पुखराज पहनने के फायदे-नुकसान : धारण विधि और मंत्र, राशि प्रभाव | pukhraj stone benefits in hindi

पुखराज स्टोन के फायदे इन हिंदी pukhraj stone benefits in hindi : दोस्तों रत्नों में रत्न पुखराज रत्न भी हमारी किस्मत के सितारों को बुलंद कर देता है ऐसे में pukhraj stone benefits in hindi बताने का हम प्रयास करेंगे। वास्तव में पुखराज बृहस्पति ग्रह से संबंधित रत्न हैं.

pukhraj stone benefits in hindi

पुखराज रत्न पीले और सफेद रंग में पाया जाता है यह लोगों की सभी प्रकार की समस्याओं को दूर करने के लिए पहना जाता है। इंसान के जीवन में तमाम तरह की समस्याएं होती हैं और हर इंसान के लिए अलग-अलग तरह के रत्नों को धारण करने के लिए ज्योतिष शास्त्र कहता है. ऐसे में व्यक्ति को अगर पुखराज रत्न धारण करने की बात की जाए तो पुखराज रत्न के अलग-अलग फायदे भी नजर आते हैं।

व्यक्ति अपनी समस्याओं को दूर करने के लिए कोई ना कोई रत्न जरूर धारण करता है और वह अपनी राशि एवं ग्रहों के अनुरूप कुंडली के भाव को देखकर धारण करता है जिससे उसके सामने आने वाली विभिन्न प्रकार की समस्याएं दूर हो सके ऐसे में पुखराज भी अपने में एक महत्वपूर्ण रत्न है जिसको धारण करने के बाद व्यक्ति की कई समस्याएं दूर हो जाती है और व्यक्ति अपने जीवन में उच्च स्तर तक पहुंच जाता है।

अगर हम pukhraj stone benefits in hindi की बात करें तो यह जातक को सभी प्रकार से लाभ पहुंचाता है प्रमुख रूप से धनु और मीन राशि वालों के लिए पुखराज बहुत ही फायदेमंद होता है इसीलिए लोग एक उच्च कोटि के पुखराज को धारण करते हैं स्त्रियों के संबंध में कहा गया है कि जो लड़की पोखराज को धारण करते हैं उसके जीवन में एक अच्छा पति प्राप्त होता है।

पुखराज रत्न बृहस्पति देव का कारक है इसीलिए इस रत्न को धारण करने के बाद व्यक्ति को शक्ति बल कार्य में सफलता और धन प्राप्त होता है इसीलिए लोगों को पीले रंग का पुखराज पहनने की सलाह भी दी जाती है।

कहा जाता है कि अगर व्यक्ति को पुखराज सूट कर जाता है तो व्यक्ति पल भर में राजा हो जाता है और सूट नहीं करता है तो पल भर में उसका बहुत बड़ा नुकसान हो जाता है अर्थात पुखराज लाभ और हानि दोनों दे सकता है इसीलिए जब भी धारण करें तो कुंडली में ग्रह और राशियों का मिलान करना जरूरी होता है।


पुखराज स्टोन के फायदे इन हिंदी | Pukhraj stone benefits in hindi

दोस्तों पुखराज रत्न धारण करने से कई सारे फायदे व्यक्ति को दिखाई देते हैं क्योंकि यह बृहस्पति ग्रह से संबंधित रखी है इसलिए गुरु की कृपा बनती है और गुरु की कृपा के कारण व्यक्ति को हर संभव लाभ मिलता है.

पुखराज पीला, भूरा, पूरा हरा, नीला, हल्का नीला, गुलाबी, लाल आदि रंगों में मिलता है। जिस व्यक्ति को पुखराज सूट कर जाता है उसको 1 महीने के अंदर लाभ मिलना प्रारंभ हो जाता है ऐसे में आइए हम pukhraj stone benefits in hindi के बारे में जानते हैं :

पुखराज

  1. सबसे ज्यादा प्रभावशाली पुखराज पीले कलर का होता है इसको धारण करने से व्यक्ति के जीवन में सुख समृद्धि धन संपदा प्राप्त होती है और पुत्र के प्रति बहुत ही लाभ मिलता है पुत्र की सफलता में आने वाली रुकावटें दूर हो जाती हैं.
  2. पुखराज धारण करने वाले व्यक्ति के अंदर आत्मविश्वास बढ़ता है जिससे हर प्रकार की समस्या उससे दूर रहती है।
  3. पुखराज धारण करने के बाद व्यक्ति का भाग्य उदय होता है मन को शांति मिलती है आर्थिक रूप से व्यक्ति मजबूत होता जाता है।
  4. जिन जातकों की शादी नहीं हो रही है वह लोग अगर पुखराज धारण करते हैं तो शादी में आने वाली सभी रुकावटें दूर हो जाती हैं और जल्दी शादी का योग बनता है ऐसे व्यक्तियों में गुरु मजबूत हो जाता है जिसकी वजह से समस्याएं अपने आप खत्म होने लगती हैं।
  5. ऐसे जातक जिनको कर्ज की समस्या होती है वह लोग यदि पीले पुखराज का धारण करते हैं तो व्यक्ति कर्ज से मुक्त होने लगता है व्यक्ति के पास धन-धान्य की कमी नहीं रहती है. जिससे दिन पर दिन वह सुखी रहने लगता है अच्छे बुरे का ज्ञान आ जाता है धन की कमी दूर हो जाती है।
  6. पुखराज रत्न धारण करने के बाद व्यक्ति को जीवन में आने वाली सभी प्रकार की घटनाओं के संकेत पहले से मिल जाते हैं क्योंकि कहा जाता है कि जब कोई समस्या आती है तो रत्न में चटक जाते हैं जिसकी वजह से आने वाली समस्या के विषय में जानकारी हो जाती है और व्यक्ति को सावधान हो जाना चाहिए।
  7. व्यक्ति के जीवन में विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं दूर हो जाती हैं यदि व्यक्ति को स्वास की बीमारी है गठिया अल्सर की बीमारी है तो धीरे-धीरे दूर हो जाती हैं तथा संतान सुख प्राप्त होता है।
  8. धार्मिक कार्यों को करने वाले जातक यदि पुखराज को धारण करते हैं तो उन्हें धार्मिक कार्यों में जाने का मौका मिलता रहता है और व्यक्ति सत्य के मार्ग को अपनाने लगता है। लड़ाई झगड़े नहीं होते हैं तरह से चिंता मुक्त हो जाता है और दुख सुख में परिवर्तित हो जाते हैं।
  9. मान सम्मान और प्रसिद्धि प्राप्त होती है दांपत्य जीवन में एक दूसरे के प्रति प्रेम बढ़ जाता है अगर प्रेमी प्रेमिका है तो एक दूसरे के प्रति अथाह प्रेम उमड़ता है बुराइयां अच्छाइयों में परिवर्तित होने लगती है और व्यक्ति के प्रति आकर्षण बढ़ जाता है।
  10. व्यक्ति के अंदर निर्णय लेने की क्षमता आ जाती है क्योंकि सोचने समझने की शक्ति बढ़ जाती है बुरे कार्यों को छोड़ने लगता है और बुरे कार्यों के कारण जो भी परेशानी होती हैं वह दूर हो जाती है।
  11. पीला पुखराज धारण करने से व्यक्ति आर्थिक तंगी दूर होने लगती है. सुख शांति के साथ साथ व्यक्ति की आयु में भी वृद्धि होती है अनावश्यक मन में उठने वाले बुरे विचारों का अंत हो जाता है।
  12. पुखराज रत्न गुरु से संबंधित होता है इसलिए जो भी जाता किस को धारण करता है उस व्यक्ति के अंदर बुरी आदतें नष्ट हो जाती हैं और मन में शांति रहती धीरे-धीरे पवित्र विचारों के साथ व्यक्ति धार्मिकता की ओर बढ़ जाता है।

पुखराज पहनने के नुकसान | Pukhraj pahnne ke nuksan

हमारे विभिन्न प्रकार के रत्न हमें अत्यधिक फायदा देते हैं परंतु सभी रत्न अगर राशि के अनुसार कुंडली में ग्रहों की ग्रह दशा के अनुसार ना धारण करने पर बुरा प्रभाव भी डालते हैं साथ ही अगर एक असली पुखराज नहीं पहनते हैं तो वह पुखराज भी नुकसान कर सकता है आइए हम पुखराज पहनने के नुकसान के बारे में जानते हैं :

पुखराज

  • पुखराज हमेशा चिकने और चमकदार होते हैं ऐसे में अगर आप चिकना और चमकदार पुखराज नहीं पहनते हैं तो आपको कोई ना कोई नुकसान कर सकता है।
  • अगर पुखराज पर किसी प्रकार की कोई परत चढ़ी हुई है तो ऐसे पुखराज को धारण ना करें क्योंकि इस प्रकार के पुखराज रत्न भी आपको नुकसान ही कर सकते हैं ज्यादातर लोग संतान सुख से वंचित हो जाता है।
  • अगर पुखराज में गड्ढे बन जाते हैं या टूट जाता है तो ऐसे पुखराज मत पहने क्योंकि इन पुखराज को पहनने से आपको कोई बड़ा नुकसान हो सकता है। गड्ढे दार पुखराज पहनने से धन लक्ष्मी का नुकसान होता है अर्थात घर से लक्ष्मी चली जाती है।
  • धब्बेदार पुखराज पहनने से घर की सुख शांति खो जाती है घर परिवार में क्लेश रहेगा एक दूसरे से झगड़ा बना रहेगा ऐसे में पुखराज को पहनने से पहले उस पर धब्बों को ध्यान देना चाहिए।
  • जब भी आप पुखराज खरीदते हैं तो पुखराज पर यह देखें कि किसी भी प्रकार की सीधी या तिरछी लाइन ना हो क्योंकि इस प्रकार के पुखराज आपके घर को तोड़ देंगे परिवार के सदस्यों के बीच में अलगाव हो जाएगा और स्वास्थ्य के प्रति परेशान रहेंगे।
  • यदि आप को खराब धारण ही करना चाहते हैं तो सबसे पहले अपनी कुंडली का भी मिलान करा लें किसी योग्य ज्योतिष से मिलान कराने के बाद अगर पुखराज धारण करते हैं तो आपको किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं सहना पड़ेगा।

पुखराज पहनने की विधि | Pukhraj phanane ki vidhi

दोस्तों अगर आप पुखराज पहनना चाहते हैं तो इसे गुरुवार के दिन पहने और पहनने से पहले पुखराज को गाय की दूध गंगाजल चीनी शहद को एक साथ मिलाकर रखें और उसी में पुखराज चांदी या सोने की अंगूठी में बनवा कर रखें।

पुखराज रत्न

इसके बाद बृहस्पति देव के सामने अगरबत्ती जलाकर प्रार्थना करें और अंगूठी को मिश्रण से निकालकर हाथ में रखें तथा नीचे दिए गए मंत्र को 108 बार पढ़ने के बाद भगवान विष्णु के पैरों में समर्पित करें तथा उठाकर अपनी उंगली में धारण करें।

ॐ ब्रह्मा बृहस्पतिये नमः

इस तरह से पुखराज की अंगूठी अपने दाहिने हाथ की अनामिका उंगली में पहने अगर चांदी की अंगूठी में पुखराज धारण करने से आपको किसी प्रकार की समस्या हो रही है तो इसे सोने की अंगूठी बनवाकर पहने।

राशियों के अनुसार पुखराज का प्रभाव | Rashiyon ke anusar pukhraj ka prabhav

दोस्तों पुखराज कोई भी व्यक्ति धारण कर सकता है लेकिन कुंडली के अनुसार और राशि के अनुसार अगर धारण करता है तो उसका लाभ अलग मिलता है ऐसे में अगर आप राशियों के अनुसार रत्न धारण करना चाहते हैं तो आइए हम राशि के अनुसार पुखराज धारण करने के प्रभाव के बारे में बताते हैं।

1. मेष राशि के लिए पुखराज

दोस्तों अगर आपकी राशि मेष है तो आपके स्वामी मंगल है और पुखराज बृहस्पति का प्रतिनिधित्व करता है ऐसे में मेष राशि वालों के लिए पुखराज धारण करना सबसे ज्यादा लाभकारी होता है।

aries mesh rashi

इस राशि के जातक अगर पुखराज धारण करते हैं तो व्यक्ति जीवन में उन्नति करता है उसके जीवन में आत्मविश्वास बढ़ता और स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं नहीं रहती हैं।

2. वृषभ राशि के लिए पुखराज

वृषभ राशि वालों के स्वामी शुक्र होते हैं जो बृहस्पति से शत्रु भाव रखते हैं ऐसे में वृषभ राशि वालों के लिए पुखराज धारण करना उचित नहीं है अगर वृषभ राशि के लोग पुखराज धारण करना चाहते हैं तो सबसे पहले किसी योग्य ज्योतिष से अपनी कुंडली का मिलान कराएं.

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 806 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

Llb कितने साल की होती है? एलएलबी की सैलरी कितनी होती है? LLB का फुल फॉर्म क्या होता है?
शादीशुदा औरत को कैसे पटाये इम्प्रेस करे ? How to impress a married woman?

यदि उनकी कुंडली में सही मिलान होता है तो पुखराज धारण करने से व्यक्ति के जीवन में पारिवारिक सुख के साथ-साथ धन का सुख प्राप्त होता है।

3. मिथुन राशि के लिए पुखराज

gemini mithun rashi

मिथुन राशि का स्वामी बुध होता है और बुध बृहस्पति से बैर नहीं रखता है ऐसे में मिथुन राशि वालों के लिए पुखराज पहनना बेहद लाभकारी होता है मिथुन राशि वाले जातक अगर पुखराज धारण करते हैं तो उनको पूर्वजों की संपत्ति प्राप्त होती है व्यापार में सफलता मिलती है तथा लोगों का साथ मिलता है।

4. कर्क राशि के लिए पुखराज

कर्क राशि के स्वामी चंद्रमा है ऐसे में चंद्रमा बृहस्पति एक दूसरे के साथ रहते हैं जिसकी वजह से कर्क राशि वाले अगर पुखराज धारण करते हैं तो जीवन में हर कार्य में सफल होते हैं। कर्क राशि के लोग अगर घर खरीदना चाहते हैं, वाहन खरीदना चाहते हैं, तो उनको उन्नति मिलती है।

cancer kekda kark

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

अगर किसी प्रकार का जमीनी विवाद है और आपको जमीन नहीं मिल पा रही है तो ऐसे जातक जो कर्क राशि के हैं वह पुखराज के साथ-साथ मूंगा रत्न भी धारण करें।

5. सिंह राशि के लिए पुखराज

सिंह राशि के स्वामी सूर्य हैं और सूर्य तथा बृहस्पति से कोई बैर नहीं रहता है इसलिए सिंह राशि वालों के लिए भी पीला पुखराज लाभदायक है। सिंह राशि वालों को पुखराज धारण करने से ज्ञान में वृद्धि होती है.

शिक्षा के क्षेत्र में सफलता मिलती है संतान का सुख प्राप्त होता है प्यार में सफलता मिलती है जीवन के हर क्षेत्र में उन्नति मिलती इसलिए सिंह राशि वालों के लिए पुखराज बहुत ही लाभदायक है।

6. कन्या राशि के लिए पुखराज

KANYA VIRGO RASHI

कन्या राशि वालों का स्वामी बुध होता है और पुखराज बृहस्पति का प्रतिनिधित्व है इसलिए कन्या राशि वालों के लिए पुखराज नहीं धारण करना चाहिए परंतु धारण करने से पहले अपनी कुंडली का मिलान किसी ज्योतिषी से जरूर कराएं। अगर कुंडली के अनुसार पुखराज मिल जाता है तो इन लोगों को शत्रुता से कोई नुकसान नहीं होता मानसिक कल नहीं होती है नौकरी पेशा में भी उन्नति होती है।

7. तुला राशि के लिए पुखराज

तुला राशि के जातकों को पुखराज निश्चित रूप से धारण करना चाहिए इस राशि के जातकों की कुंडली में बृहस्पति स्वामी छठे और तीसरे भाव में होते हैं जिससे किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं होता स्वास्थ्य के प्रति हमेशा स्वस्थ रहता है और वाणी में मधुरता बनी रहती है।

libra tula rashi

जिन लोगों का विवाह नहीं होता है उन लोगों को पुखराज धारण करने से विवाह शीघ्र हो जाता है तुला राशि के लोगों को कभी भी कोई नुकसान नहीं होता है तथा किसी भी प्रकार से कहीं परेशानी नहीं होती।

8. वृश्चिक राशि के लिए पुखराज

वृश्चिक राशि का राशिफल साल भर का, वृश्चिक राशि का राशिफल बताइए का, वृश्चिक राशि का आज का दिन कैसा होगा, vrishchik rashi ka rashifal 5 january

वृश्चिक राशि वालों की कुंडली में बृहस्पति दूसरे और पंचम भाव में रहता है इसलिए इस राशि के जातकों को पुखराज धारण करने से अत्यधिक लाभ होता है अगर वृश्चिक राशि वाले पुखराज के साथ-साथ मूंगा रत्न भी धारण करते हैं तो दिमाग तेज होता है। परिवार के साथ अच्छे संबंध रहते हैं धन लाभ होता है दुख का अंत होता है और सुख अधिक प्राप्त होता है

9. धनु राशि वाले के लिए पुखराज

धनु राशि वाले लोगों के स्वामी स्वयं बृहस्पति और पुखराज भी बृहस्पति का प्रतिनिधित्व करता है ऐसे में अगर धन राशि वाले पुखराज धारण करते हैं तो उनके लिए हर तरफ से लाभ ही लाभ होता है धनु राशि वाले जातक यदि पुखराज पीले कलर का पहनते हैं तो हर कार्य में उनको सफलता मिलती है।

10. मकर राशि के लिए पुखराज

Capricorn makar

मकर राशि के स्वामी शनि हैं और पुखराज बृहस्पति का है दोनों संभव रखते हैं लेकिन मकर राशि वालों के लिए पुखराज लाभदायक नहीं हो सकता है क्योंकि बृहस्पति और शनि संभव रखते हुए भी बैर रखते हैं इसलिए इनको लाभ नहीं मिल पाता पुखराज पहनने से पहले किसी योग्य ज्योतिष से कुंडली मिलान अवश्य कराएं।

11. कुंभ राशि के लिए पुखराज

कुंभ राशि के लिए भी स्वामी के रूप में शनि है इसलिए बृहस्पति का प्रतिनिधित्व करने वाला पुखराज रत्न नहीं पहनना चाहिए अगर कुंभ राशि की कुंडली में बृहस्पति दूसरे दसवें और ग्यारहवें भाव में है तथा बृहस्पति की महादशा या अंतर्दशा चल रही है तो पुखराज धारण करना चाहिए। इस दौरान पुखराज धारण करने से जातक को धन के स्रोत बनते हैं और मित्र बनते हैं।

12. मीन राशि के लिए पुखराज

Pisces मीन राशि

पुखराज का सबसे ज्यादा लाभ मीन राशि वालों के लिए होता है अन्य राशियों से कहीं ज्यादा मीन राशि वाले जातक अगर पुखराज धारण करते हैं तो जीवन में हमेशा लाभ ही लाभ प्राप्त करते हैं व्यक्ति के अंदर नई ऊर्जा का संचार होता है तथा कार्य के प्रति रुझान बढ़ जाता है मीन राशि वाले जातक अगर कर्ज में डूबे हैं तो कर्ज समाप्त हो जाता है तथा जीवन में हमेशा खुशहाली बनी रहती है।

निष्कर्ष

दोस्तों अगर हम बात pukhraj stone benefits in hindi की बात करें तो यही कहा जा सकता है कि कुछ राशि के लोगों को रत्न नहीं धारण करना चाहिए लेकिन अन्य सभी राशियों के लोगों को पुखराज धारण करने से हमेशा लाभ ही मिलता है केवल कुंभ राशि और मकर राशि तथा कन्या राशि के जातकों को पुखराज धारण करने से बचना चाहिए.

osir news

परंतु कुंडली के अनुसार अगर कहीं पर बृहस्पति और राशि के स्वामी में समानता मिलती है तो धारण करना चाहिए। दोस्तों रत्न हमारे जीवन को बदल देने वाले ऐसे पत्थर हैं जो किसी भी स्थिति में हमें फायदा देते हैं अगर हम कुंडली के अनुसार धारण करते हैं तो कभी भी किसी प्रकार का नुकसान होने से बच सकते हैं इसलिए जब भी हम इन्हें धारण करें तो कुंडली का मिलान अवश्य कराएं जिससे जीवन में एक नई धारा के साथ जी सकें।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

लिविंग रूम के लिए वास्तु शास्त्र और सही दिशा जाने living room vastu in hindi
शाम को शिवलिंग पर जल चढ़ाना चाहिए या नहीं ?
टाइफाइड की एंटीबायोटिक दवा का नाम और सेवन विधि | Typhoid ki antibiotic dawa
एक महीने का ब्रह्मचर्य : फौलादी शरीर, तेज दिमाग के साथ 7 अन्य फायदे जाने | 1 month ka brahmacharya
प्रिया का फोन नंबर चाहिए ? तो इसे पढ़े प्रिया प्रकाश वेरियर का फ़ोन नंबर | Priya ka number : priya ka number kya hai
★ सम्बंधित लेख ★