थ खाने से पहले हाथों को बार-बार धोयें तथा खाद्य पदार्थों को भी अच्छी प्रकार से धोना जरूरी है।
  • डायरिया हो जाने की स्थिति में व्यक्ति को गर्म पानी पिलाना चाहिए यदि बच्चों में डायरिया हुई है तो उसके पेट पर बराबर गर्म कपड़े से सिकाई करें।
  • संक्रमित भोजन खाने से बचें अत्यधिक अपाच्य भोजन ना खाएं।

दस्त का उपचार कैसे किया जाता है ?

एक्यूट डायरिया सामान्य रूप से ठीक हो जाता है परंतु लगातार दस्त होने से दस्त के मामले गंभीर हो जाते हैं ऐसे में दस्त हो रहे हैं उसका उपचार करना जरूरी है दस्त का उपचार करने के लिए निम्नलिखित उपाय जरूरी है

1. निर्जलीकरण को रोकना

water

  • किसी भी व्यक्ति या बच्चे को यदि दस्त हो रहे हैं तो सबसे पहले उसके निर्जलीकरण को रोकना होगा इसके लिए पुनः हाइड्रेट करें इसके लिए आपको पानी की मात्रा बढ़ाना होगा या करण पदार्थों का सेवन अधिक करें .
  • कभी-कभी बच्चे और बुजुर्गों में निर्जलीकरण को रोकने के लिए तरल पदार्थों को नसो द्वारा दिया जाता है जैसे ग्लूकोज को चढ़ा दिया जाता है।
  • निर्जलीकरण रोकने के लिए ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन (ओआरएस) देना जरूरी है क्योंकि इसमें नमक और ग्लूकोज की मात्रा अधिक होती है जो निर्जलीकरण को पूर्ति करते हैं
  • बच्चों के लिए ओआरएस दस्त को रोकने में बहुत ही कारगर है इसलिए बच्चे में दस्त होने पर तुरंत ओआरएस का घोल दिलाना प्रारंभ करें .

2. ओटीसी एंटीडाएरीयल दवाएं लें 

सभी प्रकार के दस्त को रोकने के लिए लोपेरामाइड एक एंटीमोटीलिटी दवा है जैसे इमोडियम और बिस्मथ सबसैलिसिलेट जो वयस्कों और बच्चों में दस्त को रोकने में कारगर है।

यह दवाई “ट्रवेलेरस डायरिया” (traveler’s diarrhea ) जैज़ दस्त को रोकने में दिया जाता है।

3. सही पोषण का प्रयोग करें

take care of food

दस्त होने की स्थिति में कुछ खाद्य पदार्थ और पेय पदार्थ लाभकारी होते हैं जैसे फलों का जूस नमक और पानी का चीनी के साथ घोल लेना चाहिए .

भोजन खाते समय पानी कंपनी तथा सोडियम युक्त खाद्य पदार्थ और तरल पदार्थों का प्रयोग अधिक करें जैसे सूप स्पोर्ट्स ड्रिंक और नमकीन इसके अलावा घुलनशील फाइबर युक्त आहार जैसा अकेला चावल दलिया अधिक खाएं.

तला हुआ भोजन मीठा भोजन कैफीन युक्त पेय पदार्थ की मात्रा को कम मात्रा में लें। डेयरी उत्पादों का सेवन ना करें.

4. प्रोबायोटिक्स

प्रोबायोटिक्स जो एक जीवित जीवाणु है यह स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है अतः प्रोबायोटिक्स कैप्सूल टेबलेट पाउडर तरल पदार्थ के रूप में लेने से दस्त में पूरा आराम मिलता है।

दस्त की अंग्रेजी दवा टेबलेट | दस्त की टेबलेट नाम | दस्त की एलोपैथिक दवा

medicine capsule dva tablets

वैसे तो दस्त को रोकने के लिए मार्किट में आपको बहुत सी टेबलेट मिल जाएँगी जिसमे से मै आपको ज्यादा से ज्यादा टेबलेट के नाम बताने कि कोशिश करूंगा जिससे आप अपने दस्त कि समस्या से आसानी से छुटकारा पा जायेंगे किन्तु आप एक बार डॉक्टर से रॉय अवश्य ले ले अन्यथा अनजाने में कोई नुकसान भी हो सकता है .

osir news
  • OFLOX OZ  tablet
  • NEW IBS – D tablet
  • RIFAXIMIN tablet
  • ELUXADOLINE tablet
  • ENTRID tablet
  • ENUFF 30 MG tablet
  • ALOSETRON tablet
  • PEDIALYTE tablet
  • CERALYTE tablet
  • LOPERAMIDE ATROPINE tablet
  • SOOTHE CAPLETS tablet
  • CODEINE tablet

डायरिया या दस्त से क्या नुकसान हो सकता है ?

sad boy

  • दस्त की समस्या होने पर शरीर में पानी की समस्या होती है जिसे डायरिया कहा जाता है।
  • दस्त होने के कारण शरीर में तरल पदार्थ और खनिज तत्वों की कमी हो जाती है।
  • मल त्यागने की वजह से पानी की कमी के कारण प्यास अधिक लगती है और मुँह शुष्क हो जाता है।
  • निर्जलीकरण के कारणऑर्थोस्टैटिक हाइपोटेंशन ,खड़े होने पर बेहोशी या हल्का सिरदर्द खून की मात्रा कम होती है।
  • रक्तचाप कम हो जाता है जिससे कभी कभी सदमा लग जाता है।
  • मूत्र की मात्रा में कमी होने से किडनी के समस्या होती है और कभी कभी मूत्र के साथ रक्त आ जाता है।
  • बार बार मल त्यागने से गुदा में जलन भी होती है।
  • महिलाओं में पहले प्रसव होने जैसे समस्या हो सकती है।
यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

लिवर की गर्मी का इलाज और लक्षण जाने – लिवर की गर्मी कैसे शांत करें ?
परीक्षा की तैयारी कैसे करें ? प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करें Exam ki tayari kaise kare
चलते फिरते मंत्र जाप कैसे करे कौन सा मंत्र ? और इसके लाभ जाने | Chalte firte Mantra Jap
काली कपालिनी सिद्धि क्या है? : काली कपालिनी अनुभव, मंत्र और साधना | What is Kali Kapalini Siddhi in hindi?
कुण्डलिनी शक्ति क्या है? Kundalini shakti in hindi
★ सम्बंधित लेख ★