5 मुखी रुद्राक्ष के नुकसान एवं पंचमुखी रुद्राक्ष धारण की सही विधि और नियम | 5 mukhi rudraksha side effects


Rate this post

5 mukhi rudraksha side effects | 5 मुखी रुद्राक्ष के दुष्प्रभाव : हेलो नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सब दोस्तों आज आपका इस नए लेख में बहुत-बहुत स्वागत है दोस्तों आज के इस लेख में हम आपको 5 mukhi rudraksha side effects के बारे में जानकारी देने वाले हैं दोस्तों पांच मुखी रुद्राक्ष भी एक रुद्राक्ष ही होता है इसे ज्योतिष शास्त्र में भगवान शिव का स्वरूप माना जाता है.

5 मुखी रुद्राक्ष को कालाग्नि का भी स्वरूप माना जाता है जो कि स्वयं रूद्र है धार्मिक मान्यताओं के अनुसार रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शिव के आंसुओं से हुई है इसीलिए इसे पहनना बहुत ही शुभ माना जाता है ज्योतिष शास्त्र में ऐसा बताया गया है कि 5 मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से पंच ब्रह्मा की विशेष कृपा प्राप्त होती है पंचब्रह्म में भगवान गणेश, भगवान शिव, शक्ति, भगवान विष्णु और सूर्य देव शामिल हैं.

5 mukhi rudraksha side effects, 5 mukhi rudraksha side effects in hindi, 5 mukhi rudraksha negative effects, side effects of wearing 5 mukhi rudraksha, 4 mukhi rudraksha side effects, 5 mukhi rudraksha disadvantages, 5 mukhi rudraksha side effects hindi, effects of 5 mukhi rudraksha, side effects of 5 mukhi rudraksha, 5 mukhi rudraksha quora, 5 mukhi रुद्राक्ष पहनने के फायदे और नुकसान, rudraksha side effects in hindi, 5 मुखी रुद्राक्ष के दुष्प्रभाव, 5 मुखी रुद्राक्ष के नुकसान बताएं, 5 मुखी रुद्राक्ष नुकसान इन हिंदी, 5 मुखी रुद्राक्ष नुकसान, 5 मुखी रुद्राक्ष का नुकसान, 5 मुखी रुद्राक्ष के दुष्प्रभाव, 5 मुखी रुद्राक्ष के नुकसान, रुद्राक्ष के दुष्प्रभाव, 5 मुखी रुद्राक्ष कैसे धारण करें, 5 मुखी रुद्राक्ष का नुकसान, 5 मुखी रुद्राक्ष पहनने के नुकसान, ,

दोस्तों आज के इस लेख में हम आपको इसी के बारे में जानकारी देने वाले हैं कि 5 mukhi rudraksha side effects क्या है तो यदि आप पांच मुखी रुद्राक्ष के साइड इफेक्ट के बारे में जानना चाहते हैं तो आपको हमारे इस लेख शुरुआत से लेकर अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ने की आवश्यकता होगी तो चलिए बिना देर किए आज के इस लेख को शुरू करते हैं और जानते हैं कि 5 mukhi rudraksha side effects क्या होते हैं?

5 mukhi rudraksha side effects | 5 मुखी रुद्राक्ष के दुष्प्रभाव

5 mukhi rudraksh

♦ लेटेस्ट जानकारी के लिए हम से जुड़े ♦
WhatsApp ग्रुप पर जुड़े 
WhatsApp पर जुड़े 
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
Google News पर जुड़े 

दोस्तों वैसे तो आपने अभी तक 5 मुखी रुद्राक्ष के फायदे के बारे में ही सुना होगा क्योंकि 5 मुखी रुद्राक्ष भगवान शिव का स्वरूप होता है इसीलिए इसके इसके फायदे बहुत अधिक है लेकिन दोस्तों हम आपको बता दें कि 5 मुखी रुद्राक्ष के कुछ साइड इफेक्ट भी होते हैं जिनके बारे में हमने आपको नीचे जानकारी दी है नीचे के लेख को पढ़कर आप पांच मुखी रुद्राक्ष के साइड इफेक्ट के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं।

1. घबराहट और बेचैनी

दोस्तों यदि आपने कभी भी पांच मुखी रुद्राक्ष को धारण नहीं किया है और अब आप 5 मुखी रुद्राक्ष धारण करने लगे हैं तो शुरुआत के दिनों दिनों में आपको घबराहट बेचैनी जैसे समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है और यह आम बात है.


people Headache sir dard

क्योंकि 5 मुखी रुद्राक्ष में अपार शक्ति भरी हुई होती है और जब हम 5 मुखी रुद्राक्ष को धारण करते हैं तो यह हमारे शरीर को शक्तियों से भरता है और हमारे दिमाग को उत्तेजित करता है ऐसे में हमें घबराहट और बेचैनी जैसी समस्याओं का होना आम बात है।

2. सिर दर्द

दोस्तों पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करने का एक साइड इफेक्ट यह है कि आपको सिरदर्द की समस्या हो सकती है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि रुद्राक्ष सकारात्मक शक्तियों से भरपूर होता है और जब हम रुद्राक्ष को धारण करते हैं तो रुद्राक्ष की सकारात्मक छवि हमारे अंदर प्रवेश करने लगती है.

Sick sir dard

पहले से हमारे शरीर में सकारात्मक शक्ति ना होने के कारण अचानक से जब हमारे शरीर में सकारात्मक शक्ति प्रवेश होने लगती है तो ऐसे में हमें सिरदर्द की समस्या बनने लगती है।

3. एलर्जी का होना

एलर्जी

आमतौर पर सभी व्यक्ति रुद्राक्ष को धारण कर सकते हैं लेकिन कुछ लोगों को इसे धारण करने से एलर्जी की समस्या का सामना करना पड़ता है क्योंकि जब हम रुद्राक्ष को धारण करते हैं तो रुद्राक्ष में उपस्थित तेल हमारे शरीर के संपर्क में आता है और यदि हमें उस तेल से एलर्जी है तो हमें एलर्जी जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है हालांकि यह बहुत कम लोगों में होता है लेकिन यह भी पांच मुखी रुद्राक्ष का एक साइड इफेक्ट है।

4. नकारात्मक विचारों में वृद्धि

कुछ लोगों का मानना है कि 5 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से हमें नकारात्मक विचार आ सकते हैं यह हमारी भावना नकारात्मक हो सकती है क्योंकि दोस्तों हमने आपको ऊपर ही बता दिया है कि रुद्राक्ष में अपार शक्ति होती है और यह हमारे दिमाग को उत्तेजित करती है.

negative things

ऐसे में हमें चिंता या तनाव का सामना करना पड़ सकता है इसीलिए यदि हम 5 मुखी रुद्राक्ष को धारण कर रहे हैं तो हमें अपने दिमाग पर नियंत्रण रखने की आवश्यकता है।

5. आध्यात्मिक विकास में कमी

बहुत से लोगों का यह भी मानना है कि पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करने से हमें आध्यात्मिक विकास में कमी आ सकती है क्योंकि दोस्तों पांच मुखी रुद्राक्ष का संबंध बृहस्पति ग्रह से होता है जो भौतिकता का ग्रह होता है कुछ लोगों का मानना है कि 5 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से हमारा दिमाग धार्मिक चीजों से हटकर भौतिक चीजों पर लगने लगता है।

Shabar Mantras

पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करने की विधि और कुछ जरूरी बातें | Panchmukhi Rudraksha dharan karne ke vidhi aur kuch jaruri bate

दोस्तों यदि आप पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करने के बारे में विचार कर रहे हैं तो नीचे हमने आपको पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करने की विधि तथा पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करने के बाद कुछ जरूरी बातें बताई हैं जिन का जानना प्रत्येक पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति के लिए बहुत जरूरी है तो आइए उन बातों पर गौर फरमाते हैं।

1. दोस्तों यदि आप पंचमुखी रुद्राक्ष को धारण करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सबसे पहले किसी शिव मंदिर में जाकर ब्राह्मण के हाथों से पंचमुखी रुद्राक्ष प्राप्त करना है.

2. किसी ब्राह्मण के हाथों रुद्राक्ष प्राप्त करने के बाद उसे मंत्रों के माध्यम से अभिमंत्रित करें उसके पश्चात ही पंचमुखी रुद्राक्ष को धारण करें पंचमुखी रुद्राक्ष को अभिमंत्रित करने के लिए आप भगवान शिव के मंत्रों का जाप कर सकते हैं आप चाहे तो इसे किसी ब्राह्मण के द्वारा किसी शुभ दिन पूजा रखकर भी अभिमंत्रित करा सकते हैं।

puja

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

3. दोस्तों पंचमुखी रुद्राक्ष को हर समय धारण किया जा सकता है लेकिन इसे श्मशान घाट पर जाने या किसी नवजात शिशु के जन्म के स्थान पर जाने के वक्त धारण नहीं करना चाहिए क्योंकि पंचमुखी रुद्राक्ष में बहुत अधिक ऊर्जा होती है इसीलिए इसे ऐसे स्थानों पर पहनना उचित नहीं होता है।

4. यदि आप पंचमुखी रुद्राक्ष को धारण करते हैं तो आपको पंचमुखी रुद्राक्ष को कभी भी अशुद्धिया मिट्टी लगे हाथों से नहीं छूना चाहिए इससे पंचमुखी रुद्राक्ष की उर्जा में बाधा उत्पन्न होती है।

5. दोस्तों यदि आप पंचमुखी रुद्राक्ष को रोजाना धारण नहीं कर सकते हैं तो आप इसे अपने घर के मंदिर में एक बॉक्स में सुरक्षित रख सकते हैं तथा प्रत्येक सुबह और शाम इसकी पूजा करें।

6. पंचमुखी रुद्राक्ष को हमेशा अपनी मेहनत के पैसों से ही खरीदना चाहिए कभी भी पंचमुखी रुद्राक्ष को उधार या गलत तरीकों से कमाए गए पैसे से नहीं लेना चाहिए।

Hard Work

7. पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करने के बाद इस बात का विशेष ध्यान रखें कि आपने जिस धागे या कड़ी में पंचमुखी रुद्राक्ष को धारण किया हो वह मजबूत हो और यदि कुछ समय के पश्चात वह कमजोर हो जाती है तो आपको तुरंत उस धागे या कड़ी को बदल देना चाहिए।

8. यदि आप रोजाना मुखी रुद्राक्ष को नियमित धारण करते हैं तो आपको मांस मदिरा जैसी चीजों से दूर रहना चाहिए क्योंकि यह पंचमुखी रुद्राक्ष की उर्जा में बाधा उत्पन्न करती है।

9. पंचमुखी रुद्राक्ष को शुभ दिन पर ही धारण करना चाहिए जैसे सोमवार या गुरुवार पंचमुखी रुद्राक्ष को धारण करने का सबसे शुभ दिन सावन का सोमवार होता है।

10. पंचमुखी रुद्राक्ष को रोजाना साफ पानी से साफ करें पंचमुखी रुद्राक्ष के छिद्रों में धूल या मिट्टी ना लगने दे इसे साफ करके स्वच्छ पानी से धूल ले।

FAQ: 5 mukhi rudraksha side effects

5 मुखी रुद्राक्ष पहनने से क्या होता है?

ऐसा कहा जाता है कि 5 मुखी रुद्राक्ष पहनने से जीवन में पूरी तरह से शांति और निडरता आ जाती है पंचमुखी रुद्राक्ष को धारण करने से मानसिक शांति और भगवान भोलेनाथ का आशीर्वाद प्राप्त होता है.

5 मुखी रुद्राक्ष पहनने के नुकसान क्या है?

5 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से हमें कुछ सामान्य नुकसान देखने को मिलते हैं जैसे घबराहट, बेचैनी, सिर दर्द, एलर्जी आदि यह पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करने के साधारण दुष्प्रभाव है.

5 मुखी रुद्राक्ष को काम करने में कितना समय लगता है?

5 मुखी रुद्राक्ष को काम करने में लगभग 2 से 3 दिनों का वक्त लगता है यह लगभग 10% लोगों को ही होता है और 30% लोगों को 10 से 15 दिन तथा बाकी के 50% लोगों को 40 से 50 दिनों के अंदर प्रभाव देखने को मिलता है.

कौन सा रुद्राक्ष बहुत शक्तिशाली होता है?

ऐसा कहा जाता है कि 21 मुखी रुद्राक्ष सबसे शक्तिशाली रुद्राक्ष माना जाता है जो नेपाल में उत्पन्न होता है यह वह रुद्राक्ष है जो सबसे अधिक लोकप्रिय है और 21 मुखी रुद्राक्ष के बारे में ऐसा कहा जाता है कि यह दीर्घायु के लिए पहना जाता है.

5 मुखी रुद्राक्ष की शुद्धता कैसे चेक करें?

पांच मुखी रुद्राक्ष की शुद्धता चेक करने के लिए आपको रुद्राक्ष की दरारों को चेक करना होगा यदि रुद्राक्ष में 5 दरारों से अधिक दर वाले हैं तो वह रुद्राक्ष अशुद्ध है.

5 मुखी रुद्राक्ष कितने पहनने चाहिए?

दोस्तों मुखी रुद्राक्ष एकमात्र ऐसा रुद्राक्ष है जिसमें भगवान शिव, भगवान विष्णु, भगवान गणेश, और सूर्य तथा शक्ति मां भगवती का आशीर्वाद होता है ऐसा माना जाता है कि 5 मुखी रुद्राक्ष की तीन माला धारण करने से आकस्मिक मृत्यु से बचा जा सकता है अर्थात 5 मुखी रुद्राक्ष की तीन माला धारण करना उत्तम होता है.

निष्कर्ष

दोस्तो आज के इस लेख में हमने 5 mukhi rudraksha side effects के बारे में जानकारी हासिल की है दोस्तों जैसा कि आज के इसलिए हमें हमने जाना कि पंचमुखी रुद्राक्ष ऊर्जा का एक बहुत बड़ा स्रोत होता है और यह भगवान शिव के आंसुओं से बना हुआ है इसीलिए यह बहुत शुभ होता है और जो व्यक्ति पंचमुखी रुद्राक्ष को धारण करता है.

उसे पंच ब्रह्मा का आशीर्वाद भी प्राप्त होता है लेकिन इसके कुछ नुकसान भी होते हैं जैसे घबराहट और बेचैनी सिर दर्द एलर्जी नकारात्मक विचारों में वृद्धि आध्यात्मिक विकास में कमी आदि पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करने से हो सकते हैं क्योंकि पंचमुखी रुद्राक्ष ऊर्जा से भरपूर होता है और जब हम इसे धारण करते हैं तो यह हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की ऊर्जा का वास करता है.

osir news

दोस्तों यदि आपने हमारे इस लेगो को शुरुआत से लेकर अंत तक ध्यान पूर्वक पड़ा होगा तो आपको इस विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी विस्तार से प्राप्त हो गई होगी उम्मीद करते हैं हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा 5 mukhi rudraksha side effects को पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
कोई सलाह देना है या हम से संपर्क करना है ? अभी तुरंत अपनी बात कहे !
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले .

यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘
★ सम्बंधित लेख ★
X