सिंदूर लगाने की सही विधि क्या है? मांग में सिंदूर किस दिन नहीं लगाना चाहिए?

Mang me Sindoor Kis din nahi lagana chahiye ?  हिंदू संस्कृति के अनुसार विवाहित महिलाएं अपनी मांग में सिंदूर लगाती है जिसका धार्मिक और वैज्ञानिक रूप से बहुत ही बड़ा महत्व है क्योंकि सिंदूर ही एक सुहाग की निशानी होता है साथ ही महिलाएं सिंदूर अपनी पति की लंबी उम्र के लिए लगाती है।सिंदूर लगाने की विधि :


मांग में सिंदूर भरने से पति के भाग्य पर बुरा असर हट जाता है परंतु सिंदूर लगाते समय बहुत सी महिलाएं बहुत से गलतियां भी करती हैं। मांग में सिंदूर कैसे लगाएं कब कब लगाएं मांग में सिंदूर क्यों लगाएं इस प्रकार के प्रश्न जानना आवश्यक है।

सिंदूर को सोलह श्रंगार से दूर रखा जरूर गया है परंतु एक विवाहित महिला के लिए अपने सुहाग के प्रति प्यार लगाव और लंबी उम्र की कामना के लिए होता है। शादी के बाद स्त्रियों को सिंदूर कब लगाना चाहिए कब नहीं लगाना चाहिए आइए हम इस विषय पर थोड़ी सी चर्चा करते हैं ।

मांग में सिंदूर किस दिन नहीं लगाना चाहिए ? On which day vermilion should not be applied in head ?

सभी विवाहित और सुहागिन महिलाएं हमेशा सिंदूर लगाती रहती हैं परंतु कुछ क्षण ऐसे भी आते हैं जब उन्हें सिंदूर लगाने से मना किया जाता है अर्थात हिंदू धर्म मैं कभी कभी सिंदूर लगाना वर्जित किया गया है ऐसे कौन से झाड़ हैं जिस दिन महिला को मांग में सिंदूर नहीं लगाना चाहिए आइए इस विषय पर हम जानते हैं।

1. मासिक धर्म के दौरान

महिलाओं मैं मासिक धर्म आना एक सामान्य प्रक्रिया है और संतानोत्पत्ति के लिए जरूरी भी है क्योंकि जब किसी भी महिला को मासिक धर्म आता है तो उसके बाद महिला में अंडोत्सर्ग होता है।

इस दौरान महिला जब संभोग करती है तो उसे गर्भधारण करने के अवसर बढ़ जाते हैं परंतु मासिक धर्म के दौरान हिंदू धर्म में महिलाओं को सिंदूर लगाने के लिए मना किया जाता है अर्थात मासिक के दौरान महिला को सिंदूर नहीं लगाना चाहिए।

पीरियड के दौरान महिला अपवित्र मानी जाती है इसीलिए हिंदू धर्म में किसी भी विवाहित और सुहागिन महिला को पीरियड के दौरान सिंदूर नहीं लगाना चाहिए जिससे सिंदूर अपवित्र ना होने पाए।

जीवन में यही एक वह समय होता है जब महिला को सिंदूर लगाने से वर्जित किया गया है। इसके अलावा जीवन में कोई ऐसा दिन नहीं है जिस दिन महिला से अपनी मांग में सिंदूर ना लगे केवल मासिक धर्म या पीरियड के दौरान सिंदूर लगाना वर्जित है।

सिंदूर कैसे लगाएं ? सिंदूर लगाने की विधि जाने : How to apply sindoor?

एक विवाहित महिला जब सिंदूर लगाती है तो उसको सिंदूर लगाने से पहले यह ध्यान देना आवश्यक है कि सिंदूर किस प्रकार लगाना है यदि आप अपनी मांग में सिंदूर भर रही हैं तो सिंदूर भरते वक्त माता पार्वती का ध्यान करना चाहिए और उनसे कामना करनी चाहिए क्योंकि माता पार्वती अखंड सौभाग्यवती का वरदान देती हैं| sindoor lagane ki vidhi 

यदि आप अगर ऐसे ही सिंदूर लगा देती हैं और माता पार्वती का ध्यान नहीं करती तो आज से अपनी आदत में बदलाव करते हुए मां पार्वती का ध्यान करके ही सिंदूर लगाने का प्रयास करें इससे आपको पति के प्रति प्रेम होगा और पति की लंबी आयु भी होगी |

1. मांग का सिंदूर छुपाना नहीं चाहिए

आज के दौर में अधिकांश विवाहित महिलाएं अपनी मांग में थोड़ा सा सिंदूर भर लेती हैं और वह भी अपनी साड़ी के पल्लू से ढके रहते हैं जबकि यह गलत है।

woman bride

यदि आप अपने पति के लिए ही सिंदूर लगाती है तो निश्चित रूप से अगर मांग भरी सिंदूर छुपा रही हैं तो पति पर इसका प्रभाव पड़ेगा मांग का सिंदूर छुपाने से पति का मान सम्मान भी छुप जाता है इसलिए कभी भी अपनी सिंदूर भरी मांग को न छिपाएं

2. लंबी मांग सिंदूर से भरे

आज के दौर में बहुत सी महिलाएं मांग में सिंदूर चुटकी भर रख लेते हैं जो एक प्रकार से गलत है अपनी आदतों में सुधार करें और लंबी मांग भरने का प्रयास करें इससे आपके पति का मान सम्मान इज्जत बढ़ेगी साथ ही लंबी आयु भी मिलती है।

woman bride

कभी भी महिला को मांग में सिंदूर थोड़ा नहीं भरना चाहिए बल्कि लंबी मांग सिंदूर से भर नहीं चाहिए इससे आपकी पति के जीवन में बहुत गहरा प्रभाव पड़ता है इसलिए छोटी लाइन में सिंदूर ना करें

3. नाक की सीध में सिंदूर लगाना चाहिए

जितनी भी सुहागिन महिलाएं हैं उनको हमेशा सिंदूर लगाते समय यह ध्यान देना जरूरी है कि सिंदूर भरी मांग नाक के सीट में होनी चाहिए क्योंकि बहुत सी महिलाएं आजकल टेढ़े मेढ़े सिंदूर लगाती हैं।

wedding bride

टेढ़ी-मेढ़ी मांग में सिंदूर लगाने से पति का भाग्य दुर्भाग्य में बदलता है पति परेशानियों से भर जाता है और जीवन में कई प्रकार की कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है यदि आप अपने पति की भलाई चाहते हैं तो हमेशा नाक की सीध में सिंदूर मांग में लगाएं।

4. प्रतिदिन मांग में सिंदूर लगाएं

अक्सर महिलाओं को देखा गया है कि वे हफ्ते में एक बार या दो बार ही सिंदूर से मांग भरती हैं जबकि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए यहां तक कि बहुत सी महिलाएं केवल तीज त्योहारों पर ही सिंदूर लगाती है।

आपको बता देना चाहता हूं कि यदि आप प्रतिदिन अपनी मांग में सिंदूर भरते हैं तो पति पत्नी के बीच प्यार बढ़ेगा और एक दूसरे के प्रति हमेशा स्वास्थ्य बना रहेगा तथा पति का भाग्य भी चमकेगा अतः कभी-कभी सिंदूर लगाने से बचें इसके विपरीत प्रतिदिन सिंदूर लगाने का प्रयास करें।

5. बिना नहाए सिंदूर ना लगाएं

woman bathe

हालांकि विवाहित महिलाएं इस बात का विशेष ध्यान देती हैं लेकिन बहुत सी महिलाएं ऐसी भी हैं जो बिना नहाए मांग में सिंदूर भर लेती हैं हालांकि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए इससे आपकी दांपत्य जीवन में विपरीत प्रभाव पड़ता है|

5. दूसरी महिला का सिंदूर ना लगाएं

girl ladki beautiful

सुहागिन महिलाएं कभी भूलकर भी दूसरी महिला का सिंदूर ना प्रयोग करें यदि आप ऐसा करती हैं तो आपके पति का प्यार आप से बढ़ जाता है अर्थात पति दूसरी औरत के सानिध्य में जा सकता है।

6. गिरा हुआ सिंदूर ना लगाएं

कई बार ऐसा होता है कि महिलाएं जब सिंदूर लगा रही होती है तो सिंदूरा गिर जाता है और बहुत सी महिलाएं गिरे हुए सिंदूर की डिबिया में भर लेते हैं जबकि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए गिरे हुए सिंदूर का कभी भी मांग में ना भरे।

sindoor

गिरे हुए सिंदूर को यदि आप मांग में भरती हैं तो यह आपके लिए कहीं ना कहीं अपशगुन लेकर आएगा जिसको बाद में आपके लिए पछतावा के सिवा कुछ नहीं रहेगा इसलिए कभी भी जमीन पर गिरा हुआ सिंदूर ना लगाएं।

7. सप्ताह में एक बार पति से सिंदूर लगाएं

हालांकि सभी महिलाएं विवाह हो जाने के बाद पति से सिंदूर नहीं लगवाती है जबकि एक विवाहित महिला को चाहिए कि कम से कम सप्ताह में एक बार अपने पति से भी मांग भरवानी चाहिए।

यदि शादी के बाद महिलाएं अपने पति से हफ्ता में एक बार अथवा महीने में एक बार अपनी मांग में सिंदूर लगाती है तो पति के द्वारा भरा गया सिंदूर आपके लिए महत्व बढ़ा देता है

8. शादी के समय भरा गया सिंदूर अवश्य रखें

एक विवाहित महिला की मांग में सिंदूर हमेशा उसका पति विवाह के समय भरता है और जो सिंदूर बचता है उसे सिंदूर को विवाहित महिला को चाहिए कि कुछ दिन लगाए और उसके बाद उसको संभाल कर रखें ऐसा करने से पति-पत्नी के दांपत्य जीवन में खुशियां मिलती हैं |

Leave a Comment