गर्भ ठहरने की 8 आयुर्वेदिक दवा का नाम और प्रयोग विधि | गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक : Garbh thaharne Ki Dawa Ayurvedic

गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक | Garbh thaharne Ki Dawa Ayurvedic : दोस्तों मां बनना हर महिला का एक सपना होता है और एक परिवार में बच्चे की बिल कार्यों को सुनने के लिए सभी की चाहत होती है परंतु अगर कोई महिला बार-बार कंसीव करना चाहती है लेकिन गर्भ ठहरने में दिक्कत होती है.



गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक | Garbh thaharne Ki Dawa Ayurvedic

ऐसे में अगर गर्भ ठहरने की समस्याएं किसी कारणवश होती है तो कुछ गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक करके ठीक किया जा सकता और सही समय पर कंसीव किया जा सकता है। महिलाओं में जनन संबंधी किसी भी प्रकार की समस्या को दूर करने के लिए हमारा आयुर्वेद आदिकाल से ही एक विशेष और महत्वपूर्ण उपाय रहा है.

हजारों प्रकार की जड़ी बूटियों और औषधियां महिलाओं और पुरूषों में जनन से संबंधित बीमारियों को दूर करने के लिए प्रयोग की जाती रही हैं और आज भी प्रयोग की जा रही हैं। जहां एक और आयुर्वेद के साथ-साथ एलोपैथिक दवाएं या होम्योपैथिक दवाएं भी विभिन्न प्रकार की जन्म संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए प्रयोग की जा रही हैं.

♦ लेटेस्ट जानकारी के लिए हम से जुड़े ♦
WhatsApp ग्रुप पर जुड़े 
WhatsApp पर जुड़े 
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
Google News पर जुड़े 

वही आयुर्वेदिक औषधियां सभी प्रकार की समस्याओं को जड़ से खत्म करने की ताकत रखते हैं। अगर आप एक महिला हैं और आपको गर्भ ठहरने में दिक्कतें आ रही हैं तो गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक करके अपनी समस्याओं से निजात पा सकती है।

गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक | Garbh thaharne Ki Dava Ayurvedic

किसी भी महिला द्वारा निरंतर संतान उत्पत्ति के लिए प्रयास करने के बावजूद भी गर्भधारण करने में असमर्थ हैं तो यह बांझपन की समस्या हो सकती हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार अगर कोई महिला बच्चे को जन्म देने पाने में असमर्थ है या प्रजनन क्षमता किसी कारण से प्रभावित है तो इसे बांझपन कहा जा सकता है।


गर्भ

बांझपन की समस्या की कारणों में पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम, ऐंडोमेटरिओसिज़, श्रोणि सूजन की बीमारी, गर्भाशय फाइब्रॉएड, एनीमिया, थायराइड की समस्याएं, अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूबज़, कैंडिडा और यौन संचारित रोग (एसटीडी) इत्यादि हो सकती हैं.

ऐसे में आप गर्भधारण नहीं कर पा रही हैं तो गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक के बारे में हमें अपनी साईकिल के माध्यम से बताने जा रहे हैं जिनसे आप जल्दी कंसीव करके संतान प्राप्ति कर सकती हैं।

1. पुष्यानुग चूर्ण

महिलाओं में किसी भी प्रकार की फिमेल पार्ट दोस  को दूर करने के लिए पुष्यानुग चूर्ण गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक यह चूर्ण गर्भाशय में किसी भी प्रकार के असंतुलन को ठीक करता है और रिलेशन बनाने के दौरान इस पर्व को गर्भाशय तक पहुंचाने में आसान कर देता है।

अगर मासिक धर्म के कारण किसी प्रकार का डिसऑर्डर है तो उससे पुष्यानुग चूर्ण एक बेहतर गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक है जिसका किसी भी महिला द्वारा सुबह शाम दूध के साथ सेवन करने से से आराम मिलता है.

2. शतावरी

Shatavari Churna

जिन महिलाओं में गर्भधारण की समस्या है वे महिलाएं शतावरी का सेवन करें यह एक ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जो फर्टिलिटी को बढ़ा देते हैं और महिलाओं में हार्मोनल डिसऑर्डर को बेहतर बनाती है जिससे कंसीव करने में बहुत ही मदद मिलते हैं।

शतावरी का सेवन चूर्ण के रूप में प्रतिदिन दूध के साथ भोजन खाने के बाद करें जिससे आपके शरीर मैं विकास होगा और गर्भधारण करने में आसानी होगी.

3. कुमारी असावा

जिन महिलाओं में ओवेरियन डिस्फंक्शन की समस्या के कारण गर्भधारण करने में दिक्कत होती है. उनके लिए कुमारिया सावा भी एक गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक है. यह महिलाओं में मासिक धर्म को सही करती है तथा ओवुलेशन होने में मदद करते हैं. जिससे महिला के गर्भवती होने की संभावनाएं बढ़ जाती है.

4. फल घृत

यह त्रिफला, मुस्ता, हरिद्रा और नींबू के रस को देसी घी मैं मिलाकर बनाई गई एक आयुर्वेदिक दवा है इसमें अन्य कई प्रकार की जड़ी बूटियों का मिश्रण किया गया है जो महिलाओं में गर्भ ठहरने मैं मदद करती हैं।

फल घृत fal ghrat

यह दवा वास्तु यंत्र द्वारा 3 महीने तक 9 बार लगाई जाती है इस दौरान महिलाओं को ध्यान देने की जरूरत है क्योंकि कभी-कभी एक असहज दर्द हो सकता है लेकिन यह दवा फर्टिलिटी को सही करती है तथा किसी भी प्रकार के जननांग के रोग को दूर भी कर देते हैं.

5. अशोकारिष्ट

मासिक धर्म की अनियमितता के कारण अगर गर्भधारण करने में कोई महिला अक्षम होती है तो उस महिला के लिए अशोकारिष्ट एक आयुर्वेदिक टॉनिक है जो गर्भाशय संबंधी समस्याओं को दूर करती है मुख्य रूप से गर्भाशय की लाइनिंग सही करती हैं. जिससे गर्भ ठहरने में आसानी हो जाती हैं.

6. दालचीनी

Triphala दालचीनी

महिलाओं में गर्भाशय से संबंधित समस्या से निजात पाने के लिए दालचीनी का पाउडर एक चम्मच गर्म पानी के साथ अथवा दूध के साथ दिया जाता है दालचीनी महिलाओं को गर्भ धारण करने के लिए एक रामबाण आयुर्वेदिक औषधि है। इसका सेवन दही दलिया और अनाज के साथ ही किया जा सकता है

7. कंचनार गुग्गुल

कचनार गूगल भी महिलाओं में गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक है अगर अन्य किसी प्रकार की दवा नहीं मिल पा रही है तो कचनार गुग्गुल भी आप ले सकते हैं यह हार्मोन असंतुलन को ठीक करके गर्भधारण करने में मदद करती हैं।

यदि किसी भी महिला के गर्भाशय में गांठ है हार्मोन असंतुलन है या ओवुलेशन सही से नहीं हो पाता है तो कचनार गुग्गुल इसके विकास में मदद करता है तथा गर्भाशय संबंधी समस्याओं को दूर कर गर्भधारण करने में मदद करती हैं

8. अश्वगंधा

महिला या पुरुष दोनों के लिए अश्वगंधा एक रामबाण औषधि यह शरीर को ताकत देती है और बलिष्ठ बनाती हैं ऐसे में यदि पुरुष या महिला में जननांगों से लेकर कोई समस्या है तो अश्वगंधा का दूध के साथ सेवन करें।

अश्वगंधा चूर्ण के फायदे

जिन महिलाओं को संतान सुख नहीं प्राप्त हो रहा है उन महिलाओं को अश्वगंधा बहुत ही कारगर दवा है क्योंकि यह हार्मोन असंतुलन को सही करती है तथा प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है। अश्वगंधा का चूर्ण एक चम्मच दूध के साथ दिन में 2 बार लेने से गर्भाशय की समस्याएं दूर होती हैं और महिलाओं में गर्भ ठहरने में आसानी हो जाती हैं.

गर्भ ठहरने की दवा होम्योपैथिक | Garbh thaharne Ki Dava homeopathic

अगर महिलाएं गर्भधारण करने के लिए आयुर्वेदिक दवा नहीं प्रयोग करना चाहते हैं तो होम्योपैथिक दवाएं भी आप कर सकती हैं गर्भ ठहरने की दवा होम्योपैथिक बांझपन को ठीक कर देते हैं महिलाओं में किसी भी प्रकार की प्रजनन संबंधी समस्या है तो होम्योपैथिक दवा भी आयुर्वेदिक दवाओं की तरह काफी कारगर हैं।

1. बोरेक्स और नाट्रम फोस प्रभावी होम्योपैथिक दवा

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

बोरेक्स और नाट्रम फॉस महिलाओं के बांझपन को दूर करने ओवुलेशन को सही करने की एक होम्योपैथिक दवा है यह दवा महिलाओं को तब दी जाती है जब उत्सर्जित होने वाले अंडाणु सफेद बड़े और गर्म होते हैं जिसकी वजह से गर्भधारण नहीं हो पाता है इस दवा को लेने के बाद महिलाओं में गर्भधारण की क्षमता बढ़ जाती है।

2. कैल्केरा कार्ब और एलेटिस फरीओनोसा

यह दवाई उस समय महिलाओं को दी जाती हैं जब महिलाओं में मासिक धर्म अनियमित होता है जब महिलाओं में मासिक समय से पहले या बाद में आना प्रारंभ होता है जिसकी वजह से सही समय पर ओवुलेशन नहीं हो पाता है और महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती है ऐसी स्थितियों में इन दवाओं का प्रयोग किया जाता है।

tablet dawa medicine

किसी भी प्रकार की होम्योपैथिक दवाई लेने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना अनिवार्य है क्योंकि इनमें कई प्रकार के रसायनों का भी प्रयोग किया जाता है जिससे कोई समस्या हो सकती हैं ऐसे में बिना डॉक्टर के परामर्श के इन दवाओं का प्रयोग ना करें।

गर्भ ठहरने की दवा अंग्रेजी | Garbh thaharne ki Dawa angreji

दोस्तों आज के समय में अंग्रेजी दवाई होम्योपैथिक और आयुर्वेदिक दवाओं से सस्ती होती हैं जिसकी वजह से महिलाओं को गर्भधारण को लेकर होने वाली समस्याओं में अंग्रेजी दवाएं भी कारगर उपाय होती हैं आइए हम आपको कुछ गर्भ ठहरने की दवा अंग्रेजी के बारे में बताते हैं :

1. मेटफोर्मिन ग्लूकोफेज

tablet dawa medicine

यह दवा ऐसी महिलाओं के लिए दी जाती है जिन महिलाओं की उम्र 30 या 35 साल से अधिक होती हैं और पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम डिसीज होती हैं जिसकी वजह से गर्भधारण करने में समस्या आती है। इन महिलाओं को यह दवा लेने के बाद मासिक धर्म में अनियमितता भी सही हो जाती है जिससे उन्हें गर्भधारण करने में आसानी हो जाती हैं।

2. डोपामाइन एगोनिस्ट

जब महिलाओं में प्रोलैक्टिन हार्मोन की मात्रा बढ़ जाती है तो महिलाओं में ओवुलेशन सही से नहीं हो पाता है. जिसकी वजह से गर्भधारण करने में समस्याएं होती हैं। डोपामाइन एगोनिस्ट प्रोलेक्टिन की मात्रा को कम करता है तथा ओवुलेशन को बढ़ा देता है. जिससे एक महिला को गर्भधारण करने में कोई समस्या नहीं रहती है।

3. क्लोमीफीन

जब महिलाओं में अंडोत्सर्ग नहीं हो पाता है जिसकी वजह से बांझपन उत्पन्न हो जाता है ऐसी स्थिति में क्लोमीफीन दवा दी जाती है। सामान्य रूप से मासिक चक्र के बाद ओवुलेशन में महिलाओं के अंदर एक ही अंडाणु का उत्पादन होता है लेकिन क्लोमीफीन देने के बाद ओवुलेशन के समय 2 से अंडों का उत्सर्जन होता है जिसकी वजह से महिला गर्भधारण करने में आसानी हो जाती है।

4. लेट्रोजोले

tablet dawa medicine

लेट्रोजोले भी महिलाओं में अंडोत्सर्ग को बढ़ा देता है अगर महिला पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम डिजीज से पीड़ित है तो उसे लेट्रोजोल देने से बीमारी ठीक हो जाती है और गर्भधारण करने में आसानी हो जाती है।

5. गोनाडोट्रापिन

जब महिलाओं में क्लोमीफीन और लेट्रोजोल काम नहीं करती हैं. तब gonadotropin इंजेक्शन के रूप में महिलाओं को दिया जाता है यह FSH हार्मोन की तरह होता है जो ओवेरियन फॉलिकल का विकास करता है जिससे महिलाएं गर्भधारण आसानी से कर पाती हैं।

महिलाओं में गर्भ ना ठहरने के कारण | mahilaon Mein Garbh na thaharne ke Karan

दोस्तों हम अपने आर्टिकल के माध्यम से महिलाओं में गर्भ ना ठहरने के कारणों को सारांश में बताने जा रहे हैं यह कारण ऐसे हैं जिनकी वजह से महिलाओं को कंसीव करने में हमेशा समस्या बनी रहती है।

motapa obesity pet ki naap

  1. एनीमिया
  2. थायराइड की समस्याएं
  3. अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूबज़
  4. कैंडिडा
  5. यौन संचारित रोग (एसटीडी)
  6. पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओ)
  7. ऐंडोमेटरिओसिज़
  8. श्रोणि सूजन की बीमारी
  9. गर्भाशय फाइब्रॉएड
  10. तनाव
  11. अनियमित एवं दर्दपूर्ण माहवारी की समस्या
  12. पोषण-रहित भोजन
  13. शराब
  14. सिगरेट
  15. मोटापा

FAQ : गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक

पीरियड आने के बाद कितने दिन में अंडे बनते हैं ?

महिलाओं में मासिक धर्म प्रत्येक 28 दिन पर होता है और अंडे बनने का समय 14 दिन से शुरू होता है यदि मासिक धर्म आने के बाद की बात की जाए तो मासिक धर्म कितने दिन रहता है. उसके अगले दिन से अंडे बनने प्रारंभ हो जाते हैं जिसे ओवुलेशन पीरियड कहा जाता है।

जल्दी गर्भ कैसे ठहरता है ?

गर्भ जल्दी ठहरने के लिए महिलाओं को मासिक धर्म की अनियमितता और ओवुलेशन पीरियड पर विशेष ध्यान देना चाहिए इस दौरान उन्हें कंसीव करने से जल्दी गर्भ ठहरता है।

प्रेग्नेंट होने के लिए कौन सी टेबलेट खाएं ?

ज्यादातर महिलाओं में फोलिक एसिड की कमी के कारण गर्भधारण नहीं हो पाता है इसलिए सबसे पहले महिलाओं को प्रेग्नेंट होने के लिए फोलिक एसिड टेबलेट खाना चाहिए।

निष्कर्ष

दोस्तों किसी भी महिला में गर्भधारण ना होने के कारण संतान सुख से वंचित हो जाती है और समाज में कई प्रकार के ताने सुनने को मिलते हैं लेकिन महिलाओं को यदि गर्भधारण की समस्या है तो कई प्रकार की दवाओं के माध्यम से कंसीव करने में आसानी हो जाती है। ऐसे में महिलाओं को सबसे पहले अपनी जांच करवानी चाहिए.

उसके बाद गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक होम्योपैथिक किया अंग्रेजी करके कंसीव कर सकती हैं। महिलाओं में बांझपन एक बड़ी समस्या है जिस को ठीक करना भी आज के समय में बहुत आसान है समय रहते अगर इलाज किया जाता है तो हर समस्या का निदान हो जाता है.

ऐसे में अगर आप अपनी समस्याओं को दूर करने के लिए आयुर्वेदिक दवा के बारे में जानना चाहते हैं तो गर्भ ठहरने की दवा आयुर्वेदिक बहुत सी है जिनके द्वारा आप एक संतान का सुख प्राप्त कर सकती हैं।

osir news
यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
कोई सलाह देना है या हम से संपर्क करना है ? अभी तुरंत अपनी बात कहे !
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले .

यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन