सूर्य को जल देने के फायदे : सूर्य देव को जल देने की विधि और समय | Surya ko jal dene ke fayde

Surya ko jal dene ke fayde : हेलो दोस्तों नमस्कार दोस्तों आज हम आप लोगों को बताने वाले हैं कि सूर्य देव को जल देने के फायदे क्या-क्या हो सकते हैं और सूर्य देव की पूजा कैसे करनी है सूर्य देव की पूजा कैसे करनी है बहुत ही आसान है सूर्य देव की पूजा सुबह 4 बजे उठकर अपना सारा काम खत्म करके स्नान करें स्नान करने के बाद लाल वस्त्र धारण करें.

सूर्य देव की पूजा कैसे करें , सूर्य देव की पूजा कैसे करें, रविवार को सूर्य देव की पूजा कैसे करें, surya dev ki puja kaise karte hain, surya dev ki puja kaise karni chahie, surya dev ki puja kaise kare, surya ki puja kaise karen, surya bhagwan ki puja kaise karte hain, surya dev ki puja kaise ki jaati hai, surya dev ki puja kaise karen, surya dev ki puja kaise hoti hai, surya ki puja kaise hoti hai, surya ki puja kaise kare, surya dev ki puja karne ki vidhi, surya ki puja kaise karen, surya ki puja kaise kare, surya dev ki puja kaise karen, surya devta ki puja kaise karen, surya bhagwan ki puja kaise kare, सूर्य नारायण की पूजा कैसे करें, सूर्य भगवान का पूजा कैसे करें, सूर्य भगवान की पूजा कैसे करें, tulsi ki puja kaise karen, surya ki puja kaise karen, surya ki puja kaise hoti hai, surya ki pooja kaise kare, surya ki puja karne ke fayde, surya bhagwan ki puja kaise karen, tulsi puja kaise karen, surya dev ki puja kaise kare, surya dev ka vrat kaise karen, surya ki puja, सूर्य देव को कैसे खुश करें , सूर्य देव को कैसे खुश करें, surya dev ko khush kaise kare, surya dev ko arghya kaise de, surya dev ko khush karne ke upay, surya bhagwan ko kaise khush kare, surya ko kaise khush kare, surya dev ko kaise prasan kare, surya dev ko kaise prasann karen, सूर्य देव को जल देने की विधि, surya dev ko jal dene ki vidhi, surya ko jal dene ki vidhi aur mantra, surya dev ko jal dene ka tarika, surya dev ko jal dene ke fayde, surya dev ko jal dene ka samay, surya dev ko jal dene wala mantra, surya bhagwan ko jal dene ki vidhi, surya dev ko jal chadhane ki vidhi, surya dev ko jal dene ka mantra, सूर्य देव को जल देने की विधि, surya dev ko jal dene ke fayde, surya dev ko haldi mila jal dene ke fayde, सूर्य देव को जल देने के फायदे, surya ko jal dene ke benefits, surya dev ko jal dene ke fayde, surya dev ko jal dene se kya fayda hota hai, surya dev ko jal dene se kya hota hai, surya dev ko jal chadhane ke fayde, surya devta ko jal dene ke fayde, surya dev ko jal chadane ke fayde, surya ko jal dene ke fayde in hindi, सूर्य को जल देने का सही समय, रविवार को नमक क्यों नहीं खाना चाहिए, सूर्य पूजा मंत्र, रविवार के व्रत की विधि, रविवार व्रत की कथा, सूर्य साधना और अनुभव, रविवार को किसकी पूजा होती है, सूर्य पूजा सामग्री, सूर्य का सबसे प्रभावशाली मंत्र, सूर्य मंत्र, सूर्य मंत्र साधना, सूर्य मंत्र 108 बार जाप, सूर्य मंत्र जल चढ़ाते समय, सूर्य बीज मंत्र के लाभ, सूर्य मंत्र संस्कृत, सूर्य मंत्र अर्थ सहित, surya dev ko jal dene se kya hota hai, surya bhagwan ko jal dene se kya fayda hota hai, सूर्य देव को जल देने से क्या होता है, surya dev ko jal dene se kya hota hai, surya dev ko jal dene se kya fayda hota hai, surya ko jal dene se kya hota hai, surya dev ko jal chadhane se kya hota hai, surya dev ko jal dene ka samay, surya dev ko jal chadhane se kya fayda hota hai, surya dev ko jal dene ke fayde, surya ko jal dene ke benefits, surya ko jal dene se kya labh hota hai, surya dev ko jal me kya dale, surya dev ko jal dene ka tarika, सूर्य को जल देने के फायदे, सूर्य को जल देने का सही समय क्या है, सूर्य देव को जल चढ़ाते समय कौन सा मंत्र बोलना चाहिए, शनि देव को जल चढ़ाने की विधि, सूर्य को जल देने का वैज्ञानिक महत्व, शनिवार को सूर्य भगवान को जल देना चाहिए या नहीं, किस लोटे से जल चढ़ाना चाहिए, जल चढ़ाने से सब काम होता है, surya dev ko jal dene ka tarika, surya bhagwan ko jal dene ka tarika, surya bhagwan ko jal dene ka sahi tarika, सूर्य देव को जल देने का तरीका, surya dev ko arghya kaise de, surya jal kaise de, surya dev ka din, surya devta ko jal kaise de, surya dev ko jal dene ka tarika, surya dev ko jal dene ki vidhi, surya dev ko jal dene ka samay, surya dev ko jal dene ke fayde, surya dev ko jal kaise dete hain, surya dev ko jal kaise chalate hain, surya dev ko jal dene ka mantra, सूर्य को जल देने के नियम, शनिवार को सूर्य भगवान को जल देना चाहिए या नहीं, सूर्य को जल देने के फायदे, सूर्य को अर्घ्य देने का मंत्र, सूर्य को जल किस दिन नहीं चढ़ाना चाहिए, सूर्य को अर्घ्य देने का तरीका, सूर्य को जल चढ़ाने का समय, किस लोटे से जल चढ़ाना चाहिए, सूर्य को जल देने के फायदे, सूर्य को जल देने का मंत्र, सूर्य को जल देने का समय, शनिवार को सूर्य भगवान को जल देना चाहिए या नहीं, सूर्य को जल किस दिन नहीं चढ़ाना चाहिए, सूर्य को अर्घ्य देने का तरीका, तुलसी को जल चढ़ाने का मंत्र, सूर्य को अर्घ्य क्यों देते हैं,

लाल वस्त्र धारण करने के बाद एक तांबे के लोटे में जल भरे जल में थोड़ा सा गंगाजल डालकर उसमें कुमकुम और अक्षत और लाल फूल चंदन लगाकर सूर्य देव को जल अर्पित करें ऐसा करके आप सूर्य देव की पूजा कर सकते हैं और फल प्राप्त कर सकते हैं तो चलिए आज हम आप लोगों को विस्तार से बताएंगे कि सूर्य देव की पूजा कैसे की जाती है और सूर्य देव को जल देने के फायदे कौन-कौन से हैं।

सूर्य देव की पूजा कैसे करें ?

सूर्य देव की पूजा करने के लिए सुबह 4 बजे उठे घर का सारा काम करें झाड़ू पोछा सब करने के बाद स्नान करें और लाल वस्त्र धारण करें तांबे के लोटे में जल ले और उसमें थोड़ा सा गंगाजल डालें और उसमें कुमकुम और अक्षत डालें लाल फूल डालें सूर्य देव को गुड़हल फूल बहुत पसंद है.

तो आप हो सके तो गुड़हल का फूल ले और लोटे में चंदन लगाएं उसके बाद अपने दाहिने हाथ से सूर्य भगवान को जल अर्पित करें और जल को अर्पित करने के बाद पहले गुड़ का भोग लगाएं या फिर मिठाई का भोग लगाएं और जल अर्पित करते समय आपको गायत्री मंत्र का जाप करना होगा या फिर आप ओम सूर्याय नमः मंत्र का जाप कर सकते हैं।

सूर्य देव भगवान को जल देते समय क्या बोलना चाहिए ?

अग्नि पुराण के अनुसार गायत्री मंत्र का जाप करते हुए सूर्य देव की उपासना करने और उन्हें जल चढ़ाने से वह खुश होते हैं भक्तों को मनचाहा फल प्रदान करते हैं सूर्य देव कलयुग के साक्षी देव हैं इसीलिए इनकी पूजा करने और फल चढ़ाने का खास महत्व होता है ऋग्वेद के अनुसार सूर्य देव पापों से मुक्ति दिलाने रोग का नाश करने आयु और सुख में वृद्धि कराने और गरीबी दूर करने की अपार शक्ति है

ऋग्वेद के अनुसार सूर्य देव की आराधना इसलिए की जानी चाहिए क्योंकि वह मानव के सभी कर्मों के साक्षी हैं इसीलिए हमें सूर्य देव को जल देते समय वह मंत्र बोलना चाहिए ओम भूभुर्वः स्व: तत्सवितुर्वरेंयं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो न प्रचोदयात् और ओम सूर्याय नमः का जाप करना चाहिए।


ब्रह्म पुराण के अनुसार सूर्य देव सब सृष्टि देवता है इनकी उपासना करने वाले भक्तों जो भी सामग्री अर्पित करते हैं भगवान सूर्य देव उसे लाख गुनाह करके लौट आते हैं। शाकन्द पुराण के अनुसार सूर्य देव को जल चढ़ाए बिना भोजन करना पाप कार्य के समान माना जाता है।

सूर्य देव को कैसे खुश करें ?

  1. पूजा में सूर्य देव को लाल पुष्प और लाल चंदन गुड़हल का फूल और चावल अर्पित करें गुड़ जब गुड़ की बनी मिठाई का भोग लगाएं पवित्र मन से सूर्य मंत्र का जाप करने से सूर्य देवता प्रसन्न होते हैं। और ओम सूर्याय नमः मंत्र का जाप करने से सूर्य देवता प्रसन्न होते हैं।
  2. रविवार को व्रत रखने से सूर्य देवता खुश होते हैं। तथा सुबह सूर्य उदय होने से पहले उठकर स्नान करके जल अर्पित करने से सूर्य देवता प्रसन्न होते हैं यह सब उपाय करने से सूर्य देवता प्रसन्न होकर फल देते हैं।
  3. ब्राम्हण के अधिपति ग्रहों में सर्वश्रेष्ठ रोग नाशक शक्ति के राजा सूर्यदेव इन की विशेषताओं का गुणगान जितना किया जाए कम है सूर्य की किरणें ही पृथ्वी पर प्राकृतिक स्रोत है वही हिंदू धर्म में सूर्य को देवता माना जाता है।

सूर्य देव को जल देने की विधि

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

हमारे हिंदू धर्म में सूर्य देव को जल देने की विशेष महिमा बताई गई है वैदिक काल से ही सूर्य देव की उपासना होती आ रही है विष्णु पुराण , ब्रह्म पुराण , भगवत पुराण , नारद पुराण में भी इसकी चर्चा विस्तार पूर्वक बताई गई है ऐसा माना जाता है कि सूर्य देव की अपर दृष्टि से रोग और दुख नष्ट हो जाते हैं. सूर्य ग्रहण का हमारी कुंडली में विशेष महत्व माना जाता है साथ ही वह नवग्रह के राजा माने जाते हैं.

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 895 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

श्मशान साधना क्या है? श्मशान साधना कैसे करे ? Samsan sadhna Mantra
गर्लफ्रेंड को खुश कैसे करें ? 7 बेहतरीन टिप्स How to make your girlfriend happy?

सुबह जल्दी उठे नित्य क्रियाओं से आप मुक्त हो जाएं स्नान आदि करके और लाल रंग के वस्त्र पहन ले और तांबे के लोटे में जल भरे और उस जल में अक्षत और कुमकुम डालें लाल रंग के फूल डालें और लोटे में चंदन लगाएं और उसके बाद जल अर्पित करें जल अर्पित करते समय गायत्री मंत्र का उच्चारण करें या फिर कुछ आप ओम सूर्याय नमः मंत्र का जाप भी कर सकते हैं।

सूर्य देव को जल कितने बजे देना चाहिए

शास्त्रों के अनुसार भगवान सूर्यदेव आत्मा के कारक और पंचदेव में एक स्थान आता है ये भगवान सूर्य देव पंचदेव में से एक देवता है जो प्रत्यक्ष रूप में हमें दिखाई देते हैं हम इनका दर्शन करके इन्हें प्रतिदिन प्रणाम कर के अर्गा दे सकते हैं हम इनसे अपने मन की कामना कर सकते हैं.

भगवान सूर्य देव की पूजा करके हमें बहुत लाभ प्राप्त होता है और ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माना जाता है कि 43 दिन में मंकी कोई भी मनोकामना भगवान सूर्य देव पूरी कर देते हैं और भगवान सूर्य देव को अगर हम जल देते हैं तो वह पूर्ण हो जाते हैं इसीलिए जब हम सूर्य देव की प्रथा चाहते हैं तो हमें प्रतिदिन सूर्य उदय से पहले उठना चाहिए और स्नान करके सूर्य देव को जल अर्पित करना चाहिए.

तांबे के लोटे में कुमकुम और अक्षत डालकर सूर्य देव को प्रतिदिन जल अर्पित करें जब भी सूर्य उदय हो तब ही प्रातः काल जल अर्पित करना चाहिए शास्त्रों के अनुसार सुबह 5 बजे सूर्य देव को जल देना चाहिए यह शुभ माना जाता है।

सूर्य को जल देने के फायदे | Surya ko jal dene ke fayde

  1. जिन लोगों की कुंडली में सूर्य कमजोर हो उन्हें हर रोज सूर्य उदय होने पर जल चढ़ाना चाहिए इससे उनका आत्मविश्वास मजबूत होता है और साथ ही कुंडली में कमजोर सूर्य मजबूत होता है।
  2. सूर्य देव को जल चढ़ाने के लिए हर रोज सुबह उठकर स्नान करने के बाद तांबे के लोटे में जल भरे उसमें कुमकुम और अक्षत डालकर सूर्य देव को जल अर्पित करना चाहिए।
  3. सूर्य देव को जल देने से समाज में मान सम्मान और प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी होती है।
  4. सूर्य देव को जल देते समय अपना मुख पूर्व दिशा की ओर रखना चाहिए। अग्नि सूर्य की तरफ अपना मुख रखना चाहिए।
  5. सूर्य को जल देते समय ओम सूर्याय नमः मंत्र का जाप करना चाहिए इससे बहुत ही लाभ मिलता है। और ऐसा करने से सूर्य देव आपकी सारी समस्याओं को खत्म कर देते हैं।
  6. सूर्य देव को जल देने से हमारा स्वास्थ्य कभी भी नहीं बिगड़ता है और हम हमेशा स्वस्थ वा तंदुरुस्त रहते हैं।
  7. अगर आपको कार्य सफलता में आपको उन्नति चाहिए तो रोज सुबह उठकर सूर्य देव को जल देने से आपको अपने कार्य में सफलता मिलेगी। अग्नि की सूर्य देव को जल चढ़ाने से नौकरी से संबंधित
  8. कोई भी परेशानी नहीं होगी। चाहे वह कोई भी नौकरी हो चाहे वह सरकारी ही क्यों ना हो।
  9. सूर्य देव को जल चढ़ाने से सारे ग्रह कंट्रोल में आ जाते हैं उससे आपको ग्रह से संबंधित कोई भी परेशानी नहीं होगी।
  10. जिन लोगों के अपने पिता से संबंध ठीक नहीं होते काफी घरों के अंदर पिता और पुत्र में लड़ाई झगड़े होते रहते हैं आपस में विचार नहीं मिलते इसलिए सूर्य देव को जल चढ़ाने से पिता और पुत्र के संबंध ठीक हो जाते हैं।

FAQ : सूर्य को जल देने के फायदे

Q. सूर्य देव को जल देते समय कौन सा मंत्र बोला जाता है

Ans: सूर्य देव को जल देते समय ओम सूर्याय नमः का जाप करना चाहिए या फिर आप गायत्री मंत्र का जाप भी कर सकते हैं।

Q. सूर्य भगवान को कैसे खुश करें ?

Ans: सूर्य देव को खुश करने के लिए सूर्य देव की वस्तुओं का दान करें और मंत्र जाप करें सूर्य देव यंत्र की स्थापना करें सूर्य देव का हवन करें इससे सूर्य देव बहुत जल्द ही प्रसन्न हो जाते हैं.

Q. सूर्य को जल देने वाले लोटे में क्या डालें?

Ans: सूर्य देव को जल देने वाले लोटे में कुमकुम और अक्षत डालें लाल फूल डालें और चंदन लगाकर सूर्य देव को जल अर्पित करें।

osir news

निष्कर्ष

दोस्तों आपने आज देखा जैसे कि मैंने आप लोगों को आज सूर्य देव को जल देने के फायदे बताएं और यह भी बताया कि सूर्य देव को किस तरह से आप प्रसन्न कर सकते हैं और किन किन मंत्रों द्वारा आप उन्हें प्रसन्न कर सकते हैं हमने आपको इसमें सूर्य देव को खुश करने के लिए मंत्र भी बताया है और सूर्य देव की पूजा विधि भी बताई है अगर आपको भी सूर्य देव की पूजा करनी है तो इस आप भी इस आर्टिकल को पढ़कर आप जान सकते हैं कि सूर्य देव की पूजा कैसे की जाती है।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

श्री सूक्त के 16 मंत्र और संपूर्ण पाठ विधि एवं जाप के लाभ | sri suktam ke 16 mantra
पेट के रोग दूर करने का मंत्र एवं प्रयोग विधि और घरेलू नुस्खे | Pet Ke Rog Dur karne ka Mantra
सपने में क्लासमेट को देखना फल दायक होगा या मिलेगी हर तरफ से असफलता | Sapne me classmate ko dekhna
गुस्सा कम करने का मंत्र : गुस्सा शांत करने का मंत्र और 8 आसान उपाय | Gussa shant karne ka mantra
शुभ दिन के लिये सुबह उठकर किस भगवान का नाम लेना चाहिए ? | Subah uth kar kis bhagwan ka name lena chahiye
★ सम्बंधित लेख ★