सुबह कितने बजे पूजा करनी चाहिए ? पूजा करने का सही समय | Subah kitne baje puja karni chahiye

पूजा करने का सही समय Subah kitne baje puja karni chahiye : हेलो दोस्तों नमस्कार स्वागत है आज की हमारी इस न्यू इंटरेस्टिंग पोस्ट में पोस्ट है सुबह कितने बजे पूजा करनी चाहिए वैसे तो अधिकतर लोग बोलते हैं कि सुबह प्रातः काल में ही पूजा करनी चाहिए लेकिन कुछ लोग अभी भी ऐसे हैं जिनको पूजा के बारे में कुछ नहीं पता है ऐसे में कुछ लोग तो 12 बजे दोपहर में 4 बजे शाम को पूजा करते हैं।

लेकिन यह पूजा करने का सही समय नहीं है ऐसी पूजा करने का कोई महत्व नहीं मिलता और यह पूजा आपके लिए लाभकारी भी नहीं होगी अगर आप सुबह प्रातः काल में उठकर पूजा करते हैं तो आपको इसके बहुत सारे फायदे मिलेंगे और आपका जीवन चक्र भी सही तरीके से चलने लगेगा अगर आपको भी पता नहीं है।

पूजा करने का सही समय सुबह कितने बजे पूजा करनी चाहिए,, सुबह कितने बजे उठकर पूजा करनी चाहिए,, सुबह में कितने बजे पूजा करनी चाहिए,, subah kitne baje puja karni chahiye,, subah kitne baje puja karni chahie,, सुबह की पूजा कितने बजे करनी चाहिए,, पीपल की पूजा सुबह कितने बजे करनी चाहिए,, शनिदेव की पूजा सुबह कितने बजे करनी चाहिए,, हनुमान जी की पूजा सुबह कितने बजे करनी चाहिए,, सुबह कितने बजे पूजा करना चाहिए,, पूजा सुबह कितने बजे करनी चाहिए,, आज सुबह कितने बजे होगी,, शाम को कितने बजे पूजा करनी चाहिए,, शाम को कितने बजे पूजा करना चाहिए,, शाम की पूजा कितने बजे करनी चाहिए,, भगवान की पूजा सुबह कितने बजे करनी चाहिए,, सुबह की पूजा कितने बजे तक करनी चाहिए,, subah kitne baje puja karni chahie,, सुबह कितने बजे पूजा करनी चाहिए,, subah kitne baje puja karni chahiye,, सुबह कितने बजे उठकर पूजा करनी चाहिए,, सुबह में कितने बजे पूजा करनी चाहिए,, subah ki puja kitne baje karni chahie,, hanuman ji ki puja subah kitne baje karni chahie,, subah kitne baje puja karna chahie,, subah puja kitne baje karni chahie,, पूजा सुबह कितने बजे करनी चाहिए,, puja kitne baje karna chahiye,, सुबह कितने बजे उठकर पूजा करनी चाहिए,, सुबह कितने बजे पूजा करनी चाहिए,, सुबह कितने बजे पूजा करना चाहिए,, पूजा सुबह कितने बजे करनी चाहिए,, सुबह सुबह कितने बजे उठना चाहिए,, सुबह पूजा करने का समय,, आज सुबह कितने बजे होगी,, subah kitne baje puja karni chahiye,, pipal ki puja subah kitne baje karni chahiye,, सुबह कितने बजे पूजा करनी चाहिए,, सुबह में कितने बजे पूजा करनी चाहिए,, subah ki puja kitne baje karni chahie,, hanuman ji ki puja subah kitne baje karni chahiye,, puja kitne baje karna chahiye,, पूजा सुबह कितने बजे करनी चाहिए,, subah kitne baje puja karni chahie,, subah kitne baje puja karna chahie,, सुबह कितने बजे उठकर पूजा करनी चाहिए,, subah puja kitne baje karni chahie,, सुबह कितने बजे पूजा करना चाहिए,, शाम को कितने बजे पूजा करनी चाहिए,, सुबह उठकर क्या करना चाहिए,, रोज सुबह कितने बजे उठना चाहिए,, गूगल सुबह कितने बजे उठना चाहिए,, सुबह पूजा करने की विधि,, योग सुबह कितने बजे करना चाहिए,, रोज सुबह उठकर क्या करना चाहिए,, शाम की पूजा कितने बजे करनी चाहिएपूजा कब नहीं करनी चाहिए,, pooja kab nahi karni chahiye,, puja kab nahi karni chahiye,, पीपल की पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, तुलसी की पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, भगवान की पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, तुलसी माता की पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, पीपल के पेड़ की पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, tulsi ki puja kab nahi karni chahiye,, pipal ki puja kab nahi karni chahiye,, पूजा करनी चाहिए,, सुबह पूजा कब करनी चाहिए,, पूजा कब करनी चाहिए,, शाम को पूजा कब करनी चाहिए,, उपवास कब खोलना चाहिए,, उपवास कब खोले,, कन्या पूजन कब करें,, गौर पूजा कब है,, गणगौर पूजन कब है,, घर पर पूजा करने की विधि,, घर कब जाना है,, घर कब बनाना चाहिए,, छठ पूजा कब मनाई जाती है,, छठ पूजा कब से शुरू है,, छठ पूजा कब मनाया जाता है,, झाड़ू कब नहीं लगाना चाहिए,, झाड़ू कब नहीं खरीदनी चाहिए,, नवरात्रि पूजन कब है,, pipal ki puja kab nahi karni chahiye,, pipal ki puja kab nahi karni chahie,, पीपल की पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, pipal ki puja kab karni chahie,, pipal ki puja kab karni chahiye,, pipal ki puja kis din nahi karni chahiye,, पीपल के पेड़ की पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, पीपल की पूजा किस दिन नहीं करनी चाहिए,, पीपल की पूजा किस दिन नहीं करना चाहिए,, पीपल की पूजा कब करनी चाहिए,, kis din pipal ki puja nahi karni chahiye,, तुलसी की पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, पीपल की पूजा किस दिन करनी चाहिए,, शनिवार को पीपल की पूजा कब करनी चाहिए,, नवरात्रि पूजा करने की विधि ,, रोजाना पूजा कैसे करनी चाहिए,, पूजा कब करना चाहिए,, हवन कब करें,, हवन कब करना चाहिए,, नवरात्रि में 9 दिन पूजा कैसे करें,, 9 दिन व्रत रखने की विधि,, pooja kab nahi karni chahiye,, पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, puja kab nahi karni chahiye,, tulsi ki puja kab nahi karni chahiye,, pipal ki puja kab nahi karni chahiye,, pipal ki puja kab nahi karni chahie,, tulsi ki puja kab nahi karni chahie,, पीपल की पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, तुलसी की पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, सुबह पूजा कब करनी चाहिए,, pooja kab karni chahiye,, भगवान की पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, तुलसी माता की पूजा कब नहीं करनी चाहिए,, गणगौर पूजन कब है,, chhat puja kab hai,, छठ पूजा कब से शुरू है,, पूजा कब करनी चाहिए,, झाड़ू कब नहीं लगाना चाहिए,, झाड़ू कब नहीं खरीदनी चाहिए,, झाड़ू कब निकालना चाहिए,, झाड़ू कब कब लगाना चाहिए,, नवरात्रि पूजन कब है,, पूजा कब करना चाहिए,, रोजाना पूजा कैसे करनी चाहिए,, व्रत कब नहीं करना चाहिए,, वास्तु पूजन कब करना चाहिए,, pooja karne ki vidhi,, puja karni chahie ya nahin,, शाम को पूजा कब करनी चाहिए,, हवन कब करें,, हवन कब करना चाहिए,, नवरात्रि में 9 दिन पूजा कैसे करेंpooja karne ki vidhi,, navratri ki puja karne ki vidhi,, पूजा करने की विधि हिंदी में,, pooja karne ki vidhi aur mantra,, pooja karne ki vidhi in hindi,, पूजा करने की विधि,, jain pooja karne ki vidhi,, pooja path karne ki vidhi,, pooja karne ki sahi vidhi,, puja karne ki vidhi in hindi,, puja karne ki vidhi,, रोज पूजा करने की विधि,, पूजा करने की विधि और मंत्र,, रोजाना पूजा करने की विधि,, पूजा करने की विधि बताइए,, पूजा करने का विधि,, पूजा करने का विधि बताएं,, पूजा करने की विधि करवा चौथ,, पूजा करने की विधि मंत्र,, teej ka puja karne ki vidhi,, पूजा करने का क्रम,, गणेश पूजा करने की विधि,, गणेश पूजन की विधि,, गणेश पूजा कशी करावी,, घर पर पूजा करने की विधि,, पूजन करने की विधि,, छठ पूजा करने की विधि,, pooja karne ke niyam,, पूजा करने की विधि दिखाइए,, पूजा करने की विधि दिखाएं,, डेली पूजा करने की विधि,, नित्य पूजा करने की विधि,, पूजा करने के नियम,, pooja karne ke fayde,, पूजा करने की विधि बताएं,, यक्ष पूजा विधि,, रोजाना पूजा कैसे करनी चाहिए,, रोज पूजा कैसे करनी चाहिए,, पूजा करने का विधि विधान,, पूजा करने की विधि विधान,, puja karne ki vidhi video,, lakshmi puja karne ki vidhi video,, शिव पूजा करने की विधि,, हमें पूजा कैसे करनी चाहिए,, सिंपल पूजा कैसे करें,,

कि सुबह कितने बजे पूजा करनी चाहिए तो आप किस आर्टिकल को पढ़कर पता लगा सकते हैं कि सुबह कितने बजे पूजा करनी चाहिए हमने इस आर्टिकल में आपको सारे नियमों के साथ सुबह कितने बजे पूजा करनी चाहिए इसके बारे में बताया है चलिए ज्यादा देर ना करते हुए चलिए शुरू करते हैं।

उसके पहले हम आपको बता दें कि हम इस आर्टिकल में किन-किन टॉपिक पर बात करेंगे जैसे की पूजा कब करनी चाहिए सुबह की पूजा के नियम कौन-कौन से हैं सुबह नहाने के बाद ही पूजा करनी चाहिए और पूजा करने के फायदे कौन-कौन से आज हम इन विषयों पर चर्चा करेंगे तो चलिए शुरू करते हैं।

पूजा करने का सही समय | Puja ka sahi samay

पूजा तो सभी लोग करते हैं किसी के भी घर में जा कर देखिए भगवान सबके घर में मिलेंगे इसीलिए पूजा तो सभी लोग करते हैं लेकिन क्या पूजा करने का आपको सही तरीका पता है नहीं पूजा कभी भी दोपहर में 12 से 4 के बीच में नहीं करनी चाहिए पूजा हरदम सुबह प्रातः ब्रह्म मुहूर्त में करनी चाहिए क्योंकि प्रातः ब्रह्म मुहूर्त में पूजा करने से उस पूजा का आपको फल मिलेगा और जो पूजा दोपहर में 12 से 4 के बीच में की जाती है उस पूजा का कोई भी महत्व नहीं होता है।

1. दोपहर में 12 से 4 के बीच में पूजा नहीं करनी चाहिए

अगर आप कभी भी दोपहर में 12 से 4 के बीच में पूजा करते हैं तो पूजा करना बंद कर दीजिए क्योंकि दोपहर में 12 से 4 के बीच में पूजा करने का कोई भी अर्थ नहीं होता है पहली बात तो पूजा करने का सही समय 12 से 4 नहीं है पूजा है हर दम ब्रह्म मुहूर्त में करनी चाहिए क्योंकि ब्रह्म मुहूर्त में पूजा करने से आपको कई सारे लाभ और भगवान का आशीर्वाद मिलेगा जिससे आपकी पूरी जिंदगी खुशियों से भरी रहेगी और आपको कभी भी किसी चीज की कमी नहीं होगी ।

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 872 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

वृश्चिक राशि का भाग्योदय कब होगा : भाग्योदय के आसान उपाय | Vrishchik rashi ka bhagyoday
किसी को जूते से वशीकरण कैसे करें ? बस में कैसे करे ? Top 5 उपाय और मंत्र जाने ! How to hypnotize ‍by shoes in hindi mantra ?

सबसे ज्यादा अहम बात कि सुबह प्रातः काल में उठ कर पूजा करने से आपके जीवन चक्र बहुत ही अच्छे तरीके से चलते हैं क्योंकि जब आप सुबह 3 से 4 के बीच में उठेंगे तो आप पहले स्नान करेंगे स्नान करने के बाद सबसे पहले पूजा के लिए आसन बिछाना है आसन बिछाने के बाद पूजा की सारी सामग्री लेना है सामग्री लेने के बाद पूजा के लिए आराम से बैठकर पूजा को संपन्न करना है। अगर आप रोज ऐसे ही पूजा करेंगे तो आपको उस पूजा का फल भी मिलेगा और आपको सुबह उठने की आदत या फिर पूरा दिन आपका अच्छा रहेगा।

2. रात को 12 से 1 के बीच में पूजा नहीं करनी चाहिए

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

कभी भी पूजा रात को 12 से 1 के बीच में नहीं करनी चाहिए क्योंकि 12 से 1 के बीच में पूजा करने का कोई भी समय नहीं होता पूजा करने का सही समय प्रातः ब्रह्म मुहूर्त में होता है या फिर शाम को सूरज डूबने तक या फिर सूरज डूबने के बाद तक कर लेनी चाहिए उसके बाद पूजा करने का कोई भी समय नहीं होता है.

इसीलिए पूजा का एक नियम बनाने उसी नियम के अनुसार आपका जीवन चक्र भी सही रहेगा और भगवान प्रसन्न होकर आपको आशीर्वाद भी देंगे जिससे आपकी पूरी लाइफ में सब कुछ सही रहेगा और आप बहुत खुश रहेंगे.

सुबह की पूजा के नियम सुबह कितने बजे उठकर पूजा करनी चाहिए | सुबह कितने बजे पूजा करनी चाहिए ?

  1. सुबह सबसे पहले 3 या 4 बजे के बीच में उठे उसके बाद अगर आप एक्सरसाइज करते हैं या टहलने जाते हैं यह जिम जाते हैं तो आप पहले उस क्रिया को समाप्त कर ले.
  2. जब आप टहलने जाते हैं या फिर एक्सरसाइज करते हैं तो आपको रास्ते में कहीं ना कहीं तो फूल दिखाई देंगे पेड़ से तीन-चार फूल पूजा में जितने भी लगते हो ले आइए
  3. घर आने के बाद सबसे पहले स्नान कीजिए स्नान करने के बाद पूजा के लिए पूजा घर में जाइए वहां जाने के बाद अपना आसन बिछाइये।
  4. उसके बाद पूजा में जितनी भी सामग्री लगती है उससे एक जगह इकट्ठा करके रखना फूल हैं धूप बत्ती है दीपक है और भी कई चीजें लगती हैं वह सब इकट्ठा करके रखना इकट्ठा करने के बाद आसन पर आराम से बैठ जाइए बैठने के बाद अपनी अपनी पूजा को धीरे-धीरे आगे की ओर बढ़ाएं पूजा कभी भी जल्दबाजी में नहीं करनी चाहिए।
  5. पूजा कभी भी खड़े होकर नहीं करनी चाहिए आराम से आसन पर बैठकर प्रभु का ध्यान करते हुए पूजा करनी चाहिए।
  6. अगर आप शाम को पूजा करते हैं तो वह तू जा सूर्य अस्त होने तक या सूर्य अस्त होने के बाद 6 से 8 के बीच में करनी चाहिए।

सुबह नहाने के बाद ही पूजा करनी चाहिए

पूजा कभी भी बिना नहाए नहीं करनी चाहिए हमेशा स्नान करने के बाद ही पूजा में बैठे। ऐसा नहीं है पूजा चाहे जो कर रहा हो चाहे मम्मी हो जाए पापा हो कोई भी कर रहा हूं अगर आप स्नान नहीं किए हैं तो पूजा स्थल पर ना बैठे तो ज्यादा अच्छा है।

सुबह पूजा करने के फायदे | Subha puja karne ke fayde

  1. अगर आप सुबह जल्दी उठकर पूजा करते हैं तब आप अच्छे से भगवान का भजन कर पाते हैं और आपके मन के बुरे विचार खत्म हो जाते हैं।
  2. सुबह उठ कर पूजा करने से पूरा दिन अच्छा जाता है और अपने अच्छी नींद आती है।
  3. सुबह जल्दी उठ कर पूजा करने से जीवन में अधिक खुशी होती है और तनाव से मुक्ति मिलती है।

निष्कर्ष

दोस्तों जैसा कि आज मैंने आपको बताया कि सुबह कितने बजे पूजा करनी चाहिए और पूजा कब नहीं करनी चाहिए सुबह की पूजा के नियम सुबह नहाने के बाद ही पूजा करनी चाहिए इन सारे विषयों पर चर्चा की है तो आपको पता चल गया होगा कि सुबह कितने बजे पूजा करनी चाहिए और किन नियमों के द्वारा पूजा करनी चाहिए अगर आपको पता चल गया है।

osir news

कि पूजा कैसे करनी चाहिए तो इन नियमों का पालन जरूर करें फिर देखिए आपकी जिंदगी में कैसे खुशियां ही खुशियां आती हैं दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इन नियमों को फॉलो जरूर करें।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

5 आसान टोटके : नींबू से दुश्मन का खात्मा करे | Nimbu se dushman ka khatma
8 घरेलू नुस्खे : टाइफाइड को जड़ से खत्म करने का इलाज | Typhoid ko jad se khatm karne ka ilaj
पृथ्वी तत्व के लोगों की विशेषताएं और सम्पूर्ण जानकारी – वृषभ,कन्या और मकर राशी के लोगों के बारे में जाने !
पहली बार चुड़ैल और भूत की आवाज सुने : उनका भोजन,रूप और डर | चुड़ैल का आवाज : Chudail ka aawaj
सोमवार मंत्र जाप विधि और लाभ : सर्व कार्य पूर्ण सोमवार बीज मंत्र | सोमवार मंत्र : Somvar mantra
★ सम्बंधित लेख ★