मांग में सिंदूर क्यों लगाया जाता है : जाने 6 फायदे और सीखे मांग में सिंदूर कैसे लगाये

Maang me sindur kyu aur kaise lagate hai ?  maang me sindur lagane ke kya fayde hai ? हमारे भारत में सबसे बड़ा धर्म हिंदू धर्म है और जब हिंदू धर्म के अंदर किसी महिला की शादी होती है तो वह अपनी मांग पर शादी के बाद सिंदूर अवश्य लगाना चालू कर देती हैं क्योंकि सिंदूर को सुहाग का प्रतीक माना जाता है परंतु क्या आप जानते हैं कि इसके अलावा भी सिंदूर लगाने से महिलाओं को कई फायदे होते हैं. maang me sindur lagane ke fayde aur mang me sindur kaise lgaye 

इंटरनेट पर लोग यह बात हमेशा सर्च करते रहते हैं कि महिलाएं शादी के बाद सिंदूर क्यों लगाती है या फिर सिंदूर लगाने के पीछे कौन सा कारण है,आपकी जानकारी के लिए बता दें कि महिलाओं के सोलह श्रृंगार में से एक सिंगार सिंदूर भी है.

How to do Vashikaran with Madar?

हालांकि वर्तमान के इस आधुनिक जमाने में इसका चलन काफी कम हो गया है, वर्तमान के समय में महिलाएं अपनी मांग में इस तरह से सिंदूर लगाती हैं ताकि जल्दी किसी को दिखे ना, वहीं अब सिंदूर में भी बाजार में कई क्वालिटी जा चुकी है.

बाजार में लिक्विड और पेंसिल सिंदूर भी देखने को मिलते हैं, जिसका इस्तेमाल महिलाएं करती हैं,बहुत से लोग ऐसे हैं जो यह मानते हैं कि सिंदूर सिर्फ सुहाग का प्रतीक होता है परंतु यह बात सही नहीं है, सुहाग के प्रतीक होने के साथ-साथ सिंदूर लगाने से महिलाओं को अन्य कई फायदे भी होते हैं, सिंदूर लगाने के पीछे धार्मिक और वैज्ञानिक दोनों कारण मौजूद हैं.

मांग में ‌‌‌‌‌‌सिंदूर कैसे लगाये ? | maang me sindur kaise lagaye 

मांग में‌‌‌‌‌‌ सिंदूर कैसे लगाया जाता है ? सिंदूर लगाने का भी एक तरीका होता है, इसीलिए आपको सिंदूर कैसे लगाते हैं इसके बारे में जानकारी होनी चाहिए, सिंदूर आपको अपने माथे के बिल्कुल बीचो-बीच मांग में लगाना होता है और इसे अपनी मांग में आपको लंबा सा सिंदूर लगाना होता है.

ऐसा करने से पति की उम्र लंबी होती है और पति की अकल मृत्यु से भी रक्षा होती है, बहुत सी महिलाएं सिंदूर लगाने के बाद उसे अपने बालों से छुपा लेती हैं ऐसी महिलाओं को ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए, सिंदूर को ऐसा लगाना चाहिए ताकि सभी लोगों को वह दिखे.

अच्छे से जानने के लिये हमारा ये लेख पढ़े : सिंदूर लगाने की सही विधि क्या है? मांग में सिंदूर किस दिन नहीं लगाना चाहिए?

मांग में सिंदूर से जुड़े हमारे अन्य लेख

  1. पीरियड में सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं : मासिक धर्म में पूजा/नहाना | पीरियड में क्या करें और क्या नहीं सम्पूर्ण जानकारी
  2. पूर्णिमा के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं : जाने सिंदूर लगाने का महत्व | Purnima ke din sindoor lagana chahie ki nahin

मांग में सिंदूर क्यों लगाया जाता है ?

अगर आप भी नहीं जानते हैं कि महिलाएं सिंदूर लगाती हैं तो इससे उन्हें कौन से फायदे होते हैं तो बिल्कुल भी घबराए नहीं, क्योंकि आज हम आपको इसी के बारे में बताने वाले हैं, तो चलिए जानते हैं कि महिलाएं सिंदूर लगाती है तो इससे उन्हें कौन से फायदे होते हैं.

1. मांग में सिंदूर लगाने से लक्ष्मी माता प्रसन्न होती है 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सिंदूर को लक्ष्मी माता का प्रतीक माना जाता है, इसीलिए जो महिलाएं अपने माथे में सिंदूर लगाती हैं उनसे लक्ष्मी माता हमेशा प्रसन्न रहती है और जब किसी व्यक्ति से लक्ष्मी माता प्रसन्न रहती हैं तो लक्ष्मी माता उस पर सदा मेहरबान रहती हैं और उसके घर को धन और समृद्धि से भर देती हैं.

2. मांग में सिंदूर लगाने से पति की उम्र लंबी होती है 

हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार ऐसा माना जाता है कि जो महिलाएं शादी के बाद अपनी मांग में सिंदूर नहीं लगाती है उनके पति की उम्र कम हो जाती है और उनके पति की मृत्यु होने की संभावना भी ज्यादा रहती है.

इसीलिए महिलाओं को अपनी मांग में सिंदूर अवश्य लगाना चाहिए क्योंकि सिंदूर लगाने से पति की उम्र लंबी होती है ऐसी मान्यता है,हालांकि इस बात में कितनी सच्चाई है इसके बारे में कोई सटीक जानकारी उपलब्ध नहीं है.

इस संबंध में एक कहानी का वर्णन धार्मिक किताबों में मिलता है कि जब भगवान बली को मारने के लिए गए तो वह पहली बार में ही उसे मार सकते थे परंतु भगवान ने देखा कि बली की पत्नी तारा की मांग में लंबा सिंदूर लगा हुआ है.

इसीलिए वह पहली बार में बाली को नहीं मार पाए परंतु जब अगली बार भगवान राम बाली को मारने गए तो उसकी पत्नी तारा के माथे में सिंदूर नहीं था तब भगवान राम ने बाली का वध किया और तब से ही यह मान्यता चली आ रही है कि लंबा सिंदूर, लंबी मांग भरने से पति की उम्र लंबी होती है.

3. मांग में सिंदूर का लाल रंग शक्ति का प्रतीक माना जाता है

हमारे हिंदू धर्म में लाल रंग को बहुत ही शुभ माना जाता है, इसीलिए आपने यह देखा भी होगा कि देवी और देवताओं को अधिकतर लाल रंग के कपड़े, लाल रंग का फूल और लाल रंग का झंडा ही चढ़ाया जाता है.

लाल रंग माता सती और पार्वती माता की ताकत को व्यक्त करता है, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सती एक ऐसी महिला थी जो अपने पति की मृत्यु के साथ ही सती हो गई थी, जो महिला अपनी मांग में सिंदूर लगाती है उसे माता पार्वती की तरफ से अखंड सौभाग्यवती का आशीर्वाद प्राप्त होता है.

4. मांग में सिंदूर लगाने से महिलाओं की सुंदरता बढ़ जाती है 

जब किसी लड़की की शादी होती है तो शादी के बाद लड़की एक औरत बन जाती है क्योंकि उसके ऊपर अपने पति और अपने पति के घर वालों की जिम्मेदारी आ जाती है.

शादी के बाद लगभग सभी लड़कियां सुंदर दिखने की इच्छा रखती है और अगर वह अपने माथे पर नियमित तौर पर नहाकर सिंदूर लगाती हैं तो ऐसा करने से उनकी सुंदरता काफी बढ़ जाती है, इसके अलावा सिंदूर लगाने से उनका पति भी उनसे काफी प्रसन्न रहता है.

5. मांग में सिंदूर लगाने से बुरी नजरों से रक्षा होती है

धार्मिक किताबों के अनुसार समाज के अंदर कुछ ऐसे लोग होते हैं जो अगर किसी को लगातार देख ले तो सामने वाले व्यक्ति की तबीयत खराब हो जाती है.

परंतु अगर कोई महिला सिंदूर लगाती है तो सिंदूर उस महिला को बुरी नजरों से बचाने का काम भी करता है और ऐसा होने से उस महिला को जल्दी कोई बुरी नजर नहीं लगती है, साथ ही उसके आसपास से नेगेटिव एनर्जी भी नहीं आती है,इसीलिए महिलाओं को सिंदूर लगाना चाहिए.

6. मांग में सिंदूर लगाने से पति और पत्नी के बीच प्यार बढ़ता है

महिलाएं इसलिए भी सिंदूर लगाती है क्योंकि वह अपने पति को अपनी तरफ आकर्षित करना चाहती है और सिंदूर लगाने से पति-पत्नी के बीच प्यार भी बढ़ता है.

इसके अलावा पति का भाग्य भी महिला के भाग्य के साथ जुड़ा हुआ होता है, इसलिए महिलाओं को शादीशुदा जिंदगी के हर नियम का पालन करने के बारे में विचार करना चाहिए, ऐसा करने से उसका समाज में मान सम्मान भी होता है और उसका पति भी उससे हमेशा खुश रहता है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *