सोमवार मंत्र जाप विधि और लाभ : सर्व कार्य पूर्ण सोमवार बीज मंत्र | सोमवार मंत्र : Somvar mantra

सोमवार मंत्र Somvar mantra : हेलो दोस्तों नमस्कार स्वागत है आपका हमारी आज की न्यू पोस्ट पर आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से सोमवार मंत्र के बारे में बताने वाले हैं वैसे तो हमारे हिंदू धर्म के अनुसार सप्ताह के सभी दिन किसी ना किसी भगवान को अर्पित किए गए हैं उसी प्रकार सोमवार का दिन भगवान शिव को समर्पित किया गया है.

सोमवार के दिन भोले बाबा के भक्त पूरी श्रद्धा के साथ भगवान की पूजा उपासना करते हैं और ऐसा माना जाता है कि भगवान शिव बहुत ही जल्द प्रसन्न हो जाते हैं और अपने भक्तों का भला भी करते हैं ऐसा कहा जाता है कि भगवान भोलेनाथ एक लोटा जल से भी प्रसन्न हो जाते हैं इतना ही नहीं बल्कि काल को काटने और दोषों से मुक्ति को दूर हमारे भोलेनाथ ही करते हैं.

सोमवार मंत्र,,, Somwar mantra,,, सोमवार मंत्र,,, सोमवार महामृत्युंजय मंत्र,,, सोमवार का मंत्र,,, सोमवार शिव मंत्र,,, सोमवार महामृत्युंजय मंत्र in hindi,,, सोमवार बीज मंत्र,,, सावन सोमवार मंत्र,,, सोमवार का बीज मंत्र,,, सोमवार का मंत्र जाप,,, somwar mantra,,, somwar beej mantra,,, somvar beej mantra,,, somwar ka mantra,,, somvar mantra,,, somwar shiv mantra,,, somvar mantra in hindi,,, somvar ke mantra,,, सोमवार के मंत्र,,, सोमवार की मंत्र,,, somvar vrat mantra,,, सोमवार व्रत के नियम,,, somwar vashikaran,,, सोमवार का महामृत्युंजय मंत्र,,, सोमवार के दिन महामृत्युंजय मंत्र,,, somwar ke mantra,,, महामृत्युंजय मंत्र हर सोमवार,,, somvar graha mantra,,, सोमवार व्रत के लाभ,,, somwar quotes,,, shrawan somwar quotes,,, सावन सोमवार का मंत्र,,, सोमवार व्रत का मंत्र,,, पशुपति सोमवार का मंत्र,,, श्रावण सोमवार का मंत्र,,, somvar ka mantra,,, सोमवार के व्रत कितने करने चाहिए,,, shiv mantra for monday fast,,, somwar ki katha,,, somwar ke upay,,, somwar ke upay bataye,,, somvar shiv mantra,,, शिव मंत्र सावन सोमवार,,, somvar shiv puja,,,

इसीलिए हमारे हिंदू धर्म के शास्त्रों में महादेव को प्रसन्न करने के कुछ ऐसे मंत्र बताए गए हैं जो मनोवांछित फल देते हैं इसीलिए अगर आप भी अपने जीवन में कष्टों से छुटकारा पाना चाहते हैं तो शिवजी के कुछ मंत्रों का जाप अवश्य करें इन मंत्रों का जाप करने से भगवान शिव जल्द प्रसन्न हो जाते हैं और आपको हर कष्ट से दूर रखते हैं.

तो आइए जानते हैं शिव भगवान को प्रसन्न करने के लिए वह कौन से सरल मंत्र है जिनसे भगवान शिव जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं और मनोवांछित फल की प्राप्ति भी करवाते हैं क्योंकि आज हम आप लोगों को इस लेख के जरिए सोमवार मंत्र के बारे में बताने वाले हैं जो कि भगवान शिव का मंत्र है इसके साथ साथ सोमवार मंत्र का जाप कैसे करना है इसके बारे में भी बताएंगे और इसके लाभ क्या क्या है.

यह भी बताएंगे अगर आप लोग इस विषय की संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे द्वारा दी गई जानकारी को अंत तक अवश्य पढ़ें । ताकि आप लोगों को सोमवार मंत्र की संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो सके।

सोमवार मंत्र | Somwar mantra

शम्भवाय च मयोभवाय च नमः शंकराय च मयस्कराय च नमः शिवाय च शिवतराय च।।


ईशानः सर्वविध्यानामीश्वरः सर्वभूतानां ब्रम्हाधिपतिमहिर्बम्हणोधपतिर्बम्हा शिवो मे अस्तु सदाशिवोम।।

ॐ नम: शिवाय।

सोमवार के दिन पूजा करते समय आपको नामावली मंत्रों का जाप करना अधिक लाभकारी माना जाता है।

सोमवार का मंत्र जाप विधि

वैसे तो शिव भगवान के सभी मंत्र चमत्कारी हैं लेकिन अगर कोई व्यक्ति ओम नमः शिवाय मंत्र का जाप करता है तो यह बहुत ही चमत्कारी मंत्र है इसीलिए अगर कोई व्यक्ति सोमवार मंत्र का जाप करना चाहता है तो उस व्यक्ति को जाप पूरे भक्ति भाव और श्रद्धा के साथ शुद्धता के साथ करना चाहिए इस मंत्र का जाप आपको 108 बार रुद्राक्ष की माला से करना है.

शिवजी का चाँद

क्योंकि रुद्राक्ष की माला भगवान भोलेनाथ को अत्यंत प्रिय होती है इसीलिए रुद्राक्ष की माला से पूर्व या फिर उत्तर दिशा की ओर मुख करके आपको इस मंत्र का जाप करना है इस मंत्र का जाप आप किसी भी समय कर सकते हैं अगर आप इस मंत्र का जाप बेल वृक्ष के नीचे पवित्र नदी के किनारे किसी भी शिव मंदिर में करते हैं.

तो आपको इस मंत्र के द्वारा धन की प्राप्ति संतान प्राप्ति और शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है इस मंत्र के जरिए आप अपने सभी कष्टों और दुखों को दूर कर सकते हैं।

सोमवार मंत्र के लाभ | Somvar mantra ke labh

  1. सोमवार मंत्र के जाप से आप धन की प्राप्ति कर सकते है.
  2. सोमवार मंत्र से आप संतान प्राप्ति का सौभाग्य प्राप्त कर सकते है.
  3. सोमवार मंत्र से आप अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त कर सकते है.
  4. इस मंत्र से आप अपने सभी कष्टों और दुखों को दूर कर सकते हैं।

शिव मंत्र और उनके लाभ | Shiv mantra aur unke labh

1. शिव का पंचाक्षरी मंत्र

ॐ नम: शिवाय

अगर किसी व्यक्ति को सभी कष्टों से मुक्ति पाना है और मोक्ष की प्राप्ति करना है तो उस व्यक्ति को भगवान शिव के इस पंचाक्षरी मंत्र का जाप करना चाहिए जो भी जातक इस मंत्र का श्रद्धा पूर्वक जाप करता है उस व्यक्ति के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं और उस व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति भी हो जाती हैं।

2. शिव गायत्री मंत्र

ॐ तत्पुरुषाय विद्महे, महादेवाय धीमहि, तन्नो रूद्र प्रचोदयात्

पापों का नाश करने के लिए मानसिक शक्ति बढ़ाने के लिए और सकारात्मक ऊर्जा को लाने के लिए आपको शिव गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए जो भी जातक भगवान शिव के इस गायत्री मंत्र का जाप करता है भगवान शिव उस व्यक्ति को सुख समृद्धि और एश्वर्य की प्राप्ति करते हैं अगर आप भगवान शिव की पूजा में इस मंत्र का जाप करते हैं तो भगवान शिव आपकी पूजा से जल्द ही प्रसन्न हो जाते हैं।

3. महामृत्युंजय मंत्र

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्
उर्वारुकमिव बन्धनान मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥

अगर आपकी कुंडली में अकाल मृत्यु का योग है तो आपको भगवान शिव के महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए क्योंकि इस महामृत्युंजय मंत्र से अकाल मृत्यु का भय समाप्त हो जाता है अगर आप लोग इस मंत्र का नियमित रूप से जाप करते हैं तो आपके सभी तरह के रोग दोष और कष्ट दूर हो जाते हैं।

4. लघु महामृत्युंजय मंत्र

ॐ हौं जूं सः

किसी रोग से छुटकारा पाने के लिए सारी परेशानियों को दूर करने के लिए आपको लघु महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए कुछ लोग महामृत्युंजय मंत्र का जाप नहीं कर पाते हैं इसीलिए उन लोगों को इस लघु महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना उत्तम माना जाता है जो भी व्यक्ति महामृत्युंजय मंत्र का जाप नहीं कर पा रहा है उसे लघु महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए उस व्यक्ति को रात के समय इस मंत्र का जाप करना शुभ माना जाता है। क्योंकि अगर कोई व्यक्ति इस मंत्र को रात के समय करता है तो उसके सभी प्रकार के रोग दूर हो जाते हैं।

शिव पूजा विधि मंत्र PDF | Shiv Puja Vidhi PDF

इस डाउनलोड लिंक पर जाकर आप आसानी से शिव पूजा विधि मंत्र PDF Shiv Puja Vidhi PDF डाउनलोड कर सकते हैं.

शिव पूजा विधि मंत्र pdf | Shiv Puja Vidhi PDF Download link 

सोमवार का बीज मंत्र | Somvar beej mantra

भगवान शिव का सबसे बड़ा मंत्र

ॐ ह्रीं ह्रौं नमः शिवाय।।

ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्रः प्रचोदयात्॥

भगवान शिव को प्रसन्न करने के मंत्र | Bhagwan shiv ko prasan karne ka mantra

1. महामृत्युंजय मंत्र

ऊँ हौं जूं स: ऊँ भुर्भव: स्व: ऊँ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।

ऊर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ऊँ भुव: भू: स्व: ऊँ स: जूं हौं ऊँ।।

2. शिव जी का मूल मंत्र

ऊँ नम: शिवाय।।

3. भगवान शिव के प्रभावशाली मंत्र

ओम साधो जातये नम:।।

ओम वाम देवाय नम:।।
ओम अघोराय नम:।।

ओम तत्पुरूषाय नम:।।
ओम ईशानाय नम:।।

ॐ ह्रीं ह्रौं नमः शिवाय।।

4. रुद्र गायत्री मंत्र

ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्रः प्रचोदयात्॥

5. शिव के प्रिय मंत्र

ॐ नमः शिवाय।

 नमो नीलकण्ठाय। 

ॐ पार्वतीपतये नमः।

ॐ ह्रीं ह्रौं नमः शिवाय।

ॐ नमो भगवते दक्षिणामूर्त्तये मह्यं मेधा प्रयच्छ स्वाहा।

6. शुभ सोमवार मंत्र

ॐ पार्वतीपतये नमः।

ॐ ह्रीं ह्रौं नमः शिवाय।

ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्रः प्रचोदयात्॥

7. नियमित करें इसका पाठ

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 810 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

झूठे प्यार को पहचानने की 5 खाश निशानियां : जाने प्यार सच्चा है या झूठा | झूठे प्यार को कैसे पहचाने : बेवफा इन्सान की 5 पहचान
गर्लफ्रेंड के गुस्से को कैसे कम करें ? 7 असरदार टिप्स How to reduce girlfriend anger hindi?

नमामिशमीशान निर्वाण रूपं।

विभुं व्यापकं ब्रम्ह्वेद स्वरूपं।।

निजं निर्गुणं निर्विकल्पं निरीहं।

चिदाकाश माकाश वासं भजेयम।।

निराकार मोंकार मूलं तुरीयं।

गिराज्ञान गोतीत मीशं गिरीशं।।

करालं महाकाल कालं कृपालं।

गुणागार संसार पारं नतोहं।।

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

तुषाराद्रि संकाश गौरं गम्भीरं।

मनोभूति कोटि प्रभा श्री शरीरं।।

स्फुरंमौली कल्लो लीनिचार गंगा।

लसद्भाल बालेन्दु कंठे भुजंगा।।

चलत्कुण्डलं भू सुनेत्रं विशालं।

प्रसन्नाननम नीलकंठं दयालं।।

म्रिगाधीश चर्माम्बरम मुंडमालं।

प्रियम कंकरम सर्व नाथं भजामि।।

प्रचंद्म प्रकिष्ट्म प्रगल्भम परेशं।

अखंडम अजम भानु कोटि प्रकाशम।।

त्रयः शूल निर्मूलनम शूलपाणीम।

भजेयम भवानी पतिम भावगम्यं।।

कलातीत कल्याण कल्पान्तकारी।

सदा सज्ज्नानंद दाता पुरारी।।

चिदानंद संदोह मोहापहारी।

प्रसीद प्रसीद प्रभो मन्मथारी।।

न यावत उमानाथ पादार विन्दम।

भजंतीह लोके परे वा नाराणं।।

न तावत सुखं शान्ति संताप नाशं।

प्रभो पाहि आपन्न मामीश शम्भो ।

सोमवार महामृत्युंजय मंत्र | Somvar mahamrityunjay mantra

भगवान शिव का सबसे बड़ा मंत्र

ॐ हौं जूं सः ॐ भूर्भुवः स्वः ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् उर्वारुकमिव बन्धनान्मृ त्योर्मुक्षीय मामृतात् ॐ स्वः भुवः भूः ॐ सः जूं हौं ॐ।

इस मंत्र जप की विधि

महामृत्युंजय मंत्र का जाप आपको सोमवार के दिन प्रारंभ करना चाहिए सोमवार के दिन आपको सवा लाख बार महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए वही लघु महामृत्युंजय मंत्र का जाप 11 लाख बार करना चाहिए अगर इस मंत्र का जाप आप सावन के महीने में करते हैं तो यह बहुत ही कल्याणकारी माना जाता है आप चाहे तो किसी अन्य महीने में भी कर सकते हैं लेकिन आपको इस मंत्र का जाप सोमवार के दिन ही प्रारंभ करना है।

महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने के लिए आपको रुद्राक्ष की माला लेना है रुद्राक्ष की माला लेकर सवा लाख बार महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें जैसे ही आपका यह मंत्र संपूर्ण हो जाता है उसके बाद आपको हवन करना है हवन करना उत्तम माना जाता है लेकिन आपको एक बात का ख्याल रखना है कि आप को दोपहर 12 बजे के बाद महामृत्युंजय मंत्र का जाप नहीं करना है।

सोमवर ग्रह मंत्र | somvar graha mantra

दधिशंखतुषाराभं क्षीरोदार्णव सम्भवम ।
नमामि शशिनं सोमं शंभोर्मुकुट भूषणं ।।

ॐ श्रां श्रीं श्रौं स: चन्द्रमसे नम:।।
ॐ ऐं क्लीं सोमाय नम:।
ॐ भूर्भुव: स्व: अमृतांगाय विदमहे कलारूपाय धीमहि तन्नो सोमो प्रचोदयात्।

अगर आप लोग चंद्र देव को प्रसन्न करना चाहते हैं तो आपको इस मंत्र का 11 बार जाप करना चाहिए। वैसे तो चंद्रदेव को भगवान माना जाता है अमावस्या का दिन छोड़कर चंद्रदेव अपनी सोलह कलाओं पर पूर्ण रूप से दर्शन देते हैं क्योंकि चंद्र देव का शुभ दिन सोमवार होता है अगर कोई व्यक्ति चंद्रमा से शुभ फल प्राप्त करना चाहता है तो उस व्यक्ति को सोमवार के दिन खीर बनाकर जरूर खाना चाहिए।

अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में चंद्र नीचा होता है तो उस व्यक्ति को सफेद कपड़े पहनने चाहिए और श्वेत चंदन का तिलक भी लगाना चाहिए। और चंद्रमा का रत्न मोती पहनना चाहिए और वह रत्न मोती चांदी की अंगूठी में बड़ा होना चाहिए उस अंगूठी को आप कनिष्ठिका अंगुली मैं पहन सकते हैं अगर कोई व्यक्ति शीत से पीड़ित है तो उसे गले में मोती युक्त चांदी का अर्धचंद्र लॉकेट बनाकर पहनना चाहिए यह बहुत ही फायदेमंद होता है।

सोमवार व्रत की पूजा कैसे करें ? | Somavar vrat ke pooja kaise karen ?

  1. अगर कोई व्यक्ति सोमवार व्रत का पूजन करना चाहता है तो उस व्यक्ति को सोमवार के दिन सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठना चाहिए।
  2.  उठने के बाद घर की अच्छी तरह से सफाई कर ले और स्नान आदि से निश्चिंत हो जाएं और स्वच्छ कपड़े धारण कर ले ।
  3. उसके बाद अपने घर पर गंगाजल या फिर पवित्र जल से छिड़काव कर दें।
  4. उसके बाद अपने घर के मंदिर में या फिर अपने घर के किसी पवित्र स्थान पर भगवान शिव की मूर्ति या फिर चित्र को स्थापित करके।
  5. जैसे ही आप की पूजा की सारी तैयारियां हो जाती हैं आपको उसके बाद बैठकर हमारे द्वारा दिए गए मंत्र से संकल्प लेना है। ‘मम क्षेमस्थैर्यविजयारोग्यैश्वर्याभिवृद्धयर्थं सोमवार व्रतं करिष्ये’ उसके बाद इन मंत्रों का जाप करके ध्यान करें। ‘ध्यायेन्नित्यंमहेशं रजतगिरिनिभं चारुचंद्रावतंसं रत्नाकल्पोज्ज्वलांग परशुमृगवराभीतिहस्तं प्रसन्नम्‌। पद्मासीनं समंतात्स्तुतममरगणैर्व्याघ्रकृत्तिं वसानं विश्वाद्यं विश्ववंद्यं निखिलभयहरं पंचवक्त्रं त्रिनेत्रम्‌॥’
  6.  ध्यान करने के बाद आपको ओम नमः शिवाय मंत्र का जाप करके शिव जी की और पार्वती माता की पूजा करनी है ।
  7.  जैसे ही आप की पूजा समाप्त हो जाती है उसके पश्चात आपको व्रत कथा सुनना है।
  8.  कथा सुनने के बाद आपको आरती करके प्रसाद बांट देना है।
  9.  उसके बाद आपको भोजन या फिर फलाहार ग्रहण कर लेना है।

सोमवार व्रत विधि | Somvar vrat vidhi

पूजा कब नहीं करनी चाहिए पीपल की पूजा कब नहीं करनी चाहिए तुलसी की पूजा कब नहीं करनी चाहिए भगवान की पूजा कब नहीं करनी चाहिए पीपल के पेड़ की पूजा कब नहीं करनी चाहिए तुलसी माता की पूजा कब नहीं करनी चाहिए तुलसी जी की पूजा कब नहीं करनी चाहिए pooja kab nahi karni chahiye pooja kab karni chahiye puja karni chahie ya nahin puja karni chahie puja kab karni chahie puja karna chahie ki nahin pooja karne ka tarika in hindi pooja karne ka tarika pooja karne ka right time pooja karne ka samay kya hai pooja karne ka sahi time pooja karne ka time pipal ki puja kab nahi karni chahiye pipal ki puja kab karni chahie pipal ki puja kis din nahi karni chahiye pipal ki puja kis din nahin karni chahie pipal ki puja kab karni chahiye pipal ki puja roj karni chahiye tulsi ki puja kab nahi karni chahiye tulsi ji ki puja kab nahi karni chahie tulsi ki puja kab karni chahiye tulsi ki puja kab karni chahie tulsi ki puja kis din nahi karni chahiye tulsi ji ki puja kis din nahi karni chahiye

जो भी व्यक्ति सोमवार व्रत को करना चाहता है स्त्री हो या फिर पुरुष उसे प्रातकाल सोमवार के दिन उठकर पानी में थोड़े से काले तिल डालकर स्नान करना चाहिए उसके बाद पूजा के स्थान पर संपूर्ण सामग्री एकत्रित कर लेनी है उसके बाद भगवान शिव की पूजा अर्चना करनी है हमारे द्वारा बताई गई पूजा सामग्री को एकत्रित करके इस का ही प्रयोग करना है।

  1. सफेद चन्दन
  2. श्वेत फूल
  3. पंचामृत
  4. चावल
  5. पान
  6. अक्षत
  7. फल
  8. सुपारी
  9. गंगा जल
  10. बेलपत्र
  11. धतूरा-फल तथा धतूरा-फूल

भगवान शिव और पार्वती माता के साथ-साथ आपको गणेश भगवान की भी पूजा करनी है और नंदी जी की भी पूजा-अर्चना करनी है।

सोमवार व्रत से लाभ | Somvar vrat se labh

  1. हमारे हिंदू धर्म में सोमवार का व्रत बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि यह पूजा देवों के देव महादेव के लिए की जाती है शिव भगवान को न्याय का देवता कहा जाता है ऐसा कहा जाता है कि जो भी व्यक्ति शुद्ध मन से महादेव की आराधना करता है उसकी सभी इच्छाएं पूर्ण हो जाती हैं।
  2. सोमवार का व्रत करने से आपको मानसिक एवं पारिवारिक शांति मिलती है तथा आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं।
  3. जो भी व्यक्ति सोमवार का व्रत रखता है उसके घर में आर्थिक लाभ सामाजिक प्रतिष्ठा पारिवारिक शांति विवाहित सुख संतान प्राप्ति स्वास्थ्य लाभ तथा इन सब की प्राप्ति होती है।
  4. जो भी व्यक्ति सोमवार का व्रत रखता है वह अपनी इच्छा अनुसार जीवनसाथी पा सकता है।
  5. अगर पति पत्नी के बीच अच्छे संबंध नहीं है उनके बीच बहुत ही ज्यादा लड़ाई झगड़ा होता है और पति पत्नी के बीच क्लेश हो रहा है तो उस व्यक्ति को सोमवार का व्रत रखना चाहिए इस व्रत को करने से आपसी क्लेश दूर हो जाते हैं।
  6. अगर आपके कार्य में बार-बार विघ्न उत्पन्न हो रहा है तो आपको सोमवार का व्रत करना चाहिए अगर आप भगवान शिव की शिवलिंग पर जल अर्पित करते हैं तो आपके कार्य शीघ्र ही संपन्न हो जाते हैं।
  7. पापों का नाश करने के लिए और शारीरिक मानसिक कठिनाइयों को दूर करने के लिए आपको सोमवार का व्रत करना चाहिए अगर आप लोग सोमवार के दिन शिवलिंग की विधि विधान पूर्वक स्नान कराते हैं तथा जल से तीन बार आचमन कराते हैं तो आपके शारीरिक तथा मानसिक कष्ट दूर हो जाते हैं।
  8. अगर किसी व्यक्ति के अंदर अहंकार रूपी पाप उत्पन्न होता है तो उस व्यक्ति को सोमवार व्रत करना चाहिए इस व्रत को करने से उसका मन सात्विक कार्यों में लगने लगता है।
  9. अगर आप लोग संतान की प्रगति चाहते हैं और सफलता को जल्द ही प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको सोमवार व्रत रखना चाहिए।

सोमवार व्रत की आरती | Somvar vrat ki aarti

shiva kul devta lord god bhagwan shankar

आरती करत जनक कर जोरे।
बड़े भाग्य रामजी घर आए मोरे॥
जीत स्वयंवर धनुष चढ़ाए।
सब भूपन के गर्व मिटाए॥
तोरि पिनाक किए दुइ खंडा।
रघुकुल हर्ष रावण मन शंका॥
आई सिय लिए संग सहेली।
हरषि निरख वरमाला मेली॥
गज मोतियन के चौक पुराए।
कनक कलश भरि मंगल गाए॥
कंचन थार कपूर की बाती।
सुर नर मुनि जन आए बराती॥
फिरत भांवरी बाजा बाजे।
सिया सहित रघुबीर विराजे॥
धनि-धनि राम लखन दोउ भाई।
धनि दशरथ कौशल्या माई॥
राजा दशरथ जनक विदेही।
भरत शत्रुघन परम सनेही॥
मिथिलापुर में बजत बधाई।
दास मुरारी स्वामी आरती गाई॥

FAQ : सोमवार मंत्र

शिव जी के मंत्र कौन कौन से हैं?

अगर आप लोग भगवान शिव के इन मंत्रों का जाप करते हैं तो आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं भगवान भोलेनाथ की कृपा को प्राप्त करने के लिए इन मंत्रों का उच्चारण करना चाहिए ॐ नमः शिवाय ... ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् । उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ॥ ... ॐ नमो भगवते रुद्राय नमः ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि  

सबसे अच्छा शिव मंत्र कौन सा है?

वैसे हमारे हिंदू धर्म के अनुसार भगवान शिव का सबसे अच्छा मंत्र गायत्री मंत्र है गायत्री मंत्र अत्यंत शक्तिशाली मंत्र है मंत्र के द्वारा आप अपने मन को शांत कर सकते हैं इस मंत्र से भगवान शिव जल्द ही प्रसन्न हो जाते हैं क्योंकि यह मंत्र भगवान शिव का अत्यंत प्रिय मंत्र है।  

शंकर जी को जल चढ़ाते समय कौन सा मंत्र बोलना चाहिए?

मन्दाकिन्यास्तु यद्वारि सर्वपापहरं शुभम् । तदिदं कल्पितं देव स्नानार्थं प्रतिगृह्यताम् ॥

निष्कर्ष

दोस्तों जैसा कि आज हमने आप लोगों को इस लेख के जरिए सोमवार मंत्र के बारे में बताया उसके साथ साथ सोमवार के अन्य मंत्र भी बताए हैं सोमवार व्रत कैसे करना चाहिए करने की विधि क्या है और उसके लाभ क्या है इन सभी विषयों के बारे में विस्तार से चर्चा की है.

osir news

अगर आपने हमारे इस लेख को ध्यान से पढ़ा है तो आपको इसकी संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो गई होगी उम्मीद करते हैं हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और आपके लिए उपयोगी भी साबित हुई होगी।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

कन्या राशिफल 2023 : कैरियर,रिलेशन,प्यार और भविष्यफल | कन्या राशिफल वालों के लिए वार्षिक राशिफल 2023 : Kanya rashifal 2023
शादीशुदा औरत को कैसे पटाये इम्प्रेस करे ? How to impress a married woman?
गर्भाशय / कोख बंधन में है संकेत कैसे जाने ? बंधी कोख की पहचान और लक्षण How to know if the uterus / womb is in bondage in hindi ?
सपूर्ण महालक्ष्मी व्रत कथा : लक्ष्मी जी की आरती और पूजन सामग्री फ्री pdf डाऊनलोड | Mahalaxmi vrat katha pdf
इन 7 तरह की लड़कियों के है लड़के दीवाने : जाने प्यार में लड़को की पसंद | ladko ko kaisi ladkiya pasand hai
★ सम्बंधित लेख ★