कन्या राशि का भाग्योदय मंत्र और भाग्योदय के आसान उपाय | Kanya rashi ka bhagyoday mantra

कन्या राशि का भाग्योदय मंत्र kanya rashi ka bhagyoday mantra : दोस्तों हिंदू सनातन धर्म के अनुसार 12 प्रकार की राशियों का वर्णन है जिनके अनुसार लोगों का इन्हीं राशियों से नामकरण किया जाता है। जब भी व्यक्ति का जन्म होता है तो ग्रह नक्षत्र कुंडली आदि को ध्यान में रखकर राशि के अनुसार नाम रखा जाता है और इस राशि के जातकों के लिए कुछ मंत्रों का वर्णन भी किया जाता है.

कन्या राशि का भाग्योदय मंत्र

जिनके जब तक करने से व्यक्ति के जीवन में कई प्रकार की समस्याओं से छुटकारा मिलता है। कन्या राशि का भाग्योदय मंत्र श्री गणेशाय नमः प्रमुख होता है। राशियों का विस्तार एक चक्र के रूप में किया गया है जिसमें कन्या राशि का चक्र 150 से 180 अंश तक होता है इस राशि के स्वामी बुध है। यह राशि दक्षिण दिशा की घोतक है और यह राशि के क्रम में छठवीं राशि हैं राशि का प्रतीक चिन्ह फूल की डाली लिए हुए कन्या होती है इस राशि के तीन द्रेष्काणों के स्वामी बुध, शनि और शुक्र हैं।

इस राशि के द्रेष्काणों के स्वामी के अंतर्गत उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र के दूसरे तीसरे और चौथे चरण के पहले दो चरण और हस्त नक्षत्र के चारों चरण होते हैं उत्तराफाल्गुनी के दूसरे चरण के सामने सूर्य और शनि हैं यह जातक को कार्यों के प्रति महत्वाकांक्षा को पैदा करते हैं।

तीसरे चरण के स्वामी भी सूर्य और शनि है जिनके प्रभाव से जातक के ऊपर अलगाव की स्थिति उत्पन्न करते हैं और चौथा चरण जातक के अंदर ऐसी भावनाओं को जन्म देता है जिससे व्यक्ति दिल से भावुक होता है इस जात के जातक ज्यादातर संकोची शर्मीले स्वभाव के होते हैं। कन्या राशि के जातक जमीन और सेवा से संबंधित कार्य के लिए अधिक लगाव रखते हैं इनके अंदर सेवा भावना होती है।

कन्या राशि के लिए भाग्योदय मंत्र | Kanya rashi ke liye bhagyoday mantra

दोस्तों पर कन्या राशि के लिए भाग्योदय मंत्र की बात की जाए तो जिस प्रकार से अन्य राशियों के कई अलग-अलग भाग्योदय मानते हैं उसी प्रकार से कन्या राशि का भी एक अलग मंत्र है जिससे इस राशि के जातकों का भाग्य प्रबल हो जाता है यह मंत्र जाप करने से व्यक्ति के जीवन में सभी प्रकार के कष्ट दूर हो जाते हैं।

KANYA VIRGO RASHI


कन्या राशि के जातकों को अगर अपना भाग्य तेज करना है तो उनको नीचे दिए जा रहे मंत्र का जाप प्रतिदिन करना चाहिए जिससे आने वाली सभी बाधाएं दूर रहेंगे और भाग्य प्रबल रहेगा। मंत्र इस प्रकार है

1. कन्या राशि का भाग्योदय मंत्र

‘ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम:’

‘ॐ शुं शुक्राय नम:’

2. विघ्न बाधाओं को दूर करने के लिए

Ganesha

विघ्न बाधाओं को दूर करने के लिए कन्या राशि के लिए भाग्योदय मंत्र भगवान गणेश की इस मंत्र का जाप करना चाहिए।

श्री गणेशाय नमः

3. हनुमान जी का मंत्र

अगर कन्या राशि के जातक हनुमान जी की पूजा करना चाहते हैं तो उनको नीचे दिए गए हनुमान जी का मंत्र जाप करना चाहिए। अगर आपकी राशि कन्या है. तो आपको हनुमान जी का

“अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहं दनुजवनकृशानुं ज्ञानिनामग्रगण्यम्, सकलगुणनिधानं वानराणामधीशं रघुपतिप्रियभक्तं वातजातं नमामि”

4. कन्या राशि के लिए भाग्योदय शिव मंत्र

शिवजी का चाँद

अगर कोई भी जातक भगवान शिव की आराधना करता है और उसकी राशि कन्या है तो कन्या राशि के जातकों को भगवान शिव के लिए इस भाग्योदय मंत्र का जाप करना चाहिए.


इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 865 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

उपहार में क्या देना चाहिए : जाने कब, किसको और क्या गिफ्ट दे Gift me kya de
लड़की / गर्लफ्रेंड को बर्थडे पर कौन सा गिफ्ट दें? 7 Girl gift ideas / Which gift to give to girlfriend on birthday in hindi ?

‘ॐ नमो शिवाय कालं ॐ नम:’


5. धन लाभ के लिए कन्या राशि का भाग्योदय मंत्र

कन्या राशि के जातकों को धनलाभ प्राप्त करने के लिए प्रत्येक दिन प्रातः काल और शाम के समय नीचे दिए गए मंत्र का जाप करना चाहिए क्योंकि यह मंत्र कन्या राशि के लिए है और कन्या राशि के स्वामी बुध ग्रह हैं ऐसे में इस मंत्र का जाप लाभ प्राप्त करता है।


( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

‘ॐ गं गणपते नम:’


6. पति पत्नी में प्रेम के लिए कन्या राशि का भाग्योदय मंत्र

marriage

अगर कन्या राशि पति पत्नी है तो उनको अपने प्रेम को बनाए रखने के लिए शनि देव के मंत्र का जाप करना चाहिए।


ॐ शन्नोदेवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये।

शंयोरभिश्रवन्तु नः।

ऊँ शं शनैश्चराय नमः।

ऊँ नीलांजनसमाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम्‌।


कन्या राशि के भाग्योदय के लिए उपाय | Kanya rashi ka bhagyoday ke liye upay

डिशूम कन्या राशि का भाग्योदय के लिए मंत्र के साथ-साथ अन्य उपाय भी काफी लाभदायक हो जाते हैं यह उपाय मंत्रों के साथ-साथ करने से भाग्य में बड़ा परिवर्तन आता है और व्यक्ति के जीवन में कई प्रकार से खुशहाली आ जाती है आइए हम आपको कुछ भाग्योदय के लिए ऐसे उपाय बता रहे हैं जिनको अगर हम जीवन में करते हैं तो हमारे लिए एक अलग लाभ प्राप्त होता है।

KANYA VIRGO RASHI

  1. कन्या राशि के जातकों को अपनी कनिष्ठा उंगली में हीरा रत्न पहनना चाहिए और ज्योतिष से सलाह लेना भी आवश्यक होता है।
  2. कन्या राशि के लिए भाग्योदय के मंत्र के साथ अगर जातक अपनी जन्म नक्षत्र वाले दिन पीपल के वृक्ष के नीचे बैठकर स्नान करता है तो भाग्य में परिवर्तन आता है
  3. यदि जातक का जन्म किस नक्षत्र में जिस दिन हुआ है उस दिन या शुक्रवार के दिन पीपल के वृक्ष पर दूध चढ़ाता है तो भाग्य में परिवर्तन आ जाता है।
  4. कन्या राशि वाले लोग अगर प्रत्येक शुक्रवार को प्रातः पीपल के वृक्ष के चारों ओर सात परिक्रमा प्रतिदिन करते हैं तो भाग्य प्रबल हो जाता है
  5. कन्या राशि के लिए भाग्योदय मंत्र के रूप में उपाय भी किसी मंत्र से कम नहीं है ऐसे में अपने भाग्योदय के लिए अगर जातक पीपल के वृक्ष के नीचे शुक्रवार के दिन कपूर जलाता है तो भाग्य में परिवर्तन दिखाई देता है।
  6. इसके अलावा अगर पीपल के वृक्ष के नीचे प्रत्येक शुक्रवार आटे की पंजीरी डाल देते हैं तो भी आपका भाग्य परिवर्तन करता है।

कन्या राशि के भाग्य उदय के लिए क्या दान करें ?

कन्या राशि के जातकों को अगर किसी भी प्रकार की जीवन में समस्या होती है तो वह अपने जीवन की समस्याओं को दूर करने के लिए कुछ वस्तुएं दान करें जिससे भाग्य चमक उठेगा दान करने के लिए निम्नलिखित वस्तुएं दान स्वरूप आती हैं

आभूषण, सुगंधित द्रव्य, श्वेत मिट्टी, कामधेनु गाय, दही, चि‍ड़‍िया, अभ्रक, आलू, श्वेत पत्थर, घी, ज्वार, हीरा, सोना, चांदी, चावल, मिश्री, दूध, सफेद वस्त्र, सफेद फूल, सुगंधित दही, सफेद घोड़ा, सफेद चंदन, अन्न आदि का दान करना चाहिए.

निष्कर्ष

भारतीय सनातन धर्म में राशियों का बहुत बड़ा योगदान है प्रत्येक मनुष्य की कोई न कोई राशि होती है जो कि उसे प्रभावित करती है इन राशियों में अगर आपकी राशि कन्या है तो ऐसे में कन्या राशि का भाग्योदय का मंत्र जाप करना पड़ता हैं। हालांकि सभी राशियां अलग-अलग व्यक्तियों के ऊपर ग्रहों के अनुसार प्रभाव डालती हैं इसलिए हर राशि के लिए अलग-अलग मंत्र की जाप करने के लिए शास्त्रों में वर्णन है।

osir news

इस आर्टिकल में कन्या राशि का भाग्योदय मंत्र दिया गया है जिसको अपनी परेशानियों के अनुरूप जाप कर सकते हैं और समस्या से निजात पा सकते हैं ऐसे जातक जो कन्या राशि वाले हैं उनको दिए गए मंत्रों का जाप विधि विधान से करना चाहिए।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

सपने में छोटे बच्चे को पोट्टी या लैट्रिन करते हुए देखना का मतलब क्या होता है ?
घर पर जुआ जीतने का ताबीज बनाये 9 आसान तरीके और मंत्र | Jua jitne ka taweez | jua jitne ka tabij
एसआई का फुल फॉर्म : एसआई की सैलरी कितनी होती है? | Sub inspector meaning in hindi
टोना टोटका काला-जादू और वशीकरण दूर करने के सफल उपाय How to Successfully remove black magic in hindi
बालों का तेल बनाने के घरेलू विधि : काले-लंबे-घने और झड़ने से भी रोके | बालों के लिए तेल बनाने की विधि : Balon ke liye banane ki vidhi
★ सम्बंधित लेख ★