रत्न शास्त्र : नीलम रत्न के फायदे और नुकसान , शुभ दिन, धारण विधि | Neelam ke fayde aur nuksan

नीलम रत्न के फायदे और नुकसान Nilam ratna ke fayde aur nuksan : हेलो दोस्तों नमस्कार आज मैं आप लोगों को इस लेख के माध्यम से नीलम रत्न के फायदे और नुकसान से संबंधित जानकारी प्रदान करूंगी. जिसमें मैं बताने वाली हूं नीलम रत्न किस राशि के जातक जातिका को धारण करना चाहिए, और किस दिन किस प्रकार से धारण करना चाहिए और नीलम रत्न धारण करने के फायदे और नुकसान क्या होते हैं.

नीलम रत्न के फायदे और नुकसान Nilam ratna ke fayde aur nuksan

क्योंकि रत्न विज्ञान में 48 प्रकार के उपरत्न और 9 रत्नों का वर्णन किया गया है, और इन रत्नों को लेकर रत्न विज्ञान का कहना है हर रत्न का किसी ना किसी राशि ग्रह से संबंध होता है जिनको लेकर रत्न विज्ञान का यह भी कहना है जो व्यक्ति अपनी राशि और अपनी राशि के स्वामी के अनुसार रत्न धारण करता है तो उस व्यक्ति के जीवन में सदैव सुख शांति बनी रहती है और इन सभी रत्नों में से आज हम इस लेख में नीलम रत्न के विषय में बताएंगे.

जिसका संबंध शनि ग्रह से है और शनि ग्रह को सभी देवताओं में से सबसे बलवान ग्रह माना गया है जो किसी भी व्यक्ति को उसके कर्म के हिसाब से फल देता है इसी के साथ में शनि देव को धीमी चाल से चलने वाला ग्रह माना गया है , जिसकी वजह से यह ग्रह एक ही राशि में 30 महीने तक भ्रमण करता है. जिसकी वजह से यह मनुष्य के अच्छे और बुरे कर्म की पहचान अच्छे से कर लेता है और फिर उसी के अनुसार उस व्यक्ति के जीवन में शुभ और अशुभ फल देता है.

ऐसे में अगर आपकी राशि के प्रमुख स्वामी शनि ग्रह है तो यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित हो सकता है क्योंकि नीलम रत्न का संबंध शनि ग्रह से ही है. ऐसे में अगर आप लोग नीलम रत्न से संबंधित संपूर्ण जानकारी और नीलम रत्न धारण करने के फायदे नुकसान के विषय में विस्तार पूर्वक से जानना चाहते हैं तो इस लेख को शुरू से अंत तक अवश्य पढ़ें :

नीलम रत्न किन राशि वालों को पहनना चाहिए ? | neelam kaise dharan karna chahiye ?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नीलम रत्न में राजा को रंक और रंक को राजा बनाने की ताकत होती है इसीलिए नीलम रत्न को धारण करने से पहले यह जानकारी होनी चाहिए कि नीलम रत्न आपके लिए शुभ साबित हो सकता है या नहीं. इसलिए हम यहां पर ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बताइ गई कुछ ऐसी राशियों के विषय में बताएंगे जिन्हें नीलम रत्न धारण करने से शुभ लाभ प्राप्त होते हैं जैसे :

libra tula rashi


  1. कुंभ राशि
  2. मकर राशि
  3. वृष राशि
  4. मिथुन राशि
  5. कन्या राशि
  6. तुला राशि

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह राशियां नीलम रत्न को धारण कर सकते हैं क्योंकि इन राशियों के साथ स्वामी के साथ शनि ग्रह की मित्रता रहती है इसीलिए नीलम रत्न इन लोगों के लिए शुभ माना जाता है.

किन राशि वालों को नीलम रत्न नहीं धारण करना चाहिए ?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुछ ऐसी राशियां बताइ गई हैं जिनके लिए नीलम रत्न धारण करना अशुभ माना गया है जैसे :

aries mesh rashi

  • मेष राशि
  • कर्क राशि
  • सिंह राशि
  • धनु राशि
  • मीन राशि
  • वृश्चिक राशि

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बताया गया है इन राशि वालों को नीलम रत्न धारण नहीं करना चाहिए क्योंकि इन राशियों के स्वामी के साथ शनि ग्रह की शत्रुता रहती है जिसकी वजह से इन राशि के जातक जातिका के लिए नीलम रत्न धारण करना अशुभ फल दे सकता है.

नीलम रत्न किस दिन धारण करना चाहिए ?

ज्योतिष शास्त्र का कहना है नीलम रत्न का संबंध शनि ग्रह से है इसीलिए नीलम रत्न को शनिवार के दिन धारण करना ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बेहद ही शुभ बताया गया है ,

नीलम रत्न किस तरह से धारण करना चाहिए ? | neelam dharan vidhi

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नीलम रत्न को धारण करने की विधि बताई गई है और जो व्यक्ति ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बताई गई विधि के अनुसार नीलम रत्न को धारण करता है तो उसके जीवन में बहुत जल्द नीलम रत्न धारण करने के शुभ फल प्राप्त होने लगेंगे इसलिए आइए जानते हैं नीलम रत्न को धारण करने की क्या विधि है :

neelam ratna

  • नीलम रत्न को पचधातु में मिलाकर धारण करना बेहद शुभ माना गया है, इसीलिए ज्योतिष शास्त्र के अनुसार पंचधातु में नीलम रत्न को बनवा ले.
  • उसके बाद शनिवार के दिन गंगाजल दूध शहद का मिश्रण तैयार करें और फिर इस मिश्रण में नीलम रत्न को 10:15 मिनट के लिए डाल दें.
  • उसके बाद आसन लगाकर शनि बीज मंत्र का 180 बार उच्चारण करें.

शनि बीज मंत्र :

ओम सम शनिश्चराय नमः

  • शनि बीज मंत्र जाप प्रक्रिया पूरी होने के पश्चात आप नीलम रत्न को दाएं हाथ की बीच उंगली में धारण कर ले.
  • नीलम रत्न धारण करने के बाद शनि ग्रह से संबंधित दान करें और शनिदेव की प्रतिमा के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाए .
  • इस तरह से नीलम रत्न धारण करने से बहुत जल्द व्यक्ति के जीवन में समस्त कष्ट बाधाएं अपने आप दूर होने लगते हैं.

नीलम रत्न के फायदे और नुकसान | neelam stone ke fayde aur nuksan

neelam ratna

अब आइए जानते हैं नीलम रत्न धारण करने के कौन-कौन से फायदे और नुकसान प्राप्त होते हैं :

नीलम रत्न धारण करने के फायदे | Neelam ratna ke fayde

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बताई गई कुंभ राशि, मकर राशि, वृष राशि, मिथुन राशि, कन्या राशि के जातक जातिका अगर पूरी विधि के साथ नीलम रत्न को धारण करते हैं तो उन्हें अपने जीवन में नीलम रत्न धारण करने के कुछ इस प्रकार के शुभ फल प्राप्त होते हैं जैसे :

1. नकारात्मक शक्तियों से बचाएं

अक्सर करके घर में लंबे समय तक पूजा-पाठ ना करने की वजह से नकारात्मक शक्तियां घर में प्रवेश कर जाती हैं जिसकी वजह से घर में आए दिन लड़ाई झगड़ा और अन्य नई नई समस्याएं आती रहती हैं ऐसे में ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ऐसा बताया गया है अगर नीलम रत्न को शनि ग्रह से संबंधित राशियां पूरी विधि विधान के साथ धारण करती हैं तो उन लोगों को कभी भी नकारात्मक शक्तियां परेशान नहीं कर सकती हैं.

2. घर की आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाएं

paisa money kala dhan

हर मनुष्य चाहता है कि उसके जीवन में कभी भी आर्थिक तंगी ना आए लेकिन कई बार तमाम मेहनत करने के बाद भी घर में पैसों की कमी आ जाती है और जब घर में पैसों की कमी आती है तो रिश्तो में दरार आ जाती है क्योंकि तब हर किसी की ख्वाहिश नहीं पूरी हो पाती है. ऐसे में ज्योतिष शास्त्र का कहना है अगर नीलम रत्न को किसी ज्योतिष शास्त्र की सलाह लेकर धारण किया जाए तो कुछ दिनों में ही घर की आर्थिक स्थिति मजबूत होती हुई नजर आएगी तथा धन कमाने के नए रास्ते नजर आने लगेंगे.

3. तंत्र-मंत्र व जादू-टोना से बचाता है.

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 810 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

तांत्रिको वाली असली हत्था जोड़ी सिद्ध मंत्र और Hatha Jodi के फायदे | Hatha Jodi : अथाह धन प्राप्ति, शत्रु नाश और सम्मान वृद्धि
पृथ्वी तत्व के लोगों की विशेषताएं और सम्पूर्ण जानकारी – वृषभ,कन्या और मकर राशी के लोगों के बारे में जाने !

इतनी बड़ी दुनिया में हर व्यक्ति का कोई ना कोई दुश्मन अवश्य होता है ऐसे में बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो अपनी दुश्मनी निकालने के लिए दूसरे व्यक्ति को तंत्र मंत्र और जादू टोने की सहायता से बधवा देते हैं ताकि वह व्यक्ति तरक्की ना कर पाए और उसके घर में कभी भी उन्नति ना हो. क्योंकि जब किसी व्यक्ति के शरीर को तंत्र मंत्र से बंधवा दिया जाता है तो उस व्यक्ति का शरीर नश्वर हो जाता है ऐसी स्थिति में वह व्यक्ति कोई कार्य नहीं कर पाता है.

girl magic

ऐसे में ज्योतिष शास्त्र का कहना है इन लोगों को नीलम रत्न धारण करने की सलाह दी जाती है अगर वह लोग ऐसी स्थिति में नीलम रत्न को पूरे विधि विधान के साथ धारण करते हैं तो लाइफ में कभी भी कोई भी दुश्मन इन्हें तंत्र मंत्र और जादू टोने से नहीं बधवा पाएगा और अगर वह ऐसा करने की कोशिश करेगा तो उसका विपरीत प्रभाव उसी के ऊपर पड़ेगा.

4. मनुष्य को धैर्य प्रदान करता है.

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हें छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा आ जाता है जिनकी वजह से उनका बना बनाया हुआ कार्य भी उनकी गुस्सा की वजह से बिगड़ जाता है या फिर किसी कार्य को करने के लिए कुछ लोग बहुत जल्दबाजी कर जाते हैं जिनकी वजह से उनका कार्य बिगड़ जाता है ऐसे में ज्योतिष शास्त्र का कहना है कि जिन लोगों को गुस्सा बहुत आता है. उन लोगों को शनिवार के दिन पंच धातु से निर्मित नीलम रत्न को पूरे विधि विधान के साथ धारण कराया जाए तो उस व्यक्ति को धैर्य प्रदान होता है और फिर वह व्यक्ति हर एक कार्य को सही समय और सही तरीके से कर पाएगा.

5. हर क्षेत्र में प्रगति दिलाएं.

अक्सर करके हर व्यक्ति अपना परिवार चलाने के लिए कोई न कोई रोजगार व्यापार करता रहता है ऐसे में कुछ लोग ऐसे होते हैं जिन्हें किसी भी प्रकार के व्यापार में लाभ नहीं प्राप्त होता है जिसकी वजह से वह बहुत ज्यादा निराश हो जाते हैं ऐसे में उन्हें नहीं समझ में आता है कि वह क्या करें क्या ना करें जिसकी वजह से उन लोगों को मानसिक तनाव की समस्या हो जाती है.

progress tarakki kamyabi

ऐसे में ज्योतिष शास्त्र का कहना है अगर किसी को व्यापार में लाभ ना मिल रहा हो तो उस व्यक्ति को शनिवार के दिन नीलम रत्न को शनिदेव की पूजा अर्चना करने के पश्चात पूरी विधि विधान के साथ धारण करना चाहिए तो 24 घंटे के अंदर उसे अपने व्यापार में लाभ प्राप्त होगा.

तो मित्र यह हो गए नीलम रत्न धारण करने के फायदे अब आइए जानते हैं नीलम रत्न धारण करने के क्या नुकसान होते हैं.

नीलम रत्न धारण करने के नुकसान | Nilam ratna dharan karne ke nuksan

ज्योतिष शास्त्र कहना है नीलम रत्न हर व्यक्ति को शुभ फल नहीं देता है इसीलिए जिन राशि के लिए नीलम रत्न शुभ नहीं है उन्हें नीलम रत्न नहीं धारण करना चाहिए वरना उन्हें नीलम रत्न धारण करने से कुछ इस प्रकार के अशुभ फल प्राप्त हो सकते जैसे :

1. घर में पैसों की तंगी आना

cost

जैसा कि हमने ऊपर लेख में बताया है नीलम रत्न का संबंध शनि ग्रह से है ऐसे में अगर शनि ग्रह से शत्रुता रखने वाले ग्रह के जातक जाति का नीलम रत्न को धारण करते हैं तो उनके जीवन में शनि ग्रह की अशुभ छाया पड़ेगी और जब किसी व्यक्ति के जीवन में शनि ग्रह की अशुभ छाया पड़ती है तो उस व्यक्ति के जीवन में पैसों की कमी आने लगती है और फिर उस घर का हर सदस्य आर्थिक कष्ट के साथ-साथ शारीरिक कष्ट की चपेट में आ जाता है.

2. बार-बार दुर्घटनाओं का सामना करना पड़ता है.

अगर शनि ग्रह से शत्रुता रखने वाले ग्रह के जाति जातिका नीलम रत्न को धारण करते हैं तो इन लोगों को नीलम रत्न धारण करने की वजह से आए दिन दुर्घटनाओं का सामना करना पड़ेगा क्योंकि शनि ग्रह आपको नीलम रत्न धारण करने का अशुभ फल प्रदान करेंगे. जिसकी वजह से आप हर रोज एक न एक नई समस्या से गिर जाएंगे. जिनसे उभर पाना आपके लिए बहुत ज्यादा मुश्किल हो जाएगा इसीलिए नीलम रत्न को ज्योतिष शास्त्र के अनुसार पता करके ही पहने.

3. स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

body kaise banye

जो धातु आपके लिए सही नहीं है अगर आप उसे धारण करते हैं तो वह आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकती है इसी तरह से नीलम रत्न हर एक राशि के लिए नहीं है यह जिस राशि के लिए है उस राशि के जातक के लिए शुभ है अगर आपके लिए अशुभ है और आप इसे धारण कर रहे हैं तो इससे आपको स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि शनि ग्रह बहुत ज्यादा क्रोध करने वाले ग्रह हैं अगर उन्हें एक बार गुस्सा आ जाता है तो वह फिर राजा को रंक और रंक को राजा बना देते हैं इसीलिए सोच समझकर ही नीलम रत्न को धारण करें.

4. मन में नकारात्मक विचार लाएं.

अगर कोई भी जातक जातिका नीलम रत्न को बिना ज्योतिष शास्त्र की सलाह धारण करता है तो उस व्यक्ति के मन में नकारात्मक विचार उत्पन्न होने लगते हैं जिसकी वजह से घर परिवार और अन्य लोगों से झगड़े होने लगते हैं और फिर धीरे-धीरे रिश्तो में दरार आना शुरू हो जाती है. जिसकी वजह से घर की सुख शांति दुख में बदल जाती है और फिर धीरे-धीरे घर में दरिद्रता आने लगती है इसीलिए अगर आप नीलम रत्न धारण करने की सोच रहे हैं तो पहले ज्योतिष शास्त्र से सलाह ले नीलम रत्न आपके लिए शुभ है या नहीं उसके पश्चात ही इसे धारण करें.

5. मान सम्मान में कमी आती है.

respect

अगर आप नीलम रत्न को बिना ज्योतिष की सलाह के धारण करते हैं तो यह आपके लिए अशुभ साबित हो सकता है क्योंकि नीलम रत्न हर राशि के जातक के लिए नहीं है ऐसे में अगर आपके लिए नीलम रत्न अशुभ साबित होता है, तो इस नीलम रत्न को धारण करने से आप के मान सम्मान में कमी आएगी और अगर आप किसी उच्च पद पर कार्य करता है, तो आपको उस उच्च पद से इस्तीफा देना पड़ सकता है इसीलिए नीलम रत्न को धारण करने से पहले जान ले यह आपके लिए शुभ है या अशुभ उसके पश्चात ही इसे धारण करें.

FAQ : नीलम रत्न के फायदे और नुकसान

असली नीलम रत्न की पहचान कैसे करें ?

नीलम रत्न असली है या नकली की पहचान करने के लिए नीलम रत्न को कांच के गिलास में डाल दे उसकी नीली किरण गिलास से बाहर निकलने लगती हैं इस तरह से पहचान कर सकते हैं यह असली है या नकली.

नीलम रत्न किस ग्रह से संबंधित है ?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नीलम रत्न का संबंध शनि ग्रह से माना गया है.

नीलम रत्न कितने दिनों में शुभ असर करता है ?

अगर कोई भी जातक जाति का अपनी राशि के ग्रह को ध्यान में रखते हुए नीलम रत्न को धारण करता है तो उस व्यक्ति को 24 घंटे के अंदर नीलम रत्न धारण करने का शुभ फल प्राप्त होने लगता है.

निष्कर्ष

तो मित्रों जैसा कि आज हमने इस लेख में आप सभी लोगों को नीलम रत्न के फायदे नुकसान से संबंधित जानकारी प्रदान की है जिसमें हमने बताया है नीलम रत्न किन किन राशि के लोगों को किस दिन, किस तरह से धारण करना चाहिए तथा नीलम रत्न धारण करने के फायदे नुकसान क्या होते हैं.

osir news

ऐसे में अगर आप लोगों ने इस लेख को शुरू से अंत तक पढ़ा होगा तो आप लोगों को नीलम रत्न से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो गई होगी, तो दोस्तों हम उम्मीद करते हैं आप लोगों को हमारे द्वारा बताइ गई जानकारी पसंद आई होगी और यह लेख आप लोगों के लिए उपयोगी साबित हुआ होगा.

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

भाभी को कैसे पटाये – 6 आसान फार्मूला भाभी आपकी दीवानी हो जायेंगी | भाभी को कैसे इम्प्रेस करे – bhabhi ko kaise pataye
हनुमान चालीसा कैसे सिद्धि कैसे करें ? पूजा विधि सामग्री और हनुमान चालीसा मुहूर्त Hanuman Chalisha siddh and Hindi process
जाने आखिर कुरान में हिंदुओं के लिए क्या लिखा है ? | Quran me Hindu ke lie kya likha hai
कुंडलिनी जागरण कैसे करें | सप्त चक्र के नाम और सात चक्रों की पूर्ण जानकारी
बंदर का घर में आना शुभ या अशुभ जाने धन मिलेगा या बर्बादी | Bandar ka ghar me aana shubh ya ashubh
★ सम्बंधित लेख ★