असली नीलम रत्न कहां से खरीदें ? : सही धारण विधि और फायदे-नुकसान | Neelam ratna kahan se kharide

नीलम रत्न कहां से खरीदें ? | Neelam ratna kahan se kharide : नमस्कार दोस्तों हार्दिक स्वागत है आपका आज के लेख में आज इस लेख में हम आप लोगों को नीलम रत्न कहां से खरीदें इसके विषय में जानकारी देने वाले हैं दोस्तों राशियों के विषय में तो सभी लोग जानते ही होंगे की राशियां कुल 12 होती हैं और इन 12 राशियों में से कुछ राशियों का संबंध शनि ग्रह से है.

शनि ग्रह का महत्वपूर्ण रत्न नीलम होता है जिसे शनि की स्थिति अशुभ होने पर धारण किया जाता है रत्न शास्त्र में ऐसा बताया गया है कि अगर किसी जातक की कुंडली में शनि ग्रह का अशुभ प्रभाव चल रहा हो और ऐसे में वह शनि ग्रह के महत्वपूर्ण नीलम रत्न को उचित विधि द्वारा धारण करें.

नीलम रत्न कहां से खरीदें, Neelam ratna kahan se kharide, नीलम रत्न धारण करने की विधि, Neelam ratna dharan karne ki vidhi, नीलम रत्न कहां से खरीदें, नीलम रत्न कहाँ पाया जाता है, neelam kaha se kharide, नीलम रत्न क्या है, Neelam ratna kya hai, असली नीलम रत्न की पहचान, asli Neelam ratna ki pahchan, नीलम रत्न धारण करने से लाभ, Neelam ratna dharan karne se Labh, असली नीलम रत्न कहां मिलेगा , Asli Neelam ratna Kahan Milega,

तो उसकी कुंडली से शनि ग्रह का अशुभ प्रभाव हमेशा के लिए दूर हो जाता है इसीलिए इस लेख में हम बताएंगे कि नीलम रत्न कहां से खरीदें ?,नीलम रत्न क्या है ?,असली नीलम रत्न कहां मिलेगा ?, नीलम रत्न खरीदते समय कौन सी बातों का ध्यान रखना आवश्यक होता है.

इसके विषय में हमने इस लेख में जानकारी दी है इसके अलावा नीलम रत्न धारण करने की सही विधि एवं नीलम रत्न धारण करने से क्या लाभ एवं हानि होती है इसके विषय में हमने इस लेख में विस्तार पूर्वक संपूर्ण जानकारी दी है अगर आप में से कोई व्यक्ति शनि ग्रह के अशुभ प्रभाव से पीड़ित है.

एवम वह नीलम रत्न के विषय में जानकारी प्राप्त करके इस रत्न को धारण करना चाहता है तो हमने इस लेख में इसके विषय की समस्त जानकारी दी है जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे द्वारा दिए गए इस लेख को ध्यान पूर्वक अंदर तक अवश्य पढ़ें.

नीलम रत्न क्या है ? | Neelam ratna kya hai ?

नीलम रत्न का रत्न शास्त्र में एक विशेष महत्व है इस रत्न को शनि ग्रह की स्थिति कमजोर होने पर धारण किया जाता है जहां तक हम जानते हैं इस बात को सभी लोग जानते ही होंगे की राशियां कुल 12 होती हैं और प्रत्येक राशि का किसी ग्रह एवं रत्न से संबंध है मकर, वृष ,कुंभ, तुला, वृश्चिक,एवम मिथुन ऐसी राशिया हैं.

जिनका संबंध नीलम रत्न से है क्योंकि इन राशियों के स्वामी शनि ग्रह है और शनि ग्रह का संबंध नीलम रत्न से होता है जिसकी वजह से यह राशिया भी नीलम रत्न से जुड़ी हुई है रतन शास्त्र में जब किसी राशि पर उस राशि के ग्रह का अशुभ प्रभाव पड़ने लगता है.

neelam ratna

तो उस अवस्था में उस राशि के महत्वपूर्ण रत्न को धारण करने की सलाह दी जाती है कुंडली में ग्रह का अशुभ प्रभाव होने पर यदि अपनी कुंडली एवं राशि के अनुसार रत्न को धारण किया जाए तो उस ग्रह का अशुभ प्रभाव कुंडली से समाप्त हो जाता है.

नीलम रत्न का भी सभी रत्न में एक अलग महत्व है इस रत्न को शनि ग्रह की स्थिति खराब होने पर पहनने की सलाह दी जाती है अगर कोई जातक ऐसा है जिनकी कुंडली में शनि ग्रह का अशुभ प्रभाव चल रहा है तो वह किसी पुरोहित से पूछ कर नीलम रत्न को पहन सकता है.

नीलम रत्न कहां से खरीदें ? | Neelam ratna kahan se kharide ?

नीलम रत्न का रत्न शास्त्र में एक विशेष महत्व है इस रत्न को सर्वाधिक धारण किए जाने वाले रत्न में से एक माना जाता है ऐसा कहा जाता है की नीलम रत्न धारण करने से जातक को कई तरह के लाभ प्राप्त होते हैं नीलम रत्न का संबंध शनि ग्रह से है.

इसीलिए अगर किसी जातक की कुंडली में शनि ग्रह की स्थिति अशुभ चल रही है तो वह नीलम रत्न को धारण कर सकता है ऐसी अवस्था में नीलम रत्न धारण करने से उसकी कुंडली से शनि ग्रह का अशुभ प्रभाव खत्म हो जाएगा जिसकी वजह से उसके सभी बिगड़े हुए कार्य बनने लगेंगे हालांकि नीलम रत्न बहुत ही प्रभावशाली रत्न होता है.

इसे धारण करने से व्यक्ति को सुख समृद्धि प्राप्त होती है साथ ही ऐसा कहा जाता है कि नीलम रत्न को अगर कोई व्यक्ति अपनी राशि के अनुसार किसी योग्य पुरोहित की सलाह लेकर धारण करता है तो उसकी मानसिक शक्ति सुदृढ़ हो जाती है और उसकी कार्य क्षमता में भी वृद्धि होती है.

लेकिन आज के समय में नीलम रत्न को खरीदते समय कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना अनिवार्य है क्योंकि ज्यादा पैसे कमाने के चक्कर में ज्यादातर नीलम रत्न को बेचने वाले लोग नकली नीलम रत्न को बेच रहे हैं और इसकी वजह से वे अंधाधुंध पैसे कमा रहे हैं.

लेकिन बहुत से लोग आज भी ऐसे हैं जिन्हें नीलम रत्न के विषय में सही जानकारी नहीं पता है जिसके कारण वह नीलम रत्न की असली पहचान नहीं कर पाते हैं और ऐसे में वह एक ऐसे नीलम रतन को खरीद कर पहनते हैं जो की रियल में नीलम रत्न होता ही नहीं है.

neelam ratna

इसीलिए आज हम आप लोगों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण टॉपिक लेकर आए हैं जिसमें हम आप लोगों को नीलम रत्न कहां से खरीदें इसके विषय पर अच्छी जानकारी देंगे आप अगर हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ते हैं तो आपको नीलम रत्न के विषय में बेहतर जानकारी प्राप्त हो जाएगी.

इसके बाद आप नीलम रत्न की उचित पहचान करके इस रत्न को कहीं से भी खरीद कर धारण कर सकते हैं जब आप असली नीलम रत्न को सही जगह से खरीदेंगे तो आपको नीलम रत्न पहनने के बाद इस रत्न का बहुत अच्छा लाभ दिखाई देगा जानकारी के लिए यहां हम आप लोगों को बता रहे हैं.

कि नीलम रत्न कहां से खरीदना चाहिए वैसे तो भारत देश में नीलम कई स्थानों पर मिलता है लेकिन अगर नीलम रत्न खरीदने की बात है तो कश्मीर का नीलम रत्न खरीदना चाहिए कश्मीर का नीलम बहुत ही प्रसिद्ध है और यह सभी नीलम रत्न में सबसे अच्छा नीलम माना जाता है इसका कारण यह है.

कश्मीर में पाए जाने वाले नीलम की गुणवत्ता अन्य स्थानों पर मिलने वाले नीलम रत्न से बिल्कुल अलग होती है इसकी अच्छी गुणवत्ता के कारण ही कश्मीर के नीलम की कीमत सबसे ज्यादा होती है लेकिन अगर आपको नीलम का बेहतर लाभ लेना है तो आपको कश्मीर में पाए जाने वाले अच्छे गुणवत्ता के नीलम को ही खरीदना चाहिए.

नीलम रत्न खरीदते समय ध्यान रखने योग्य बातें | Neelam ratna kharidte Samay Dhyan rakhne yogya bate

नीलम रत्न खरीदना जितना आसान है उससे ज्यादा कठिन उसे खरीदते समय ध्यान रखने योग्य बातें हैं क्योंकि यदि आप नीलम रत्न को खरीदते समय नीलम रत्न से जुड़ी कुछ विशेष बातों का ध्यान नहीं रखेंगे तो आप असली नीलम रतन को नहीं खरीद पाएंगे.

इसीलिए आपको नीलम रत्न खरीदते समय नीलम रत्न से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखते हुए ही नीलम रत्न खरीदना चाहिए यहां हम आप लोगों को बता रहे हैं कि वह कौन सी बातें हैं जिन्हें नीलम रत्न खरीदते समय ध्यान रखना बहुत ही अनिवार्य होता है.sapphire stone

 

  1. नीलम रत्न खरीदते समय उसकी गुणवत्ता का ध्यान रखना चाहिए हमेशा अच्छी गुणवत्ता वाले नीलम रतन को ही खरीदना चाहिए क्योंकि जो अच्छी गुणवत्ता वाले नीलम रत्न होते हैं उनका असर बहुत जल्दी होने लगता है.
  2. आप जब भी नीलम रतन को खरीदे तो नीलम रतन को हमेशा किसी विश्वसनीय विक्रेता से ही खरीदें जिस पर आपको विश्वास हो कि वह आपके साथ धोखा नहीं कर सकता है नीलम रतन को कभी भी ऐसे अनजान व्यक्ति से ना खरीदें जिससे आप दोबारा ना मिल सके.
  3. यदि आप नीलम रत्न को देखकर इस रत्न की असली पहचान करने में असमर्थ हैं तो आपको नीलम रतन को खरीदने के पश्चात किस रत्न को दूध में डालकर देख लेना चाहिए क्योंकि ऐसा कहा जाता है असली नीलम दूध में डालने पर दूध का कलर भी हल्का नीले रंग का दिखाई देने लगता है.
  4. नीलम रतन को खरीदते समय उसकी प्रकार एवं धातु का अच्छे से परीक्षण करें क्योंकि आज के समय में बहुत से लोग नीलम रत्न जैसा दिखाई देने वाला नकली नीलम रत्न बेचकर भी अंधाधुन तो पैसे कमा रहे हैं.

असली नीलम रत्न कहां मिलेगा ? | Asli Neelam ratna Kahan Milega ?

जो भी लोग नीलम रत्न पहनना चाहते हैं उन सभी लोगों को हमेशा असली नीलम रत्न को ही पहनना चाहिए लेकिन बहुत से लोगों के मन में या प्रश्न उठना होगा की असली नीलम कहां मिलेगा क्योंकि असली नीलम रत्न खरीदने में लोगों को काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता है.

तो जानकारी के लिए यहां हम आप लोगों को बता दें कि असली नीलम जम्मू कश्मीर की खानों में पाया जाता है जिसका आज के समय में मिल पाना बहुत ही नामुमकिन लगता है हालांकि जम्मू कश्मीर में कई स्थानों पर असली नीलम रत्न मिल भी जाता है लेकिन उसकी कीमत इतनी ज्यादा होती है कि नॉर्मल व्यक्ति जम्मू कश्मीर के नीलम रत्न को नहीं खरीद सकता है.

जम्मू कश्मीर के अलावा दूसरे नंबर का सबसे अच्छा नीलम रतन श्रीलंका में पाया जाता है श्रीलंका में पाया जाने वाला नीलम रत्न बहुत आसानी से मिल जाता है लेकिन इस नीलम की कीमत भी काफी ज्यादा होती है अगर आप असली नीलम को खरीदना चाहते हैं.

तो आपके लिए श्रीलंका से नीलम को खरीदना सबसे अच्छा रहेगा क्योंकि श्रीलंका में पाया जाने वाला नीलम जम्मू कश्मीर के नीलम की अपेक्षा सस्ता होता है लेकिन अगर आपके पास बजट है तो आप जम्मू कश्मीर वाले महंगे नीलम रत्न को भी खरीद सकते हैं हालांकि नीलम चाहे जम्मू कश्मीर का हो या फिर श्रीलंका का आपको नीलम रत्न अपनी बजट के अनुसार खरीदना चाहिए.

नीलम रत्न धारण करने की विधि | Neelam ratna dharan karne ki vidhi

सभी रत्नों में नीलम रत्न का एक विशेष महत्व है इस रत्न को सर्वाधिक धारण किए जाने वाले रत्न में से एक रत्न माना जाता है इस रत्न को मुख्ता शनि ग्रह की स्थिति अशुभ होने पर धारण किया जाता है नीलम रत्न धारण करने की रत्न शास्त्र में एक विधि बताई गई है.

उस विधि द्वारा ही इस रत्न को धारण करना श्रेष्ठ होता है वैसे तो ऐसे बहुत से लोग हैं जो कि नीलम रत्न को जानकारी के अभाव में ऐसे ही धारण कर लेते हैं जिसके कारण उन्हें नीलम रत्न का अच्छा लाभ नहीं मिल पाता है यहां हम नीलम रत्न धारण करने की उचित विधि के विषय में जानकारी दे रहे हैं.

  1. अगर आप में से कोई व्यक्ति नीलम रत्न धारण करना चाहता है तो वह हमारे द्वारा दी गई इस विधि से नीलम रत्न धारण करके इस रत्न को बेहतर प्रभाव को प्राप्त कर सकता है.
  2. नीलम रत्न को धारण करने के लिए शनिवार का दिन ही शास्त्रों में सबसे उत्तम दिन बताया गया है इस दिन नीलम रत्न धारण करने से नीलम रत्न का असर बहुत जल्दी होने लगता है.
  3. इस रतन को धारण करने के लिए शनिवार के दिन सुबह ब्रह्म मुहूर्त में ही उठकर घरेलू कार्य से निवृत होकर स्नान आदि करके स्वच्छ वस्त्र धारण कर ले अपने घर एवं पूजा घर को भी अच्छे से साफ सफाई करके स्वच्छ कर लें.
  4. उसके बाद अपने घर में एक स्वच्छ स्थान चुने जहां पर आप बैठकर नीलम रत्न को आसानी से धारण कर सके नीलम रत्न धारण करने के लिए पूजा घर सबसे उचित स्थान होता है इसीलिए आपको नीलम रत्न पूजा करने वाले स्थान पर ही बैठकर धारण करना है.
  5. नीलम रतन को धारण करने से पहले गाय के दूध या फिर गंगाजल से नीलम रत्न को स्नान कराके स्वच्छ करें क्योंकि नीलम रत्न को धारण करने से पहले शुद्ध करना शास्त्रों में बताया गया है.
  6. ऐसा करने के पश्चात नीलम रतन को चांदी या फिर पंच धातु में धारण कर सकते हैं नीलम रत्न को हाथ की मध्यमा उंगली में धारण करना सबसे उत्तम होता है इसीलिए जो भी व्यक्ति नीलम रत्न को धारण करते हैं वे नीलम रत्न को अपने दाहिने हाथ की मध्यमा उंगली में ही धरण करें.
  7. नीलम रतन को धारण करने के पश्चात शनि देव के इस मंत्र का एकाग्रता के साथ ध्यान पूर्वक 108 बार जाप करें.

मंत्र

ऊं शम शनिचराय नम:

नीलम रत्न के फायदे | Neelam ratna ke fayde

रत्न शास्त्र के अनुसार नीलम रत्न धारण करने से कई प्रकार के फायदे होते हैं लेकिन नीलम रत्न के फायदे तभी मिलते हैं जब कोई जातक इस रत्न को अपनी राशि समय एवं उचित विधि अनुसार धारण करता है कभी भी गलत तरीके से नीलम रत्न धारण करने पर इस रत्न का लाभ नहीं मिलता है.

money purse

इसीलिए जो व्यक्ति नीलम रत्न के लाभ को प्राप्त करना चाहते हैं उसे इस रत्न को किसी पुरोहित जी का परामर्श से लेकर ही पहनना चाहिए क्या आप लोग जानते हैं कि नीलम रत्न धारण करने से क्या लाभ होता है अगर नहीं जानते हैं तो जानकारी के लिए यहां नीलम रत्न धारण करने से क्या फायदे होते हैं इसके विषय में बता रहे हैं.

  1. नीलम रत्न का संबंध शनि ग्रह से होता है जब कोई व्यक्ति नीलम रत्न को शनि ग्रह की अशुभ स्थिति होने पर धारण करता है तो उसकी कुंडली में शनि ग्रह का अशुभ प्रभाव दूर हो जाता है और कुंडली में शनि ग्रह की मजबूत स्थिति बनती है.
  2. ऐसा कहा जाता है कि अगर कोई व्यक्ति नीलम रत्न को विधि विधान के साथ पहनता है तो उसके आर्थिक कष्ट दूर हो जाते हैं यानी कि उसके घर में कभी भी धन-धान्य की कोई कमी नहीं आती है.
  3. इस रत्न को धारण करने से मानसिक शक्ति प्रबल होती है तथा कार्य क्षमता में भी वृद्धि होती है इसीलिए जो व्यक्ति अपनी कार्य क्षमता में बहुत कमजोरी महसूस करते हैं वह मानसिक शक्ति प्रबल करने तथा कार्य क्षमता में वृद्धि करने के लिए अपनी राशि के अनुसार नीलम रत्न को धारण कर सकते हैं.
  4. नीलम रत्न धारण करने से आत्मसम्मान आत्मविश्वास में वृद्धि होती है नेतृत्व करने की क्षमता तथा विभिन्न प्रकार के कार्यों में सफलता मिलती हैं
  5. जो लोग अपने भावी जीवन के निर्णय लेने में असहजता महसूस करते हैं वे नीलम रत्न को धारण कर सकते हैं नीलम रत्न धारण करने से निर्णय लेने की क्षमता का विकास होता है.
  6. नीलम रत्न शरीर की आंतरिक चेतना को जागृत करने में भी सहायक होता है यह अपने प्रभाव से मन शरीर एवं आत्मा को जोड़ता है तथा धारण करता को धार्मिकता एवं दयालुता के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करता है.

नीलम रत्न के नुकसान | Neelam ratna ke nukshan

नीलम रत्न बहुत ही प्रभावशाली रत्न है अगर इस रत्न को गलत विधि द्वारा धारण कर लिया जाए तो इस रत्न का नकारात्मक प्रभाव भी देखने को मिल सकता है क्योंकि शास्त्रों में ऐसा बताया जाता है कि प्रत्येक रत्न किसी राशि के लिए बना है उसी राशि के जातक उस रत्न को धारण कर सकते हैं यदि किसी ऐसे राशि के जातक नीलम रत्न को धारण कर लेते हैं.

जिस राशि का स्वामी शनि ग्रह नहीं है तो उन्हें नीलम रत्न की वजह से दुष्प्रभाव हो सकते हैं नीलम रत्न से होने वाले दुष्प्रभाव में निम्न प्रकार के है यहां हम जानकारी के लिए बता रहे हैं कि नीलम रत्न को गलत विधि द्वारा धारण करने पर या फिर किसी अन्य राशि के लोग जब गलती से नीलम रत्न को धारण कर लेते हैं तो उन्हें क्या नुकसान हो सकते हैं.

  1. गलत तरीके या फिर अपनी राशि के अनुसार नीलम रत्न ना धारण करने पर आंखों में नीलम रत्न की वजह से दुष्प्रभाव पड़ सकता है इसके साथ ही आंखों से संबंधित विकार भी उत्पन्न हो सकते हैं.
  2. इसके हानिकारक प्रभाव में आपके साथ दुर्घटना भी घट सकती है आपको शारीरिक चोट भी लग सकती है.
  3. नीलम रत्न के अशुभ प्रभाव में आपको बुरे बुरे सपने आ सकते हैं जिनकी वजह से आप काफी परेशान हो सकते हैं.
  4. मानसिक अवसाद घर को घेर सकता है जिसकी वजह से कई तरह की परेशानी आने की संभावना रहती है.
  5. अगर नीलम रत्न किसी व्यक्ति की राशि के अनुकूल नहीं है तो उस व्यक्ति के घर में आर्थिक दरिद्रता भी आ सकती है.

FAQ: नीलम रत्न कहां से खरीदें ?

नीलम रत्न कहां से खरीदना चाहिए ?

एक अध्ययन के अनुसार जम्मू कश्मीर में पाए जाने वाला नीलम रत्न सबसे उच्च गुणवत्ता वाला नीलम रत्न होता है इसीलिए आपको अगर नीलम रत्न का बेहतर लाभ प्राप्त करना है तो आपको जम्मू कश्मीर वाले उच्च गुणवत्ता के ही नीलम रत्न को खरीदना चाहिए.

नीलम रत्न पहनने से क्या लाभ होता है ?

नीलम रत्न धारण करने थे आर्थिक क्षेत्र में प्रगति होती है जिसकी वजह से घर में कभी भी धन धान्य एवम रुपए पैसे की कमी नहीं आती है इसके साथ ही नीलम रत्न के स्वास्थ्य की दृष्टि से भी कई फायदे होते हैं.

नीलम रत्न को किस राशि के जातक धारण कर सकते हैं ?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नीलम रत्न को मकर एवम कुंभ राशि के लोग धारण कर सकते हैं क्योंकि इस राशि के स्वामी शनि ग्रह है और नीलम रत्न शनि ग्रह का ही महत्वपूर्ण रत्न है इसके अलावा वृष, मिथुन ,कन्या एवम तुला राशि के लोग भी इस रत्न को धारण कर सकते हैं.

निष्कर्ष

दोस्तों जैसा कि आज इस लेख के माध्यम से हमने आप लोगों को नीलम रत्न कहां से खरीदें इसके विषय में जानकारी दी है इसके अलावा हमने आप लोगों को बताया कि नीलम रत्न क्या होता है ? , नीलम रत्न कहां से खरीद सकते हैं? सबसे अच्छा नीलम कहां पाया जाता है ? एवम नीलम रत्न को खरीदते समय कौन सी बातों का ध्यान रखना अति आवश्यक होता है.

असली नीलम रत्न कहां मिलेगा ? नीलम रत्न धारण करने की विधि क्या है ?, नीलम रत्न को अपनी राशि के अनुसार पहनने से क्या लाभ होता है और अगर कोई जातक नीलम रत्न को उचित विधि या फिर अपनी राशि के अनुसार नहीं धारण करता है तो उसे नीलम रत्न की वजह से कौन से दुष्प्रभाव हो सकते हैं.

इसके विषय में हमने आप लोगों को इस लेख में विस्तार पूर्वक संपूर्ण जानकारी दी है अगर आपने हमारे द्वारा दिए गए इस लेख को अच्छे से पढ़ा होगा तो आपको नीलम रत्न कहां से खरीदें इसके विषय में जानकारी प्राप्त हो गई होगी हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आप लोगों को पसंद आई होगी और निश्चित ही आप लोगों के लिए फायदेमंद भी रही होगी.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *