दही के टोटके कब और कैसे करे : लाल किताब में दही स्नान टोटका

Dahi ke totke नमस्कार दोस्तों आपने टोना टोटका के बारे में तो बहुत सुना होगा लेकिन शायद आपने दही के टोटके के बारे में नहीं सुना होगा या फिर आप दही के टोटके के बारे में ना जानते होंगे जब आपके ऊपर हर तरफ से संकट मंडराने लगता है.

दही के टोटके लाल किताब में दही के टोटके दही स्नान करने से क्या होता है? dahi ka sevan kaise kare dahi se kya hota hai dahi se nahane ke upay

आपका दांपत्य जीवन सुखी नहीं रहता है और आपके घर की सुख समृद्धि और धन-धान्य एवं आर्थिक स्थिति भी खराब होने लगती है तब आपको कोई रास्ता नजर नहीं आता है कोई दवा दुआ काम नहीं करती है.

इस अवस्था में शारीरिक कष्ट और मानसिक कष्ट भी बढ़ने लगते हैं इस अवस्था में डॉक्टर भी आपकी कोई मदद नहीं कर पाता है क्योंकि उसको इसका कारण पता ही नहीं होता है लेकिन दोस्तों आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं ऐसी कोई घटना घटित हो रही है.

तो उसका निवारण आज हम आपको बताएंगे ऐसी अवस्था में आपका शुक्र कमजोर होता है इसलिए ऐसा संकट आप पर टूट पड़ते हैं अपने शुक्र को मजबूत करने के लिए दही के टोटके एक उत्तम उपाय माने जाते हैं.

वैसे तो दही हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होती है और इसका सेवन भी करना चाहिए लेकिन लाल किताब में दही के टोटके के बारे में कुछ विशेष महत्वपूर्ण बातें बताई गई तो आइए जानते हैं की दही के टोटके क्या है?

दही से शारीरिक और मानसिक कष्टों का निवारण करें

कई बार कुछ लोगों पर ऐसे संकट आन पड़ते हैं जिनका निवारण दवा और दुआ से नहीं हो पाता है वैसे तो दही खाना शारीरिक और मानसिक तौर पर शरीर के लिए बहुत लाभदायक साबित होती है लेकिन जब हमें कभी कोई दिक्कत होती है.


तब हम सबसे पहले डॉक्टर के पास जाना पसंद करते हैं और कुछ लोग स्वयं इलाज करने का प्रयास करते हैं ऐसे में दही अत्यंत उपयोगी है यदि आप शारीरिक कष्ट झेल रहे हैं या फिर मानसिक कष्ट झेल रहे हैं तो आपको दही के टोटके का सहारा लेना चाहिए.

दही शरीर की कई समस्याओं को ऐसे ही ठीक कर देता है लेकिन यदि आप इसे दुआ के तौर पर लेते हैं तो यह आपको शारीरिक और मानसिक तौर पर फायदा करती है शारीरिक और मानसिक कष्टों के निवारण के लिए आपको प्रतिदिन पूजा के दौरान दही का भोग लगाएं.

और फिर उसी दही को खाएं और अपने कष्ट दाई अंग में लगा ले और फिर मन में अपने सभी का कष्टों का स्मरण करें ऐसा करने मात्र से आपकी समस्याएं धीरे-धीरे खत्म होना शुरू हो जाएंगे और आप पर भगवान की दया दृष्टि की बनी रहेगी.

लाल किताब में दही के टोटके | dahi ke totke

दही के टोटके के बारे में लाल किताब में विस्तार पूर्वक बताया गया है कि जातक के ऊपर शुक्र कमजोर होता है तो उसकी सभी सुख शांति समृद्धि और आर्थिक जीवन की खुशियां नष्ट हो जाती हैं उसका दांपत्य जीवन शारीरिक और मानसिक कष्टों से भर जाता है.

कमजोर शुक्र के जातक के पास कोई और उपाय नहीं रहता है वह इसका निवारण किसी और प्रकार से नहीं कर पाता है और इन सभी कष्टों के निवारण के लिए लाल किताब में दही के टोटके का जिक्र किया गया है और बताया गया है कि यदि किसी जातक को ऐसी समस्याएं आ रही है.

तो उसे दही से स्नान करना चाहिए दही स्नान एक चर्चा का विषय है पहले के समय में कई लोग दही स्नान अवश्य करते थे इससे शरीर के विषाणु और रोगाणु नष्ट हो जाते थे और शरीर स्वस्थ रहता था.

लेकिन तब शुक्र कमजोर या मजबूत इस बारे में किसी को कुछ पता नहीं रहता था सुपर कमजोर होता है तो किसी भी स्थिति में जातक की समस्याएं खत्म नहीं होंगी और शुक्र को मजबूत बनाने के लिए दही से अच्छा उपाय कोई और नहीं होता है.

लाल किताब में इस को अत्यधिक मान्यता दी गई है बताया गया है कि दही के स्नान करने शुक्र को मजबूत किया जा सकता है और सभी समस्याओं का निवारण भी किया जा सकता है.

दही स्नान करने से क्या होता है?

जिन लोगों का शुक्र कमजोर होता है उनके पास कोई और उपाय नहीं बचता है तब वह मजबूरन दही स्नान करते हैं लेकिन पहले के समय में राजा महाराजा दही स्नान किया करते थे और वह ऐसे संकटों से बचने के लिए इस उपाय को अक्सर आजमाया करते थे.

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 744 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

शनि दोष दूर करने के उपाय क्या है ? शनि दोष निवारण के मंत्र जाने
ज्योतिष के 14 प्रकार जाने | एस्ट्रोलॉजी क्या है? | Type of astrology

और इसका फायदा भी उनको प्राप्त होता था लेकिन अब दही स्नान बहुत कम लोग करते हैं या फिर जिनके ऊपर भारी संकट टूट पड़ा हो तब ही दही स्नान करते हैं दही स्नान करने से आपके शरीर के कई रोग नष्ट हो जाते हैं और आपके शरीर की त्वचा के विशाणु भी नष्ट हो जाते हैं.

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

जिससे कि आपकी त्वचा कोमल और मुलायम होती है स्नान करने से धन-धान्य और वैभव की प्राप्ति होती है और आपका दांपत्य जीवन सुखमय होता है.

दही स्नान के साथ साथ दही को खाना भी चाहिए इससे आपके शरीर में शारीरिक क्षमता बढ़ती है और दही को कई फायदों के लिए जाना जाता है.

दही स्नान कैसे और कब करें?

अपने शुक्र को मजबूत करने के लिए शुक्रवार के दिन व्रत रखना चाहिए और इसी दिन दही स्नान भी करना चाहिए शुक्रवार के दिन अपने शरीर पर दही का लेपन करना चाहिए और दही का लेप लगाते वक्त आपको लकड़ी के पटरी पर बैठना चाहिए.

दही का लेप लगाकर कुछ देर तक इसे मलना चाहिए और उसके पश्चात स्नान कर लेना चाहिए और इस दिन खटाई का सेवन बिल्कुल ना करें.

इस प्रकार आप दही का सेवन और स्नान कर सकते हैं जिससे कि आपका शुक्र मजबूत हो जाएगा और आप के सभी कष्टों का निवारण हो जाएगा.

सभी शुभ कार्यों में दही अनिवार्य

शास्त्रों में सभी शुभ कार्यों के लिए दही का सेवन और इस्तेमाल उत्तम माना गया है किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले या किसी शुभ कार्य पर जाने से पहले दही का सेवन किया जाता है भगवान के पंचामृत में भी दही का प्रयोग होता है.

और भगवान की पूजा अर्चना के दौरान उन्हें भी दही से नहलाया जाता है इससे यह स्पष्ट होता है की दही संकट हरने के लिए उपर्युक्त है इसीलिए किसी भी शुभ कार्य के किए जाने पर दही पहले खिलाया जाता है लाल किताब में भी इसका जिक्र किया गया है.

और हमारे धार्मिक ग्रंथों में भी इसका विस्तार से उल्लेख किया गया है दही को सभी शुभ कार्यों का हिस्सा माना जाता है और देवी देवताओं को भी दही स्नान कराया जाता है इसलिए मनुष्य को भी दही का स्नान करना आवश्यक है.

और अपने शुक्र को मजबूत करने के लिए पूरे विधि विधान के साथ दही का स्नान करें और दही का सेवन भी करें ताकि आपकी सभी समस्याएं दूर हो जाएं और आपके ऊपर आने वाला संकट टल जाए.

FAQ : दही के टोटके

Q. क्या दही स्नान करना जरूरी है ?

Ans. दही का सेवन और दही का स्नान करने से आपको शरीर के कई रोगों से मुक्ति मिलती है और इससे आपका स्वास्थ्य भी ठीक रहता है.

Q. लाल किताब में दही स्नान के बारे में क्या बताया गया है?

Ans. जातक के दांपत्य जीवन में सभी प्रकार के कष्ट आने पर उसके शुक्र का कमजोर होना बताया गया है जिसके लिए दही स्नान का जिक्र लाल किताब में उपाय के तौर पर किया गया है.

Q. दही स्नान कब करना चाहिए?

Ans. शुक्रवार के दिन व्रत रहकर दही स्नान करना चाहिए और उस दिन खटाई का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए.

निष्कर्ष | Conclusion

हम आशा करते हैं कि आप ने दही के टोटके अच्छे से जान लिए होंगे और अब आप ऐसी स्थितियों में मजबूती के साथ सुधार कर पाएंगे यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों व अन्य जानने वालों के साथ अवश्य शेयर करें.

osir news

ताकि उनको भी ऐसी महत्वपूर्ण जानकारी का लाभ मिल सके यदि से संबंधित आपका कोई सवाल है तो आप हमारे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं.

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

लड़की का दूध पीने के फायदे : Ladki ka doodh बड़े करने के 3 घरेलू नुस्खे
केबीसी लॉटरी नंबर कैसे चेक करें | KBC lottery number
दैनिक मंत्र : रोज जपने लायक 9 दैनिक मंत्र तथा उसके गुप्त रहस्य,लाभ और हानि
मच्छर बांधने का मंत्र क्या होता है? मच्छर भगाने के घरेलू उपाय जाने !
भैरव भूत साधना क्या है ? What is Bhairav Bhoot Sadhana in hindi?
★ सम्बंधित लेख ★