बहू अपनी सास को कैसे सुधारें : सासू जी को सुधाने के 9 आसान उपाय | Saas ko kaise sudhare

सास को कैसे सुधारें Saas ko kaise sudhare : हेलो मेरी प्यारी बहनों आज मैं आप लोगों के लिए लेकर आई हूं एक new topic. जिसमें मैं आप लोगों को बताऊंगी सास को कैसे सुधारें क्योंकि शादी एक ऐसा बंधन है जो केवल दो दिलों को ही नही जोड़ता है बल्कि दो लोगों से मिलकर दो परिवारों को रिश्ते के बंधन से बधता है.

सास को कैसे सुधारें

ऐसे में अगर कोई कुंवारी लड़की पूरे रीति-रिवाज के साथ अग्नि के सात फेरे लेकर अपने ससुराल में कदम रखती है तो सबसे पहले सास ही अपनी बहू की आरती करती है जिसमें वह अपनी बहू को सदा सुहागन रहने का और खुश रहने का आशीर्वाद देती हैं लेकिन कई बार ऐसी स्थितियां आ जाती हैं जब सास और बहू के बीच में नहीं बनती है.

क्योंकि सास बहू का रिश्ता बहुत ही नाजुक होता है जिसमें किसी एक से गुस्सा होने पर दोनों में मनमुटाव की स्थिति बन जाती है और फिर परिवार में भी अन्य सदस्यों से मेल मिलाप अच्छे से नहीं रहता है और फिर उस घर में कभी भी खुशहाली नजर नहीं आती है.

यहां तक कि कई बार ऐसी स्थिति आ जाती है कि बहू को अपने सास ससुर से अलग होकर उसी घर में अलग चूल्हे में खाना बना कर जीवन यापन करना पड़ता है वैसे तो बहू और सास में झगड़े होने के सामाजिक परिवारिक और मनोवैज्ञानिक कारण माने गए हैं जिनके चलते दोनों में हमेशा अनबन बनी रहती है.

इसीलिए आज मैं इस लेख के माध्यम से सास को सुधारने के लिए कुछ बेहतर उपाय बताऊगी अगर आप हमारे द्वारा बताए गए उपाय को अपनाती हैं तो आप अपनी सास को 100% सुधार सकती हैं ऐसे में अगर आप उन उपाय के विषय में जानना चाहती हैं तो इस लेख को शुरू से अंत तक अवश्य पढ़ें :

सास बहू में झगड़े होने के कारण | Saas bahu me jhagde hone ke karan

सबसे पहले एक बहू को अपनी सास को सुधारने के उपाय ढूंढने से पहले सास से झगड़ा होने के क्या कारण होते हैं इसके विषय में जानकारी होनी चाहिए ताकि आप उन कारणों में सुधार करके अपनी स्थिति को बेहतर बना सकें इसलिए हम यहां पर सबसे पहले सास बहू में झगड़ा होने के कारण बताएंगे फिर सास को सुधारने के बेहतर उपाय बताएंगे.


सास बहू में झगड़ा होने के कई कारण होते हैं जैसे :

1. शादी में दहेज कम मिलना

अक्सर करके देखा जाता है अगर किसी बेटी के मां बाप एक भी चीज कम देते हैं, तो इसके लिए ससुराल वालों के द्वारा बहू को हमेशा ताना दिया जाता है. जिसमें खास करके सास अपनी बहू को ताने देती रहती है. जिसके चलते सास और बहू में झगड़ा होता है.

हालांकि हर सास दहेज के लिए झगड़ा नहीं करती हैं. लेकिन 50 परसेंट सास ऐसी होती हैं, जो दहेज के लिए अपनी बहू से झगड़ा करती हैं इसीलिए दहेज भी सास बहू के झगड़े का कारण बनता है.

2. सास के मन की बहू ना मिलना

आज की बदलती हुई लाइफस्टाइल के कारण सारे बच्चे लव मैरिज करते हैं जिसमें कुछ सास ऐसी होती है जो अपने बच्चे की मनपसंद शादी को स्वीकार करके उसे अपनी बहू बना लेती हैं तो कुछ सास ऐसी होती हैं जो अपने बच्चे की खुशी के लिए उसे अपने घर में रख लेती है.

marriage

मगर उसे हमेशा ताने मारती रहती हैं और ना जाने उसे क्या क्या बोलती रहती हैं इसीलिए सास को मनपसंद बहू ना मिलना भी दोनों के बीच झगड़ा होने का कारण माना गया है.

3. बहू का सुबह देर से उठना

मैं अपनी आंखों से देखी हुई बात आप लोगों को बता रही हूं अक्सर करके देखा जाता है जब किसी लड़की का नया नया विवाह होता है तो अपने ससुराल में 4 या 5 बजे सुबह हमेशा उठ जाया करती है और जब वह बहू नियमित समय पर हमेशा उठती है तो सास बहुत प्रसन्न रहती हैं.

इसी के विपरीत अगर कोई बहू सुबह 8 बजे सो कर उठती है तो ऐसे में सास अपने बहू से रुठ जाती है क्योंकि हर सास चाहती है कि उसकी बहू सूर्योदय से पहले उठे और स्नान आदि से निवृत्त होकर पूजा पाठ करें और घर के बड़े सदस्यों का आशीर्वाद प्राप्त करें.

4. देवरानी जेठानी के बच्चों पर गुस्सा करना

अक्सर करके कुछ लड़कियों की शादी ऐसे घर से हो जाती है जहां पर सास, ससुर, देवर, जेठानी और उनके बच्चों सहित रहते हैं ऐसे में जब वह लड़की छोटे बच्चों पर किसी भी बात से गुस्सा करती है तो सास को बुरा लगता है और वह बहू को समझाती है.

cry

फिर भी कुछ बहू ऐसी होतीं हैं जो बेवजह घर के छोटे बच्चों को डांटती रहती हैं क्योंकि वह संयुक्त परिवार के बजाएं एकांकी परिवार में रहना पसंद करती हैं इसीलिए बहू के द्वारा घर के छोटे बच्चों को प्यार ना करना और उन्हें हमेशा डांटते रहना सास बहू के बीच झगड़ा होने का कारण माना गया है.

5. घर का काम ना करना

जब किसी के घर में नई नई बहू आती है तो हर सास यही सोचती है कि आप मेरे घर में बहू आ गई है अब मुझे घर के काम की कोई चिंता नहीं है लेकिन कुछ बहू ऐसी होती हैं जो थोड़े दिन तो घर का सारा काम करती हैं लेकिन जैसे ही दो 4 महीने बीतते हैं तो वह सास ससुर से अलग होकर अपने पति के साथ अलग घर में रहने के लिए अपने सास और ससुर को परेशान करने लगती है.

ताकि वह उन्हें अलग कर दें जिसके लिए वह घर का कोई भी काम नहीं करती है और अगर करती भी है तो गुस्सा दिखाती हैं जिसे देखकर सास बहू को समझाने की कोशिश करती है लेकिन बहू लड़ने के लिए तैयार हो जाती है ऐसे में घर का काम ना करना भी सास बहू के बीच झगड़े का कारण बनता है.

6. एक दूसरे की बुराई करना

caring family

अक्सर करके देखा जाता है कि सास बहू में छोटी सी बात होती है, तो वह बात आसपास की औरतों को बताना बहुत ज्यादा आवश्यक समझती हैं, चाहे वह सास हो या फिर बहू हो, दोनों ही अपने पड़ोस की औरतों के साथ बैठकर एक दूसरे की चुगलियां करती हैं और जब पड़ोस की औरतें वही बातें उनकी सास से बताती हैं तो फिर दोनों के बीच झगड़ा होता है. इसीलिए एक दूसरे की बुराई करना भी सास और बहू के बीच झगड़े का कारण बनता है.

यह कुछ कारण है जिनके चलते सास और बहू के बीच में झगड़े उत्पन्न होते हैं अगर सास और बहू दोनों ही इन कारणों पर ध्यान देकर इनमें सुधार करने की कोशिश करती हैं तो दोनों के बीच बेहतर संबंध बन सकते हैं.

सास को कैसे सुधारें ? | Saas ko kaise sudhare ?

अगर एक बहू अपनी सास को सुधारना चाहती है, तो इसके लिए बहू को अपनी कुछ आदतों में बदलाव करना होगा. जिसके चलते आपकी सास आपसे बहुत ज्यादा प्यार करने लगेगी. क्योंकि एक अच्छी संस्कृति और अच्छा व्यवहार हर किसी मनुष्य को आप की ओर आकर्षित कर सकता है और सास तो मां के समान होती है. जिसके साथ में आप जैसा व्यवहार करेंगे वैसा ही फल मिलेगा. इसीलिए आइए जानते हैं कि एक सास बहू से क्या क्या कल्पना करती है ?

1. घर के हर सदस्य का मान सम्मान करें

अगर एक बहू वाकई में अपनी सास को सुधारना चाहती है या फिर सास के दिल में अपने लिए जगह बनाना चाहती है, तो इसके लिए बहू को चाहिए कि वह घर के हर बड़े सदस्य का मान सम्मान करें और छोटे बच्चों को लाड़ दुलार करें तो फिर आपकी सास आपसे कभी भी झगड़ा नहीं करेगी.

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 731 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

नई दुकान या नया व्यापार के उद्घाटन की तैयारी, संपूर्ण पूजा विधि और मंत्र | दुकान उद्घाटन पूजा विधि
आप के इन इलाकों में होता है धंधा 10 जगहों का पता और फ़ोन नंबर | Red light area near my location & phone number

famil yghar

क्योंकि हर एक सास यही चाहती है कि उसकी बहू घर में हर किसी से अच्छी तरीके से प्रेम पूर्वक मान सम्मान के साथ रहे इसीलिए आपको चाहिए कि आप हर सुबह अपने सास के पैर अवश्य छूए ऐसा करने से आपके सास के दिल में आपके लिए कभी भी नफरत नहीं आएगी

2. कोई भी कार्य करने से पहले सास से सलाह ले

अक्सर करके देखा जाता है कि कुछ बहुए ऐसी होती है जो कोई भी कार्य करने से पहले सास या फिर घर के मुखिया से सलाह लेना आवश्यक नहीं समझती हैं और वह अपने पति से सलाह लेकर उस कार्य को करती हैं. जिसके चलते सास को गुस्सा आता है और वह उस कार्य के विषय में बहू से एक बार अवश्य कहती हैं और फिर बहू को बुरा लगता है और फिर दोनों के बीच मनमुटाव हो जाता है.

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

ऐसी स्थिति में बहू की गलती होती है. इसीलिए बहू को चाहिए कि वह सास को सुधारने के उपाय ढूंढने से पहले अपने आपने आपमें यह सुधार करें कि जब भी कोई कार्य करना हो तो एक बार घर के मुखिया या फिर सास से सलाह अवश्य लें, तो कभी भी आपकी सास से और आप से लड़ाई नहीं होगी और सास को भी चाहिए कि वह बहू को सही मार्ग की ओर प्रेरित करें

3. पति से सास के विषय में कोई भी चुगली ना करें

मैं अक्सर करके देखती हूं जब सास बहू के बीच में किसी बात को लेकर मनमुटाव होता है, तो जब हसबैंड बाहर से काम करके घर को आता है, तो बहू सास की बुराइयां अपने पति से करती हैं. अगर बहू नहीं करती है, तो फिर सास बहू की बुराइयां बेटे से करती है.

पति से नफरत कैसे करे, किसी से नफरत कैसे करे, pati se nafrat kaise kare, kisi se nafrat kaise kare i hate husband after baby

जिसके चलते बेटा बहू के ऊपर गुस्सा करता है और फिर बहू उस गुस्से को अपनी सास के ऊपर निकालती है फिर दोनों में झगड़ा हो जाता है इसीलिए ऐसी परिस्थितियों में दोनों को चाहिए कि वह आपस की लड़ाई के विषय में बेटे से कुछ भी ना बताएं और आपस में ही इस लड़ाई को सॉल्व कर ले.

यहां तक की अगर सास और बहू के बीच में किसी कारण से लड़ाई हो जाती है, तो बहू को मां से एक बार माफी मांग लेनी चाहिए क्योंकि मां मां होती है और बहू बहू होती है और ऐसा करने से ना तो आप छोटी हो जाएंगी और ना तो माजी बड़ी हो जाएंगी बल्कि उनके दिल में आपके लिए मान सम्मान और प्रेम जागृत होगा और वह हमेशा आपके कल्याण के विषय में सोचेंगी.

4. सास को किचन के कार्य ना करने दें

अगर आप चाहती हैं कि आपके और सास के बीच में सदैव मधुर संबंध बने रहे और आपकी सास आपसे कभी भी झगड़ा ना करें तो इसके लिए आपको चाहिए कि आप कभी भी सास को किचन का कार्य करने की अनुमति ना दे. अगर सास किचन का कोई कार्य करने आती है तो आप उनसे कहें मां जी मैं कर लूंगी आप बैठीए.

किचन का रंग

हालांकि जब आप बीमार हो उसकी बात अलग है लेकिन जब आपका स्वास्थ्य बेहतर रहे तब आप सास को किचन का कोई भी कार्य ना करने दें फिर देखना आपकी सास आपसे कितना प्यार करेगी आपसे कभी भी झगड़ा नहीं करेगी और अगर कभी आपका हस्बैंड आपको डांटगे तो उसे भी चुपकराएगी.

5. सास के स्वास्थ्य का पूर्ण रूप से ख्याल रखें

सास और बहू के बीच में चाहे जितनी लड़ाई क्यों ना हो गई हो अगर बहू चाहती है कि वह अपनी मां से दोबारा प्रेम पूर्वक से रहे तो इसके लिए एक बहू को चाहिए जब भी सास बीमार हो जाए या फिर उसके हाथ पैर बहुत दर्द कर रहे हो तो आप उस का पूर्ण रूप से ख्याल रखें, समय पर खाना दे, समय पर दवा दें और हाथ पैर पर तेल को गर्म करके मालिश कर दे सास के बालों में तेल लगाकर कंघी कर दें.

जब इस तरह से आप अपनी सास के स्वास्थ्य का ख्याल रखेंगी तो वह भी आपके विषय में कुछ सोच, विचार करेगी मेरी बहू कितनी अच्छी है कितने संस्कार हैं इसके अंदर इससे आपके मां बाप का मान सम्मान बढ़ेगा और सास के दिल में आपके लिए जगह बनेगी और फिर आप दोनों के बीच संबंध सुधर जाएंगे.

6. मायके में ज्यादा दिनों तक ना रहे

अगर आप चाहती हैं कि आपकी सास आपके मुताबिक आपसे प्यार करें आपको हर कार्य करने के लिए सलाह दें और आपके हर एक कार्य को सपोर्ट करें तो इसके लिए आपको चाहिए कि आप महीनों तक मायके में ना बैठी रहे. क्योंकि एक सास अपने बेटे की शादी तब करती है. जब उसे उस घर की जिम्मेदारियां संभालने के लिए एक बहू और अपने बुढ़ापे के लिए एक बहू की आवश्यकता होती है.

marriage shadi , girl

ऐसे में अगर आप मायके में बैठी रहेंगी, तो सास के दिल पर क्या बीतेगी ? यह एक बेटी सोच सकती है इसलिए आप अपनी सास को सास नहीं बल्कि मां समझे और परब त्यौहार अपने मायके जाए दो-तीन दिन तक रुके उसके बाद वापस आ जाएं ऐसा करने से हर सास कभी भी अपनी बहू को मायके जाने से नहीं रोकेगी और ना तो उसके लिए आपके दिल में नफरत लाएगी.

7. सुबह जल्दी उठने की आदत डालें

अगर आप अपनी सास को सुधारना चाहती हैं, तो उसके दिल में अपने लिए प्रेम जगाना चाहती हैं, तो इसके लिए आपको चाहिए कि आप रोज सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत होकर पूजा पाठ करें और घर के हर सदस्य को प्रसाद दे और उन्हें आरती कराएं तथा अपनी सास के पैर अवश्य छुए और उनसे आशीर्वाद मांगे.

ऐसा करने से घर के हर एक सदस्य के दिल में आपके लिए सच्चे मन से प्रेम जागृत होगा और हर कोई आपको बहुत ही ज्यादा सुशील बहू समझेगा तथा आपको हर कार्य करने के लिए सही सलाह प्रदान करेगा.

8. सावन में सास को हरी साड़ी और चूड़ी दान करें

अगर ऊपर बताए गए उपायों के द्वारा आपकी सास के दिल में आपके लिए कोई प्रेम भावना नहीं जागृत होती है तो इसके लिए आप सावन के महीने में पड़ने वाले पहले सोमवार के दिन अपनी सास को हरी चूड़ी का सेट और हरी साड़ी दान करें तो भोलेनाथ की कृपा की वजह से आपकी सास के दिल में आपके लिए कोई भी नफरत या मैंल नहीं रह जाएगा और वह आपको सच्चे दिल से अपनी बेटी की तरह प्यार करेगी

9. तुलसी मां को रोज सुबह जल अर्पण करें

basil- tulsi

अगर आपकी सास आपके लिए कुछ नहीं सोचती हैं आपकी हरदम बुराइयां करती है तो सास सुधारने और सास के दिल में अपने लिए जगह बनाने के लिए आप सुबह तुलसी मां को जल अर्पण करें और सूर्य भगवान को जल चढ़ाए करें ऐसा कुछ दिनों तक लगातार करने से आपकी सास के दिल में आपके के लिए नई भावना जागृत होगी

FAQ : सास को कैसे सुधारें

सास-बहू के रिश्ते को कैसे सुधारें ?

सास बहू के रिश्ते को सुधारने के लिए सास को चाहिए कि वह बहू को बेटी के समान प्यार करें और बहू को चाहिए व सास को मां के समान मान सम्मान और प्यार करे तो दोनों के बीच में कभी भी लड़ाई झगड़ा नहीं होगा

सास और बहू के बीच क्यों नहीं बनती है ?

अक्सर करके आज के समय में बदलती लाइफस्टाइल के कारण बहू पुराने रीति-रिवाजों के अनुसार नहीं रहती हैं जिसकी वजह से सास और बहू के बीच में अनबन होती है

सास के दिल में अपने लिए जगह कैसे बनाएं ?

अगर एक बहू चाहे तो वह अपनी सास से मां जैसा प्यार पा सकती है बस इसके लिए बहू को चाहिए वह अपनी सास को उसके बेटे से कभी अलग ना करें और सास की भावनाओं की कदर करें तथा सास को कोई अच्छा सरप्राइज दे ऐसा करने से सास के दिल में बहू के लिए कभी भी नफरत नहीं आती है

निष्कर्ष

मेरी प्यारी बहनों आज मैंने आप लोगों के लिए इस लेख के माध्यम से सास को कैसे सुधारें या फिर सास के दिल में अपने लिए प्यार कैसे जागृत करें इसके विषय में पूरी जानकारी विस्तार से बताई है अगर आप लोगों ने इस लेख को शुरू से अंत तक पढ़ा होगा तो आप लोगों को सास के दिल में अपने लिए जगह कैसे बनाएं ?

osir news

इसके विषय में पूरी जानकारी प्राप्त हो गई होगी तो मेरी प्यारी बहनों हम उम्मीद करते हैं आप लोगों को हमारे द्वारा बताई गई जानकारी पसंद आई होगी और हमारा यह लेख आप लोगों के लिए उपयोगी साबित हुआ होगा

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

महा लक्ष्मी पूजा कैसे करे ? लक्ष्मी मंत्र और माँ लक्ष्मी पूजन सामग्री | laxmi ji ki puja kaise kare
पांचवे महीने में लड़का होने के लक्षण जाने : मिलते है ये 20 संकेत | Pachve mahine Mein Ladka hone ke Lakshan
ब्रहस्पति देव की आरती पूजा विधि, सामग्री और लाभ जाने | Brihaspati dev Ki aarti : brihaspati ji ki aarti
हनुमान चालीसा कैसे सिद्धि कैसे करें ? पूजा विधि सामग्री और हनुमान चालीसा मुहूर्त Hanuman Chalisha siddh and Hindi process
लिङ्गाष्टकं लिरिक्स हिंदी : शिव लिंगाष्टकम स्तोत्रम् पाठ और इच्छापूर्ति मंत्र | Lingashtakam in hindi lyrics
★ सम्बंधित लेख ★