संपूर्ण Damodar ashtakam हिंदी अर्थ पूजा विधि दामोदर अष्टकम मंत्र | Damodarashtakam Lyrics in Sanskrit and hindi

Damodarastakam दामोदर अष्टकम Damodar ashtakam Lyrics in Sanskrit and hindi : प्रणाम गुरुजनों आज हम आप लोगों को दामोदर अष्टकम के बारे में बताने जा रहे हैं आज हम इस लेख के माध्यम से आपको बताएंगे कि दामोदर किस भगवान को कहा जाता है दामोदर भगवान कृष्ण के बचपन का नाम है यह जानने से पहले एक बार इस पर नजर डाल लीजिए कि यह खूबसूरत अष्टकम किसकी रचना है पदम पुराण में वर्णित दामोदरष्टकम कृष्ण द्वैपायन व्यास द्वारा रचित है ।

दामोदर अष्टकम,, दामोदर अष्टकम स्तोत्र,, दामोदर अष्टकम लिरिक्स हिंदी में,, दामोदर अष्टकम pdf,, दामोदर अष्टकम lyrics,, दामोदर अष्टकम इस्कॉन,, दामोदर अष्टकम in hindi,, दामोदर अष्टकम भजन,, दामोदर अष्टकम सुनाइए,, दामोदर अष्टकम लिरिक्स हिंदी में,, दामोदर अष्टकम इन हिंदी,, दामोदर अष्टकम पूजा विधि,, दामोदर अष्टकम मंत्र,, दामोदर अष्टकम क्या है,, दामोदर अष्टकम,, damodar ashtakam song,, damodaram ashtakam,, damodarastakam song,, damodarastakam audio,, damodar ashtakam english lyrics,, damodarastakam hindi mein,, damodar ashtakam,, damodar ashtakam stotra,, damodar ashtakam in hindi,, damodar ashtakam lyrics hindi,, damodarastakam lyrics hindi,, damodar ashtakam lyrics,, damodar ashtakam pdf,, damodar ashtakam written by,, damodarastakam hindi lyrics,, damodarastakam lyrics in hindi pdf,, damodar ashtakam pdf in hindi,, damodarastakam pdf in hindi,, damodarastakam lyrics pdf,, damodar ashtakam lyrics iskcon,, damodarastakam lyrics english,, damodar ashtakam lyrics english,, damodar ashtakam lyrics in gujarati,, damodarastakam lyrics in hindi,, damodar ashtakam lyrics in hindi,, damodarastakam lyrics kksongs,, damodarastakam lyrics meaning,, damodarastakam lyrics sanskrit,, damodarastakam lyrics tamil,, damodarastakam lyrics malayalam,, damodarastakam lyrics with meaning,, damodar ashtakam lyrics with meaning,, damodarastakam lyrics with meaning in hindi,, damodar ashtakam lyrics with meaning in hindi,, damodar ashtakam iskcon,, damodar ashtakam in english,, damodarastakam iskcon,, damodar bhajan,, damodar bhajan konkani,, damodar aarti lyrics,, damodar ashtakam song download,, damodar ashtakam audio song,, damodar ashtakam full song download,, damodarashtakam iskcon song,, damodar ashtakam benefits,, damodar ashtakam meaning,, damodar stotram meaning,, damodar ashtakam sanskrit pdf,, damodar ashtakam ringtone download,, damodar ashtakam with meaning,, pihak yang menyetujui rapbn dan kemudian disahkan menjadi apbn adalah,, wie viel eiweiß kann der körper auf einmal aufnehmen,, ashtakam keshavam krishna damodaram lyrics,, ashtakam keshavam krishna damodaram,, damodaram bhajan,, damodaram stotram,, damodaram krishna,, damodaram ashtakam lyrics,, damodaram ram narayanam,, damodaram lyrics,, damodaram song lyrics,, damodar ashtakam tamil pdf,, damodar ashtakam telugu pdf,, damodarastakam song download,, damodarastakam song lyrics,, damodarastakam audio song download,, sri damodarashtakam mp3 song free download,, damodarastakam in english,, damodarastakam mp3 song download,, sri damodarashtakam mp3 song download,, damodarastakam pdf,, damodarastakam ringtone,, damodarastakam ringtone download,, damodarastakam song video,, damodarastakam song with lyrics,, damodara song,,

कार्तिक महीने में जहां कृष्ण भगवान बचपन की शरारती पूर्ण लीलाओं को याद करते हैं दामोदर अष्टकम कृष्ण के बारे में है जो माता यशोदा द्वारा प्रेम के तार से बंधा हुआ कार्तिक महीने में शुभ दामोदर अष्टकम का पाठ भगवान श्री कृष्ण के भक्ति और प्रेम को गहरा करने के लिए किया जा सकता है। अगर आप भी भगवान कृष्ण को प्रसन्न करना चाहते हैं और उनकी भक्ति में लीन रहना चाहते हैं.

तो आपको यह दामोदर अष्टकम पाठ जरूर करना चाहिए इससे भगवान श्रीकृष्ण अवश्य प्रसन्न होंगे तो चलिए आज हम सबसे पहले आपको बताते हैं कि दामोदर अष्टकम क्या है और इसकी पूजा विधि कौन सी है और इसका मंत्र क्या है अगर आप इन विषयों को जानना चाहते हैं तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े तभी आपको पता चलेगा कि दामोदर अष्टकम क्या है और वह कौन सा अष्टक है जिससे भगवान श्री कृष्ण की कृपा आपके ऊपर हमेशा बनी रहेगी।

दामोदर अष्टकम मंत्र | Damodar ashtakam mantra

मुहुः श्वास-कम्प-त्रिरेखाङ्क-कण्ठस्थित-ग्रैवं दामोदरं भक्ति-बद्धम् ॥ २॥

दामोदर अष्टकम क्या है ? | Damodar ashtakam kya hai ?

दामोदर अष्टकम में भगवान श्री कृष्ण की लीला का वर्णन किया गया है ऐसा कहा जाता है कि कार्तिक मास के दौरान अगर आप दामोदर अष्टकम का पाठ करते हैं और अगर आप भगवान श्री कृष्ण को प्रसन्न करना चाहते हैं तो आप इस अष्टक का पाठ जरूर करें क्योंकि इससे भगवान की विशेष कृपा आपके ऊपर हमेशा बनी रहती है इसके साथ अगर आप हर रोज तुलसी जी के समक्ष एक घी का दीपक या फिर सरसों के तेल का दीपक जलाते हैं और तुलसी जी के समक्ष दीप दान का पाठ करते हैं.

krishna


तो भगवान की कृपा आपके ऊपर हमेशा बनी रहेगी अब हम आपको दामोदर अष्टकम के पाठ के बारे में बताने जा रहे हैं आप इस दामोदर अष्टकम का नित्य पाठ जरूर करें। अगर आप दामोदर अष्टक का पाठ करते हैं तो आपको 2 गुना फल प्राप्त होता है शास्त्रों के अनुसार ऐसा माना जाता है कि अगर कोई व्यक्ति दामोदर अष्टकम पाठ करता है तो भगवान की कृपा उस पर विशेष रूप से बनी रहती है।

दामोदर अष्टकम पूजा विधि | Damodar ashtakam puja vidhi

  1. क्या आप जानते हैं कि भगवान श्री कृष्ण को वनस्पति तुलसी बहुत ज्यादा पसंद है पुण्यक्षेत्रों में द्वारकापुरी, तिथियों में एकादशी के महीनों में कार्तिक विशेष प्रिय है कृष्णप्रियो हि कार्तिक:, कार्तिक: कृष्णवल्लभ:। इस कार्तिक मास को बहुत ही ज्यादा पवित्र और पूर्ण दायक माना जाता है क्योंकि अगर आप इस दिन कोई भी पूजा या पाठ करते हैं तो यह बहुत ही जल्द पूर्ण हो जाता है।
  2. क्या आप जानते हैं कि दामोदर किस भगवान का नाम है दामोदर कृष्ण भगवान के बचपन का नाम है जब श्री कृष्ण बचपन में बहुत ही ज्यादा लीलाएं और शैतानियां करते थे तब इनका नाम दामोदर पड़ गया था।
  3. सभी लोगों से हमारा यह निवेदन है कि जो भी व्यक्ति हरीभक्ति से निवेदन है वह भगवान दामोदर का पूजन जरूर करें।
  4. आप अपने घर में भगवान श्री कृष्ण का एक चित्र और माता यशोदा का एक ओखल के संग रख दे।
  5. दामोदर अष्टकम इन 8 लोगों से भगवान कृष्ण की प्रार्थना जरूर करें जिसे हर कार्तिक महीने में गाना चाहिए या फिर सुनना चाहिए अगर आप चाहे तो इसे लिखित रूप में रख सकते हैं या फिर फोन में सर्च करके ऑडियो या वीडियो देख सकते हैं।
  6. कार्तिक मास के महीने में माता तुलसी की पूजा विशेष रूप से होती है और यह बहुत शुभ मानी जाती है।
  7. भगवान श्री कृष्ण के सामने दामोदर अष्टकम का गीत सुनाए और उनके सामने एक दीपक को प्रज्वलित करके रख दे।
  8. पवित्र दामोदर अष्टकम भगवान श्री कृष्ण को अत्यंत प्रिय है अगर आप उसे कार्तिक मास के महीने में करते हैं तो हरि नाम का जाप करें और दान करें या फिर मिट्टी का दीपक या दीपक दान करें इससे आपको कई गुना ज्यादा फल प्राप्त होगा।

दामोदर अष्टकम | Sampurna Damodar ashtakam

।। श्री दामोदर अष्टकम ।।

नमामीश्वरं सच्-चिद्-आनन्द-रूपं
लसत्-कुण्डलं गोकुले भ्राजमनम्
यशोदा-भियोलूखलाद् धावमानं
परामृष्टम् अत्यन्ततो द्रुत्य गोप्या ॥ १॥

वे भगवान जिनका रूप चित , सत और आनंद से भर पूर्ण है जिनके मर्को के आकार से कुंडल इधर-उधर खेल रहे हैं जो गोपाल अपने धाम में नित्य कर रहे हैं जो दूध दही और मटकी फोड़ देख रहे हैं जो मां यशोदा के डर से ओखल से कूद कूद कर अत्यंत तेजित हो रहे हैं और मां यशोदा कान्हा के दौड़ने पर उड़ के पीछे जाकर उन्हें पकड़ने का प्रयास कर रहे हैं ऐसे ही भगवान को मैं नमस्कार करती हूं।।

रुदन्तं मुहुर् नेत्र-युग्मं मृजन्तम्
कराम्भोज-युग्मेन सातङ्क-नेत्रम्
मुहुः श्वास-कम्प-त्रिरेखाङ्क-कण्ठ
स्थित-ग्रैवं दामोदरं भक्ति-बद्धम् ॥ २॥

कान्हा मां यशोदा के हाथ में छड़ी देख कर रो देते हैं और अपने कमल जैसे कोमल हाथों से दोनों नेत्रों को मसल देते हैं उनकी आंखें भय से भरी हुई होती हैं और उनके गले का मोतियों का हार जो संत के भांति त्रिरेखा से युक्त है रोते हुए जल्दी-जल्दी श्वास लेने के कारण इधर-उधर खेलाढुला रहे हैं ऐसे भगवान श्री कृष्ण को मैं सत सत नमन कहती हूं।।

इतीदृक् स्व-लीलाभिर् आनन्द-कुण्डे
स्व-घोषं निमज्जन्तम् आख्यापयन्तम्
तदीयेषित-ज्ञेषु भक्तैर् जितत्वं
पुनः प्रेमतस् तं शतावृत्ति वन्दे ॥ ३॥

ऐसे बाल्यकाल की लीलाओं के कारण भगवान श्री कृष्ण वृंदावन वासियों के दिल में वास करते थे और वह अत्यधिक प्रेम के आनंद कुंड में डूबे रहते थे और वह अपने संपूर्ण ज्ञानी भक्तों को यह बता रहे थे कि मैं अपने ऐश्वर्य हीर और प्रेम भाव से हर एक व्यक्ति का दिल जीत लेता हूं ऐसे ही भगवान श्रीकृष्ण को मैं शत शत नमन करती हूं।।

वरं देव मोक्षं न मोक्षावधिं वा
न चन्यं वृणे ‘हं वरेषाद् अपीह
इदं ते वपुर् नाथ गोपाल-बालं
सदा मे मनस्य् आविरास्तां किम् अन्यैः ॥ ४॥

हे भगवान कृष्ण मैं सभी प्रकार के वर देने में सक्षम होने पर भी मैं आप से मोक्ष की कामना करती हूं ऐसा नहीं है कि मोक्ष सर्वोत्तम स्वरूप श्री बैकुंठ की इच्छा रखती हूं मैं सिर्फ आपसे यही प्रार्थना करती हूं कि आपका यह बाल रूप मेरे हृदय में समा जाए जिससे कि हमको अन्य और किसी वस्तु का लाभ ना हो ।

krishna

इदं ते मुखाम्भोजम् अत्यन्त-नीलैर्
वृतं कुन्तलैः स्निग्ध-रक्तैश् च गोप्या
मुहुश् चुम्बितं बिम्ब-रक्ताधरं मे
मनस्य् आविरास्ताम् अलं लक्ष-लाभैः ॥ ५॥

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 732 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

IPL से पैसे कैसे कमाए ? IPL पैसा जीतने वाला गेम best app to earn money in ipl
Til ka matlab : सामुद्रिक शास्त्र से शरीर के किसी भी अंग पर तिल का मतलब

हे प्रभु आपका यह श्याम रंग और जो यह मुख कमल है वह कुछ घुंघराले बाल बालों से अच्छा दिखता है यशोदा मैया के द्वारा चुंबन किया जा रहा है और आपके होंठ बहुत ही कोमल हैं आपका यह सुंदर कमल रूपी मुख मेरे हृदय में विराजमान है इससे अन्य सहस्त्रो का वरदान मुझे कोई उपयोग नहीं है।

नमो देव दामोदरानन्त विष्णो
प्रसीद प्रभो दुःख-जालाब्धि-मग्नम्
कृपा-दृष्टि-वृष्ट्याति-दीनं बतानु
गृहाणेष माम् अज्ञम् एध्य् अक्षि-दृश्यः ॥ ६॥

हे प्रभु मेरा आपको नमन है हे दामोदर हे विष्णु हे अनंत आप मुझ पर प्रसन्न रहा करो क्योंकि मैं संसार रूपी दुख के समुंदर में डूबी जा रही हूं मुझे इस इन पर आप अपनी अमृत में कृपा बनाए रखें और कृपया मुझे दर्शन दीजिए जिससे मैं इस समुंदर से बाहर निकल सकूं।।

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

कुवेरात्मजौ बद्ध-मूर्त्यैव यद्वत्
त्वया मोचितौ भक्ति-भाजौ कृतौ च
तथा प्रेम-भक्तिं स्वकां मे प्रयच्छ
न मोक्षे ग्रहो मे ‘स्ति दामोदरेह ॥ ७।।

नमस् ते ‘स्तु दाम्ने स्फुरद्-दीप्ति-धाम्ने
त्वदीयोदरायाथ विश्वस्य धाम्ने
नमो राधिकायै त्वदीय-प्रियायै
नमो ‘नन्त-लीलाय देवाय तुभ्यम् ॥ ८॥

हे दामोदर आपके उदर से बंधी हुई है आप को मेरा शत-शत प्रणाम और आपके उदर जो निखिल ब्रह्म तेज का आश्रम है और जो संपूर्ण ब्राह्मण का धाम है उस धाम को भी प्रणाम करती हूं आप की सबसे प्रिय श्रीमती राधा जी को भी प्रणाम करती हूं और ही आनंद लीलाएं करने वाले भगवान आपको भी मैं शत-शत प्रणाम करती हूं।

Damodarastakam lyrics in English

namamisvaram saccidananda rupam
lasat-kuṇḍalam gokule bhrājamanam
yaśodā-bhiyolūkhalād dhāvamānam
parāmṛṣṭam atyantato drutya gopyā || 1 ||

rudantam muhur netra-yugmam mṛjantam
karāmbhoja-yugmena sātańka-netram
muhuḥ śvāsa-kampa-trirekhāńka-kaṇṭha-
sthita-graivam dāmodaram bhakti-baddham || 2 ||

itīdṛk sva-līlābhir ānanda-kuṇḍe
sva-ghoṣam nimajjantam ākhyāpayantam
tadīyeṣita-jñeṣu bhaktair jitatvam
punaḥ prematas tam śatāvṛtti vande || 3 ||

varam deva mokṣam na mokṣāvadhim vā
na canyam vṛṇe ‘ham vareṣād apīha
idam te vapur nātha gopāla-bālam
sadā me manasy āvirāstām kim anyaiḥ || 4 ||

idam te mukhāmbhojam atyanta-nīlair
vṛtam kuntalaiḥ snigdha-raktaiś ca gopyā
muhuś cumbitam bimba-raktādharam me
manasy āvirāstām alam lakṣa-lābhaiḥ || 5 ||

namo deva dāmodarānanta viṣṇo
prasīda prabho duḥkha-jālābdhi-magnam
kṛpā-dṛṣṭi-vṛṣṭyāti-dīnam batānu
gṛhāṇeṣa mām ajñam edhy akṣi-dṛśyaḥ || 6 ||

kuverātmajau baddha-mūrtyaiva yadvat
tvayā mocitau bhakti-bhājau kṛtau ca
tathā prema-bhaktim svakām me prayaccha
na mokṣe graho me ‘sti dāmodareha || 7 ||

namasthesthu dāmne sphurad-dīpti-dhāmne
tvadīyodarāyātha viśvasya dhāmne
namo rādhikāyai tvadīya-priyāyai
namo ‘nanta-līlāya devāya tubhyam || 8 ||

Ithi Srimadpadmapurane Sri damodarastakam sampurnam ||

FAQ : दामोदर अष्टकम

दामोदर अष्टक क्या है?

दामोदर यानी कि कृष्ण भगवान कृष्ण भगवान का एक ऐसा श्लोक जिसको सुनने के बाद भगवान श्री कृष्ण अत्यंत प्रसन्न हो जाते हैं। दामोदर अष्टकम में भगवान श्री कृष्ण की लीला का वर्णन किया गया है ऐसा कहा जाता है कि कार्तिक मास के दौरान अगर आप दामोदर अष्टकम का पाठ करते हैं और भगवान श्री कृष्ण को प्रसन्न करना चाहते हैं तो आप इस अष्टक का पाठ जरूर करें क्योंकि इससे भगवान की विशेष कृपा आपके ऊपर हमेशा बनी रहती है।

दामोदर किसको बोला जाता है?

दामोदर भगवान श्री कृष्ण को बोला जाता है जब भगवान श्री कृष्ण बचपन में अनेकों प्रकार की लीलाएं करते थे तो उनका नाम दामोदर रख दिया गया था।

दामोदर अष्टकम मंत्र कौन सा है?

मुहुः श्वास-कम्प-त्रिरेखाङ्क-कण्ठस्थित-ग्रैवं दामोदरं भक्ति-बद्धम् ॥

निष्कर्ष

दोस्तों जैसा कि आज मैंने आप लोगों को दामोदर अष्टकम के बारे में बताया आज हमने आपको इस लेख के माध्यम से दामोदर अष्टकम Damodar ashtakam क्या है इसके बारे में बताया और इसके अंदर हमने आपको दामोदर अष्टक भगवान श्री कृष्ण को बोलते हैं यह भी बताया है.

osir news

भगवान श्री कृष्ण का नाम दामोदर तब पड़ा जब भगवान श्री कृष्ण बचपन में अनेकों प्रकार की लीलाएं करते हुए दिखते थे तो कुछ दिनों बाद उनका नाम दामोदर पड़ गया था अगर आपको इसे डिटेल से जानना है तो इसलिए तो पूरा जरूर पढ़ें उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा बताया गया यह लेख आपको अत्यंत प्रिय लगा होगा और आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

भारत की नंबर वन नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी कौन सी हैं? Top 10 Company name | no 1 network marketing company in india
अगर पति या Boyfriend बात ना करें तो क्या करें ? What to do if husband/boyfriend does not talk hindi?
पति-पत्नी के रिश्ते को मजबूत कैसे बनाएं ? How to strengthen husband-wife relationship?
Boys ko kya gift de : लड़कों को क्या गिफ्ट देना चाहिए 10 Gift idea | Best gift for boys : ladko ke liye gift
लड़कों की कौन सी 6 आदत, लड़कियों को खराब लगती है ? Bad habit of boys girl don’t like in hindi ?
★ सम्बंधित लेख ★