धरण का मंत्र : नाभि ठीक करने का शाबर मंत्र और विधि कारण और लक्षण | Dharad ka mantra

धरण का मंत्र dharan ka mantra : नमस्कार दोस्तों आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से धरण का मंत्र बताएंगे क्या आप जानते हैं अक्सर लोगों की नाभि खिसक जाती है जिसकी वजह से उनके पेट में दर्द होने लगता है नाभि खिसकना या फिर धरण खिसकना या गोला खिसकना भी कहते हैं जब भी आपकी नाभि खिसकती है तब आपके पेट में दर्द होने लगता है.

धरण का मंत्र,, धरण का झाड़ा मंत्र,, नाभि धरण का मंत्र,, धरण का शाबर मंत्र,, धरण मंत्र,, धरण ठीक करने का मंत्र,, धरण ठीक करने का मंत्र बताइए,, dharan ka mantra,, dharan mantra,, dharan nikalne ka mantra,, dharan ka jhada,, dharan ka matlab,, नाभि खिसकने के कारण,, नाभि खिसकने का कारण,, nabhi khisakne ke lakshan aur upay,, nabhi dharan ke lakshan,, nabhi khisakne ke karan,, nabhi ka karya,, nabhi utarne ke lakshan,, nabhi baithane ka tarika,, nabhi upar chadne ke lakshan,, nabhi ka khisakna,, nabhi digna ke lakshan,, nabhi dharan thik karne ke upay,, nabhi girne ke karan,, nabhi girne ke lakshan in hindi,, nabhi girne ke symptoms,, nabhi girne ke lakshan,, nabhi girne ke upay,, nabhi jane ke lakshan,, नाभि खिसकने के लक्षण,, नाभि खिसकने के लक्षण और उपाय,, नाभि खिसकने के लक्षण क्या है,, नाभि खिसकने के लक्षण और उपाय बताएं,, नाभि ऊपर खिसकने के लक्षण,, पेट की नाभि खिसकने के लक्षण,, पेट में नाभि खिसकने के लक्षण,, नाभि खिसकने का लक्षण,, नाभि खिसकना लक्षण,, nabhi ke lakshan,, nabhi khisakne ke lakshan,, नाभि खिसकने के लक्षण क्या होते हैं,, नाभि खिसकने के लक्षण बताइए,, नाभि खिसकने के लक्षण व उपाय,, नाभि ठीक करने का मंत्र तथा शाबर मंत्र,, nabhi ko thik karne ka mantra,, nabhi thik karne ka mantra,, nabhi sahi karne ka mantra,, nabhi ka mantra,, nabhi baithane ka mantra,, नाभि को ठीक करने का मंत्र,, stomach thik karne ka tarika,, cancer ko thik karne ka mantra,, rogi ko thik karne ka mantra,, dharan thik karne ka yoga,, nabhi ko thik karne ke liye yoga,, nabhi ko thik karne ka gharelu upay,, nabhi ko thik karne ka upay,, nabhi ko thik karne ka tarika,, नाभि ठीक करने की मंत्र विधि,, nabhi thik karne ka yoga,, nabhi thik karne ki medicine,, nabhi thik karne ke liye yoga,, nabhi thik karne ke tarike,, नाभि ठीक करने के घरेलू उपाय,, नाभि ठीक करने का घरेलू उपाय,, nabhi thik karne ke gharelu upay,, nabhi thik karne ka gharelu upay,, nabhi ko thik karne ka gharelu upay,, nabhi thik karne ke upay,, nabi ko thik karne ke gharelu upay,, nabhi thik karne ka ilaj,, nabhi thik karne ka upay,,

कुछ लोग तो कभी-कभी मरीज के पेट का दर्द समझ कर उन्हें पेट दर्द की दवा दे देते हैं लेकिन उनको पता नहीं होता है कि नाभि खिसकने आने की वजह से या दर्द हो रहा है इसीलिए आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से धरण मंत्र बताएंगे और नाभि ठीक करने का मंत्र विधि सहित बताने वाले हैं और उसके द्वारा बताए गए उपाय और मंत्र की विधि ही बताएंगे अगर आप उसके लाभ को प्राप्त करना चाहते है तो इसे अवश्य पढ़ें अगर आप अपनी नाभि को ठीक करना चाहते हैं.

तो इस मंत्र के द्वारा आप अपनी नाभि को ठीक कर सकते हैं इसमें आपको कोई डॉक्टरी सलाह लेने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आज हम आप लोगों को कुछ धार्मिक मंत्र बताने वाले हैं जिस के उपयोग से आप अपनी नाभि को ठीक कर सकते हैं तो चलिए आज हम आप लोगों को सबसे पहले नाभि खिसकने के कारण बताएंगे उसके बाद लक्षण बताइए उसके बाद धरण मंत्र बताएंगे और उससे करने की पूरी विधि बताएंगे तो हमारे इस लेख में अंत तक बने रहे।

नाभि खिसकने के कारण | Nabhi khisakna ke karan

  1. नाभि खिसकने के कारण निम्न प्रकार के हैं।
  2. नाभि खिसकने से गलत लाइफ़स्टाइल , भूख न लगना , एक्सरसाइज ना करना , और पूरी नींद ना लेना यह सारे कारण धरण करने की समस्या हो सकती है।
  3. अगर आप कोई भारी काम कर रहे हैं या फिर खेलकूद कर रहे हैं उस समय आप की नाभि खिसक जाती है।
  4. अगर आप सीढ़ियों से उतर रहे हैं तो उस समय बाय या फिर दाएं झुकते समय या फिर अचानक एक पैर पर भार पड़ जाना उससे भी धरण पड़ जाती है।
  5. अगर आपके साथ यह समस्या एक बार हो गई तो वह बार-बार होने लगती है।

नाभि खिसकने के लक्षण | Nabhi dharan ke lakshan

Navel

  1. अगर आपके पेट में बहुत तेज दर्द हो रहा है और दस्त की समस्या उत्पन्न हो रही है तो उस समय आपके पेट में धरण पड़ जाता है।
  2. अगर किसी व्यक्ति को पीठ के बल लेटा कर उसकी नाभि दवाई जाए और उस नाभि के नीचे देखा जाए की धड़कन महसूस हो रही है या नहीं अगर धड़कन महसूस नहीं हो रही है तो वह अपनी जगह पर नहीं है।
  3. अगर किसी व्यक्ति की नाभि खिसकई जाती है तो उसके पेट में अपच और कब्ज की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

धरण का मंत्र | Dharan ka mantra

अगर किसी व्यक्ति की नाभि खिसकई जाती है तो उसकी वजह से उसके पेट में दर्द उत्पन्न होने लगता है इसकी वजह से उस रोगी की पीड़ा बढ़ जाती है इसीलिए आज हम आप लोगों को नाभि ठीक करने का मंत्र और उसकी विधि बताने वाले हैं जिसकी मदद से आप अपनी नाभि खिसकने की परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं।

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 896 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

लड़कियों के दूध बढ़ाने के उपाय : स्तन बड़े,सुन्दर और आकर्षक करने के 7 घरेलु उपाय | Breast badhane ke upay : स्तन के साइज़ को बड़ा और आकर्षक बनाये
1 महीने में 10 किलो वजन बढ़ाने के लिये खाएं ये 8 सुपर फ़ूड | कैसे 1 महीने में 10 किलो वजन बढ़ाने के लिए

नाभि ठीक करने का शाबर मंत्र | Nabhi theek karane ka shabar mantra

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

 नमो नाड़ी नाड़ी नौ सै बहत्तर सौ कोस चले अगाड़ी डिगे न कोण चले न नाड़ी रक्षा करे जति हनुमंत की आन मेरी भक्ति गुरु की शक्ति फुरो मंत्र इश्वरोवाचा


नाभि ठीक करने की मंत्र विधि | Nabhi theek karane ki mantra vidhi

नाभि ठीक करने के लिए आपको सबसे पहले ऊपर दिए गए मंत्र को सिद्ध करना होगा। इस मंत्र को सिद्ध करने के लिए आप दीपावली की महान निशा बेला में धूप दीप जलाकर ऊपर दिए गए मंत्र का 108 बार जाप करके इस मंत्र को सिद्ध कर सकते हैं।जैसे ही आपका यह मंत्र सिद्ध हो जाता है इसके बाद आपको किसी भी व्यक्ति की नाभि ठीक करना हो तो उस दिन कच्चे सूत के धागे में 8 गांठ गांठ लगाकर रोगी की नाभि पर रख दें.

Navel

उसके बाद ऊपर दिए गए मंत्र का 108 बार जाप करते हुए नाभि के ऊपर फूंक मारे रोगी की नाभि अपने आप ठीक होने लगेगी। इसके अलावा आज हम आप लोगों को नाभि ठीक करने के कुछ घरेलू उपाय भी बताएंगे जिसकी मदद से आप ना दिए तो ठीक कर सकते हैं तो हमने आपको नाभि ठीक करने के कुछ घरेलू उपाय नीचे बताए हैं।

osir news

नाभि ठीक करने के घरेलू उपाय | Nabhi thik karne ke gharelu upay

  1. अगर आप अपनी नाभि को ठीक करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कुछ घरेलू उपाय करने की आवश्यकता होती है जो निम्न प्रकार के हैं।
  2. अगर किसी व्यक्ति की नाभि खिसक जाती है तो उसे नौकासन, पवनमुक्तासन तथा हलासन जैसे योगा करने की आवश्यकता होती है।
  3. अगर किसी भी व्यक्ति की नाभि खिसक जाती है तो उसके लिए उसे 3 से 4 दिन भूखे पेट अपनी नाभि में सरसों के तेल की तीन से चार बूंद डालने पर पेट दर्द से उसे राहत मिल जाती है और उसकी नाभि भी ठीक हो जाती है।
  4. अगर आप की नाभि खिसक गई है और आप उसे ही करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको एक चम्मच जितना आंवला पाउडर तथा थोड़ा सा नींबू का रस आपस में मिला लेना है मिलाने के बाद उसे अपनी नाभि के आसपास वाली जगह पर लगा देना है अगर आप यह उपाय करने के बाद थोड़ी देर लेट जाते हैं तो आपकी नाभि ठीक हो जाती है लेकिन आपको उसी दिन या उपाय दो बार करना है आप की नाभि खिसकने की समस्या से आपको छुटकारा मिल जाता है और आपके पेट दर्द से भी राहत मिल जाती है।
  5. अगर किसी व्यक्ति की नाभि खिसक जाती है तो उसकी वजह से कुछ लोगों को दस्त की समस्या उत्पन्न होने लगती है इसीलिए उस व्यक्ति को थोड़ा सा पानी उबालकर उसमें चाय पत्ती डालकर उसका सेवन करना चाहिए इससे उसके दस्त की समस्या से उसे छुटकारा मिल जाता है और पेट दर्द भी कम हो जाता है।

FAQ : धरण का मंत्र

नाभि खिसकने के लक्षण क्या होते हैं?

क्या आप जानते हैं कि नाभि खिसकना इसे आम लोगों की भाषा में धरण खिसकना बोलते हैं जिसकी वजह से आपके पेट दर्द की समस्या उत्पन्न हो जाती है यह पेट दर्द ऐसा होता है जिसकी वजह से व्यक्ति को दर्द के कारण का पता भी नहीं चलता है इसकी वजह से लोग पेट दर्द की दवा खा लेते हैं।

नाभि खिसकने पर क्या खाएं?

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि नाभि खिसकने पर क्या खाया जाता है आपको तीन से चार दिन नियमित रूप से खाली पेट सरसों के तेल की तीन से चार बूंद अपने नाभि में डालनी है अगर नाभि किसका आने की वजह से आपके पेट में काफी तेज दर्द होने लगा है या फिर दर्द की समस्या उत्पन्न हो गई है तो आपको एक गिलास पानी में एक चम्मच चाय की पत्ती मिलाकर उबाल कर उसे छानने के बाद गुनगुनाती जाना चाहिए जिससे आपको पेट दर्द से आराम मिल जाता है।

नाभि को सेट कैसे करें?

अगर आप अपनी नाभि को सेट करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको दोनों पांव को धीरे-धीरे दीवार के सहारे सीधा ऊपर कर लेना है और अपने गांव को सीधा दीवार के सहारे खड़ा करने पर आप की नाभि नीचे खिसक जाती है तो अपने आप ऊपर आ जाएगी यह उपाय आपको 2 से 3 दिन तक करना है यह उपाय आपको खाली पेट करना है तो ज्यादा सही रहता है।

निष्कर्ष

आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से धरण का मंत्र बताएंगे और उसे करने की विधि भी बताएंगे अगर आप अपनी नाभि को ठीक करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको नाभि ठीक करने का मंत्र जाप करना चाहिए और उसकी विधि भी करनी चाहिए इसीलिए आज हम आप लोगों को नाभि ठीक करने का मंत्र और उसकी विधि आया है और नाभि ठीक करने के कुछ घरेलू उपाय भी बताए हैं जिसकी मदद से आप अपनी नाभि को ठीक कर सकते हैं हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और आपके लिए उपयोगी भी साबित हुई होगी।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

मेरा लकी नंबर क्या है : अपना शुभ लकी नंबर कैसे निकाले ? | What is my lucky number?
लड़कों की कौन सी 6 आदत, लड़कियों को खराब लगती है ? Bad habit of boys girl don’t like in hindi ?
मूलाधार चक्र कि वजह से कौन से रोग होते है? : मूलाधार चक्र जाग्रत विधि | मूलाधार चक्र के रोग : Muladhara chakra ke rog
स्वप्न शास्त्र अर्थ : सपने में बन्दर देखना का मतलब और संकेत | Sapne mein bandar dekhna
ताबीज बनाने की किताब pdf : ताबीज का मंत्र और विधि | Taweez banane ki kitab
★ सम्बंधित लेख ★