सहजन के पत्ते खाली पेट खाने से क्या होता है ? 8 फायदे और नुकसान | Sahjan ke Patte Khali pet khane Se Kya Hota Hai

सहजन के पत्ते खाली पेट खाने से क्या होता है ? | Sahjan ke Patte Khali pet khane Se Kya Hota Hai : दोस्तों सहजन भारतीय आयुर्वेद का औषधि के रूप में अमृत कहा जाता है. जिसके जड़ से लेकर पत्तियों, फूलों और फलों तक सैकड़ों बीमारियों को ठीक करने के लिए प्रयोग किया जाता है प्रमुख रूप से सब्जी के रूप में खाया जाता है यह सिर्फ भोजन के रूप में ही नहीं बल्कि स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण और उपयोगी है.



सहजन के पत्ते खाली पेट खाने से क्या होता है, सहजन के पत्ते खाने से क्या फायदा होता है , सहजन खाने से क्या-क्या फायदा होता है, सहजन की पत्ती खाने से क्या लाभ होता है, Sahjan ke Patte Khali pet khane Se Kya Hota Hai, sahjan ke patte khane ke fayde, Sahjan Mein Paye jaane wale Poshak Tatv, Sahjan ki pattiyon ke fayde, Sajan Se hone wale nuksan, Sahjan ke Patte Khali pet khane Se Kya Hota Hai,

सहजन को ड्रमस्टिक या मोरिंगा के नाम से जाना जाता है और भारत जैसे देश में सबसे ज्यादा उगाया जाता है. सहजन का पौधा लगभग 15 से 20 मीटर तक लंबा होता है. भारत में यह 25 से 300 के औसत ताप पर भी हरा-भरा बना रहता है. सहजन की खेती सभी प्रकार की भूमि के साथ की जाती है यहां तक की बंजर भूमि में यह उगाया जा सकता है. भारत सहजन का सबसे बड़ा उत्पादक देश है.आयुर्वेदिक दृष्टि से इसे कई तरह से प्रयोग किया जाता है.

सहजन के पत्ते खाली पेट खाने से क्या होता है ? | Sahjan ke Patte Khali pet khane Se Kya Hota Hai ?

दोस्तों सहजन के पत्ते खाली पेट खाने से कोई नुकसान नहीं होता है बल्कि स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत ही लाभकारी है परंतु सहजन की पत्ती को खाली पेट आवश्यकता से अधिक ना लिया जाए यदि आप खाली पेट सहजन के पत्ते खाते हैं तो एक सीमित मात्रा में ही खाए.

♦ लेटेस्ट जानकारी के लिए हम से जुड़े ♦
WhatsApp ग्रुप पर जुड़े 
WhatsApp पर जुड़े 
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
Google News पर जुड़े 

सहजन की पत्तियों को प्रतिदिन खाली पेट खाने से पाचन तंत्र और लीवर सही हो जाता है इसलिए सहजन के पत्ते खाली पेट खाने से कोई विशेष नुकसान नहीं होता है. पथरी से पीड़ित लोगों को सहजन की छाल का काढ़ा सुबह खाली पेट पीने से पथरी की समस्या जल्दी ठीक होती है.

liver agnasay manushya


सहजन की पत्तियों का जूस भी खाली पेट सुबह पिया जा सकता है जिससे पाचन तंत्र लीवर के साथ-साथ गठिया और साइटिका जैसी समस्याएं भी दूर होती हैं.

सहजन में पाए जाने वाले पोषक तत्व | Sahjan Mein Paye jaane wale Poshak Tatv

दोस्तों हम जानते हैं कि सहजन जैसी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी या औषधि 300 से अधिक रोगों को ठीक करने के लिए प्रयोग किया जाता है आयुर्वेद की दृष्टि से सहजन एक अमृत है और शरीर में किसी भी प्रकार की समस्या को यह अकेले ठीक कर सकता है. सहजन की जड़ से लेकर तना पत्ती तक आयुर्वेदिक दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण है.

हम जानते हैं कि सहजन में ऐसे तमाम औषधीय गुण हैं जिनकी वजह से इतना महत्वपूर्ण है यहां पर हम सहजन में पाए जाने वाले विभिन्न प्रकार के पोस्टिक तत्व और खनिजों के बारे में बता रहे हैं.

सहजन में मुख्य रूप से प्रोटीन

  • विटामिन B
  •  विटामिन C
  • विटामिन A
  • विटामिन E
  • आयरन
  • मैग्नीशियम
  • पोटेशियम
  • जिंक

जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं.

सहजन की पत्तियों में और सहजन के सभी हिस्सों में एंटीबैक्टीरियल गुण भी पाए जाते हैं जो शरीर में किसी भी प्रकार की बीमारी संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं. प्रमुख रूप से इसमें डायबिटीज, गठिया, साइटिका जैसी बीमारी को भी ठीक करने के गुण पाए जाते हैं.

सहजन की पत्तियों के फायदे | Sahjan ki pattiyon ke fayde

अगर हम सहजन की पत्तियों के फायदे के बारे में बात करें तो सहजन की पत्तियां स्वास्थ्य की दृष्टि से अत्यधिक लाभकारी हैं और आज के समय में भारतीय आयुर्वेद उन्हें पूरी तरह से प्रयोग कर रहा है. यदि व्यक्ति को गठिया, साइटिका, पथरी, डायबिटीज, ऐसी समस्या है तो सहजन का प्रयोग साग सब्जी की रोशनी करके बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है. आइए हम आपको सहजन की पत्तियों के फायदे के बारे में बताते हैं.

1. मोटापा कम करने के लिए

obesity

बढ़ते ही मोटापा को कम करने के लिए सहजन की पत्तियों को जूस के रूप में पिए या फिर साग बना कर खाएं जो हमारे शरीर में बढ़ते हुए मोटापे को कम कर देते हैं. सहजन की पत्तियों में ऐसे गुण होते हैं जो पेट में जमा अतिरिक्त चर्बी को काट देते हैं जिससे धीरे-धीरे वसा की कमी हो जाती है. स्नेक क्लोरोजेनिक तत्व होता है जो मोटापे को कम करता है.

2. डायबिटीज कम करने के लिए

सहजन की पत्तियां फलियां और छाल में एंटी डायबिटिक गुण होते हैं और शरीर में डायबिटीज की बढ़ती हुई समस्या को कंट्रोल कर देते है. सहजन की पत्तियां प्रतिदिन प्रयोग करने से दिनों दिन डायबिटीज कम हो जाएगा.

3. हृदय संबंधी रोग कम करने के लिए

Heart

जैसा कि हम जानते हैं कि सहजन में हजारों प्रकार की बीमारी ठीक हो सकती हैं तो ऐसे में अगर आप हृदय संबंधी किसी भी प्रकार की समस्या से पीड़ित हैं तो सहजन की पत्तियों का सेवन किया जा सकता है.

4. गैस्ट्रिक अल्सर कम करने में

बदलती जीवनशैली और खान-पान के कारण अधिकांश लोग गैस्ट्रिक अल्सर से पीड़ित हो जाते हैं ऐसे में शरीर के अंदरूनी हिस्सों पर अर्थात पेट पर काफी दर्द के साथ समस्याएं होती हैं इन समस्याओं को दूर करने के लिए सहजन की पत्तियों का सेवन करें जिससे पूरा लाभ मिलता है.

5. इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के लिए

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

सहजन बीमारियों को ठीक करने के साथ-साथ शरीर को ताकत भी देता है रक्त की मात्रा को बढ़ा देता है जिससे हमारे शरीर में एमेनिटी पावर ही बढ़ जाता है और हम कई प्रकार की बीमारियों से लड़ने में भी सक्षम होते हैं.

6. साइटिका और गठिया कम करने के लिए

man pain dard

साइटिका गठिया और पथरी की समस्याओं से पीड़ित लोगों को सहजन की फलियों और पत्तियों को सब्जी के रूप में प्रयोग करना चाहिए तथा इसकी छाल का काढ़ा बनाकर पथरी की समस्या को दूर किया जा सकता है.

7. कैंसर और ट्यूमर में फायदेमंद

ट्यूमर और कैंसर जैसी असाध्य बीमारी को खत्म करने के लिए सहजन का प्रयोग किया जा सकता है सहजन में पॉलीफेनोल्स Polyphenols और पॉलीफ्लोनोइड्स Poly Flavonoids पाया जाता है जो एंटी कैंसर और एंटीट्यूमर का काम करता है.

8. मस्तिष्क की बीमारी में फायदेमंद है

बहुत से लोगों को अल्जाइमर, पार्किसन जैसे रोग होते हैं. बहुत से लोगों को भूलने की बीमारी होती है अर्थात मस्तिष्क की कमजोरी के कारण कई तरह की मस्तिष्क से संबंधित समस्याएं हो जाती हैं इन सब को ठीक करने के लिए सहजन की पत्तियों को खाया जाता है. सहजन की पत्तियां भूलने की बीमारी और मस्तिष्क की कमजोरी जैसी तमाम बीमारियों को ठीक कर सकती हैं.

Sick sir dard

सहजन में पाए जाने वाले पोषक तत्वो की मात्रा | Sahajan mein paye jane wale poshak tatvo ki matra

पोषक तत्व मात्रा/100 ग्राम में
सोडियम 42 मिलीग्राम
सेलेनियम 0.7 म्युग्राम
विटामिन सी 141 मिलीग्राम
विटामिन बी6 0.12 मिलीग्राम
विटामिन ए 4 म्युग्राम
राइबोफ्लेविन 0.074 मिलीग्राम
मैगनीशियम 45 मिलीग्राम
मैंगनीज 0.259 मिलीग्राम
फ़ोलेट 44 म्युग्राम
फ़ैट (वसा) 0.2 ग्राम
फ़ास्फोरस 50 मिलीग्राम
फ़ाइबर 3.2 ग्राम
प्रोटीन 2.1 ग्राम
पोटैशियम 461 मिलीग्राम
थायमिन 0.053 मिलीग्राम
ज़िंक 0.45 मिलीग्राम
कॉपर 0.084 मिलीग्राम
कैल्शियम 30 मिलीग्राम
कार्बोहाइड्रेट 8.53 ग्राम
ऊर्जा 37 किलोकैलोरी
आयरन 0.36 मिलीग्राम

सहजन से होने वाले नुकसान | Sajan Se hone wale nuksan

दोस्तों सहजन पूरी तरह से स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक है परंतु यह हम सब जानते हैं किसी भी वस्तु को आवश्यकता से अधिक लेने पर नुकसान हो सकते हैं इसी तरह से अगर सहजन को भी अनावश्यक तरीके से लिया जाता है तो नुकसान देखने को मिलते हैं.

गर्भावस्था के दौरान सहजन की पत्तियों और फलियों को सीमित मात्रा में लिया जा सकता है परंतु सहजन की छाल का काढ़ा पीने से गर्भपात की समस्या होती है.

गर्भ

सहजन की पत्तियों में हाई ब्लड प्रेशर को ठीक करने का गुण पाया जाता है अर्थात हाई ब्लड प्रेशर को कम कर देता है लेकिन लो ब्लड प्रेशर वाले रोगियों को सहजन का सेवन नहीं करना चाहिए कोई नुकसान कर सकता है. सहजन डायबिटीज ऐसी समस्या को ठीक करने के लिए महत्वपूर्ण औषधि है लेकिन अधिक सेवन करने से ग्लूकोज की मात्रा में अत्यधिक कमी हो सकती है जिसकी वजह से आपको पहले से ज्यादा समस्या हो सकती हैं.

FAQ: सहजन के पत्ते खाली पेट खाने से क्या होता है ?

सहजन किसे नहीं खाना चाहिए ?

जो महिला या पुरुष लो ब्लड प्रेशर से पीड़ित है उन्हें सहजन नहीं खाना चाहिए इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को या डिलीवरी के बाद स्तनपान करने वाली महिलाओं को सहजन खाने से बचना चाहिए. इसके लिए डॉक्टर से सलाह या परामर्श लेकर ही सेवन करना उचित है.

सहजन कैसे खाया जाता है ?

सहजन की पत्तियों कारस के रूप में या पतियों को सब्जी के रूप में खाया जाता है तथा सहजन की छाल का काढ़ा बनाकर प्रयोग किया जाता है और इसकी फलियों को सब्जी के रूप में खाया जाता है.

क्या सहजन खाने से गैस बनती है ?

दोस्तों सहजन स्वास्थ्य की दृष्टि से लाभकारी औषधीय पौधा है परंतु अत्यधिक खाने से कभी-कभी गैस की समस्या के साथ साथ पेट में जलन और दस्त की भी समस्या हो सकती है.

निष्कर्ष

दोस्तों अगर आप सहजन की पत्तियों फलियों और छाल को किसी भी रूप में प्रयोग करते हैं तो स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत ही लाभ मिलता है परंतु कई बार आपके मन में सवाल उठता है कि सहजन के पत्ते खाली पेट खाने से क्या होता है ? तो इस संबंध में हम अपने आर्टिकल में आपको संपूर्ण जानकारी देने का प्रयास किया है.

osir news
यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
कोई सलाह देना है या हम से संपर्क करना है ? अभी तुरंत अपनी बात कहे !
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले .

यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन