साइनस का होम्योपैथिक इलाज दवा का नाम और आयुर्वेदिक नुस्खे एवं 23 मेडिसिन | Sinus ka homeopathic ilaj

साइनस का होम्योपैथिक इलाज | Sinus ka homeopathic ilaj : Sinus ऐसी संरचनाएं हैं जो एक गुहा की तरह होती है और प्रमुख रूप से गाल की हड्डी आंखों और नाक के आस पास रहती हैं इन गुहाओं में बलगम पाया जाता है जो सांस को गर्म करके छानने का कार्य करती हैं। जब इन गुहा में किसी भी प्रकार का ब्लॉकेज होता है तो इन में सूजन आ जाती है।



साइनस का होम्योपैथिक इलाज,, साइनस का होम्योपैथिक इलाज इन हिंदी,, sinus ka homeopathic ilaj in hindi,, sinus ka homeopathic ilaj,, sinus ka ilaj hindi,, sinus ka ilaj kaise hota hai,, sainas ka homeopathic medicine,, sinus ki homeopathic dawa,, sinus ka ayurvedic ilaj in hindi,, sinus ki homeopathic medicine in hindi,, sinus ka best ilaj,, sinus ka permanent ilaj,, sinus treatment in ayurveda in hindi,, sinus ki problem ka ilaj,, sinus ilaj hindi,, sinus ka hindi,, can sinus be cured with homeopathy,, homeopathic remedy for sinus problem,, sinus ka ilaaj bataen,, sinus ka gharelu ilaaj,, sinus ka ilaj patanjali,, sinus ka desi ilaj in hindi,, साइनस का इलाज हिंदी में,, sinus ka ilaj hindi mein,, sinus ka hindi meaning,, sinus k symptoms in hindi,, sinus ka gharelu ilaj hindi,, sinus ka ilaj,, nasal polyps ka ilaj in hindi,, sinus ka ilaj kya hai,, sinus ka treatment in hindi,, sinus ka ilaaj kya hai,, sinus infection ka ilaj,, sinus ka ilaaj kaise karen,, sinus ka ilaj in hindi,, साइनस का होम्योपैथिक मेडिसिन,, sainas ki homeopathic medicine,, sbl homeopathic medicine for sinusitis,, sainas ka ilaj in hindi,, sainas ka gharelu upay,, sainas ka desi ilaj,, sainas ka gharelu upchar,, sainas ka ilaj,, sainas ka matlab,, sinus ka homeopathic dawa,, homeopathic ways to clear sinuses,, homeopathic medicine for sinus in hindi,, can homeopathy cure sinus permanently,, sinus ki dawa,, sinus ki dawa patanjali,, homeopathic ways to relieve sinus pressure,, sinusitis ki homeopathic medicine in hindi,, sinus ka ayurvedic ilaaj,, sinus ka ayurvedic ilaj,, sinus ka ayurvedic upchar,, sinusitis ka ayurvedic upchar,, sinusitis homeopathic medicine in hindi,, sinus medicine in homeopathy in hindi,, sinus ki best medicine,, sinus homeopathic medicine in hindi,, sinusitis homeopathy treatment in hindi,,

Sinus या साइनसाइटिस एक वायरल इंफेक्शन होता है जिसकी वजह से गाल नाक आंख जैसे स्थानों पर दर्द और सूजन होती है कभी-कभी नाक ब्लॉक हो जाती है सिर दर्द दांत दर्द और सांसो में बदबू आती है। Bacterial infection के कारण कभी-कभी व्यक्ति को तेज बुखार थकान और खांसी महसूस होती है।

कई बार गर्मियों के मौसम में नाक के अंदर श्लेष्मा सूख जाता है जिसकी वजह से नाक से खून बहने लगता है और दर्द के साथ चिड़चिड़ापन भी होता है। साइनस की बीमारी अक्सर ठंड के साथ लक्षण देती है अर्थात व्यक्ति को ठंडक महसूस होती है।

♦ लेटेस्ट जानकारी के लिए हम से जुड़े ♦
WhatsApp ग्रुप पर जुड़े 
WhatsApp पर जुड़े 
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
Google News पर जुड़े 

Sinus acute की स्थिति में अचानक और तेज प्रभाव दिखाई देता है वही साइनस क्रॉनिक धीरे-धीरे और लंबे समय में प्रभावित करता है। साइनस एक्यूट 10 से 12 दिनों में दूर हो जाता है लेकिन साइनसाइटिस या साइनस क्रॉनिक 3 से 4 महीने तक बनी रहती है

साइनसाइटिस कभी-कभी एलर्जी के कारण भी होता है जिस से एलर्जी के टेस्ट करने के बाद राइनोस्कॉपी और नेजल एंडोस्कोपी द्वारा ठीक किया जा सकता है. दोस्तों साइनस क्या है और साइनस का होम्योपैथिक इलाज क्या है ? साइनस के प्रमुख कारण क्या है और इसे अन्य किन तरीकों से ठीक किया जा सकता है।


इस विषय पर हम अपने इस लेख के माध्यम से बताते हैं अगर आपको साइनस की समस्या है तो आप हमारा यह लेख पूरा पढ़ें जिससे आपको साइनस ठीक करने में कुछ मदद मिलेगी।

साइनस क्या है ? | Sainas kya hain ?

साइनस को साइनोसाइटिस भी कहा जाता है यह नाक में होने वाली एक गंभीर समस्या है इस समस्या में नाक की हड्डी बढ़ जाती है जिससे जुखाम हो जाता है और धीरे-धीरे बैक्टीरियल वायरल या फंगल इनफेक्शन हो जाता है। साइनस की समस्या अगर अधिक समय तक बनी रहती है तो व्यक्ति को सर्जरी करवाना पड़ता है क्योंकि इसका एकमात्र उपाय सर्जरी ही होता है। अगर आप सर्जरी नहीं करवा सकते हैं तो साइनस की समस्या के दौरान ठंडी हवा धूल और धुएं से बचना जरूरी होता है।

साइनस के प्रकार | Sinus ke prakar

साइनस का होम्योपैथिक इलाज

Sinus साइनस की समस्या व्यक्तियों में कई प्रकार से देखी जाती है किसी किसी ने यह बीमारी लंबे समय तक रहती है तो किसी किसी में कम समय में ठीक हो जाती है ऐसी स्थिति में साइनस मुख्य रूप से चार प्रकार से होता है आइए हम साइनस के बारे में जानते हैं।

1. एक्यूट साइनस

एक्यूट साइनस जीवाणुओं के संपर्क में होने से होता है यह सामान्य साइनस होता है जो जल्दी ठीक हो जाता है।

2. क्रोनिक साइनस

क्रॉनिक साइनस के अंतर्गत नाक के नासा छिद्रों में कोशिकाओं में सूजन आ जाती है जिससे तेज दर्द होता है कभी-कभी ब्लड निकल आता है।

3. डेविएटेड साइनस

इस प्रकार के साइनस में व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ होती है और नाक का एक हिस्सा दर्द करता है।

4. हे साइनस

इस प्रकार का साइनस एलर्जी होता है अर्थात व्यक्ति को धूल धुआं या अन्य किसी चीज से एलर्जी हो जाती है जिससे नाक में दर्द होता है

साइनस के लक्षण | Sinus ke lakshan

अगर हम साइनस के लक्षणों पर ध्यान दें तो साइनस के कुछ इस प्रकार से लक्षण दिखाई देते हैं।

1. सिर दर्द होना

eye pain

साइनस के लक्षण के अंतर्गत देखा जाए तो व्यक्ति को सिर दर्द की समस्या होती है तथा हर वक्त उसे दर्द के कारण भारीपन महसूस होता है।

2. आवाज में बदलाव

कभी-कभी जब व्यक्ति रात को लगातार जागता है और दिन में कायदे से सो नहीं पाता है तो उसकी आवाज में परिवर्तन आता है लेकिन साइनस की समस्या होने पर भी आवाज में परिवर्तन हो जाता है।

3. बुखार और बेचैनी होती है.

thermometerfever bukhar febris

साइनस में बुखार आ जाता है व्यक्ति में उलझन होती है वह हर वक्त बेचैनी महसूस करता रहता है और वह मानसिक रूप से परेशान रहता है।

4. आंखों के ऊपरी हिस्से में दर्द

साइनस की बीमारी होने पर व्यक्ति की आंखों के ऊपर दर्द रहता है और आंखें लाल होती हैं तथा खुजलाहट महसूस करती हैं। हमेशा आंखों में आंसू बने रहने की स्थित होती है।

5. दांतों में दर्द

man dant dard

साइनस के कारण ही व्यक्ति के दांतो में दर्द महसूस होता है हालांकि जैसे ही साइनस 10 से 12 दिन में ठीक हो जाता है तो दर्द भी गायब हो जाता है कभी-कभी दांतों में कुछ खाते हैं तो दर्द या पानी लगने जैसी दिक्कत होती है।

6. गंध और स्वाद का एहसास ना होना

Sinus जैसी समस्या होने पर व्यक्ति को किसी भी प्रकार की गंध का एहसास नहीं होता है और जब कुछ भी खाता पीता है तो उसे स्वाद का पता नहीं चलता है अर्थात जो भी खाता है वह पानी जैसा महसूस होता है।

7. नाक से पीला तरल बहना

अक्सर साइनस की समस्या में लोगों की नाक से एक पीले कलर का स्राव होता है जिसमें बदबू होती है और यह स्राव नाक की तरह बहता रहता है।

8. सांसो में दुर्गंध

साइनस के कारण ही व्यक्ति में सांसो में पायरिया जैसी गंध आती है। स्वयं व्यक्ति को ही सांसो में दुर्गंध महसूस होती है।

साइनस के कारण | Sinus ke karan

Sinus जैसी गंभीर समस्या के कई प्रमुख कारण देखे गए हैं जिनमें से प्रमुख कारण इस प्रकार से है।

1. एलर्जी

अच्छे लोगों को कई प्रकार से एलर्जी होती है जैसे किसी को धूल दुआ से एलर्जी होती है तो किसी को फूलों की गंध से तो किसी को धूप से एलर्जी होती है। एलर्जी के कारण साइनस की समस्या है।

2. अधिक धूम्रपान से

habits

साइनस की समस्या अधिक धूम्रपान के कारण भी होती है बीड़ी सिगरेट के अलावा यदि कोई मदिरापान भी करता है तो भी साइनस की समस्या हो जाती है।

3. प्रतिरोधक क्षमता में कमी

व्यक्ति के अंदर घर इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर है तो उसके अंदर कई प्रकार की बीमारियां होती हैं जिसमें से कुछ इलाज संभव है पर कुछ लाईलाज होती है।

4. नाक की असामान्य संरचना

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

कुछ लोगों में साइनस की समस्या का कारण नातिया सामान्य संरचना होता है कभी-कभी नाक के अंदर हड्डी पढ़ी हुई होती है तो कभी-कभी नाक टेढ़ी-मेढ़ी या छोटी चपटी हो सकती है।

5. अनुवांशिक

कई बार देखा गया है कि कुछ लोगों ने साइनस की समस्या आनुवांशिक हो जाती है अगर परिवार में किसी भी व्यक्ति को है तो अन्य सदस्य को भी हो सकती हैं।

6. माइग्रेन की समस्या

mood change

साइनस की समस्या माइग्रेन के कारण देखी जाती है माइग्रेन जो सिर की समस्या है इससे प्रभावित होकर शरीर की गई बीमारियां होती हैं।

साइनस का आयुर्वेदिक इलाज | Sinus ka ayurvedic ilaj

साइनस को दूर करने के लिए चिकित्सा शास्त्र में आयुर्वेदिक इलाज भी उपलब्ध है जिनका प्रयोग करके हम साइनस को ठीक कर सकते हैं आइए कुछ हम आयुर्वेदिक इलाज के बारे में बताते हैं।

1. शुद्ध देसी गाय का घी

ghee

साइनस जैसी समस्या में शुद्ध देसी गाय का घी सुबह शाम दो से चार बूंद डालने से ठीक हो जाता है

2. तेल की मालिश

साइनस की समस्या को ठीक करने के लिए प्रतिदिन किसी तेल की मालिश रीड की हड्डी पर करना चाहिए जिससे साइनस ठीक हो जाएगा

3. नाक में नमक का पानी डालें

Sinus की समस्या होने पर एक चुटकी नमक को गुनगुने पानी में डालकर हथेली में लेकर नाक से खींचे और फिर निकाल दें इससे आपको इंफेक्शन से छुटकारा मिलेगा और आराम मिलेगा।

4. अनार का रस

pomegranate

साइनस की समस्या में अनार का रस और अदरक का रस आपस में मिलाकर गर्म करें और इस को प्रतिदिन पिएं।

साइनस का होम्योपैथिक इलाज | Sinus ka homeopathic ilaj

साइनस के इलाज के लिए होम्योपैथी में भी इलाज काफी कारगर है जिससे हम अपने साइनस की वजह से उत्पन्न होने वाले सिर दर्द और कैविटी बलगम आज को बाहर कर सकते हैं।

1. कली बिक्रोमियम

कली बिक्रोमियम

कर ली कली बिक्रोमिकम देसी होम्योपैथिक दवा को दिन में 5-5 गोली तीन बार खाई जाती है जिससे साइनस जल्दी ठीक हो जाता है

2. आर्सेनिकम अल्बम

आर्सेनिकम एल्बम दवा एक होम्योपैथिक दवा है जो साइनस के इलाज के लिए काफी कारगर है इसको प्रतिदिन 5 गोली दिन में तीन बार प्रयोग की जाती है।

3. सिलैसिआ

सिलेसिया की गोली भी दिन में तीन बार प्रयोग की जाती हैं और एक बार में कम से कम पांच गोली प्रयोग करें।

4. सैम्बुकस निगरा

सैम्बुकस निग्रा की पांच पांच गोलियां दिन में तीन बार खाने से साइनस ठीक हो जाता है। होम्योपैथिक की कोई भी दवा अगर साइनस की बीमारी में ले रहे हैं तो बिना डॉक्टर की सलाह से नहीं लेना चाहिए क्योंकि यह सभी दवाएं उम्र के हिसाब से दी जाती है होम्योपैथी का इलाज लगभग 6 महीने चलता है।

साइनस की दवा | Sinus ki dawa

अगर आप डॉक्टर से सलाह करते हैं तो साइनस की समस्या के लिए आपको कुछ एलोपैथिक दवाओं को लेने के लिए लिखता है इन दवाओं को डॉक्टर की सलाह से आप लेकर अपने साइनस की समस्या को दूर कर सकते हैं। कुछ एलोपैथिक मेडिसिन इस प्रकार से हैं।

medicine capsule dva tablets

  1. Mox
  2. Zemox Cl
  3. P Mox Kid
  4. Aceclave
  5. Amox Cl
  6. Zoclav,
  7. Polymox,
  8. Blumox Ca
  9. Bactoclav
  10. Mega CV
  11. Advent
  12. Augmentin
  13. Clamp
  14. Erox Cv
  15. Moxclav 625 Mg Tablet
  16. Novamox
  17. Moxikind Cv
  18. Pulmoxyl
  19. Clavam
  20. Staphymox,
  21. Acmox Ds
  22. Amoxyclav
  23. Zoxil Cv

साइनस के लिए कुछ आयुर्वेदिक इलाज | Sinus ke liye kuch 

साइनस जैसी गंभीर समस्या से निपटने के लिए भारत में कुछ आयुर्वेदिक दवाइयां भी उपलब्ध हैं जिनको विभिन्न प्रकार की कंपनियों द्वारा तैयार किया जाता है आइए हम आपको कुछ आयुर्वेदिक दवाओं के नाम बताते हैं।

  1. Patanjali Divya Shadbindu Tail
  2. Baidyanath Madhu
  3. Baidyanath Agastya Haritaki Combo Pack of 3 By Baidyanath

FAQ : साइनस का होम्योपैथिक इलाज

साइनस का आपरेशन कैसे होता है ?

साइनस के आपरेशन में इसे पंक्चर किया जाता है और दूरबीन से साइनस को चौड़ा किया जाता है। इसके बाद दवा दिया जाता है अगर समस्या गंभीर है तो आपरेशन किया जाता है।

साइनस के इलाज में कौन से आसन किए जाते हैं ?

साइनस के आसन में भुजंगासन के साथ-साथ उष्ट्रासन,कपालभाति,भस्त्रिका प्राणायाम किया जाता है जो एक बेहतर इलाज है।

साइनस का स्थाई इलाज क्या है ?

साइनस का स्थाई इलाज आप अपने को स्वस्थ रखें फिर भी यदि आपको साइनस की समस्या हो गई है तो सिर दर्द जैसी समस्या से छुटकारा पाने के लिए सिलिसिया होम्योपैथिक में बेहतरीन इलाज है

निष्कर्ष

शरीर में छोटी-छोटी समस्याएं आम होती रहती हैं ऐसे में साइनस भी एक सामान्य बीमारियों की तरह है परंतु समय पर ध्यान न दिया गया तो छोटी बीमारी बड़ा रूप लेती है और समस्या भी गंभीर हो जाती हैं।

साइनस एक वायरल इंफेक्शन की वजह से होने वाली बीमारी है साथ ही अन्य कई प्रकार के कारण भी साइनस होता है इसलिए जब भी आपको साइनस जैसी समस्या दिखाई दे तो आप सबसे पहले साइनस का होम्योपैथिक इलाज करें जो एक कारगर इलाज है।

osir news
यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
कोई सलाह देना है या हम से संपर्क करना है ? अभी तुरंत अपनी बात कहे !
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले .

यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन