योग निद्रा क्या है? स्वास्थ्य और तनाव मुक्त जीवन के लिए योग नींद आसन कैसे करे ? What is Yoga Nidra in hindi ? How to do yoga sleep posture?

💕❤ इसे और लोगो (मित्रो/परिवार) के साथ शेयर करे जिससे वह भी जान सके और इसका लाभ पाए ❤💕

योग निद्रा Yoga Nidra के बहुत से फायदे के बारे में तो आपने अवश्य सुना होगा How to take Yoga Nidra for health and stress-free living और शायद कभी करने को भी सोचा होगा किंतु जानकारी के अभाव में आप इस प्रक्रिया Yoga Sleeping को नहीं कर पाए होंगे इसलिए आज हम आपको योगनिद्रा के बारे में पूर्ण जानकारी देंगे योग निद्रा क्या है ? What is Yoga Nidra in Hindi इसे कैसे करते हैं? How to Yoga Nidra  और इसके क्या फायदे हैं ? benefits of yog nidra in hindi

किसी भी प्रकार के रोग या तनाव में योग निद्रा एक चमत्कारिक औषधि की तरह काम करती है। इसके अलावा योग निद्रा के निरंतर अभ्यास से आध्यात्मिक लाभ भी प्राप्त किया जा सकता है।


यह योग की वह अवस्था होती है जिसमें हम अपने आप को बहुत ही स्थिर अवस्था में ले जाते हैं योग निद्रा करने के बहुत से फायदे भी हैं शारीरिक और मानसिक दोनों तरह के तो आइए आज हम इस पोस्ट में आपको योगनिद्रा के बारे में बताते हैं कि यह क्या है और योग निद्रा आप किस प्रकार से ले सकते हैं |

योग निद्रा क्या है ? What is Yoga Nidra in Hindi

योगनिद्रा एक प्रकार की आध्यात्मिक नींद है । यह वह नींद है, जिसमे इंसान सोता तो है पर उसकी सारी इन्द्रियाँ जाग्रत अवस्था में रहती है , इसे ऐसा समझा जा सकता है जैसे “जागते हुये सोना” , सोने व जागने के बीच की स्थिति को ही योग निद्रा कहा जाता है | इसे स्वप्न और जागरण के बीच ही स्थिति मान सकते हैं | यह झपकी जैसा है या इसमें व्यक्ति अर्धचेतन स्थिति में होता है । (यह जानकारी आप osir.in पर पढ़ रहे है ) देवता इसी निद्रा में सोते हैं ऐसी मान्यता पुराणों में है |

समोहन कर्ता किसी को समोहित करने के लिए उसे पहले इसी स्थिति यानी योग निद्रा की स्थिति में ले जाते है .

अपनी आत्मिक शक्ति का प्रभाव दुसरे पर डालकर या उस शक्ति का प्रभाव स्वयं पर डालकर जो कृतिम नींद या सम्मोहन प्राप्त किया जाता है, उसे ही हमारे दर्शन में योग निद्रा कहते है. इस योग निद्रा या कृतिम निद्रा से साधक के जीवन में विशेष लाभ होता है, जैसे उसकी स्मरण शक्ति बढ़ जाती है, वह अपने जीवन को ऊँचा उठाने में पूर्णतः सफल हो पाता है. और उसका जीवन अपने आप में अत्यंत ही संतुलित और महान बन जाता है.

आप के लिए खास यह भी पढ़े :-  क्या असली जादू या काला जादू सच में होता है ? क्या है सच? और क्या है झूठ? Does Real magic or black magic really happen or real? Truth and lies about magic!

इसके अन्य लाभ जानने के लिए आप हमारी यह पोस्ट पढ़े :

योग निद्रा करने के लिए पूर्व तैयारी क्या करे ? Important things for doing Yoga Nidra?

  • अभ्यास के पूर्व पेट हल्का रखें । योगासन एवं योग निद्रा के पूर्व भर पेट भोजन नही करना चाहिए । अल्पा हार वैसे भी स्वाथ्य वर्धक होता है !
  • योग निद्रा के अभ्यास के लिए आप खुली जगह का चुनाव करे जंहा पर ताजी हवा का अवाह-प्रवाह हो |
  • आरामदायक एवं अव्यवस्था रहित स्थान होना चाहिए। एक योगी का घर शांत, आरामदायक एवं अव्यवस्था रहित होता हैं ।
  • योग निद्रा के लिए ढीले कपड़ों का चयन करें ।
  • कुछ लोगो को योग निद्रा के पश्चात् हलके ठंडक का आभास होता हैं। अतः साथ में एक कम्बल रखना चाहिए|

योग निद्रा समय Yoga sleep timeing :

योग निद्रा 10 से 45 मिनट तक की जा सकती है।

योग निद्रा की विधि | How to do yoga nidra in Hindi

  1. कंबल को जमीन पर बिछाएं और शवासन (पीठ के बल लेटना) में लेट जाएं।
  2. नेत्र बंद कर पूर्ण शरीर को विश्रामवस्था में ले आये ।
  3. शुरू में गहरी श्वास लेते हुए धीरे-धीरे सामान्य अवस्था में आएं। । ध्यान रहे साधारण श्वाश लेना हैं, उज्जई नहीं।
  4. इसके बाद आपको अपने मन व मस्तिष्क को शांत करना होगा और दिमाग में चलने वाले सभी विचारों को भूल जाना होगा ।
  5. मस्तिस्क को विचार शून्य करने के लिये आप अपनी श्वाश पर ध्यान लगा सकते है , इससे मस्तिष्क को शांत करना आसान हो जाता है |
  6. अपना ध्यान अपने दाहिने पंजे पर ले जाये। कुछ सेकंड तक यहाँ अपना ध्यान बनाये रखें । पंजों को विश्रामावस्था में लाये। इसके पश्चात अपना ध्यान क्रमशः दाहिने गुटने, दाहिने जंघा तथा दाहिने कूल्हे पर ले जाए। (यह जानकारी आप osir.in पर पढ़ रहे है ) इसके पश्चात अपने पूरे दाहिने पैर के प्रति सचेत हो जाये।
  7. दाएं पैर के लिए अपनाई गई ध्यान प्रक्रिया को बाएं पैर के लिए भी अपनाएं।
  8. अपना ध्यान शरीर के सभी भागों जननांग, पेट, नाभि और वक्ष (छाती) में ले जाये।
  9. अपना ध्यान दाहिने कंधे, भुजा, हथेली, उंगलियो मेँ ले जाएं।यही प्रक्रिया बाये कंधे, भुजा,हथेली, गर्दन एवं चेहरे और सिर के शीर्ष तक ले जाये।
  10. एक गहरी श्वास लें। अपने शरीर में तरंगो का अनुभव करें। कुछ मिनट इसी स्थिति में आराम करे।
    अपने शरीर एवं आस-पास के वातावरण के प्रति सचेत हो जाये। दाहिने करवट ले के कुछ समय लेटे रहे। बाएं नासिका से श्वास बाहर छोड़े जिससे शरीर में ठंडेपन का अहसास होगा।
  11. अपना समय लेते हुए धीरे धीरे उठकर बैठे।जब आप आराम महसूस करे तो धीरे धीरे नेत्र खोलें।
आप के लिए खास यह भी पढ़े :-  Yog कब,कहाँ और कैसे करे ? प्रतेक योगी के लिए आवश्यक जानकारी एवं सावधानियां ! When, where and how to do Yog?

यह नही पढ़े :

आप ‘नियमित’ योग के कई आसनों के बारे में जानते होंगे। आपको बता दें कि योग निद्रा काफी हद तक शवासन से मिलती जुलती कही जा सकती है। जहां एक ओर योग के अन्य आसनों को कुछ मिनटों के लिए किया जाता है, वहीं योग निद्रा को आप लंबे समय तक कर सकते हैं।

इसको करते समय जब आप पीठ के बल जमीन पर लेटते हैं तो आपको इस बात का ध्यान देना होगा कि आपकी हथेलियां ऊपर की ओर होनी चाहिए। इसके अलावा जमीन पर लेटने से पहले आप नीचे से किसी कंबल या आराम दायक कपड़े को बिछा सकते हैं।

योग निद्रा की गरहाई में आपके शरीर का तापमान कम हो जाता है। (यह जानकारी आप osir.in पर पढ़ रहे है ) इस दौरान जमीन की ठंडक से शरीर को परेशानी न हो व शरीर का तापमान सामान्य बना रहे, इसलिए आपको लेटने से पहले नीचे कोई कपड़ा या कंबल बिछा लेना जरूरी होता है।

योग निद्रा एक प्राचीन ध्यान तकनीक है। योग निद्रा सही मायने में तनाव और चिंता से पीड़ित लोगों के लिए एक वरदान है। यह अशांत मन को शांत और तरोताजा करने का आसान तरीका है। योगाभ्यास आम तौर से जागृत अवस्था में किया जाता है परंतु योग निद्रा विशेष है, इसे लेट कर किया जाता है।

आप के लिए खास यह भी पढ़े :-  मोटापा, शरीर का वजन क्यों बढ़ता है ? (7 वजह,लक्षण) वजन बढ़ने के नुकसान ! Profit, Loss and Reason of weight gain in hindi

आमतौर से मनुष्य की दो अवस्था होती हैं – आप या तो जागते हैं या फिर गहरी नींद में सो जाते हैं। लेकिन योगनिद्रा में आप पूर्ण रूप से जागृत होते हुए भी शरीर और मन पर गहरी नींद के तमाम लक्षण अनुभव कर पाते हैं |

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेअर करे, और इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे|


💕❤ इसे और लोगो (मित्रो/परिवार) के साथ शेयर करे जिससे वह भी जान सके और इसका लाभ पाए ❤💕

आप को यह पोस्ट कैसी लगी  हमे फेसबुक पेज पर अवश्य बताये या फिर संपर्क करे |

यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले |

 

यदि मन में कोई प्रश्न या जानकारी है तो संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उसका जवाब देंगे |

हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने के लिए धन्यवाद !

✤ यह लेख भी पढ़े ✤

(Visited 131 times, 1 visits today)