धर्म शास्त्र मुताबिक : अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं ? | Amavasya ke din sindoor lagana chahiye ki nahin

अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं amavasya ke din sindoor lagana chahiye ki nahin : हेलो दोस्तों नमस्कार आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं इसके बारे में बताएंगे वैसे क्या आप लोग जानते हैं कि हमारे हिंदू धर्म में अमावस्या का दिन बहुत महत्वपूर्ण माना गया है.

इस दिन कुछ ऐसे कार्य होते हैं जो नहीं करनी चाहिए उसी प्रकार हमारे हिंदू धर्म के अनुसार अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए या नहीं इसके बारे बताया गया है वैसे तो हमारे हिंदू धर्म में सिंदूर महिलाओं के लिए बेहद पवित्र होता है.

अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं,, अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं,, सिंदूर कब नहीं लगाना चाहिए,, सिंदूर कब लगाना चाहिए,, पूर्णिमा के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं,, पूर्णिमा के दिन सिंदूर लगाना चाहिए,, सिंदूर किस दिन नहीं लगाना चाहिए,, रात में सिंदूर लगाना चाहिए या नहीं,, अपना सिंदूर किसी को देना चाहिए या नहीं,, अमावस्या के दिन शादी क्यों नहीं होती है,, amavasya ke din sindoor lagana chahiye ki nahin,, Purnima ke din sindoor lagana chahiye ki nahi ,, Sindoor kis din nahi lagana chahiye,, Raat mein sindoor lagana chahiye ya nahi ,, Apna sindoor kisi ko dena chahiye ya nahi,, Amavasya ke din sir dhona chahiye ki nahi,,

खासकर विवाहित महिलाओं के लिए सिंदूर सुहाग का प्रतीक माना जाता है हिंदू धर्म में शादी तभी संपन्न होती है जब दूल्हा दुल्हन की मांग में सिंदूर लगाता है विवाह के बाद महिलाएं सिंदूर लगाती हैं और सिंदूर के साथ साथ पूरा सोलह सिंगार करती हैं.

इसीलिए आप लोगों को बताएंगे की अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए या नहीं यह जानना आपके लिए बेहद आवश्यक है क्योंकि जिस दिन भी अमावस्या पड़ती है उस दिन कुछ लोग कई ऐसे कार्य करते हैं जो अमावस्या के दिन नहीं करने चाहिये.

इसीलिए आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से बताएंगे की अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं और पूर्णिमा के दिन सिंदूर लगाना चाहिए या नहीं सिंदूर किस दिन नहीं लगाना चाहिए रात में सिंदूर लगाना चाहिए या नहीं

इन सारे विषयों के बारे में विस्तार से जानकारी देने वाले हैं अगर आप लोग या जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें ताकि आप लोगों को इसकी संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो सके।


अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं | Amavasya ke din sindoor lagana chahiye ki nahin

wedding-shadi dulhan ,sindoor

वैसे तो अमावस्या के दिन सुबह उठकर स्नान आदि से निश्चिंत होने के बाद पूरी भक्ति के साथ माता पार्वती और भगवान शिव की पूजा और हवन किया जाता है इस दिन सौभाग्यवती महिलाएं सिंदूर चढ़ाकर माता पार्वती की पूजा करती हैं तो अमावस्या के दिन महिलाएं सिंदूर लगा सकती हैं।

पूर्णिमा के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं | Purnima ke din sindoor lagana chahiye ki nahi

हमारे सनातन धर्म के मुताबिक ऐसा कहा जाता है कि कुछ महिलाएं खास त्यौहार या फिर खास दिन पर ही सिंदूर लगाना पसंद करती हैं इसीलिए आज हम आप लोगों को पूर्णिमा के दिन सिंदूर लगाना चाहिए या नहीं इसके बारे में बताएंगे वैसे तो पूर्णिमा की चांदनी रात में कुछ महिलाएं सिंदूर लगाती हैं।

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

हमारे हिंदू धर्म के ग्रंथों के अनुसार ऐसा उल्लेख किया गया है कि पूर्णिमा के दिन सिंदूर लगाना चाहिए या नहीं वैसे तो इस पर्व पर सभी लोग अपने मन मुताबिक कार्य करते रहते हैं आज हम आप लोगों को बताएंगे की पूर्णिमा के दिन सिंदूर लगाना चाहिए या नहीं

जो भी महिलाएं पूर्णिमा के दिन सिंदूर लगाती है तो यह स्वाभाविक माना जाता है वहीं कुछ लोग इसे बुरा भी मानते हैं वैसे इस विषय पर सब के अलग-अलग विचार हैं सभी लोग अपने अपने विचार के हिसाब से चलते हैं।

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 741 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

सपने में गाय देखने का क्या मतलब होता है ? स्वप्न अर्थ / शुभ या अशुभ जाने ! What does it mean to see a cow in a dream?
सिंह राशि वाले लोग करे ये 7 काम आयेगा अपार धन और धान्य | सिंह राशि धन प्राप्ति के उपाय : Singh rashi dhan prapti ke upay

वैसे देखा जाए तो यह दोनों परिस्थितियों में गलत ही माना जाता है हमारे हिंदू धार्मिक परंपराओं में ऐसा कहा गया है कि इसका कोई विशेष सर्वश्रेष्ठ कारण नहीं है लेकिन हमारे हिंदू धर्म में ऐसा कहा गया है कि विवाहित महिलाएं अगर पूर्णिमा के दिन सिंदूर लगाती है तो यह अनिवार्य माना जाता है।

सिंदूर किस दिन नहीं लगाना चाहिए ? | Sindoor kis din nahi lagana chahiye ?

sindoor

वैसे हमारे हिंदू धर्म के अनुसार ऐसा कहा गया है कि मंगलवार के दिन सिंदूर नहीं लगाना चाहिए शास्त्रों में ऐसा लिखा है कि मंगलवार के दिन हनुमान जी का दिन माना जाता है और उस दिन हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाया जाता है और हनुमान जी ब्रह्मचारी हैं इसीलिए मंगलवार के दिन किसी भी महिला को सिंदूर नहीं लगाना चाहिये।

रात में सिंदूर लगाना चाहिए या नहीं ? | Raat mein sindoor lagana chahiye ya nahi

  • लाखों रिसर्च और शास्त्रों के मुताबिक और बहुत से पूछताछ करने के बाद ही पता चला है कि सुहागिन महिलाओं को रात में सिंदूर नहीं लगाना चाहिए अगर कोई महिला रात में सोने से पहले अपनी मांग में सिंदूर लगाती है तो उसके पति के मन में नकारात्मक शक्तियों का प्रवेश होता है। और उसके घर में भी नकारात्मक शक्तियां प्रवेश करती हैं।
  • रात में सिंदूर लगाने की वजह से आपके घर की सुख शांति भी चली जाती है।
  • रात के सिवा अगर कोई महिला सूर्यास्त के बाद सिंदूर लगाती है तो उसके जीवन में बुरा प्रभाव पड़ता है और उसके घर की सुख शांति भी नष्ट हो जाती है।
  • इसीलिए सुहागिन महिला को सूर्यास्त के बाद भूल कर भी सिंदूर नहीं लगाना चाहिए और ना ही अपने घर में झाड़ू लगाना चाहिए सूर्य अस्त के समय कोई भी कार्य नहीं करना चाहिए।
  • अगर कोई महिला करवा चौथ की रात या फिर अपने घर में किसी भी पूजा या फिर शादी पार्टी में जाती है और रात के समय वह अपनी मांग में सिंदूर लगा सकती है लेकिन इसके लिए उस महिला को अपने पति के हाथ से अपनी मांग में सिंदूर लगाना चाहिए अगर वह महिला या प्रक्रिया करती है तो उसके घर में सकारात्मक शक्तियां प्रवेश करेंगे और पति पत्नी के बीच प्रेम संबंध और मजबूत हो जाएगा और उस महिला का सुहाग हमेशा सलामत रहेगा।

अपना सिंदूर किसी को देना चाहिए या नहीं | Apna sindoor kisi ko dena chahiye ya nahi

वैसे तो सुहागिन की निशानी सिंदूर माना जाता है क्योंकि विवाह के वक्त जब वर-वधू की शादी होती है तो उस समय वर-वधू के मांग में सिंदूर लगाकर विवाह को संपन्न करता है इसीलिए किसी भी महिला को अपना सिंदूर किसी दूसरे के साथ नहीं बांटना चाहिए मतलब जिस व्यक्ति से आप सिंदूर लगाती हैं.

सिंदूर

उसे किसी अन्य व्यक्ति को नहीं देना चाहिए आप चाहे तो जो भी सिंदूर आप भगवान को चढ़ाते हैं उस डिब्बी को आप किसी अन्य व्यक्ति को दे सकते हैं उससे कोई भी दिक्कत नहीं होती है लेकिन ऐसा कहा जाता है कि महिलाओं को किसी के सामने सिंदूर नहीं लगाना चाहिए।

अमावस्या के दिन सिर धोना चाहिए कि नहीं | Amavasya ke din sir dhona chahiye ki nahi

हमारे हिंदू धर्म के अनुसार ऐसा कहा गया है कि अमावस्या के दिन गलती से भी बाल नहीं भूलना चाहिए और ना ही उस दिन बाल काटने चाहिए अगर कोई महिला अपने बाल काटना चाहती है या फिर बोलना चाहती है और वह उसके पहले कुछ भी नहीं सोचती है.

लेकिन हमारे ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ऐसा कहा गया है कि शुभ मुहूर्त या फिर शुभ त्यौहार पर नाही बाल धोने चाहिए और ना ही काटने चाहिए इसी प्रकार पूर्णिमा एकादशी और अमावस्या के दिन भी बाल धुलने नहीं चाहिए।

FAQ : अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए या नहीं

अमावस्या के दिन कौन कौन से कार्य नहीं करना चाहिए?

अमावस्या के दिन किसी भी व्यक्ति को किसी के घर का भोजन नहीं करना चाहिए अमावस्या के दिन सभी व्यक्तियों को ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए इस दिन कोई भी व्यक्ति मांस मदिरा एवं क्रोध हिंसा अनैतिक कार्यों नहीं करने चाहिए और मांस मदिरा का सेवन भी नहीं करना चाहिए इस दिन किसी भी व्यक्ति को स्त्री से शारीरिक संबंध भी नहीं बनाने चाहिए।

अमावस्या के दिन क्या करना चाहिए?

अमावस्या का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है इस दिन एक व्यक्ति को किसी जरूरतमंद या फिर ब्राह्मण को भोजन खिलाना चाहिए अमावस्या के दिन स्नान करने के बाद आटे की गोलियां बनाकर तालाब में मछलियों को खिलाना चाहिए।

अमावस्या पर मंदिर में क्या दान करें?

अमावस्या के दिन सभी व्यक्तियों को शनि मंदिर में जाकर सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए और उस दीपक में काले तिल भी डालना चाहिए दीपक जलाने के बाद शनि भगवान से जुड़ी कुछ सामग्रियों का दान करना चाहिए जैसे की आटा , शक्कर , काले तिल आदि चीजों का दान करना चाहिए।

निष्कर्ष

जैसा कि आज हमने आप लोगों को इस लेख के माध्यम से बताया कि अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए या नहीं वैसे हमारे हिंदू धर्म में ऐसा कहा गया है कि अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना अनिवार्य होता है तो इसीलिए आज हमने आप लोगों को अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए या नहीं

osir news

इसकी संपूर्ण जानकारी दी है अगर आपने हमारे इस लेख को अच्छे से पढ़ा है तो आपको इसकी संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो गई होगी उम्मीद करते हैं हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और आपके लिए उपयोगी भी साबित हुई होगी।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

नवरात्रि में कपूर के टोटके : आजमाए ये कपूर के 5 अचूक चमत्कारी टोटके
संपूर्ण Damodar ashtakam हिंदी अर्थ पूजा विधि दामोदर अष्टकम मंत्र | Damodarashtakam Lyrics in Sanskrit and hindi
अब आप हम से फोन पर या व्हाट्स एप पर बात कर सकते है । अपनी समस्या के निराकरण या कुछ भी जानने समझने के लिए !
कामाख्या गुप्त मंत्र सिद्धि एवं प्रयोग विधि & कामाख्या देवी बीज मंत्र | Kamakhya gupt mantra
बुखार की सबसे अच्छी दवा का नाम और खाने का तरीका | best medicine for fever : which medicine is best for fever in hindi
★ सम्बंधित लेख ★