वायु तत्व के लोग के बारे में सम्पूर्ण जानकारी – मिथुन,तुला और कुम्भ राशी के लोगों की कमियाँ और ख़ासियत जाने !

Vayu tatva ke logo ki kya visheshtayen hoti hain ? दोस्तों , क्या कभी आपके मन में यह प्रश्न आया कि मैं कौन सा तत्व हूँ ? हो सकता है कि कभी ना कभी आपके मन में यह सवाल आया हो । आज मैं आपको इस सवाल के जवाब को बहुत ही विस्तार रूप से बताऊंगा। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि इस ब्रम्हांड का निर्माण 5 चीजों से मिलकर हुआ है अग्नि , वायु , जल , पृथ्वी ( मिट्टी) और आकाश । साथ ही यह भी पता है कि कुल 12 राशियां होती है ।



vaayu tatva ke log kaise hote hai

इन 12 राशियों को चार तत्वों में बांटा गया है। यानी कि हर एक तत्व में 3 राशियां होती हैं । आकाश तत्व को इन राशियों से नहीं जोड़ा जाता है तो हमारे लिए अग्नि, वायु , जल और पृथ्वी यह चार तत्व ही महत्वपूर्ण रह जाते हैं। यह 12 राशियां जिस तत्व में भी आती हैं उनका स्वभाव उसी तत्व के गुणों के आधार पर हो जाता है।

उदाहरण के लिए किसी मनुष्य की राशि वायु तत्व में आती है तो उसका स्वभाव वायु के गुणों के अनुसार होता है । साथियों आज के इस लेख में हम वायु तत्व के लोगों के बारे में विस्तार रूप से जानेंगे कि उनका स्वभाव , विशेषताएं और उनमें क्या खासियत होती हैं ।

♦ लेटेस्ट जानकारी के लिए हम से जुड़े ♦
WhatsApp ग्रुप पर जुड़े 
WhatsApp पर जुड़े 
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
Google News पर जुड़े 

बारह राशियां कौन सी होती हैं ? Twelve zodiac

importance of raashi
Backdrop design of sacred zodiac symbols, signs, geometry and designs represent concept of astrology, alchemy, magic, witchcraft and fortune telling”n”n

सबसे पहले हम जान लेते हैं कि 12 राशियां कौन-कौन सी होती हैं और यह राशियां किस तत्व के अंतर्गत आती हैं ।

बारह राशियां : Twelve zodiac 

Serial number  राशि  Zodiac 
1 मेष राशि Aries
2 वृषभ राशि Taurus
3 मिथुन राशि Gemini
4 कर्क राशि Cancer
5 सिंह राशि Leo
6 कन्या राशि Virgo
7 तुला राशि Libra
8 वृश्चिक राशि Scorpio
9 धनु राशि Sagittarius
10 मकर राशि Capricorn
11 कुम्भ राशि Aquarius
12 मीन राशि Pisces

इन 12 राशियों को चार तत्वों में बांटा गया है जिसमें से हर एक तत्व में तीन तीन राशियां होती हैं ?


वायु तत्व से जुड़ी राशियां कौन सी हैं ? Zodiac signs associated with the element of air

vaayu hawa

ऊपर बताई गई 12 राशियों में से मिथुन , तुला और कुंभ यह 3 राशियां ऐसी हैं जो वायु तत्व के अंतर्गत आती हैं । यह तीनों राशियां वायु के स्वभाव की होती हैं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इन तीनों राशियों के स्वामी क्रमशः बुध , शुक्र और शनि माने जाते हैं ।

इन तीनों राशियों के स्वामी भले ही अलग हैं लेकिन वायु तत्व के अंतर्गत आने के कारण इनमें बहुत सारी समानताएं देखने को मिलती हैं । अब हम वायु तत्व के अंतर्गत आने वाली इन तीनों राशियों की विशेषताओं के बारे में अलग अलग करके विस्तार से जानेंगे ।

वायु तत्व की मिथुन राशि की क्या विशेषताएँ हैं ? Characteristics of the air element Gemini

gemini mithun rashi

  • मिथुन राशि के लोगों की विशेषताएं जानने से पहले आप शब्द जातक का अर्थ समझ लें –– जिस व्यक्ति विशेष की कुंडली या राशि का अध्ययन किया जाता है उसे जातक कहते हैं ।
  • मिथुन राशि चक्र की तीसरी राशि होती है । इस राशि में वायु की मुख्यता होती है जिसके कारण इस राशि के जातकों के अंदर कल्पना शक्ति के गुण काफी ज्यादा पाए जाते हैं ।
  • इस राशि के स्वामी बुध होते हैं ।
  • मिथुन राशि के लोग हमेशा गतिशील रहते हैं और इन्हें अपने जीवन में रुकना पसंद नहीं होता है ।
  • इन राशि के जातकों में जिद की भावना होती है और यह अपने स्वभाव को बदलने से कतराते हैं ।
  • मिथुन राशि के लोग वायु की तरह एकदम निडर होते हैं और किसी भी समस्या से नहीं घबराते और अपने जीवन में आने वाली सभी समस्याओं का डटकर सामना करते हैं ।
  • मिथुन राशि के जातकों को पन्ना रत्न पहनना चाहिए ऐसा करना इस राशि के जातकों के लिए शुभ होता है । पन्ना रत्न हल्का हरे कलर का होता है जिसे अधिकतर अंगूठी के रूप में पहना जाता है ।
  • इस रत्न को धारण करके मिथुन राशि के जातक अपनी हर मुश्किल को हल कर सकते हैं ।
( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

नीलम रत्न धारण करने के क्या फायदे है ? neelam ratna ke fayde

शादी विवाह मुहूर्त कैसे निकालते है? विवाह मुहूर्त देखने की विधि Shadi vivah muhurat kaise nikale online

वायु तत्व की तुला राशि की क्या विशेषताएँ हैं ? Characteristics of the air element Libra

libra tula rashi

  • ज्योतिष शास्त्र के अनुसार तुला राशि वायु तत्व की तीसरी राशि होती है वायु तत्व की राशि होने के कारण इस राशि के जातकों में वायु के गुण पाए जाते हैं ।
  • वायु तत्व की राशि होने के कारण इस राशि के लोग हमेशा आगे बढ़ते रहते हैं और अपने जीवन में कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखते ।
  • इस राशि के स्वामी शुक्र होते हैं ।
  • इस राशि के लोग कला और सौंदर्य प्रेमी होते है । वायु तत्व की राशि होने के कारण इस राशि के जातक अपनी कला और कल्पना शक्ति की मदद से मीडिया और फिल्मी क्षेत्र जैसी जगहों पर अच्छा प्रदर्शन करते हैं ।
  • यदि आपकी राशि तुला राशि है तो आप शुक्र देव की उपासना करें इससे आपको लाभ प्राप्त होगा ।

वायु तत्व की कुंभ राशि की क्या विशेषताएं है ? Characteristics of the air element Aquarius

kumbh aquarius rashi

  • कुंभ राशि वायु तत्व की तीसरी मानी जाती है।
  • इस राशि के स्वामी शनिदेव है जो कि सभी ग्रह के न्ययाधीश कहलाते है ।
  • कुंभ राशि की लोगों में न्यायप्रियता का गुण देखने को मिलता है । इस राशि के लोग मेहनती होते है और अपनी इच्छा को पूरा करने के लिए काफी ज्यादा मेहनत भी करते है।
  • वायु तत्व की राशि होने के कारण इस राशि के लोगों को कल्पना की दुनिया में रहना पसंद होता है । अपनी कल्पना शक्ति के माध्यम से यह कुछ न कुछ रचनात्मक कार्य करते रहते है इस राशि के लोग दूसरों पर जज करने की वजह से अपने ऊपर परेशानी मोल ले लेते हैं। लेकिन अगर इस आदत को नियंत्रित किया जाए तो बेहतरीन तरीके से अपना जीवन व्यतीत कर सकते हैं ।
  • यदि आप इस राशि के जातक है तो आपको पानी में चंदन डालकर शनि देव की उपासना करनी चाहिए ऐसा करने से आपको अपने जीवन में किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं होगी और आपको किसी ना किसी का प्रेम अवश्य प्राप्त होगा ।
  • कुंभ राशि के जातकों के लिए नीलम रत्न शुभ माना जाता है । इस रत्न को धारण करने से जीवन में आने वाली छोटी बड़ी सभी प्रकार की बाधाओं से मुक्ति मिलती है इस रत्न को सोने की अगूंठी में पहना जाता है।

दोस्तों , उम्मीद करता हूं आज के इस लेख में बताई गई जानकारी से आपको कुछ ना कुछ फायदा जरूर हुआ होगा और वायु तत्व के लोगों के बारे में आपको जितनी भी जानकारी रही होगी उसमें कुछ ना कुछ बढ़ोतरी जरूर हुई होगी । ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राशियों का हमारे जीवन में एक विशेष स्थान होता है ।

इन राशियों के आधार पर हम किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व , स्वभाव और गुण का आकलन कर सकते हैं जिसके अनुसार हमें किस प्रकार के व्यक्ति से संबंध रखना है इसका पता आप बड़ी ही आसानी के साथ कर सकते हैं ताकि हमारा उस व्यक्ति से अच्छे विचारों का आदान प्रदान हो सके और अपने जीवन में सफलता की ऊंचाइयों तक पहुंच सके। ऐसी ही जानकारी के लिए हमारे साथ जुड़े रहिये।

-: चेतावनी disclaimer :-

यह सारी जानकारी इंटरनेट से ली गयी है , इसलिए इसमें त्रुटि होने या किसी भी नुकसान के जिम्मेदार आप स्वयं होंगे | हमारी वेबसाइट OSir.in का उदेश्य अंधविश्वास को बढ़ावा देना नही है, किन्तु आप तक वह अमूल्य और अब तक अज्ञात जानकारी पहुचाना है, इस जानकारी से होने वाले प्रभाव या दुष्प्रभाव के लिए हमारी वेबसाइट की कोई जिम्मेदारी नही होगी , कृपया-कोई भी कदम लेने से पहले अपने स्वा-विवेक का प्रयोग करे !  

osir news
यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
कोई सलाह देना है या हम से संपर्क करना है ? अभी तुरंत अपनी बात कहे !
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले .

यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन