वास्तु शास्त्र : पश्चिम मुखी घर में शौचालय किधर होना चाहिये लाभ हानि जाने

पश्चिम मुखी घर में शौचालय : जब हम घर का निर्माण करवाते हैं तो घर में शौचालय के लिए भी व्यवस्था करते हैं घर बनवाते समय भौगोलिक स्थिति के अनुसार घर का मुख्य द्वार पूरब पश्चिम उत्तर दक्षिण दिशा के अनुसार बनता है.

परंतु दक्षिण दिशा की ओर मुख्य द्वार होना वास्तु शास्त्र के अनुसार अच्छा नहीं माना जाता है। फिर भी आज के समय में शहरों में और गांव में जगह की उचित व्यवस्था न होने के कारण लोगों का घर का मुख्य द्वार पश्चिम मुखी हो जाता है.

पश्चिम मुखी घर में शौचालय, paschim mukhi ghar me sidhi, घर में शौचालय किस दिशा में होना चाहिए, paschim mukhi house, paschim mukhi ghar, amrit siddhi yoga benefits, maha parivartana yoga benefits, paschim mukhi house vastu in hindi, asana siddhi benefits, padma mayurasana benefits, paschim mukhi ghar ka vastu shastra, paschim mukhi ghar ka mukhya dwar, paschim mukhi ghar ka vastu, paschim mukhi ghar kaisa hota hai, paschim mukhi ghar ka vastu dosh, paschim mukhi ghar ka main gate, paschim mukhi ghar ke fayde, घर के बाहर शौचालय किस दिशा में होना चाहिए, घर में शौचालय किस दिशा में होनी चाहिए, घर का शौचालय किस दिशा में होना चाहिए, ghar mein sochalay kis disha mein hona chahie, ghar me bathroom kis disha mein hona chahiye, ghar ka bathroom kis disha mein hona chahiye, ghar me latrine kis disha mein hona chahiye, ghar me toilet ki disha, paschim mukhi house plan, which direction is paschim, what is paschim direction in english, paschim mukhi dwar, paschim mukhi darwaja, history of house of parliament, can pm sit in both houses of parliament, paschim mukhi makan, paschim mukhi ghar ka naksha, paschim mukhi ghar ka vastu naksha, paschim mukhi ghar ka design, paschim mukhi ghar vastu, paschim mukhi ghar mein, paschim mukhi ghar ka, paschim mukhi ghar ka darvaja, paschim mukhi ghar kaisa rahata hai, vastu anusar paschim mukhi ghar ka naksha, dakshin paschim mukhi ghar, पश्चिम मुखी घर का वास्तु नक्शा, पश्चिम मुखी घर का कलर, पश्चिम मुखी घर का नक्शा, पश्चिम मुखी घर का वास्तु, पश्चिम मुखी घर का मुख्य द्वार, पश्चिम मुखी घर का द्वार, पश्चिम मुखी घर का नक्शा वास्तु के अनुसार, paschim mukhi ghar kaise hote hain, kalabhairava temple in hyderabad address, pooja ghar location as per vastu, direction of pooja ghar as per vastu, paschim mukhi ghar ka vastu in hindi, paschim mukhi ghar ke fayde aur nuksan, पश्चिम मुखी घर में, vastu shastra paschim mukhi ghar ka naksha, vastu ke anusar paschim mukhi ghar ka naksha, purab aur paschim directions, पश्चिम मुखी घर का वास्तु दोष, paschim mukhi ghar vastu shastra, पश्चिम मुखी घर में शौचालय, पश्चिम मुखी घर में शौचालय, घर में शौचालय किस दिशा में होना चाहिए, paschim mukhi ghar me sidhi, paschim mukhi makan mein, paschim mukhi makan, paschim mukhi ghar, paschim mukhi house, ghar mein sochalay kis disha mein hona chahie, paschim mukhi vastu shastra, paschim mukhi ghar ka vastu shastra, घर के बाहर शौचालय किस दिशा में होना चाहिए, घर में शौचालय किस दिशा में होनी चाहिए, घर का शौचालय किस दिशा में होना चाहिए, ghar me bathroom kis disha mein hona chahiye, ghar ka bathroom kis disha mein hona chahiye, ghar me latrine kis disha mein hona chahiye, ghar me toilet ki disha, amrit siddhi yoga benefits, maha parivartana yoga benefits, paschim mukhi house vastu in hindi, asana siddhi benefits, padma mayurasana benefits, paschim mukhi ghar ka mukhya dwar, paschim mukhi ghar ka vastu, paschim mukhi ghar kaisa hota hai, paschim mukhi ghar ka vastu dosh, paschim mukhi ghar ka main gate, paschim mukhi ghar ke fayde, paschim mukhi makan mein sidhi kahan hona chahie, mp paschim kshetra customer care, makan ceker saat diet, dakshin mukhi makan ka vastu, paschim mukhi makan kaisa hota hai, paschim mukhi makan ka vastu, paschim mukhi makan ka vastu shastra, paschim mukhi makan naksha, paschim mukhi makan ka naksha, paschim mukhi makan mein safety tank kahan hona chahiye, paschim mukhi makan mein sidhi kis taraf hona chahie, makan biskuit saat diet, paschim mukhi makan ka naksha vastu anusar, paschim mukhi makan ka vastu dosh, paschim mukhi makan ka, paschim mukhi makan kaisa rahata hai, paschim mukhi makan kise kahate hain, paschim mukhi makan ka vastu anusar naksha, paschim mukhi makan kaise banaen, dakshin paschim mukhi makan, dakshin paschim mukhi makan ka naksha, ,

पश्चिम मुखी घर में शौचालय बनवाना वास्तु शास्त्र के अनुसार कितना शुभ और कितना शुभ है यह हमारे लिए विशेष महत्वपूर्ण है। शौचालय हमारे घर पर एक जरूरी हिस्सा है और लगभग आज के समय में हर घर में शौचालय के लिए पहले से ही जगह का प्रबंध किया जाता है.

क्योंकि बिना शौचालय के हमारा घर आज के समय में अपूर्ण रहता है। जब हम अपना घर बनवा रहे हैं और हमारा मुख्य दरवाजा पश्चिम दिशा में है तो पश्चिम मुखी घर में शौचालय की व्यवस्था उचित स्थान पर होना जरूरी है।

पश्चिम मुखी घर में शौचालय

आज के मॉडर्न युग में बहुत से घर पश्चिम मुखी बने होते हैं हालांकि पूर्वजों के अनुसार पश्चिम की ओर घर का मुख्य दरवाजा होना वास्तु शास्त्र के अनुसार अच्छा नहीं माना जाता फिर भी अगर आपका घर पश्चिम मुखी है तो पश्चिम मुखी घर में शौचालय भी उचित होना जरूरी है।

हालांकि लोग घर बनवाते समय नजर अंदाज कर देते हैं और शौचालय का विशेष ध्यान नहीं देते हैं बल्कि जहां पर जगह खाली मिल जाती है वहीं पर शौचालय बनवा देते हैं जबकि वास्तु शास्त्र के अनुसार शौचालय का उचित जगह पर होना घर के लिए शुभ है।


toilet

अगर आप घर पश्चिम मुखी बनवा रहे हैं तो शौचालय वास्तु शास्त्र के अनुसार नहीं है तो इससे वास्तु शास्त्र के अनुसार पितृदोष होता है और घर में कई सारी परेशानियां आती हैं। यह जानते हैं कि पश्चिम मुखी घर में शौचालय कहां पर होना जरूरी है।

वास्तु शास्त्र कहता है कि पश्चिम मुखी घर में शौचालय नहीं होना चाहिए क्योंकि इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का विस्तार होता है जिससे घर परिवार परेशान हो सकता है और कई प्रकार की समस्याओं से व्यक्ति का जीवन प्रभावित हो सकता है।

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 735 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

वशीकरण टोटके : किसी को भी में वश में करने के 5 प्रभावशाली Vashikaran totke
औरतों को शनि देव की पूजा करनी चाहिए या नहीं ?

वास्तु शास्त्र के अनुसार शौचालय

वास्तु शास्त्र एक ऐसा विज्ञान है जो घर की हर वस्तु को सही जगह पर रखने के लिए कहता है अगर आप वास्तु के अनुसार हर चीज को अपनी सही जगह पर लगाते हैं या रखते हैं तो आपको कभी भी किसी भी प्रकार की परेशानी जीवन में नहीं मिलेगी।

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

ऐसे में शौचालय जैसी चीज को वास्तु शास्त्र के अनुसार सही जगह पर बनाना जरूरी है अन्यथा आपको कई सारी परेशानी मिलेंगी प्रमुख रूप से घर परिवार के बच्चों पर इसका प्रभाव नकारात्मक पड़ता है और व्यक्ति को धन हानि होने की संभावना ज्यादा रहती है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार निम्नलिखित दिशाओं में घर का शौचालय नहीं बनवाना चाहिए इससे कई सारी मुसीबतें होती हैं आइए हम जानते हैं।

  1. वास्तु के अनुसार पश्चिम दिशा में शौचालय नहीं बनाना चाहिए इससे घर परिवार के लोगों की इच्छाएं कभी पूर्ण नहीं होती।
  2. वास्तु शास्त्र के अनुसार उत्तर दिशा में भी शौचालय नहीं बनवाना चाहिए इससे धन हानि होती है व्यापार जैसी चीज़ में नुकसान होता है।
  3. वास्तु शास्त्र के अनुसार उत्तर पूर्व दिशा में भी शौचालय नहीं बनवाना चाहिए इससे घर परिवार के लोगों को अत्यधिक बीमारी की समस्या होती है और लोग परेशान रहते हैं।
  4. घर में पूर्व दिशा की ओर शौचालय नहीं बनाना चाहिए इससे भी हमें काफी कष्ट होता है प्रमुख रूप से लोगों से संबंध टूट जाते हैं और घर के लोग हमेशा शारीरिक रूप से थकावट महसूस करते हैं।
  5. वास्तु शास्त्र कहता है कि जहां पर हम अपना भोजन बनाते हैं अर्थात रसोईघर के सामने कभी भी शौचालय नहीं बनवाना चाहिए।
  6. वास्तु शास्त्र के अनुसार सीढ़ियों के नीचे कभी भी शौचालय नहीं बनवाना चाहिए प्रमुख रूप से जब पश्चिम मुखी घर में शौचालय बनवाना हो तो विशेष ध्यान रखना जरूरी है।

पश्चिम मुखी घर में शौचालय कहां होना चाहिए ?

toilet

अगर आपका घर पश्चिम मुखी है और आप अपने घर में शौचालय की व्यवस्था कर रहे हैं तो ऐसे में आपको पश्चिम मुखी घर में शौचालय कहां होना चाहिए आइए हम इस विषय को जानते हैं.

  • वास्तु शास्त्र के अनुसार पश्चिम मुखी घर में शौचालय हमेशा दक्षिण या फिर दक्षिण पश्चिम दिशा में बनवाना चाहिए।
  • शौचालय का गटर हमेशा पश्चिम या उत्तर दिशा में बनवाना चाहिए।
  • अगर आप खिड़कियों का प्रयोग करते हैं तो पश्चिम दिशा के अलावा खिड़कियों को किसी भी दिशा में लगाना सही है।
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार शौचालय से निकलने वाला पानी हमेशा उत्तर पूर्व दिशा में होना चाहिए।
  • शौचालय ईशान कोण में नहीं बनवाना चाहिए इससे नुकसान होता है।
  • पश्चिम मुखी घर में शौचालय और बाथरूम कैसे होना चाहिए
  • अगर घर पश्चिम मुखी में है और आप शौचालय वह बाथरूम दोनों के साथ हैं तो बाथरूम और शौचालय की स्थिति पर ध्यान देना जरूरी है आइए हम कुछ इस विषय पर जानते हैं।
  • बाथरूम और शौचालय कभी एक साथ एक ही में नहीं बनवाना चाहिए बल्कि वास्तव के अनुसार अलग-अलग होना ज्यादा सही है। बाथरूम में चंद्रमा का वास होता है और शौचालय में शनि का वास होता है जिससे परिवार पर किसी भी प्रकार की परेशानियों का ग्रहण लग सकता है।
  • शौचालय की दीवारों का रंग हमेशा हल्का सफेद हल्का पीला हल्का नीला या फिर आसमानी जैसे रंगों का होना चाहिए ।
  • शौचालय में दर्पण हमेशा पूर्व या उत्तर की दिशा में लगाना चाहिए।
  • अगर शौचालय में एग्जास्ट फैन लग जाते हैं तो हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा में लगाएं जिससे फ्रेश और ताजी हवा आपको मिल सके।
  • टॉयलेट की सीट हमेशा दक्षिण या पश्चिम दिशा में रखें।
  • बाथरूम और टॉयलेट से निकलने वाला पानी हमेशा उत्तर पूर्व दिशा में होना चाहिए।
  • शौचालय के अंदर कभी भी किसी भी प्रकार के देवी देवता की मूर्ति या चित्र नहीं लगाना चाहिए।

घर में शौचालय कहां होना चाहिए ?

toilet

हम सभी जानते हैं कि घर में शौचालय और बाथरूम जैसी चीजें बहुत ही महत्वपूर्ण होती हैं और इनका अपनी सही जगह पर होना भी जरूरी है क्योंकि कभी-कभी लोग घर में शौचालय और बाथरूम एक ही स्थान पर बनवा लेते हैं जो वास्तु दोष उत्पन्न करता।

  1. अगर हमारा शौचालय किसी भी प्रकार से घर में गलत स्थान पर बना है तो निश्चित रूप से हमारे घर परिवार पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है और सबसे बड़ी समस्या धन की उत्पन्न होती है।
  2. दक्षिण मुखी घर में शौचालय वास्तु शास्त्र के अनुसार दक्षिण पूर्व दिशा में ज्यादा सही माना गया है क्योंकि मल विसर्जन दक्षिण पश्चिम दिशा में करने से किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होती है
  3. दक्षिण पूर्व दिशा की में बनवाया गया शौचालय घर परिवार के लोगों के लिए सबसे ज्यादा लाभ देता है क्योंकि इस तरह से शौचालय होने से घर में व्यक्तियों को चिंता जैसी समस्या नहीं होती है।
  4. दक्षिण पूर्व जीवन में शौचालय नहीं बनवाना चाहिए इससे हमारे विभिन्न प्रकार के शुभ कार्य में बाधा होती हैं।

FAQ : पश्चिम मुखी घर में शौचालय

घर में शौचालय कहां-कहां नहीं बनवाना चाहिए ?

घर में शौचालय पूर्व उत्तर और उत्तर पूर्व में नहीं बनवाना चाहिए।

शौच करते समय हमारा मुंह किधर होना चाहिए ?

शौच करते समय हमारा मुंह हमेशा दक्षिण या पश्चिम दिशा में होना चाहिए।

घर की सीढ़ियों के नीचे क्या बनवाना चाहिए

घर की सीढ़ियों के नीचे अगर आपको कुछ भी बनवाना हो तो बनवा सकते हैं लेकिन लैट्रिन ना बनाएं इसके अलावा आप स्टोर रूम बनवा सकते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों हमारा घर सभी प्रकार की सुविधाओं से परिपूर्ण होता है जिसमें लैटरीन या शौचालय बनवाते हैं तो विशेष ध्यान देने की जरूरत है क्योंकि शौचालय एक अच्छी जगह नहीं मानी जाती है ऐसे में आपको शौचालय बनवाते समय उसकी दिशा का विशेष ध्यान देना वास्तु शास्त्र के अनुसार जरूरी है।

osir news

किसी भी घरेलू सामान को यदि हम वास्तु शास्त्र के अनुसार रखते हैं तो हमारे लिए अच्छा होता है क्योंकि वास्तुशास्त्र के अनुसार किसी भी वस्तु का सही जगह पर ना होने से दुष्परिणाम झेलना पड़ता है। ऐसे में किसी भी दुष्प्रभाव से बचने के लिए अपने घर की सभी चीजों को उचित स्थान पर रखें या बनवाएं।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

pdf सम्पूर्ण महालक्ष्मी अष्टकम हिंदी अर्थ सहित और पाठ के लाभ | Mahalaxmi Ashtakam : mahalakshmi ashtakam pdf
बंगाली मंत्र भूत भगाने का और 10 भूत भगाने के उपाय | Bangali Mantra bhoot bhagane ka
100% लड़कीयों की फोन नंबर लिस्ट और Girls whatsapp number | Ladki ka number : Girl whatsapp number
कामरु देश कंहा है और कामरु देश का जादू कैसे सीखे | कामरु देश का जादू
गजकेसरी योग क्या है 6 लाभ जाने गजकेसरी योग मजबूती के 3 उपाय | गजकेसरी योग : gajakesari yog
★ सम्बंधित लेख ★