नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट का नाम और सेवन विधि | Naso ki kamjori ke liye tablet

नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट Naso ki kamjori ke liye tablet : नसे हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है जिनसे होकर संपूर्ण शरीर में रक्त संचालित होता है और हमारे शरीर के सभी अंग सही से क्रिया करते हैं अगर नसों में किसी भी प्रकार की कोई समस्या होती है जिसके कारण काम करने में अक्षमता होती हैं तो कहीं ना कहीं नसों का कमजोर होना होता है।

नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट

जब हमारे शरीर में नशे कमजोर होने लगती हैं तो हम नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट या अन्य प्रकार की दवाइयों का प्रयोग करते हैं नसों की कमजोरी के कारण हमारे प्रमुख अंगों के रूप में पीठ दर्द कमर दर्द हाथ गर्दन लिंग तथा पेट के अन्य अंदरूनी हिस्से तकलीफ देने लगते हैं.

जिससे हम कोई भी काम सही से नहीं कर पाते हैं। हमारे शरीर में जितनी भी नशे हैं सभी संपूर्ण शरीर में विभिन्न अंगों से होकर निकलती है ऐसे में जब कोई अंग कमजोर होता है तो वहां पर नसें कमजोर होने लगती हैं और एक मुसीबत बनती है

आज के समय में लगभग हर व्यक्ति शरीर की नसों की कमजोरी के कारण कमजोर बनता जा रहा है वह किसी न किसी प्रकार की बीमारी से पीड़ित रहता है नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट और अन्य दवाइयां लेता है जब नशे कमजोर होती हैं तो सबसे पहले हमारा रक्त संचार बाधित होता है जिसकी वजह से विशेष अंग काम करना बंद कर देता है।

अगर नसें कमजोर होने लगी है और अंग काम करना बंद कर रहे हैं हमेशा दर्द बना रहता है तो उन्हें ठीक करने के लिए विभिन्न प्रकार की दवाइयों को लेते हैं परंतु कभी-कभी दवाइयां ही गलत लेने से अंगों की कमजोरी दिखाई देती है फिर भी अगर नसीब कमजोर हो रही है तो आप नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट और अन्य घरेलू उपाय कर सकते हैं।

नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट | Naso ki kamjori ke liye tablet

हमारे शरीर में बहुत सारी ऐसी नसीब है जो बहुत डेलीगेटेड होती हैं अगर इन अंगों पर या नसों पर किसी प्रकार की गलत दवाई का असर होता है तो अत्यधिक दर्द होता है अगर आप की नसें कमजोर हो गई हैं तो आप उनका घर बैठे इलाज कर सकते हैं कुछ घरेलू उपाय करके ठीक किया जा सकता है। इसके अलावा नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट के रूप में दवाई ले सकते हैं और आयुर्वेदिक दवाइयों का भी सेवन कर सकते हैं।


नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट | Naso ki kamjori ke liye tablet

दोस्तों नसों की कमजोरी के कई कारण बनते हैं सबसे प्रमुख कारण हमारा खान-पान होता है जिसकी वजह से शरीर में विभिन्न प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होती हैं ऐसे में आप नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट लेना चाहते हैं तो आइए हम कुछ नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट के बारे में बताते हैं।

1. विटामिन बी कांप्लेक्स

विटामिन बी कांप्लेक्स

शरीर में नसों की कमजोरी का प्रमुख कारण विटामिन की कमी होती है ऐसे में यदि आप विटामिन बी कांप्लेक्स का प्रयोग करते हैं तो यह हमारे शरीर की सभी प्रकार की नसों की कमजोरी को दूर कर देते हैं क्योंकि इसमें पाए जाने वाले विभिन्न प्रकार के विटामिन बी सभी प्रकार के अंगों पर सामान प्रभाव डालते हैं जो हर अंग की कमजोरी दूर कर सकते हैं ऐसे में आप बिटामिन बी कांप्लेक्स टेबलेट ले सकते हैं।

2. Jinga Gold 4 कैप्सूल

Tinga Gold 4 कैप्सूल

Jinga Gold 4 कैप्सूल एक स्टैमिना बूस्टर कैप्सूल है अश्वगंधा शिलाजीत जैसे इनग्रेडिएंट से भरपूर होता है स्टैमिना बूस्टर के लिए यह कैप्सूल काफी मददगार साबित होते हैं जिसकी वजह से किसी भी प्रकार की नसों की कमजोरी को दूर करने में कारगर कैप्सूल

3. Harbo Tarbo

यह एक प्राकृतिक जड़ी बूटी से बना स्टैमिना बूस्टर टेबलेट है जो नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट है इसमें भी अश्वगंधा शिलाजीत सफेद मुसली जैसी चीजों का समावेश है और यह एनर्जीटिक होता है जिसकी वजह से स्टैमिना को मजबूत करता है इसे दूध के साथ सेवन करने से ज्यादा फायदा मिलता है

4. वी टोटल टैबलेट 10s

वी टोटल टैबलेट 10s

V-total टेबलेट नसों की कमजोरी और शारीरिक थकान को दूर करने के लिए प्रयोग किए जाते हैं जिन्हें प्रतिदिन सुबह-शाम एक-एक टेबलेट के रूप में सेवन किया जाता है यह किसी भी प्रकार की शारीरिक कमजोरी थकान तनाव को दूर करता है।

नसों के कमजोर होने के लक्षण | Naso ke kamjor hone ke lakshan

अगर शरीर के किसी अंग की नसें कमजोर होते हैं तो विशिष्ट अंग प्रभावित हो जाता है जिसकी वजह से कुछ लक्षण दिखाई देने लगते हैं जो इस प्रकार है। अगर हमें कमजोर नसों के बारे में पता चल जाता है तो इलाज भी करना आसान हो जाता है :

नसों की कमजोरी

  1. अगर नसें कमजोर होने लगती है तो व्यक्ति की नसें कमजोर होने की वजह से याददाश्त में कमी आती है।
  2. जब नशे कमजोर होती है तो रक्त संचार बाधित होता है ऐसे में कभी गरीब व्यक्ति को चक्कर आ जाता है जिससे बेहोशी जैसी समस्या दिखाई देती हैं।
  3. शरीर में नसों की कमजोरी के कारण ही व्यक्ति को उठने बैठने में तकलीफ होती है कभी-कभी आंखों के आगे अंधेरा जैसा छा जाता है
  4. पेट में कब्ज एसिडिटी और अपच जैसी समस्या भी नसों की कमजोरी का एक लक्षण है।
  5. चिंता तनाव अनिद्रा जैसी समस्या नसों की कमजोरी और अन्य शारीरिक कमजोरी के कारण होती है
  6. मनुष्य को उच्च रक्तचाप या निम्न रक्तचाप की समस्या या हृदय की धड़कन की कमजोरी भी नसों की कमजोरी का लक्षण है।
  7. नसों की कमजोरी के कारण ही खून की कमी हो जाती है जिसकी वजह से व्यक्ति कमजोर महसूस करता है

नसों की कमजोरी को दूर करने के लिए घरेलू उपाय | Naso ki kamjori ko dur karne ke liye gharelu upay

अगर आप की नसें कमजोर हैं या दब गई हैं तो आप उन नसों को अधिक दबाने का प्रयास ना करें या मोड़ने का प्रयास ना करें. अगर नसों में कमजोरी के कारण सूजन हो गई है तो नसों पर बर्फ से या किसी गर्म चीज से सेके और मसाज करें।

नसों की कमजोरी

भारी भरकम काम ना करें बल्कि आराम करें जिससे नसों पर दबाव न पड़े और आराम करते ही भी नसों पर दबाव न पड़ने पाए. जहां पर नशे कमजोर हैं वहां पर गरम पट्टी बांधे या फिर दर्द निवारक तेल की मालिश करें अथवा दवाई ले। हो सके तो नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट का सेवन कम करें।

1. पुदीना का तेल

नसों की कमजोरी के लिए व्यक्ति टेबलेट खाने लगता है जिसकी वजह से कई समस्या होती हैं ऐसे में घरेलू उपाय के रूप में आप पुदीने का तेल मालिश कर सकते हैं पुदीने का तेल मालिश करने से कमजोर नसों में दर्द और रक्त संचार की समस्या दूर होती है

2. सरसो का तेल

oil

शरीर में नसों की कमजोरी को दूर करने के लिए सरसों के तेल को भी गर्म करके लगा सकते हैं वह सके तो इसमें लहसुन की 4 से 6 कलियां मिलाकर गर्म करें और मालिश करें लाभ निश्चित मिलेगा।

3. बेर की गुठलियां

अगर आपको निरंतर कमजोरी महसूस होती रहती है तो आप कमजोरी को दूर करने के लिए देर की गुठलियों के साथ गुड़ का सेवन करना शुरू कर दें जिससे आप की नसें मजबूत बनेगी और शरीर भी हष्ट पुष्ट बलिष्ट बनेगा.

4. गाय का दूध

शरीर की नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट का प्रयोग करके आप गाय का दूध भी खा सकते हैं और गाय के दूध से प्राप्त मक्खन को मिश्री के साथ खाने से हर प्रकार की कमजोरी दूर हो जाती है।

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 866 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

नीचे के बाल काटने के 6 ख़तरनाक नुकसान जाने : गुप्तांग के बाल काटना भूल जायेंगे | Praivet part ke baal katne ke nuksan
टाइफाइड के नुकसान : जाने कितना ख़तरनाक और बचने के आसान घरेलू उपाय | Typhoid ke nuksan lachhan aur aasan gharelu upay

5. घी और काली मिर्च

ghee

शरीर में नसों की कमजोरी और अन्य सभी प्रकार की कमजोरी को दूर करने के लिए भी के साथ काली मिर्च का सेवन करें इसके लिए आपको कम से कम दो चम्मच धीमे 10 से 15 दाने काली मिर्च पीसकर मिला लें और सुबह खाली पेट खाएं लगभग 1 महीने तक लगातार खाने से आपके शरीर में दिन दूना रात चौगुना विकास होगा।

6. किसमिस

नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट ना लेकर विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों से भरपूर मेवा मिश्री का प्रयोग करें इसमें आपको किशमिश भी काफी लाभदायक होती है नसों की कमजोरी के लिए प्रतिदिन 8 से 10 दाने मिश्री के खाएं आपको लाभ मिलेगा। मेवा के रूप में किसमिस बादाम छुहारा जैसे सूखे मेवे खाने से शरीर की कमजोरी दूर हो जाती है।

7. फाइबर युक्त सब्जियां

healthy food swasth khana

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

नसों की कमजोरी को दूर करने के लिए विभिन्न प्रकार की ऐसी फाइबर युक्त सब्जियां खाना चाहिए जिनमें प्रमुखता से विटामिन सी प्रोटीन और अन्य आवश्यक खनिज उपलब्ध हो। जैसे संतरा ब्रोकली स्ट्रॉबेरी अनानास आदि। इनके अलावा आप ऐसी चीजें खाएं जिनमें ओमेगा 3 फैटी एसिड की मात्रा अधिक हो।

नसों की कमजोरी के लिए आयुर्वेदिक औषधियां

जहां एक और हमारे घरों में कई सारे नसों की कमजोरी के लिए उपाय उपलब्ध हैं वहीं दूसरी ओर बहुत सी आयुर्वेदिक औषधियां भी हमारे घरों में उपलब्ध हैं जिनका प्रयोग करने से शरीर की किसी भी प्रकार की कमजोरी या नसों की कमजोरी दूर हो जाती है जिससे शरीर हष्ट पुष्ट और बलवान बनता है आइए हम कुछ आयुर्वेदिक औषधियों के बारे में जानते हैं जो कमजोरी दूर करने के लिए टेबलेट से बेहतर हैं।

1. अश्वगंधा

अश्वगंधा चूर्ण के फायदे

अश्वगंधा एक रामबाण औषधि है जो शरीर की विभिन्न प्रकार की बीमारियों को दूर करने के लिए होती है यदि इसे सुबह-शाम दूध के साथ सेवन किया जाता है तो नसों की कमजोरी और शारीरिक कमजोरी दूर हो जाती है।

2. शतावरी

आयुर्वेदिक औषधियों के रूप में शतावरी भी एक बहुत ही रामबाण आयुर्वेदिक औषध है जिसका हमें कम से कम 100 ग्राम दूध के साथ प्रतिदिन सेवन करना चाहिए आपको बाजार में मेडिकल स्टोर में शतावरी चूर्ण और शतावरी की जने मिल जाती है जिनका सेवन आप कर सकते हैं।

3. शिलाजीत

शिलाजीत

शरीर में किसी भी प्रकार की कमजोरी को दूर करने के लिए शिलाजीत भी एक रामबाण औषधि है आज के समय में शिलाजीत के कैप्सूल मेडिकल पर उपलब्ध है जो विभिन्न प्रकार की जानी-मानी कंपनियों के द्वारा तैयार किए गए है।

4. सफेद मूसली

सफेद मूसली

आयुर्वेदिक औषधियों के अंतर्गत नसों की कमजोरी को दूर करने के लिए आप सफेद मूसली या लाल मूसली का भी सेवन कर सकते हैं जो अन्य आयुर्वेदिक दवाइयों की तरह एक रामबाण औषधि होती है इसमें व्यक्ति की स्टैमिना को मजबूत कर आने वाले तत्व मौजूद होते हैं जो शरीर को हर तरह से चुस्त-दुरुस्त बनाते हैं।

5. सेंधा नमक

सेंधा नमक में मैग्नीशियम और सल्फेट बहुत ही अधिक मात्रा में पाया जाता है जो नसों की कमजोरी दूर करने के लिए आवश्यक होता है ऐसे में नहाने के पानी में घोलने और उसके बाद ना खाएं जिससे रक्त संचार अच्छा हो जाएगा और मांस पेशियां संतुलित रहेंगी।

black salt

एक बाल्टी पानी में कम से कम एक कप सेंधा नमक मिलाएं और जिस हिस्से में नशे कमजोर हुई हैं और दर्द होता हो उस हिस्से पर कम से कम 20 मिनट तक पानी डालें इससे नसे ठीक हो जाएंगे।

6. कैमोमाइल टी

कैमोमाइल टी एक जड़ी बूटी है जो फूलों को सुखाकर बनाई जाती है यह एक हर्बल टी है जिसे गर्म पानी में भिगोया जाता है और इसे कम से कम 5 से 10 मिनट उबालने और ठंडा होने के बाद उसमें थोड़ा सा शहद मिलाकर पिए दिन में दो से तीन बार पीने से कमजोर नशे ठीक हो जाती है

7. ग्रीन टी

green tea

ग्रीन टी वि कई प्रकार के शारीरिक परेशानियों को दूर करने के लिए प्रयोग की जाती है ग्रीन टी तंत्रिका तंत्र को ठीक करने के लिए बहुत अच्छी होती है इसमें एल-थीनिन नामक तत्व होता है जो मस्तिष्क के लिए बहुत अच्छा होता है। ग्रीन टी को 10 से 5 मिनट तक गर्म कर उसके बाद ठंडा होने के बाद शहद मिलाएं और चाय की तरह रोज कम से कम दो से तीन बार दिन में प्रयोग करें

8. गर्म सिकाई करना

अक्सर लोग नसों की कमजोरी दूर करने के लिए टेबलेट का प्रयोग करते हैं परंतु हमारे घरों में उपस्थित सामान्य इलाज टेबलेट से बेहतर फायदा देते हैं ऐसे में आप को अगर नसों की कमजोरी महसूस होती है तो जहां पर नसों की कमजोरी के कारण दर्द सूजन है वहां पर एक कपड़े को तवे पर गर्म करके सिकाई करें इससे आपकी कमजोर नसों में फायदा होता है।

9. बर्फ से सिकाई

ice

कई बार डॉक्टर कमजोर नसों को ठीक करने के लिए बर्फ की सिकाई के लिए सलाह देते हैं ऐसे में यह कहा जा सकता है कि अगर आप के किसी हिस्से में कमजोर नसों के कारण दर्द सूजन है, तो वहां पर बर्फ की सिकाई करके आराम पा सकते हैं।

FAQ : नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट

नसों को मजबूत बनाने के लिए क्या करें ?

नसों को मजबूत बनाने के लिए फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ पत्तेदार सब्जियां दालें खाए तथा ऐसे फलों का सेवन करें जिसमें विटामिन सी ज्यादा मात्रा में पाया जाता हो जैसे अनानास संतरा स्ट्रॉबेरी आदि आदि

नसों की कमजोरी के लिए कौन से योग करें ?

हलासन बद्ध कोणासन और वज्रासन जैसे आसन योग के अंतर्गत आते हैं जिनसे शारीरिक कमजोरी दूर हो जाती है। शरीर को हष्ट पुष्ट बनाए रखने के लिए प्रतिदिन विभिन्न प्रकार के योग आसन किए जा सकते हैं।

नसों की दवाई कौन सी है ?

नसों की कमजोरी के रूप में सबसे बेहतरीन दवाई हल्दी है जो शरीर में किसी भी प्रकार के दर्द को दूर करने के लिए आयुर्वेद में सबसे ज्यादा प्रयोग की जाती है इसमें पाए जाने वाले anti-inflammatory गुण हर प्रकार की नसों के दर्द को और कमजोरी को दूर कर देती हैं।

निष्कर्ष

नसों की कमजोरी के लिए टेबलेट अगर आप खाते हैं तो आपको कई प्रकार की समस्याएं दूर हो जाती हैं क्योंकि नसों की कमजोरी के कारण हमारे शरीर में रक्त संचार बाधित होता है और शरीर प्रभावित होता है नसों की कमजोरी विशिष्ट अंग को प्रभावित करने से कार्य करने में दिक्कत होने लगती है.

osir news

ऐसे में विभिन्न प्रकार के घरेलू उपायों के साथ-साथ आप टेबलेट या अन्य प्रकार की दवाओं का भी सेवन कर सकते हैं इसके लिए आपको घर में भी कई सारे प्रोडक्ट मिल जाएंगे और बाहर से कई प्रकार की अंग्रेजी आयुर्वेदिक होम्योपैथिक टेबलेट भी मिल जाते हैं।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

सोयाबीन की दाल खाने के क्या फायदे हैं ? What are the benefits of eating soybean lentils?
घर की नजर उतारने के उपाय : 15 आसान उपाय | Ghar ki nazar utarne ke upay
जाने स्त्री को जोश कब आता है? महिला कामोत्तेजना के लक्षण और दवा | stri ko josh kab aata hai ?
पीपल के पेड़ से प्रेतराज की साधना कैसे करें ? सावधानियाँ और मंत्र जाने ! How to practice a phantom ghost king with a Peepal tree in hindi ?
दुकान खोलने का मंत्र : धन वर्षा के लिये दुकान खोलने से पहले कौन सा मंत्र पढ़े
★ सम्बंधित लेख ★