किडनी स्टोन के नुकसान जाने | गुर्दे की पथरी कैसी होती है ? kidney stone ke lakshan in hindi

Kidney stone se kaun sa nuksan hota hai ? मानव स्वस्थ रहने के लिए क्या कुछ नहीं करता|वह जल्दी बीमार ना हो हरदम यही कामना करता रहता है,परंतु कभी-कभी कुछ ऐसी गलती हो जाती है, जिसके कारण वह बीमारी की चपेट में आ जाता है और यह बात तो हम सभी जानते हैं कि हम चाहे कितनी ही कोशिश क्यों ना कर ले हमसे कुछ ना कुछ ऐसी गलतियां अवश्य हो जाती हैं जिसके कारण हमें बीमारी हो जाती है|

जैसे अगर हम गलत खानपान की आदत पाल लेते हैं, तो हमें बीमारी हो जाती है| वैसे तो दुनिया में विभिन्न प्रकार की बीमारियां हैं, परंतु आज हम आपको जिस बीमारी के बारे में बताने वाले हैं वह काफी दर्द भरी बीमारी होती है|n कहने को तो यह छोटी सी बीमारी होती है, परंतु इसमें होने वाला दर्द काफी असहनीय होता है, हम बात कर रहे हैं किडनी स्टोन की जिसे सामान्य भाषा में पथरी भी कहा जाता है|

किडनी स्टोन में क्या खाना चाहिए, किडनी स्टोन ट्रीटमेंट इन होमियोपैथी इन हिंदी, किडनी स्टोन के नुकसान, पथरी क्या खाने से होती है, पथरी के कारण कौन सा रोग होता है, फिटकरी से पथरी का इलाज, गुर्दे की पथरी के नुकसान, पथरी तोड़ने की दवा, 24 घंटे के भीतर गुर्दे की पथरी के लिए घरेलू उपचार प्राकृतिक हटाने, पेशाब नली में पथरी की दवा, पथरी तोड़ने की दवा Homeopathic, पथरी की देशी दवा, पथरी की अंग्रेजी दवा, पतंजलि की पथरी की दवा, पथरी की होम्योपैथिक दवा, बियर से पथरी का इलाज,

इंसानों की बॉडी में किडनी का बहुत ही महत्व होता है, परंतु जब इंसानों की किडनी में तरल पदार्थ की मात्रा कम होने लगती है, तो उसमें जहरीले तत्व की मात्रा बढ़ने लगती है और जब जहरीले तत्व हमारी बॉडी से बाहर निकलने की जगह पर किडनी में जमा होने लगते हैं, तो बाद में यह एक क्रिस्टल का रूप ले लेते हैं, जिसे हम किडनी स्टोन कहते हैं और अगर इसे हिंदी में कहा जाए तो किडनी स्टोन को हिंदी में “गुर्दे की पथरी” कहा जाता है|

किडनी स्टोन किसे कहा जाता है ? What Is Kidney Stone

मानव शरीर में किडनी की बहुत एहम भूमिका होती है लेकिन जब किडनी में तरल पदार्थ की मात्रा कम होने लगती है, तो उसमें अपशिष्ट पदार्थ की मात्रा बढ़ने लगती है, जिसके बाद अपशिष्ट पदार्थ शरीर से बाहर निकलने के बजाय किडनी में जमा होने लगते हैं। उसके  बाद में यह क्रिस्टल के रूप लेते हैं, जिसे हम किडनी स्टोन कहते हैं और हिंदी में गुर्दे की पथरी भी कहते हैं।

किडनी स्टोन यानी कि गुर्दे की पथरी का इलाज करने से पहले डॉक्टर उसके पूरे शरीर की चेकिंग करता है और उसके आधार पर डॉक्टर यह निर्णय लेता है कि पेशेंट के लिए कौन सा इलाज सबसे सही रहेगा| आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, जो किडनी स्टोन को नजरअंदाज करता है, उसके लिए यह बीमारी आगे चलकर जानलेवा और खतरनाक भी साबित हो सकती है और उसे काफी दर्द भी हो सकता है| इसीलिए समय रहते इसका इलाज करवा लेना चाहिए|


किडनी स्टोन कितने प्रकार के होते हैं ? Types of Kidney Stone

किडनी स्टोन टोटल चार प्रकार के होते हैं, जो इस तरह है-

  1. कैल्शियम स्टोन Calcium stone
  2. स्ट्रूविटा स्टोन Struvite Stone
  3. सिस्टिन स्टोन Sistine Stone
  4. यूरिक एसिड स्टोन Uric acid stone

किडनी स्टोन से कौन से नुकसान होते हैं ? Kidney Stone Damage

1. किडनी स्टोन से  मूत्र पथ में  संक्रमण होना  : Urinary tract infection or UTI

जब किसी व्यक्ति को गुर्दे की पथरी याने की किडनी स्टोन हो जाता है,तो उसके पेशाब के मार्ग में इंफेक्शन हो सकता है और ऐसा इसलिए होता है क्योंकि गुर्दे की पथरी के कणों के गठन के कारण पेशाब का मार्ग पतला और संकरा हो जाता है|

इसके बाद व्यक्ति को पेशाब करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है और इस तरह से व्यक्ति की किडनी पर काफी बुरा प्रभाव पड़ता है, जिसके कारण मूत्र मार्ग में आसानी से इंफेक्शन पैदा करने वाले बैक्टीरिया डेप्लव होते हैं और इस तरह से यूटीआई होने की संभावना काफी बढ़ जाती है|

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 581 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

जाने अमावस्या के दिन घर में क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिये | Amavasya ke din ghar mein kya karna chahiye
आध्यात्मिकता क्या है : आध्यात्मिक जीवन जीने का तरीका और 4 फायदे | Adhyatmikta kya hai

2. किडनी स्टोन से किडनी फेलियर या किडनी डैमेज  होना : Kidney failure or Kidney damage

किडनी स्टोन का दूसरा सबसे बड़ा नुकसान यह है कि अगर किसी आदमी का भाग्य अच्छा ना हुआ,तो उसकी किडनी या तो फेल हो सकती है या फिर उसकी किडनी डैमेज भी हो सकती है और दोनों ही अवस्था में व्यक्ति को काफी शारीरिक और आर्थिक नुकसान होता है|

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

क्योंकि किडनी से संबंधित किसी भी प्रकार के इलाज को करवाने में काफी खर्चा आता है| किडनी फेलियर को हिंदी भाषा में गुर्दे की विफलता कहा जाता है| जब किसी आदमी का गुर्दा फेल हो जाता है तो उसके गुर्दे को बहुत ही ज्यादा नुकसान होता है और ऐसा होने पर आदमी को भूख बिल्कुल भी नहीं लगती है और धीरे-धीरे उसका शरीर कमजोर होने लगता है|

इसीलिए गुर्दे की पथरी को हल्के में नहीं लेना चाहिए और समय रहते हुए इसका इलाज करवाना चाहिए|हमारे भारत में ऐसे कई सरकारी और प्राइवेट अस्पताल है, जहां पर गुर्दे की पथरी का इलाज किया जाता है| प्राइवेट अस्पतालों की तुलना में सरकारी अस्पतालों में इसके इलाज का खर्चा कम होता है|

3. किडनी स्टोन से  मतली और उल्टी होना : Nausea and vomiting

जब आदमी के गुर्दे में पथरी हो जाती है, तो इसके कारण बहुत से लोगों को मतली या फिर उल्टी होना प्रारंभ हो जाता है, परंतु ऐसा सबके साथ नहीं होता है|

यह तब होता है जब किडनी स्टोन जठरांत्र से संबंधित नसों को हिट करना प्रारंभ कर देता है|ऐसा होने पर व्यक्ति का पेट खराब होने लगता है और पेट खराब होने के कारण उसे उल्टी आने लगती है| इसके अलावा उसे काफी दर्द भी महसूस होता है, जो उसके पेट के आसपास के हिस्से में होता है|

4. लगातार पेशाब आना : Frequent urination

बहुत से लोगों के साथ ऐसा होता है कि, जब उन्हें लगातार पेशाब आती है, तो वह इसे सामान्य अवस्था समझकर नजर अंदाज करने लगते हैं,परंतु ऐसा करना उनकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है| आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, जब किडनी स्टोन पेशाब के मार्ग के निचले हिस्से में पहुंचती है तो हमारा मूत्राशय पूरी तरह से खाली नहीं हो पाता है और इसी के कारण व्यक्ति को बार बार पेशाब जाना पड़ता है या फिर उसे बार-बार पेशाब करने की इच्छा करती है|

5. पेशाब करते समय दर्द होना : Pain while urinating

पेशाब के मार्ग में संक्रमण होने के कारण होने वाले दर्द के समान किडनी स्टोन में पेशाब करते समय जलन और दर्द भी होती है और इसे मेडिकल की भाषा में डिसरिया के नाम से जाना जाता है| आपके पेशाब में खून भी आ सकता है| ऐसा होने पर आपको दर्द का अनुभव ही होता है और इसे हेमट्यूरिया कहा जाता है|

osir news

6. किडनी स्टोन से किडनी संक्रमण होना : Kidney infection

अगर किसी व्यक्ति को जुखाम होता है, साथ ही उसे ज्यादा बुखार होता है तो यह किडनी स्टोन होने का पहला लक्षण हो सकता है और अगर समय रहते हुए इसका इलाज नहीं करवाया जाता है, तो यह आगे चलकर काफी बड़ी बीमारी बन जाती है जिसे ठीक करवाने में काफी पैसे खर्च करने पड़ते हैं, साथ ही व्यक्ति को शारीरिक और मानसिक तकलीफ भी होती है|

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

राधा नाम की महिमा क्या है ? राधा रानी की कृपा कैसे होगी ? | What is the glory of the name Radha
सोयाबीन की दाल खाने के क्या फायदे हैं ? What are the benefits of eating soybean lentils?
वशीकरण सुरमा बनाने की गुप्त विधि जाने vashikaran surma kaise banaya jata hai
रेड लाइट एरिया : फेमस एरिया का नाम, फ़ोन नंबर और पता | Red light aria
धनवान बनने के गुप्त रहस्य : अमीर बनने के 13 गुप्त तरीके जाने | secrets of getting rich in hindi
★ सम्बंधित लेख ★