प्रोग्रामर किसे कहते है ? सोफ्टवेयर इंजीनियर / प्रोग्रामर क्यों बने ? Why to Become a Software Engineer or Programmer ?

तेजी से बदलती ये दुनिया जिसका प्रमुख कारण है हमारी प्राद्योगिकी (Technology) और इसका आधार है हमारा आईटी जगत जिसने पूरी दुनिया को एक विश्वस्तरीय गाँव (Global village) में बदल दिया है . आज इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है की आप कंही विदेश में बैठे की फेसबुक फ्रेंड से वीडियो चैट करते हुए वंहा की पल-पल की जानकारी ले रहे हो यही कारण है की आज दुनिया इतनी तेजी बदल है .

जितना पहले कभी नहीं बदली पर क्या आप के मन में कभी यह विचार नहीं आया ? की इन सब के पीछे है कौन ? आखिर वो कों लोग है जो हमारे जीवन को इतना आसन बना रहे है तो आज हम आप को यह बता देते है की यह आईटी जगत में जान डालने वाले जदुगर और कोई नहीं बल्की हमारे और आप के बीच के ही लोग है जिन्हें हम प्रोग्रामर कहते है यही वह लोग है जिनके बिना इस दुनिया की कल्पना करना भी असंभव था .

आज हम इन्ही के बारे में आप को बतायेंगे और साथ में यह भी बतायेंगे की आप एक सफल प्रोग्रामर कैसे बन सकते है और एक सोफ्टवेअर इंजीनियर बन के कितना कमा सकते है यदि आप यह सब जानना चाहते है तो पोस्ट को अंत तक पढ़े . (यह पोस्ट आप OSir.in पर पढ़ रहे है )

क्या है प्रोग्राम (सोफ्टवेअर) और प्रोग्रामिंग ?

‘सॉफ्टवेयर’ उन प्रोग्रामों को कहा जाता है, जिनको हम हार्डवेयर पर चलाते हैं। आप आपने कम्प्यूटर और फोन पर जो भी कार्य करते है जैसे इमेल भेजना,वीडियो देखना,कुछ लिखना या बनाना , गेम खेलना आदि सभी कुछ सोफ्टवेर के माध्यम से ही होता है MS Office,VLC & MX Player,Photo Shop,Mobile Application आदि सोफ्टवेअर के अच्छे उदहारण है .एक प्रोग्राम एक या एक से अधिक प्रोग्रामिंग भाषाओ से मिला कर बनाया जाता है जो आप के कंप्यूटर,मोबाइल या कोई भी हार्डवेअर(यंत्र) को यह बताता है की उसे कैसे काम करना है . इन्हें बनाने के लिए कुछ स्टैण्डर्ड प्रोग्रामिंग भाषाओ का प्रयोग किया जाता है , जैसे Java, C, HTML, C#, CSS, Python आदि . किसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से सोफ्टवेअर बनाने की प्रक्रिया को ही “प्रोग्रामिंग” कहते है .

आप के लिए खास पोस्ट यह भी पढ़े :-  विचार क्या है और विचारो की ताकत को जानने के लिए जरुर पढ़े ! Power of Thought in Hindi !

यह भी पढ़े :-

प्रोग्रामर या सोफ्टवेअर इंजीनियर किसे कहते है ?

जो भी प्रोग्रामिग लैंग्वेज अच्छा जानकार है और प्रोग्राम बना सकता है या फिर बनाता है साफ्टवेअर इंजीनियर या  प्रोग्रामर कहेलाता है इन्हें डेवलपर भी कहा जाता है . चूंकि आज हमारी जरुरत के हिसाब से बहुत प्रकार के सोफ्टवेअर उपलब्ध है इसलिए इन्हें बनाने वालों को भी कई नामों से जाना जाता है जैसे ऐप डेवलपर, वेब डेवलपर सॉफ्टवेयर मेकर आदि .

क्यों बने प्रोग्रामर ?

क्या आप के अन्दर प्रोग्रामर बनने के गुड़ है ?

यह प्रश्न आपको स्वयं से पूछना होगा कि आप प्रोग्रामर क्यों बनना चाहते हैं हालांकि जिस तरह हमारी दुनिया टेक्नोलॉजी की तरफ बढ़ती जा रही है उतना ही यह इंडस्ट्री बड़ी होती जा रही है आज के डिजिटल युग में हर किसी को फिर चाहे वह कोई कंपनी हो या फिर सरकार सबको एक अच्छे प्रोग्रामर की आवश्यकता है |

आप के लिए खास पोस्ट यह भी पढ़े :-  जादुई लिस्ट बनाये Time Table नहीं To Do List बनाये तब कोई काम भूल से नहीं छूटेगा ! (Make Life Easy with Magic List) To Do Kaese bnaye ?

ध्यान दें प्रोग्रामिंग टेक्निकल विषय होने के साथ-साथ एक क्रिएटिव वर्क ( रचनात्मक कार्य )  भी हैं इसलिए आपके अंदर क्रिएटिविटी (रचनात्मकता) अवश्य होनी चाहिए क्योंकि प्रोग्रामिंग इंडस्ट्री में सफल होने के लिए आपके अंदर कुछ नया बनाने की क्षमता होनी चाहिए इसके लिए आपको कंप्यूटर के सामने घंटों बैठना पड़ेगा कुछ प्रोग्राम है तो कई-कई दिन तक लगातार कोडिंग करते रहते हैं (यह पोस्ट आप OSir.in पर पढ़ रहे है ) साथ में आपकी याददाश्त भी अच्छी होनी चाहिए क्योंकि हर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में बहुत से कोड होते हैं और उन सबको आपको याद रखना पड़ेगा जिससे आप तेजी से प्रोग्रामिंग कर सकें क्योंकि एक अच्छा प्रोग्राम है वही होता है जिसे अपनी लैंग्वेज के कोड याद हों |

चूंकि यह इंड्रस्ट्री बहुत तेजी से बदलती है इसलिये आप हरदम कुछ नया सीखने के लिए तयार रहेना होगा , यदि आप एक अच्छे प्रोग्रामर है तब आप फ्रीलांसर बनके दुनिया के किसी भी कोने में भी बैठकर लोगों के लिए सॉफ्टवेयर बना सकते हैं तब आपको 9:00 से 7:00 नौकरी का टेंशन नहीं रहेगा चूंकि इस क्षेत्र में आपका ज्ञान ही मायने रखता है, यहां पर आप के नंबर और सर्टिफिकेट की कोई वैल्यू नहीं है आप भले ही कक्षा एक फेल हो या फिर आप की उम्र कितनी भी हो लेकिन यदि आप एक अच्छे प्रोग्रामर हैं तो आपको काम की कमी नहीं होगी तो फिर यदि आप को इसमें मजा आता हो और यदि यह सभी गुण आपके अंदर हो तो आपके लिए प्रोग्रामर से अच्छा कैरियर कोई और नहीं हो सकता है .

आप के लिए खास पोस्ट यह भी पढ़े :-  दुनिया के सबसे नाकारे और बदकिस्मत लड़के की सच्ची कहानी ! The true story of the world's most Rejected and Unlucky man !

हालांकि जब भी कैरियर को चुनने की बात आये तब सदैव आपको अपने विवेक से ही निर्णय लेना चाहिए यह चुनाव आपका स्वयं का ही होना चाहिए क्योंकि आपको इसके सहारे पूरी जिंदगी बितानी है इसमें आप किसी और के कहे में ना आये फिर चाहे वह कोई भी हो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता .

कैसे बने प्रोग्रामर और कितनी है सैलरी  ?

इसके लिए आप को हमारी अगली पोस्ट पढनी होगी उसमे मे बहुत विस्तार से आप को सब कुछ बताऊंगा … कोई अपडेट छूटने न पाए इसलिये लाइक करे हमारा फेसबुक पेज www.fb.com/osirdotin मिलते है अपनी अगली पोस्ट में तब तक के लिए नमस्कार!

यह भी पढ़े :-

>> अमीर कैसे बने ?  

>> बिजनेस कैसे करे ?

>> जादू सीखे !

>> क्या असली जादू या काला जादू सच में होता है ? क्या है सच? और क्या है झूठ? Does Real magic or black magic really happen or real? Truth and lies about magic!

(Visited 28 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published.