गुरु यंत्र, गुरु यंत्र लॉकेट, यंत्र बनाने का तरीका, बीसा यंत्र की अंगूठी, बृहस्पति यंत्र, श्री यंत्र बनाने की विधि, कनकधारा यंत्र का चित्र, 15 का यंत्र बनाने की विधि, brihaspati yantra, brihaspati yantra benefits, brihaspati yantra benefits in hindi, brihaspati yantra locket , brihaspati yantra image, brihaspati mantra, how to make brihaspati yantra, guru yantra , guru yantra benefits , गुरु मंत्र के फायदे, गुरु बनाने के फायदे, गुरु दीक्षा के नियम, गुरु मंत्र के नियम, गुरु मंत्र जाप विधि, गुरु जी के मंत्र, गुरु मंत्र बताइए, मंत्र जाप के लाभ, मानसिक जप के लाभ, गुरु यन्त्र बेनिफिट्स, गुरु यंत्र धारण करने की विधि, यंत्र बनाने का तरीका, शुक्र यंत्र, कुबेर यंत्र कैसे बनाएं, Guru Yantra - गुरु यंत्र, गुरु यंत्र धारण करने की विधि,

गुरु यंत्र या बृहस्पति यन्त्र क्या है ? गुरु मंत्र के लाभ एवं स्थापना विधि क्या है ? बीज मंत्र और उपयोग guru yantra benefit and mantra Hindi

❤ इसे और लोगो (मित्रो/परिवार) के साथ शेयर करे जिससे वह भी जान सके और इसका लाभ पाए ❤
( कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया )

☛❤ मन पसंद & नये लेख पढ़े ❤☚

नवग्रहों में गुरु ग्रह को सबसे शुभ ग्रह माना जाता है यह ग्रह जिस की कुंडली में अच्छी स्थिति में रहता है उसे दीर्घायु धन लाभ परिवार का साथ तथा कन्या के लिए अच्छे जीवन साथी की प्राप्ति होती है । guru yntra benefit and use kaese kare ?

जिस किसी व्यक्ति की कुंडली में गुरु अशुभ स्थिति में होता है उनके लिए बहुत सारी समस्याएं उत्पन्न होती हैं तथा पारिवारिक झगड़े भी होते हैं कन्या के विवाह में देरी मान प्रतिष्ठा में कमी तथा व्यर्थ के झगड़े विवाद होते रहते हैं।

गुरु ग्रह या बृहस्पति ग्रह विवाह नौकरी ज्ञान परिवार आदि के लिए होता है। गुरु की स्थिति में होने की वजह से अशुभ प्रभाव होते हैं ऐसे ही गुरु यंत्र की सहायता से अशुभ प्रभाव को कम किया जा सकता है।! यह पोस्ट आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है !

गुरु यंत्र, गुरु यंत्र लॉकेट, यंत्र बनाने का तरीका, बीसा यंत्र की अंगूठी, बृहस्पति यंत्र, श्री यंत्र बनाने की विधि, कनकधारा यंत्र का चित्र, 15 का यंत्र बनाने की विधि, brihaspati yantra, brihaspati yantra benefits, brihaspati yantra benefits in hindi, brihaspati yantra locket , brihaspati yantra image, brihaspati mantra, how to make brihaspati yantra, guru yantra , guru yantra benefits , गुरु मंत्र के फायदे, गुरु बनाने के फायदे, गुरु दीक्षा के नियम, गुरु मंत्र के नियम, गुरु मंत्र जाप विधि, गुरु जी के मंत्र, गुरु मंत्र बताइए, मंत्र जाप के लाभ, मानसिक जप के लाभ, गुरु यन्त्र बेनिफिट्स, गुरु यंत्र धारण करने की विधि, यंत्र बनाने का तरीका, शुक्र यंत्र, कुबेर यंत्र कैसे बनाएं, Guru Yantra - गुरु यंत्र, गुरु यंत्र धारण करने की विधि,

गुरु यंत्र / बृहस्पति यन्त्र के क्या फायदे और लाभ है ? What are the advantages and benefits of Guru yntra / Brihaspati yntra?

  • गुरु यंत्र की पूजा करने से व्यक्ति को बृहस्पति देव की शक्तियां प्राप्त हो जाती हैं और उसे धन समृद्धि व्यापार कारोबार में लाभ प्राप्त होता है।
  • गुरु यंत्र की पूजा उपासना करने से नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो जाती है और सकारात्मक शक्ति का संचार होता है।
  • छात्र तथा प्रतियोगी परीक्षा देने वाले लोगों के लिए गुरु यंत्र का प्रयोग लाभदायक सिद्ध होता है।
  • इस यंत्र के पूजा अर्चना और स्थापना करने से शुभ प्रभाव पड़ता है जिससे जातक को मान सम्मान धन समृद्धि जीवन में सुख शांति प्राप्त होती है।
यह भी पढ़े :   धन प्राप्ति के 5 अचूक सफल उपाय / साधना जाने ! रुद्राक्ष और लक्ष्मी की पूजा कैसे करे ? Top 5 ways to get money Easily in hindi

गुरु यंत्र की फोटो

  • वैवाहिक जीवन में आने वाली सभी प्रकार की समस्याएं इस यंत्र की पूजा करने से समाप्त हो जाती हैं।
  • इस यंत्र के शुभ प्रभाव से जातक को मान-सम्मान, धनलाभ और जीवन में सुख-शांति आदि प्राप्त होती है।
  • जिन लोगों का विवाह होने में देरी हो रही है ऐसे लोगों को गुरु यंत्र की स्थापना करने से शीघ्र लाभ मिलता है और वैवाहिक दोष दूर हो जाते हैं |

यह भी पढ़े :

गुरु यंत्र स्थापित करने के लिये ध्यान रखने योग्य आवश्यक बातें क्या है ? What are the important things to keep in mind to install Guru Yantra?

इस यंत्र को स्थापित करने के लिए सबसे पहले शुद्धिकरण प्राण प्रतिष्ठा करना आवश्यक है जिससे लाभ अधिक प्राप्त होता है क्योंकि बिना गुरु यंत्र विशेष लाभ प्रदान नहीं कर पाता है |

guru yntra picture

इसलिए इस यंत्र को स्थापित करने से पहले विधिवत प्राण प्रतिष्ठा करवाना जरूरी है यदि आप किसी से खरीद रहे हैं तो किसी योगी गुरु से सलाह लेकर ही यंत्र खरीदें।

गुरु यंत्र की स्थापना बृहस्पतिवार के दिन ही करना चाहिए।

गुरु यंत्र / बृहस्पति यन्त्र की स्थापना विधि क्या है ? What is the installation method of Guru Yantra / Brihaspati Yantra?

गुरु यंत्र स्थापित करने से पहले प्रातः काल नित्य कर्मों से निवृत्त होकर स्नान करके गुरु यंत्र को पूजा स्थान पर रखकर गुरु मंत्र को 21 बार जाप करें।

इसके बाद गुरु मंत्र को गोमूत्र गंगाजल और कच्चे दूध से स्नान करवाकर भगवान बृहस्पति के सामने हाथ जोड़कर शुभ फल के लिए प्रार्थना करें।

गुरु यंत्र स्थापित करने के बाद पीले रंग के फूल फल और मिठाई अर्पित करें बेसन की बनी चीजें भी अर्पित करते हैं।

गुरु यंत्र स्थापित करने के बाद प्रतिदिन नियमित रूप से स्नान आदि करके पूजा करनी चाहिए तथा मंत्र जाप करना चाहिए।

brahspati yntra ki photo image and picture

गुरु यंत्र का बीज मंत्र क्या होता है ? What is the seed mantra of Guru Yantra ??

“ऊँ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरुवे नम:”

गुरु यंत्र के प्रमुख लाभ क्या है ? What are the major benefits of Guru Yantra?

  • इस यंत्र को स्‍थापित करने से गुरु के शुभ प्रभाव की प्राप्‍ति होती है।
  • इस यंत्र को धारण करने वाला व्‍यक्‍ति निष्‍ठावान और ईमानदार बनता है।
  • इसे स्‍थापित करने से व्‍यक्‍ति में आध्‍यात्‍मिक रुचि बढ़ती है।! यह पोस्ट आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है !

गुरु यंत्र धारण करने की विधि क्या है ? how to wear Guru Yantra?

गुरु यंत्र को पीले धागे में तथा पीले कपड़े में सील कर बृहस्पतिवार के दिन सूर्य उदय होने के 2 घंटे बाद तथा पूर्व दिशा की ओर मुख करके गले में धारण करना चाहिए। इस यंत्र को धारण करने के बाद व्यक्ति के अंदर अद्भुत परिवर्तन के साथ चरित्र में बदलाव होने लगता है।

यह भी पढ़े :   किसी को जूते से वशीकरण कैसे करें ? बस में कैसे करे ? Top 5 उपाय और मंत्र जाने ! How to hypnotize ‍by shoes in hindi mantra ?

-: चेतावनी disclaimer :-

सभी तांत्रिक साधनाएं एवं क्रियाएँ सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से दी गई हैं, किसी के ऊपर दुरुपयोग न करें एवं साधना किसी गुरु के सानिध्य (संपर्क) में ही करे अन्यथा इसमें त्रुटि से होने वाले किसी भी नुकसान के जिम्मेदार आप स्वयं होंगे |

हमारी वेबसाइट OSir.in का उदेश्य अंधविश्वास को बढ़ावा देना नही है, किन्तु आप तक वह अमूल्य और अब तक अज्ञात जानकारी पहुचाना है, जो Magic (जादू)  या Paranormal (परालौकिक) से सम्बन्ध रखती है , इस जानकारी से होने वाले प्रभाव या दुष्प्रभाव के लिए हमारी वेबसाइट की कोई जिम्मेदारी नही होगी , कृपया-कोई भी कदम लेने से पहले अपने स्वा-विवेक का प्रयोग करे !  

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेअर करे, क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे|


💕❤ इसे और लोगो (मित्रो/परिवार) के साथ शेयर करे जिससे वह भी जान सके और इसका लाभ पाए ❤💕

आप को यह पोस्ट कैसी लगी  हमे फेसबुक पेज पर अवश्य बताये या फिर संपर्क करे |

यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले |

यदि मन में कोई प्रश्न या जानकारी है तो संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उसका जवाब देंगे |

हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने के लिए धन्यवाद !
( कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया )

☛❤ मुख्यपेज पर जाये या अपना मनपसन्द टॉपिक चुने ❤☚

✤ यह लेख भी पढ़े ✤

second entry