ज्योतिष शास्त्र : जाने राशि नाम से कुंडली मिलान का तरीका और नाम राशि | Rashi naam se kundali milan

राशि नाम से कुंडली मिलान | Rashi naam se kundali milan : हेलो नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सब दोस्तों आज आपका इस नए लेख में बहुत-बहुत स्वागत है दोस्तों आज के इस लेख में हम आपको राशि नाम से कुंडली मिलान के बारे में जानकारी देंगे दोस्तों जब किन्ही दो लोगों की शादी होती है तो शादी में सबसे पहले उन दो लोगों की कुंडली मिलाई जाती है यदि कुंडली सही मिलती है तो ही दो लोगों की शादी की बात आगे बढ़ाई जाती है.

कुंडली मिलाना एक बहुत ही प्राचीन प्रथा है जो सदियों से चली आ रही है हालांकि कुंडली मिलान विश्वास पर आधारित होता है अर्थात कुछ लोग कुंडली पर विश्वास करते हैं तो वह शादी के वक्त कुंडली मिलान करवाते हैं और जो लोग कुंडली पर विश्वास नहीं करते हैं वह शादी के वक्त कुंडली मिलान नहीं करवाते हैं दोस्तों शादी के वक्त कुंडली मिलाना बहुत ही आवश्यक होता है.

राशि नाम से कुंडली मिलान, राशि नाम से कुंडली मिलान इन हिंदी, राशि मिलान नाम से, वृश्चिक राशि के जातक की कुंडली मेल, राशि से कुंडली मिलान इन हिंदी, राशि मिलान फॉर मैरिज, तुला राशि के जातक की कुंडली मेल, कुम्भ राशि के जातक की कुंडली मेल, राशि नाम से जाने, राशि के नाम से कुंडली मिलान, राशि नाम का अर्थ, मकर राशि के जातक की कुंडली मेल, कुंडली मिलान इन हिंदी बय नाम, rashi name se kundli milan in hindi, मिथुन राशि के जातक की कुंडली मेल, राशि के नाम से रिंगटोन, सिंह राशि के जातक की कुंडली मेल, कन्या राशि के जातक की कुंडली मेल, मेष राशि के जातक की कुंडली मेल, वृषभ राशि के जातक की कुंडली मेल, milan rashi name in hindi, कर्क राशि के जातक की कुंडली मेल, धनु राशि के जातक की कुंडली मेल, rashi milan naam se, rashi kundali milan in hindi, राशि से कुंडली मिलान, राशि से गुण मिलान, rashi milan for marriage, rashi match for marriage, मीन राशि के जातक की कुंडली मेल, rashi match for marriage in hindi, makar rashi match for marriage, best rashi match for marriage in hindi, best rashi match for marriage, राशि से कुंडली कैसे मिलाए , Rashi se kundali kaise milaye,

क्योंकि ग्रह और सितारे हमारे जीवन में बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं और यह हमारे जीवन को तथा हमारे रिश्ते को प्रभावित करते हैं दोस्तों आपको शायद ही मालूम होगा कि कुंडली मिलान की बहुत सारी विधियां होती हैं लेकिन उन सभी विधियों में से सबसे अधिक प्रचलित विधि है राशि नाम से कुंडली मिलान यह एक नई विधि है जो नाम के अक्षरों पर निर्भर करती है.

अर्थात हमारे नाम के अक्षर के अनुसार ही हमारी कुंडली मिलाई जाती है दोस्तों जिस तरह प्रत्येक व्यक्ति का नाम अलग-अलग अक्षर से शुरू होता है उसी तरह प्रत्येक व्यक्ति की राशि भी अलग-अलग होती है राशि व्यक्ति के नाम के अक्षर के अनुसार तय की जाती है और इन ग्रहों एवं राशियों का संतुलन हमारे जीवन के उतार-चढ़ाव के अनुसार होता है.

दोस्तों आज के इस लेख में हम आपको इसी के बारे में संपूर्ण जानकारी विस्तार से देने वाले हैं तो दोस्तों यदि आप राशि नाम से कुंडली मिलान के बारे में जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो आपको हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ने की आवश्यकता होगी तो चलिए बिना देर किए आज के इस लेख को शुरू करते हैं।

राशि नाम से कुंडली मिलान | Rashi naam se kundali milan

दोस्तों ज्योतिष शास्त्र के अनुसार एक कुंडली का निर्माण करने के लिए जातक की जन्म तिथि, जन्म स्थान और जन्म के समय आदि का विवरण होना अत्यंत आवश्यक है तभी ज्योतिषी लोग व्यक्ति के जीवन से जुड़ी सभी घटनाओं के बारे में जानकारी दे सकते हैं लेकिन हम लोगो में से ऐसे बहुत से लोग हैं.

जिनके पास उनके जन्म से जुड़ी किसी प्रकार की कोई जानकारी नहीं होती है अर्थात उन्हें यह ज्ञात नहीं होता है कि उनका जन्म कब कहां और किस समय पर हुआ ऐसे में यह सवाल सामने आता है कि जिन जातकों के पास उनके जन्म से जुड़ा किसी भी प्रकार का कोई विवरण नहीं है.

kundali

उन्हें यह कैसे पता चलेगा कि उनकी राशि क्या है? और वह किस प्रकार से अपनी राशि से कुंडली मिलान कर पाएंगे और जीवन में आ रही कठिनाइयों को समाप्त करने के लिए समाधान कैसे ढूंढ पाएंगे ऐसे बहुत से सवाल हैं जो बहुत से लोगों के मन में होते हैं क्योंकि आज कल की दौड़ भाग भरी और नई दुनिया में लोग कुंडली बनवाना तो जैसे भूल ही गए हैं?

दोस्तों यदि आपके पास भी इस प्रकार की समस्या है तो आपको चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि नीचे इस आर्टिकल में हमने आपको नाम से राशि ढूंढना और राशि नाम से कुंडली मिलान दोनों के बारे में जानकारी दी है तो चलिए दोस्तों सबसे पहले जानते हैं कि अपने नाम के माध्यम से अपनी राशि कैसे जाने?

नाम से राशि कैसे जाने ? | Naam se Rashi kaise jane ?

दोस्तों बहुत से लोगों को अपनी राशि मालूम नहीं होती है तो हम आपको बता दें कि ज्योतिष शास्त्र में राशि का बहुत ही अधिक महत्व होता है क्योंकि हिंदू धर्म में जब कोई भी शुभ काम होता है तो सबसे पहले शुभ मुहूर्त का निर्धारण किया जाता है क्योकि बिना शुभ मुहूर्त के हिंदू धर्म में कोई भी कार्य नहीं किया जाता है और जो मुहूर्त निकालता है.

वह शुभ कार्य उसी मुहूर्त में किया जाता है ऐसा कहा जाता है कि शुभ मुहूर्त में जब हम कोई कार्य करते हैं तो वह अधिक फलदाई होता है और सकारात्मक होता है दोस्तों हम आपको बता दें कि यह शुभ मुहूर्त प्रत्येक व्यक्ति की राशि के अनुसार अलग-अलग होता है इसीलिए प्रत्येक व्यक्ति को अपनी राशि की जानकारी रखना बहुत जरूरी होता है.

rashi

जब किसी लड़का या लड़की की शादी होती है तो लड़का और लड़की की राशि सबसे पहले मिलाई जाती है और उनकी कुंडली का मिलान किया जाता है यदि राशि और कुंडली के अनुसार दोनों के गुण मिलते हैं तभी उन दोनों का विवाह तय किया जाता है.

अन्यथा विवाह नहीं तय किया जाता है और यदि विवाह तय कर दिया गया तो उस विवाह के टूटने के चांस बहुत अधिक होते हैं और रिश्ते का भाग्य सही नहीं होता है दोस्तों हिंदू धर्म में राशि को लेकर बहुत सी मान्यताएं हैं क्योंकि राशि के बिना कोई भी शुभ कार्य संपन्न नहीं हो सकता है.

इसीलिए आज हम आपको राशि के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से देंगे दोस्तों जैसा कि आपको मालूम ही होगा कि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुल 12 राशियां होती हैं जो इस प्रकार हैं.

  1. मेष
  2. वृषभ
  3. मिथुन
  4. कर्क
  5. सिंह
  6. कन्या
  7. तुला
  8. वृश्चिक
  9. धनु
  10. मकर
  11. कुंभ
  12. मीन

अपने नाम से राशि का पता करने के लिए आप इस प्रकार से अपनी राशि चेक कर सकते हैं.

1. मेष राशि

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ से शुरू होता है उन सभी लोगों की राशि में से होती है इनका चिन्ह भेड़ होता है.

2. वृषभ राशि

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो होता है उन सभी लोगों की राशि वृष होती है इसका चिन्ह बैल होता है.

3. मिथुन राशि

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह होता है उन सभी लोगों की राशि मिथुन होती है इसका चिन्ह युग्म होता है.

4. कर्क राशि

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर ही, हू, हे, हो, डा, डी, डु, डे, डो होता है उन सभी लोगों की राशि कर्क होती है इसका चिन्ह केकड़े के समान होता है.

5. सिंह राशि

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे होता है उन सभी लोगों की राशि सिंह होती है इसका चिन्ह सिंह होता है.

6. कन्या राशि

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर ढो, प, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो होता है उन सभी लोगों की राशि कन्या होती है इसका चिन्ह एक लड़की नौका में बैठी हुई है.

7. तुला राशि

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर र, री, रू, रे, रो, ता, ति, तू, ते होता है उन सभी लोगों की राशि तुला होती है इसका चिन्ह एक पुरुष हाथ में तराजू लिए है.

8. वृश्चिक राशि

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर तो, न, नी, नू, ने, नो, या, यि, यू होता है उन सभी लोगों की राशि वृश्चिक होती है इसका चिन्ह बिच्छू है.

9. धनु राशि

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर य, यो, भा, भि, भू, ध, फा, ढ, भे है उन सभी लोगों की राशि धनु होती है इसका चिन्ह धनुष लिए एक पुरुष और साथ में घोड़ा है.

10. मकर राशि

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी है उन सभी लोगों की राशि मकर होती है इसका चिन्ह मृग या हिरण है.

11. कुंभ राशि

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर गू, गे, गो, स, सी, सू, से, सो, द होता है उन सभी लोगों की राशि कुंभ होती है इसका चिन्ह कलश लिए एक पुरुष है.

 12. मीन राशि

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, च, ची होता है उन सभी लोगों की राशि मीन होती है इसका चिन्ह दो मछलियां है.

राशि से कुंडली कैसे मिलाए | Rashi se kundali kaise milaye

आज हम आप लोगों को राशि से कुंडली कैसे मिलाए के बारे में बताने वाले है दोस्तों राशि से कुंडली मिलान करना एक बहुत ही कठिन कार्य है जिसे करने के लिए कई ज्योतिषी सहयोग और नियमों को परखा जाता है तब जाकर राशि से कुंडली मिलाई जाती है उसके लिए आपकी कुंडली में जो जन्म तारीख और स्थिति लिखी हुई होगी.

उस स्थिति के आधार पर आपकी राशि पहचानी जाती है और राशि पहचानने के बाद आपकी कुंडली मिलाई जाती है और यदि आप पहले से ही अपनी राशि जानते हैं तो कुंडली मिलान थोड़ा आसान हो जाता है नीचे इसलिए हमने आपको बताया है कि लोग अपनी राशि के नाम के अनुसार अपनी कुंडली कैसे मिला सकते हैं इस बारे में जानने के लिए नीचे के लेख को पढ़ें.rashi zodiacदोस्तों वैसे तो विवाह के लिए कुंडली मिलान किया जाता है जिसे गुण मिलाना, अष्टकूट मिलान, मेलापक मिलान कहते हैं लेकिन कई ज्योतिष विज्ञान ऐसी भी हैं जो इसे सही नहीं मानते हैं क्योंकि कई बार लड़का और लड़की के 36 में से 36 गुण मिलते हैं उसके बाद भी उनके बीच के रिश्ते अच्छे नहीं होते हैं और यही पर कुछ ज्योतिष शास्त्र ऐसे हैं जो सिर्फ नाड़ी दोष या बटुक मिलान ही करते हैं और उनका रिश्ता बहुत अच्छी तरह से चलता है.

1. मेष राशि के जातक की कुंडली मेल

आइए जानते हैं कि मेष राशि मिलान क्या है राशियों के भी प्रकार होते हैं जैसे अग्नि तत्व, जल तत्व, पृथ्वी तत्व, वायु तत्व और आकाश तत्व. मान्यता है कि अग्नि तत्व वालों की अग्नि तत्व वालों से बहुत बनती है इसी तरह के मिलान के आधार पर आप यह जान सकते हैं कि मेष राशि के जातक के मित्र राशियां और शत्रु राशियां कौन है.

aries mesh rashi

दोस्तों मेष राशि के जातकों को सिंह और धनु राशि के जातकों से अच्छी बनती है क्योंकि यह तीनों रशिया अग्नि तत्व की प्रधान होती हैं अग्नि तत्व प्रधान अर्थात तीनों ही गर्म मिजाज वाले होते हैं अर्थात इन तीनों राशियों का तालमेल अन्य सभी राशियों की अपेक्षा बेहतर होता है इसीलिए मेष राशि के जातकों को सिंह और धनु राशि के जातकों से विवाह करना शुभ होता है और इनका रिश्ता भी सकारात्मक होता है.

2. वृषभ राशि के जातक की कुंडली मेल

TAURUS VRISHABHA RASHI

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक वृषभ राशि वाले जातकों को कन्या राशि की तरफ ज्यादा आकर्षित देखा गया है इसके साथ साथ हैं कन्या राशि के जातकों के साथ वृषभ राशि के जातकों की ज्यादा बनती है इसके आलावा  कुछ मामलो में कर्क राशि के साथ भी इनकी समानता होती हैं ऐसे में वृषभ राशि के जातकों को वृश्चिक राशि के लोग अच्छे जीवनसाथी साबित होते हैं और इन लोगों का वैवाहिक जीवन में भी बेहतरीन व्यतीत होता है.

3. मिथुन राशि के जातक की कुंडली मेल

gemini mithun rashi

दोस्तों अगर बात करे कि मिथुन राशि के जातकों को किस राशि के जातकों के साथ विवाह करना चाहिए तो हम आपको बता दें कि मिथुन राशि के जातकों को मिथुन, कुंभ और तुला राशि वालों के लिए यह उत्तम पार्टनर साबित होते हैं क्योकि कुंभ राशि वालों के साथ मिथुन राशि वालों का रिश्ता, प्यार और दोस्ती दोनों का समान रूप से होता है इसीलिए मिथुन राशि के जातकों को इन राशियों के जातकों के साथ अपनी कुंडली मिलानी चाहिए.

4. कर्क राशि के जातक की कुंडली मेल

कर्क rashi

कर्क राशि के जातकों को वृषभ, कन्या, वृश्चिक, मीन राशि के जातकों के साथ अपनी कुंडली मिलाननी चाहिए क्योंकि कर्क राशि के लोग वृषभ, कन्या, वृश्चिक, मीन राशि के लोगों के लिए अधिक अनुकूल होते हैं और इन राशि के लोगों की आपस में बहुत अधिक बनती हैं.

5. सिंह राशि के जातक की कुंडली मेल

singh leo rashi

सिंह राशि के जातकों के लिए तुला राशि के जीवनसाथी बिल्कुल परफेक्ट होते हैं हालांकि सभी राशियों में सिंह राशि के लिए तुला राशि अधिक उत्तम होती है क्योंकि इन दोनों राशियों के जातक बहुत रोमांटिक होते हैं और साथ में एक दूसरे को खुश रखना, गिफ्ट देना जैसी खुशियों को बांटने के लिए उत्तेजित होते हैं इन दोनों राशियों के जातको साथ में मिलकर एक सफल शादीशुदा जीवन व्यतीत कर सकते हैं.

6. कन्या राशि के जातक की कुंडली मेल

KANYA VIRGO RASHI

कन्या राशि के जातकों के लिए वृश्चिक राशि बहुत अच्छी मानी जाती है क्योकि कन्या राशि के जातक विश्वास कि तरफ बहुत गंभीर होते हैं स्वास्थ्य से संबंधित मामले में कन्या राशि के जातकों को सलाह देने की आवश्यकता नहीं है और वृश्चिक राशि के जातक भी कुछ इसी तरह के होते हैं इसीलिए इन दोनों राशि के जातकों का विवाह बहुत शुभ होता है.

7. तुला राशि के जातक की कुंडली मेल

libra tula rashi

दोस्तों अगर बात करें कि तुला राशि के जातकों के मित्र राशि कौन कौन सी होती है तो हम आपको बता दें कि तुला राशि के जातकों की शादी अक्सर कम उम्र में ही हो जाती है और अगर तुला राशि के जातक मिथुन राशि के जातकों के साथ विवाह करते हैं तो यह बहुत शुभ संयोग माना जाता है क्योंकि तुला राशि वाले जातक दयालु स्वभाव के होते हैं और कुंभ और मिथुन राशि के जातक भी कुछ इसी प्रकार के होते हैं.

8. वृश्चिक राशि के जातक की कुंडली मेल

वृश्चिक rashi

 

वृश्चिक राशि के जातकों को अपना जीवनसाथी वृषभ, धनु और मीन राशि के जातकों में खोजना चाहिए क्योंकि यदि वृश्चिक राशि के जातकों का विवाह वृषभ, धनु और मीन राशि के जातकों के साथ हो जाता है तो यह एक बेहतर सहयोग साबित होता है और यह अपना जीवन प्रेम और खुशहाली के साथ व्यतीत करते हैं.

9. धनु राशि के जातक की कुंडली मेल

sagittarius dhanu rashi

दोस्तों ऐसी चार राशियां है जो धनु राशि के जातकों के साथ अच्छा मेल खाती है जिनमें से मेष, सिंह, मिथुन और धनु राशि के जातक होते हैं इन राशियों के जातक धनु राशि के जातकों के लिए बहुत शुभ होते हैं क्योंकि धनु राशि के जातकों का इन राशि के जातकों के साथ तालमेल अच्छा बनता है जिससे अन्य राशियों के अपेक्षा इन राशियों के साथ धनु राशि का जीवन अधिक सुखहाल व्यतीत होता है.

10. मकर राशि के जातक की कुंडली मेल

मकर rashi

मकर राशि के जातकों के लिए सर्वोत्तम जीवनसाथी पृथ्वी राशि के जातक होते हैं जिसके स्वामी शनि होते हैं मकर राशि के जातकों को मकर राशि, वृश्चिक राशि, वृषभ राशि तथा कन्या राशि के जातकों के साथ अच्छा तालमेल बनता है इसीलिए इन राशि के जातकों को मकर वृश्चिक, वृषभ तथा कन्या राशि के जातकों के साथ ही विवाह करना चाहिए.

11. कुम्भ राशि के जातक की कुंडली मेल

कुम्भ rashi

कुंभ राशि के जातकों का तालमेल मिथुन, तुला, वृश्चिक तथा कुंभ राशि के जातकों के साथ अच्छा बनता है इन राशि के जातकों के साथ कुंभ राशि के जातकों का प्रेम संबंध एवं मित्रता का संबंध स्थाई रहता है और यदि कुंभ राशि के जातक इन राशियों के साथ विवाह करे तो इनका दांपत्य जीवन बहुत खुशहाल और बेहतर रहता है.

12. मीन राशि के जातक की कुंडली मेल

मीन rashi

दोस्तों मीन राशि के जातक रिश्तो को बनाए रखने के लिए बहुत अनुकूल होते हैं मीन राशि के जातक बड़ी ही सरलता से अपने वैवाहिक जीवन को व्यतीत करते हैं तथा कठिनाइयों को दूर करते हैं हालांकि मीन राशि के जातकों को वृश्चिक, कर्क और मीन राशियों के साथ अच्छे संबंध बनते हैं.

FAQ: राशि नाम से कुंडली मिलान

मीन राशि का जीवनसाथी कौन होता है?

मीन राशि के जातक नए नए रिश्ते को बनाने तथा रिश्ते को आगे बढ़ाने में बहुत तेज होते हैं इस राशि के जातक बहुत ही सरलता से अपने वैवाहिक जीवन को सुखमय बनाते हैं हालांकि इन राशि के जातकों को वृश्चिक, कर्क और मीन राशि के जातकों के साथ विवाह करना चाहिए क्योंकि इन राशि के जातकों के साथ मीन राशि का विवाह सर्वश्रेष्ठ माना जाता है.

कुंभ राशि का जीवनसाथी कौन होता है?

कुंभ राशि के जातकों को मिथुन, तुला, वृश्चिक अथवा कुंभ राशि के जातकों के साथ ही विवाह करना चाहिए क्योकि इन राशियों के साथ कुंभ राशि के जातकों का प्रेम संबंध एवं वैवाहिक जीवन बहुत अच्छा व्यतीत होता है.

मकर राशि का जीवनसाथी कौन है?

दोस्तों अगर बात करे की  मकर राशि का जीवनसाथी कौन होता है तो मकर और वृषभ राशि के लोग मानो एक दूसरे के लिए ही बने होते हैं वृषभ राशि के जातक मकर राशि के जातकों के लिए बहुत वफादार और विश्वसनीय होते हैं इनका वैवाहिक जीवन और प्रेम संबंध बहुत अच्छा होता है.

धनु राशि की कुंडली में क्या है?

धनु राशि के जातकों प्रेम जीवन में आजाद ख्याल पसंद करते हैं और यह बड़े दिलवाले होते हैं इस राशि के जातक बहुत ही धार्मिक और बुद्धिमान होते हैं और यह दूसरों को सलाह देना बहुत पसंद करते हैं धनु राशि के जातकों को रोमांस की बजाय प्यार के प्रति आकर्षण बहुत पसंद होता है.

वृश्चिक राशि वालों का भाग्य कब चमकेगा?

दोस्तों अगर बात करें कि वृश्चिक राशि वाले लोगों का भाग कम चमकेगा तो वृश्चिक राशि के जातकों का 20 वर्ष से 30 वर्ष की बीच की आयु में उनका भाग्य चमकता है उनका भाग्योदय इन्हीं वर्षों में होता है इन वर्षों में उन्हें यश, कीर्ति और धन की प्राप्ति होती है.

तुला राशि वालों का दुश्मन कौन है?

दोस्तों तुला राशि का स्वामी ग्रह होता है और तुला राशि वायु तत्व के अंतर्गत आती है ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस लग्न के लिए बुध, शुक्र और शनि मित्र माने जाते हैं जबकि सूर्य, मंगल और बृहस्पति के बहुत बड़े शत्रु होते हैं.

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस लेख में हमने राशि नाम से कुंडली मिलान के बारे में जानकारी हासिल की है दोस्तों जैसा कि आज के इस लेख में हमने नाम से राशि कैसे जाने? और राशि से कुंडली कैसे मिलाए?  इसके बारे में जानकारी प्राप्त की है दोस्तों आज के इस लेख में हमने आपको प्रत्येक राशि के जातकों को किन राशि के जातकों के साथ विवाह करना चाहिए और किन राशि के जातकों उनके लिए परफेक्ट जीवन साथी होते हैं.

इसके बारे में जानकारी दी है हालांकि सिर्फ राशि मिलान ही एक अच्छे वैवाहिक जीवन को व्यतीत करने के उपयुक्त नहीं होता है दांपत्य जीवन को खुशहाल व्यतीत करने के लिए दो लोगों के बीच में प्रेम का होना अत्यंत आवश्यक है क्योंकि यदि सिर्फ राशि मिलती है और दोनों के बीच में प्रेम नहीं है तो उनका दांपत्य जीवन कभी भी खुशहाल नहीं हो सकता है.

यदि आपने हमारे इस लेख को शुरुआत से लेकर अंत तक ध्यान पूर्वक पढ़ा होगा तो आपको इस विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी विस्तार से प्राप्त हो गई होगी उम्मीद करते हैं हमारे द्वारा लिखा गया लेख आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा राशि नाम से कुंडली मिलान कैसे करे ? को शुरुआत से लेकर अंत तक ध्यान पूर्वक पढने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *