सम्पूर्ण कष्ट निवारक मंगलवार मंत्र जाप विधि और लाभ | मंगलवार मंत्र : Mangalwar mantra pdf

मंगलवार मंत्र | Mangalwar mantra : हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारे आज के इस नए लेख में आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से मंगलवार मंत्र के बारे में बताने वाले हैं वैसे हमारे हिंदू धर्म के अनुसार सप्ताह के सातों दिन किसी न किसी देवता को समर्पित किए गए हैं.

हर दिन किसी विशेष देवी देवता को समर्पित किया गया है उस दिन उस देवी देवता की पूजा की जाती है उसी प्रकार मंगलवार का दिन हनुमान भगवान को समर्पित किया गया है.

मंगलवार मंत्र,,, मंगलवार मंत्र इन हिंदी,,, mangalwar mantra in hindi,,, मंगलवार का मंत्र,,, मंगलवार बीज मंत्र,,, मंगलवार विशेष मंत्र,,, मंगलवार को मंत्र,,, मंगलवार का बीज मंत्र,,, मंगलवार व्रत के मंत्र,,, mangalwar beej mantra,,, मंगलवार हनुमान मंत्र,,, मंगलवार के चमत्कारी टोटके,,, मंगलवार हनुमान चालीसा,,, मंगलवार का दान,,, मंगलवार मटका,,, मंगलवार english,,, mangalwar hanuman mantra,,, mangalvar hanuman mantra,,, मंगल मंत्र जाप विधि,,, मंगल मंत्र जाप संख्या,,, मंगल मंत्र जाप,,, mangalwar ka mantra,,, mangalwar ke mantra,,, मंगलवार श्लोक,,, मंगलवार मंगल,,, मंगलवार मंगलवार,,, मंगलवार का नाम,,, मंगलवार व्रत नियम,,, मंगलवार कल्याण ओपन,,, मंगलवार ओपन,,, mangalwar puja mantra,,, मंगलवार quotes,,, मंगलवार कोट्स,,, मंगलवार रागनी,,, mangalwar vashikaran mantra,,, mangalvar vrat mantra,,, मंगलवार व्रत विधि,,, मंगलवार का व्रत,,, मंगल यंत्र मंत्र,,, मंगलवार सिंगल जोड़ी,,, बजरंगबली मंत्र इन हिंदी,,, मंगलवार को कौन सा मंत्र बोलना चाहिए,,, मंगलवार को कौन सा मंत्र,,, मंगलवार के मंत्र,,, मंगलवार in english,,, , , मंगलवार मंत्र | Mangalwar mantra,

ऐसा कहा जाता है कि मंगलवार के दिन विधि विधान से कठोर नियमों का पालन करते हुए अगर कोई व्यक्ति बजरंगबली की पूजा करता है तो उसके जीवन के सभी कष्ट हनुमान भगवान मिटा देते हैं अगर आप लोग हनुमान भगवान को जल्द ही प्रसन्न करना चाहते हैं.

तो हमारे द्वारा दिए गए कुछ मंत्र का प्रयोग करना होगा इन मंत्रों का अगर आप नियमित जाप करते हैं तो आपको बहुत से लाभ प्राप्त होने वाले हैं अगर आप हमारे द्वारा बताए गए इन मंत्रों का जाप करते हैं तो आपको और आपके जीवन में सुख एवं समृद्धि मिलने वाली है.

और उसी के साथ हम आपको मंगलवार के कुछ उपाय टोटके बताने वाले हैं जिससे बजरंगबली जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं इसीलिए आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से मंगलवार मंत्र के बारे में बताने वाले हैं उसके साथ मंगलवार के टोटके भी बताने वाले हैं.

अगर आप इन विषयों की संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें ताकि आप लोगों को इसकी संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो सके.


मंगलवार मंत्र | Mangalwar mantra

Hanuman

ॐ नमो भगवते आंजनेयाय महाबलाय स्वाहा।

ॐ नमो भगवते हनुमते नम:।

दुर्गम काज जगत के जेते, सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते।

और मनोरथ जो कोई लावै, सोई अमित जीवन फल पावै।

मंगलवार के दिन भगवान हनुमान जी की पूजा अर्चना करते हैं तो यह आपके लिए बहुत ही कल्याणकारी माना जाता है ऐसा कहा जाता है कि इस दिन हनुमान जी अपने भक्तों की श्रद्धा को सुन लेते हैं और उनके ऊपर अपनी कृपा बरसाते रहते हैं इसीलिए आपको मंगलवार के दिन इस मंत्र का जाप करना चाहिए.

इस मंत्र का जाप आपको दिन में एक 108 बार करना है मंगलवार के दिन इस मंत्र का जाप करने से आपको हनुमान भगवान की कृपा मिलती है इस दिन अगर आप इस मंत्र का जाप करते हैं तो आपके जीवन में आने वाली सारी बाधाएं दूर हो जाती है.

मंगलवार के दिन करें हनुमानजी के इन मंत्रों का जाप

1. मनोकामना पूर्ति मंत्र

ॐ महाबलाय वीराय चिरंजिवीन उद्दते।
हारिणे वज्र देहाय चोलंग्घितमहाव्यये।।

2. मंगलवार इच्छापूर्ति मंत्र

और मनोरथ जो कोई लावै।
सोई अमित जीवन फल पावै।।

3. रोजगार या नौकरी की समस्या के लिए

।। ॐ पिंगाक्षाय नमः।।

4. मान सम्मान और यश की प्राप्ति के लिए मंत्र

।। ॐ व्यापकाय नमः।।

5. कार्यों की सफलता के लिए मंत्र

दुर्गम काज जगत के जेते।
सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते।।

6. सर्व सुख शांति के लिए मंत्र

‘ॐ नमो भगवते हनुमते नम:।।

7. रोगों से मुक्ति के लिए मंत्र

‘ॐ नमो भगवते आंजनेयाय महाबलाय स्वाहा।।

8. समस्याओं से मुक्ति के लिए मंत्र

ॐ तेजसे नम:।।
ॐ प्रसन्नात्मने नम:।।
ॐ शूराय नम:।।
ॐ शान्ताय नम:।।
ॐ मारुतात्मजाय नमः।।
ॐ हं हनुमते नम:।।

मंगलवार बीज मंत्र | Mangalwar beej mantra

– ॐ नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्वशत्रुसहांरणाय सर्वरोगाय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा. 

मनोजवं मारुतुल्यवेगं जितेंद्रियं बुद्धिमतां वरिष्ठम्. वातात्मजं वानरयूथमुख्यं श्रीरामदूतं शरणं प्रपद्ये.

मंगलवार विशेष मंत्र

दुर्गम काज जगत के जेते।

सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते।।

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 735 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

Krishna Mantra pdf : कृष्ण मंत्र जप के लाभ और फ्री कृष्ण पूजा मंत्र PDF लिंक
त्राटक विद्या क्या है ? त्राटक कैसे करे ? सावधानियां What is Tratak Vidya in hindi ?

ॐ नमो भगवते हनुमते नम:।। 

‘ॐ नमो भगवते आंजनेयाय महाबलाय स्वाहा।।

मंगलवार हनुमान मंत्र | Mangalwar hanuman mantra

Hanuman

 

ॐ ऐं ह्रीं हनुमते श्री रामदूताय नमः।।

मंगल मूरति, मारुति नंदन, सकल अमंगल मूल निकंदन।।

मनोजवं मारुतुल्यवेगं जितेंद्रियं बुद्धिमतां वरिष्ठम्।

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

वातात्मजं वानरयूथमुख्यं श्रीरामदूतं शरणं प्रपद्ये।।

मंगलवार मंत्र पीडीऍफ़ | Mangalwar mantra pdf

इस pdf लिंक पर जाकर आप आसानी से मंगलवार मंत्र pdf | Mangalwar mantra pdf डाउनलोड कर सकते है.

मंगलवार मंत्र | Mangalwar mantra Download pdf 

मंगलवार का दान | Mangalwar ka dan

आप लोग मंगलवार के दिन कुछ दान करना चाहते हैं तो हमारे वैदिक ज्योतिष से के अनुसार ऐसा बताया गया है कि मंगलवार के दिन

  1. लाल पुष्प
  2. लाल कनेर
  3. लाल मिर्च
  4. तांबा
  5. सिंदूर
  6. शहद
  7. गेहूं
  8. लाल
  9. चंदन
  10. लाल गुलाब
  11. केसर 
  12. मसूर की दाल
  13. लाल पत्थर
  14. लाल मूंगा

आदि चीजों का दान करना शुभ माना गया है ऐसा कहा गया है कि अगर मंगलवार के दिन कोई भी व्यक्ति इन चीजों का दान करता है तो की शारीरिक और मानसिक समस्याएं दूर हो जाती है.

मंगलवार मंत्र के लाभ | Mangalavar mantra ke labh

वैसे तो मंगलवार का दिन विशेष रूप से हनुमान जी को समर्पित किया गया है इसीलिए अगर कोई व्यक्ति मंगलवार के मंत्रों का जाप करता है तो उसे विशेष प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं जो हमने आपको नीचे पॉइंट में बताए हैं।

  1. जो भी व्यक्ति मंगलवार मंत्र का जाप करता है उस व्यक्ति के जीवन की सभी इच्छाएं पूर्ण हो जाती हैं।
  2. अगर कोई व्यक्ति मंगलवार मंत्र का जाप करता है तो उसे मान सम्मान और यश की प्राप्ति होती है।
  3. अगर आप लोग मंगलवार मंत्र का जाप करते हैं तो आपको इस मंत्र की मदद से रोजगार और नौकरी की समस्या कभी भी नहीं होगी।
  4. मंगलवार मंत्र की मदद से आप अपने सभी कार्य में सफलता को प्राप्त कर सकते हैं।
  5. मंगलवार मंत्र के जाप से आप अपने घर में सर्व सुख शांति करवा सकते हैं।
  6. मंगलवार मंत्र का जाप करने से सभी प्रकार के रोगों से आपको मुक्ति मिल जाती है।
  7. मंगलवार मंत्र से आप समस्त समस्याओं से मुक्ति पा सकते हैं।

मंगलवार हनुमान चालीसा का पाठ कैसे करे ? | Mangalwar hanuman mantra ka path kaise kare ?

hanuman_

  1. अगर कोई व्यक्ति मेहमान भगवान की कृपा को प्राप्त करना चाहता है तो वह मंगलवार के दिन अगर हनुमान चालीसा का पाठ करें तो उसे हनुमान जी का आशीर्वाद अवश्य प्राप्त होता है.
  2. मंगलवार के दिन हनुमान चालीसा का पाठ करने के लिए आपको सबसे पहले मंगलवार के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निश्चिंत होने के बाद लाल रंग के वस्त्र धारण करें और हनुमान भगवान की प्रतिमा के सामने जाकर संकल्प लेते हुए हनुमान भगवान को सिंदूर लाल पुष्प और फल अर्पित करें.
  3. हमारे हिंदू धर्म में ऐसा कहा गया है कि अगर मंगलवार के दिन हनुमान चालीसा का 1 से 3 बार जाप किया जाए तो हनुमान भगवान जल्द ही प्रसन्न होकर अपनी कृपा जातक के ऊपर कर देते हैं.
  4. अगर आप मंगलवार के दिन अपने घर के आस-पास किसी हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं तो आपको हनुमान भगवान का आशीर्वाद प्राप्त होता है.
  5. जिस समय आप हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे होते हैं उस समय आपको एक बात का विशेष ध्यान रखना है की मन में पाठ करने के बजाय थोड़ा तेज अगर आप बोलते हैं तो यह ज्यादा अच्छा होता है.
  6. जिस समय आप हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे होते हैं अगर आप उस समय हनुमान जी की मूर्ति पर सिंदूर अर्पित करते हैं तो हमारे हिंदू धर्म के अनुसार ऐसी मान्यता है कि हनुमान जी सिंदूर चढ़ाने से वह जल्द ही प्रसन्न हो जाते हैं.
  7. जिस समय आप हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे होते हैं उस समय आपको स्वच्छता का विशेष ध्यान रखना है.
  8. हनुमान चालीसा का पाठ करते समय हनुमान जी की पूजा करनी है इससे व्यक्ति का आत्मविश्वास बढ़ता है.
  9. अगर आप हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे हैं तो आपको उससे पहले भगवान गणेश और ने कुल देवी – देवता का स्मरण अवश्य करना है.
  10. हनुमान चालीसा का पाठ करते समय हनुमान भगवान को प्रसाद अवश्य निषाद में आप बेसन के लड्डू , चना और बूंदी भी चढ़ा सकते हैं. साथ में आप हनुमान जी को तुलसी दल भी चढ़ा सकते हैं क्योंकि हम भगवान को तुलसीदल बहुत ही प्रिय है इसीलिए हनुमान भगवान की पूजा में तुलसी के पत्ते जरूर चलाएं.

मंगलवार व्रत हनुमान चालीसा | Mangalwar vrat hanuman chalisa

  1. दोस्तों अगर आप लोग मंगलवार व्रत करना चाहते हैं तो आपको इसके लिए मंगलवार के दिन सूर्योदय से पहले उठकर स्नान आदि से निश्चिंत होने के बाद स्वच्छ वस्त्र धारण कर लेने हैं.
  2. मंगलवार व्रत करने के लिए आपको उस दिन लाल रंग के वस्त्र धारण करना शुभ माना गया है.
  3. वस्त्र धारण करने के बाद आपको हनुमान जी को लाल पुष्प, सिंदूर , वस्त्र चढ़ाना है.
  4. उसके बाद हनुमान जी की प्रतिमा के सामने ज्योति जला कर हनुमान चालीसा या फिर सुंदरकांड का पाठ करना है.
  5. उसके बाद शाम के समय आपको हनुमान जी की प्रतिमा के सामने बेसन के लड्डू या फिर खीर का भोग लगाकर स्वयं नमक सहित भोजन ग्रहण कर सकते हैं.
  6. अगर आप लोग मंगलवार व्रत करते हैं तो आपको इस दिन ब्रह्मचर्य का पालन करना आवश्यक होता है.
  7. हमारे हिंदू धर्म के अनुसार ऐसी मान्यता है कि मांगलिक दोष से पीड़ित व्यक्ति को मंगलवार का व्रत रखना चाहिए.
  8. अगर किसी व्यक्ति को शनि की महादशा , शनि की साढ़ेसाती जैसी कोई भी समस्या है तो उस व्यक्ति को मंगलवार का व्रत करना लाभकारी बताया गया है.

हनुमान जी के टोटके

॥ श्री हनुमान चालीसा ॥

॥ दोहा॥

श्रीगुरु चरन सरोज रज
निज मनु मुकुरु सुधारि ।
बरनउँ रघुबर बिमल जसु
जो दायकु फल चारि ॥

बुद्धिहीन तनु जानिके
सुमिरौं पवन-कुमार ।
बल बुधि बिद्या देहु मोहिं
हरहु कलेस बिकार ॥

॥ चौपाई ॥

जय हनुमान ज्ञान गुन सागर ।
जय कपीस तिहुँ लोक उजागर ॥

राम दूत अतुलित बल धामा ।
अंजनि पुत्र पवनसुत नामा ॥
महाबीर बिक्रम बजरंगी ।
कुमति निवार सुमति के संगी ॥
कंचन बरन बिराज सुबेसा ।
कानन कुण्डल कुँचित केसा ॥४

हाथ बज्र अरु ध्वजा बिराजै ।
काँधे मूँज जनेउ साजै ॥
शंकर सुवन केसरी नंदन ।
तेज प्रताप महा जगवंदन ॥
बिद्यावान गुनी अति चातुर ।
राम काज करिबे को आतुर ॥
प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया ।
राम लखन सीता मन बसिया ॥८

सूक्ष्म रूप धरि सियहिं दिखावा ।
बिकट रूप धरि लंक जरावा ॥
भीम रूप धरि असुर सँहारे ।
रामचन्द्र के काज सँवारे ॥
लाय सजीवन लखन जियाए ।
श्री रघुबीर हरषि उर लाये ॥
रघुपति कीन्ही बहुत बड़ाई ।
तुम मम प्रिय भरतहि सम भाई ॥१२

सहस बदन तुम्हरो जस गावैं ।
अस कहि श्रीपति कण्ठ लगावैं ॥
सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा ।
नारद सारद सहित अहीसा ॥
जम कुबेर दिगपाल जहाँ ते ।
कबि कोबिद कहि सके कहाँ ते ॥
तुम उपकार सुग्रीवहिं कीह्ना ।
राम मिलाय राज पद दीह्ना ॥१६

तुम्हरो मंत्र बिभीषण माना ।
लंकेश्वर भए सब जग जाना ॥
जुग सहस्त्र जोजन पर भानु ।
लील्यो ताहि मधुर फल जानू ॥
प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माहीं ।
जलधि लाँघि गये अचरज नाहीं ॥
दुर्गम काज जगत के जेते ।
सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते ॥२०

राम दुआरे तुम रखवारे ।
होत न आज्ञा बिनु पैसारे ॥
सब सुख लहै तुम्हारी सरना ।
तुम रक्षक काहू को डरना ॥
आपन तेज सम्हारो आपै ।
तीनों लोक हाँक तै काँपै ॥
भूत पिशाच निकट नहिं आवै ।
महावीर जब नाम सुनावै ॥२४

नासै रोग हरै सब पीरा ।
जपत निरंतर हनुमत बीरा ॥
संकट तै हनुमान छुडावै ।
मन क्रम बचन ध्यान जो लावै ॥
सब पर राम तपस्वी राजा ।
तिनके काज सकल तुम साजा ॥
और मनोरथ जो कोई लावै ।
सोई अमित जीवन फल पावै ॥२८
चारों जुग परताप तुम्हारा ।
है परसिद्ध जगत उजियारा ॥
साधु सन्त के तुम रखवारे ।
असुर निकंदन राम दुलारे ॥
अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता ।
अस बर दीन जानकी माता ॥
राम रसायन तुम्हरे पासा ।
सदा रहो रघुपति के दासा ॥३२

तुम्हरे भजन राम को पावै ।
जनम जनम के दुख बिसरावै ॥
अंतकाल रघुवरपुर जाई ।
जहाँ जन्म हरिभक्त कहाई ॥
और देवता चित्त ना धरई ।
हनुमत सेइ सर्ब सुख करई ॥
संकट कटै मिटै सब पीरा ।
जो सुमिरै हनुमत बलबीरा ॥३६

जै जै जै हनुमान गोसाईं ।
कृपा करहु गुरुदेव की नाईं ॥
जो सत बार पाठ कर कोई ।
छूटहि बंदि महा सुख होई ॥
जो यह पढ़ै हनुमान चालीसा ।
होय सिद्धि साखी गौरीसा ॥
तुलसीदास सदा हरि चेरा ।
कीजै नाथ हृदय मह डेरा ॥४०

॥ दोहा ॥

पवन तनय संकट हरन,
मंगल मूरति रूप ।
राम लखन सीता सहित,
हृदय बसहु सुर भूप ॥

FAQ : मंगलवार मंत्र

मंगलवार को कौन सा मंत्र बोलना चाहिए?

ॐ नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्वशत्रुसहांरणाय सर्वरोगाय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा. मनोजवं मारुतुल्यवेगं जितेंद्रियं बुद्धिमतां वरिष्ठम्. वातात्मजं वानरयूथमुख्यं श्रीरामदूतं शरणं प्रपद्ये.

हनुमान जी का मूल मंत्र क्या है?

ओम ह्रां ह्रीं ह्रं ह्रैं ह्रौं ह्रः॥ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्। ओम हं हनुमंताय नम:. ओम नमो हनुमते रूद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा.

हनुमान जी का आवाहन मंत्र क्या है?

भगवान का आवाहन करते समय और उनकी पूजा करते समय आपको हनुमान मंत्र का पाठ हजार बार जाप करना चाहिए मंत्र- ।। ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्।। जैसे ही आप का मंत्र जाप पूरा हो जाता है उसके बाद आपको 500 मंत्रों से हवन कुंड में गाय के घी से आवृत्ति देनी है.

निष्कर्ष

जैसा कि आज हमने आप लोगों को इस लेख के माध्यम से मंगलवार मंत्र के बारे में बताया उस से जुड़े अन्य जानकारी भी देने का प्रयास किया है अगर आपने हमारे इस लेख को अच्छे से पढ़ा है.

osir news

तो आपको इसकी संपूर्ण में जानकारी प्राप्त हो गई होगी इसमें हमने आपको मंगलवार व्रत हनुमान चालीसा मंगलवार के चमत्कारी टोटके यह जानकारी भी दी है तो उम्मीद करते हैं हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और आपके लिए उपयोगी भी साबित हुई होगी.

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

अध्यात्म का अर्थ क्या होता है? अध्यात्म क्या है और फायदे जाने, अध्यात्म कैसे करें ? What is Spirituality in hindi?
Rashi kaise jane : अपने नाम से राशी और जन्मतिथि से राशी कैसे जाने ? | Naam se rashi kaise jane ?
साधना क्या है ? पूर्ण जानकारी सावधानियां और साधनाओं के प्रकार ! What is spiritual practice and practices Complete information in hindi
भैरव तांत्रिक यंत्र क्या है ? भैरव तांत्रिक यंत्र का उपयोग कैसे करते है ? What is Bhairav Tantric Yantra? How to use Bhairav Tantric Yantra?
सर्दी जुकाम की एंटीबायोटिक दवा : सर्दी जुकाम फैलने के लक्षण | Sardi jukam ki antibiotic dawa 
★ सम्बंधित लेख ★