12 प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने के कारण और निवारण | Pregnancy ke alawa period miss hone ke karan aur upay

प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने के कारण | Pregnancy ke alawa period miss hone ke karan : हेलो दोस्तों आज हम अपने इस लेख के माध्यम से ऐसी समस्या पर प्रकाश डालेंगे जो लड़कियों और महिलाओं के मासिक धर्म या पीरियड से जुड़ी हुई है।



प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने के कारण, pregnancy ke alawa period miss hone ke karan, pregnancy ke alawa period late hone ke karan, periods ke pahle pregnancy ke lakshan, pregnancy ke lakshan period miss hone se pehle, period miss hone ke pehle pregnancy test, period miss hone ke kya karan hai, period miss hone ke kya karan hote hain, period miss hone ke karan kya hai, pregnancy ke lakshan period miss hone se pahle, period aane ke pehle pregnancy ke lakshan, periods ke lakshan kya hai, period date ke pehle pregnancy ke lakshan, period miss hone se pehle pregnancy ka pata kaise kare, periods hone ke pahle ke lakshan, period miss hone ke pehle pregnancy ke lakshan, period se pehle pregnancy ke lakshan in hindi, period aane se pehle pregnancy ke lakshan in hindi, periods se pehle pregnancy ke lakshan

कई बार देखा गया है कि बहुत सी महिलाएं और लड़कियां मासिक धर्म की अनियमितता से परेशान रहती हैं। प्रमुख रूप से ऐसी महिलाएं जो शादीशुदा हैं और उनके पीरियड सही समय पर नहीं आते जिसकी वजह से उन्हें कुछ समस्याएं झेलनी पड़ती हैं।

अगर कोई महिला प्रेग्नेंट नहीं है तो प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने के कारण क्या हो सकते हैं या पीरियड लेट आने के क्या कारण हो सकते हैं ? पीरियड मिस क्यों होते हैं पीरियड मिस होने से कौन-कौन सी समस्याएं आ सकती हैं ?

♦ लेटेस्ट जानकारी के लिए हम से जुड़े ♦
WhatsApp ग्रुप पर जुड़े 
WhatsApp पर जुड़े 
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
Google News पर जुड़े 

क्या कोई बीमारी की ओर इशारा करता है आइए हम आपको ऐसे सवालों के जवाब अपनी इस लेख के माध्यम से देंगे जो आपके लिए काफी मददगार होंगे। किसी भी महिला को प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने के कारण कई हो सकते हैं जबकि उन्होंने गर्भधारण नहीं किया है.

हालांकि यह कोई बहुत बड़ी बीमारी है समस्या नहीं है लेकिन कुछ मामलों में समस्या गंभीर हो सकती हैं क्योंकि ज्यादातर पीरियड गर्भधारण करने के बाद ही मिस होते हैं लेकिन बिना गर्भधारण के पीरियड मिस हो रहे हैं तो निश्चित रूप से कुछ समस्याएं हो सकती हैं।


प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने के कारण | Pregnancy ke alawa period miss hone ke karan

अगर कोई भी महिला गर्भवती नहीं है तो प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने के कारण कुछ इस प्रकार से हो सकते हैं।

1. तनाव

अगर कोई भी महिला किन्ही कारणों से चिंता और तनाव में रहती हैं तो तनाव के कारण प्रोजेस्टेरोन हार्मोन असंतुलित होता है जिससे महिलाओं में मासिक चक्र की अनियमितता हो जाती हैं। तनाव की स्थिति में कभी समय से पहले और कभी समय के बाद पीरियड प्रारंभ हो जाता है कई बार महिलाओं में पीरियड 40 से 45 दिन के बाद होता है।

mood change

सभी लड़कियों या महिलाओं में पीरियड की निश्चित अवधि 28 दिन पर होती हैं परंतु तनाव के कारण पीरियड मिस होने से 28 दिन पर पीरियड ना होकर 30 से 35 दिन या 40 दिन पर होने लगता है हालांकि कोई बड़ी समस्या नहीं है उचित इलाज करने पर पीरियड अपनी सही स्थिति में आ जाते हैं।

तनाव के कारण जीएनआरएच हार्मोन का श्रावण कम होने लगता है जिसे सही समय पर ओवुलेशन नहीं होता है और पीरियड मिस हो जाते हैं। इस दौरान महिलाओं को किसी महिला एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए

2. दिनचर्या में बदलाव

ऐसी विवाहित महिलाएं जो दिन भर अपने काम में व्यवस्थित रहती हैं या फिर दिन रात काम करने लगते हैं कभी-कभी देर रात तक बाहर रहती हैं जिसे खाने पीने काम करने और अन्य कई दिनचर्या में बदलाव आ जाते हैं इससे शरीर में कई बड़े बदलाव दिखाई देने लगते हैं जो पीरियड मिस होने का कारण बन सकते हैं।

3. ब्रेस्टफीडिंग या बच्चों को दूध पिलाना

मां का दूध बढ़ाने के लिए क्या करना चाहिए, breast milk badhane ke upay in hindi, bache ke liye maa ka doodh kaise badhaye,

जब कोई महिला बच्चे को जन्म देती है तो अगले कम से कम एक से डेढ़ साल तक बच्चों को स्तनपान कराती है जिसकी वजह से पीरियड का मिस होना एक कारण हो सकता है। हालांकि कई मामलों में इससे ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ता है जैसे ही ब्रेस्टफीडिंग बंद हो जाती है वैसे ही पीरियड अपने समय पर नियमित हो जाते हैं।

4. उम्र का प्रभाव

प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने का कारण उम्र का भी ज्यादा हो जाना होता है. यदि कोई भी महिला 35 साल से ऊपर की उम्र पार कर चुकी होती है तो प्रेगनेंसी के अलावा भी पीरियड मिस हो सकती है कई बार ऐसी स्थितियां होती है कि अधिक उम्र होने पर मासिक धर्म में परिवर्तन आ जाता है क्योंकि हार्मोन चेंज हो जाते हैं या असंतुलित हो जाती है।

5. बीमारी के कारण

कई बार पाया गया है कि जब कोई महिला किसी लंबी बीमारी से ग्रसित रहती है या फिर अचानक छोटी मोटी बीमारियां बनी रहती हैं जिसकी वजह से उन्हें कई प्रकार की दवाओं का सेवन करना पड़ता है इन दवाओं का असर शरीर के प्रोजेस्टेरोन हार्मोन पर भी पड़ता है जिससे सही समय पर ओवुलेशन नहीं हो पाता है और महिलाओं के पीरियड अनियमित हो जाते हैं

6. गर्भनिरोधक गोलियां लेना

घुटने के दर्द की टेबलेट

कई बार शादीशुदा महिलाएं फैमिली प्लानिंग को लेकर गर्भनिरोधक गोलियों का प्रयोग करते हैं हालांकि दूसरे मामले में गर्भ निरोधक गोलियां पीरियड को सही करती हैं लेकिन निरंतर गर्भ निरोधक गोलियां लेने से पीरियड में अनियमितता हो जाती है। गर्भनिरोधक गोलियां प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने का कारण बनता है।

7. हार्मोन में असंतुलन होना

कई बार महिलाएं गर्भपात भी करवा देते हैं जिसके चलते हार्मोन में असंतुलन उत्पन्न हो जाता है और पीरियड मिस हो जाते हैं हार्मोन असंतुलन के कई कारण हो सकते हैं जैसे मोटापा बीमारी खानपान आदि ये सभी कारण प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने के कारण बनते हैं।

8. डायबिटीज या थायरॉइड होना

डायबिटीज में थायराइड की मात्रा में अधिकता होने पर महिलाओं में पीरियड अनियमित हो जाते हैं कई बार तो महिलाओं के लगातार पीरियड आता रहता है जो एक गंभीर समस्या का संकेत देता है जब थायराइड या डायबिटीज बढ़ जाती है तो रक्तस्राव ज्यादा दिनों तक बना रहता है।

9. पीसीओएस होना

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम की समस्या होने पर महिलाओं में पीरियड मिस होना एक आम बात हो जाती है।

10. ज्यादा व्यायाम करना

bhujangasana exercise

प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने का कारण अत्यधिक व्यायाम भी होता है कुछ व्यायाम ऐसे होते हैं अगर महिलाएं उन्हें लगातार ज्यादा समय तक करती हैं तो उसका असर गर्भाशय पड़ता है जिससे पीरियड मिस हो जाते हैं।

11. प्रोलैक्टिन का स्तर बढ़ना

जब महिलाओं में प्रोलैक्टिन हार्मोन का स्तर अधिक हो जाता है, तो प्रोजेस्ट्रोन हारमोंस असंतुलित होते हैं. जिनका असर सीधे गर्भाशय के अंडाणु पर पड़ता है प्रोलैक्टिन के बढ़ने से अंडाणु स्रावित नहीं हो पाते हैं और पीरियड अनियमित हो जाते हैं।

12. मोनोपॉज की स्थिति

प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने के कारण मोनोपॉज की स्थित हो सकती है लेकिन समय से पहले मोनोपॉज नहीं होता है ऐसी स्थिति उपरोक्त समस्याएं हो सकती हैं क्योंकि महिलाओं में मोनोपॉज का समय 45 साल के बाद होता है।

प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड्स मिस होने से नुकसान

गर्भ में पेट पर लाइन

अगर कोई भी महिला गर्भवती नहीं है और उसके पीरियड हमेशा मिस हो जाते हैं या अनियमित रहते हैं तो ऐसी स्थिति में कई सारे नुकसान होने की संभावनाएं बनी रहती है आइए हम प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने से नुकसान के बारे में जानते हैं

1. गर्भाशय में संक्रमण

अगर किसी भी महिला में प्रेग्नेंसी के अलावा पीरियड मिस होते हैं तो कई बार गर्भाशय के संक्रमण भी हो सकते हैं कुछ जननांगों के रोग गर्भाशय में संक्रमण पैदा करते हैं जिसकी वजह से पीरियड में उतार-चढ़ाव होता रहता है।

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

कई बार देखा गया है कि महिलाओं के गर्भाशय में गांठ पड़ जाती है सिफलिस गोनोरिया जैसे रोग होते हैं जो पीरियड को मिस कर देते हैं या अनियमित कर देते हैं जिससे कभी समय से पहले कभी समय के बाद पीरियड प्रारंभ होता है कई बार तो लगातार ब्लीडिंग होती रहती है।

2. गर्भधारण करने में कमी आना

पीरियड मिस होने के कारण महिलाओं में गर्भधारण की क्षमता में भी कमी आ जाती है क्योंकि सही समय पर ओवुलेशन नहीं होता है जिसकी वजह से गर्भधारण करना कठिन हो जाता है।

3. शारीरिक कमजोरी

लगातार period mis होने के कारण महिलाओं में कमजोरी आना शुरू हो जाती है. जिसकी वजह से हड्डियां बेहद कमजोर हो जाती है और गर्भधारण करने में अक्षम हो जाती हैं।

4. मोटापा और हृदय संबंधी समस्या

motapa obesity pet ki naap

महिलाओं में मोटापा प्रेगनेंसी को प्रभावित करता है मोटापा के कारण पीरियड अनियमित हो जाता है और हृदय संबंधी समस्याएं भी उत्पन्न हो जाती हैं कभी उच्च रक्तचाप या निम्न रक्तचाप की समस्या होती है।

5. ऑस्टियोआर्थराइटिस

कुछ मामलों में महिलाओं में ओस्टियोआर्थराइटिस की समस्या भी होती है यह समस्या तब उत्पन्न होती है जब महिलाओं में प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने लगते हैं।

6. गर्भाशय का कैंसर

अगर लगातार पीरियड मिस होने की समस्या होती है तो गर्भाशय में कैंसर की समस्या बन सकती है। papsmear जांच के माध्यम से गर्भाशय के कैंसर का पता लगाया जाता है।

अनियमित पीरियड्स को सामान्य करने के उपाय | jaldi period lane ke upay

प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस हो गए हैं तो आप किसी योग्य महिला एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ से तुरंत संपर्क करें और सुझाए गए उपायों के बारे में ध्यान दें निश्चित रूप से आपके अनियमित पीरियड सामान्य हो जाएंगे। कुछ दवाओं के माध्यम से पीरियड के अनियमितता को दूर करना आसान है।

डॉक्टर के इलाज के अतिरिक्त अगर आप घर पर उपाय करना चाहती हैं तो ऐसे कई घरेलू उपाय उपलब्ध हैं जिनको करके अनियमित पीरियड को सही किया जा सकता है आइए हम आपको घरेलू उपाय के बारे में बताते हैं।

1. दालचीनी

महिला एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉक्टर का कहना है कि किसी भी महिला को प्रेग्नेंसी के अलावा अगर पीरियड मिस होते हैं तो एलोपैथिक दवाओं से ज्यादा बेहतर है कि घरेलू उपाय किए जाएं और अपने अनियमित पीरियड को सही किया जा सकता है।

Triphala दालचीनी

अनियमित पीरियड को सामान्य करने के लिए एक चम्मच दालचीनी को शाम को पानी में भिगो दें और सुबह खाली पेट खाएं इससे आपके अनियमित पीरियड सामान्य होना शुरू हो जाएंगे।

2. हल्दी का पाउडर

दोस्तों हमारे घरों में हल्दी सभी प्रकार की सब्जियों और दालों में प्रयोग की जाती है जो कई प्रकार के एंटीबैक्टीरियल गुण से भरपूर होती है ऐसे में अनियमित पीरियड को सही करने के लिए एक चम्मच हल्दी का पाउडर एक गिलास दूध में मिलाकर पीने से पीरियड सामान्य हो जाता है।

3. अदरक

सर्दी जुकाम की दवा

अनियमित पीरियड को सही करने के लिए एक कप पानी में अदरक का छोटा सा टुकड़ा उबालकर उसमें थोड़ा सा शहद और नमक व काली मिर्च मिलाएं और इसको लगभग 1 महीने तक लगातार दिन में तीन बार पिए मासिक की अनियमितता सही हो जाएगी।

4. कच्चा पपीता खाना

मासिक की अनियमितता दूर करने के लिए कच्चा पपीता प्रतिदिन खाने से समस्या से निजात मिलती हैं।आयरन, कौरोटीन, कैल्शियम, विटामिन ए और सी जैसे पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जो गर्भाशय की समस्याओं को दूर करने के लिए आवश्यक होते हैं।

FAQ : प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने के कारण

पीरियड अनियमित होने के क्या कारण होते हैं ?

पीरियड अनियमित होने के कई कारण होते हैं जैसे अधिक व्यायाम करना शरीर का भारी होना पर्याप्त मात्रा में कैलोरी ऊर्जा ना होना थायराइड का बढ़ जाना हार्मोन असंतुलन मोटापा आदि।

पीरियड्स खुलकर न आने पर डॉक्टर से कब मिलें ?

अगर पीरियड खुलकर नहीं आता है, तो तत्काल कुछ घरेलू उपाय करें और अनुभवी स्त्री रोग डॉक्टर से संपर्क करें और अपनी परेशानी बताएं

पीरियड रेगुलर करने के लिए क्या करें ?

पीरियड रेगुलर करने के लिए दूध में एक चम्मच शहद मिलाकर प्रतिदिन पिएं। शहर में पाया जाने वाला करक्युमिन एस्ट्रोजन हार्मोन पीरियड को सही करता है।

निष्कर्ष

किसी भी महिला या लड़की में अगर पीरियड नियमित नहीं होते हैं तो एक समस्या हो जाती है और एक संभावना बनी रहती है कि पता नहीं कब मासिक आ जाए। जहां बात एक महिला प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने के कारण क्या होते हैं तो महिलाओं को चाहिए कि हमेशा अपनी दिनचर्या में सुधार लाएं सही से खानपान करें.

किसी भी प्रकार का अनर्गल फास्ट फूड या जंक फूड ना खाएं और अगर आप शारीरिक रूप से फिट नहीं हैं तो अपनी फिटनेस पर भी ध्यान दें जिससे बिना प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड मिस होने का कारण ना बने तथा नियमित समय पर आपका पीरियड हो।

osir news
यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
कोई सलाह देना है या हम से संपर्क करना है ? अभी तुरंत अपनी बात कहे !
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले .

यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन