भारत में प्रसिद्ध काली माता के 5 मंदिर कौन से है ? Which are the 5 famous temples of Kali Mata in India?

❤ इसे और लोगो (मित्रो/परिवार) के साथ शेयर करे जिससे वह भी जान सके और इसका लाभ पाए ❤

Bharat me prashidh kali mata ke 5 mandir kaun se hote hai ?  आज के इस आर्टिकल में हम आपको हमारे भारत देश में स्थित माता काली के कुछ ऐसे मंदिरों के बारे में जानकारी देने वाले हैं, जो अपने आप में काफी चमत्कारिक मंदिर माने जाते हैं| और ऐसा माना जाता है कि यहां पर जाने से भक्तों की सभी इच्छाएं पूरी होती हैं| Bharat india ke pramukh kali mata ke mandir  ?

हमारे हिंदू धर्म में टोटल है 33 कोटि देवी देवता हैं, जिनकी पूजा पूरे भारत भर में की जाती है, उन्हीं में से एक देवी हैं माता काली माता काली की पूजा हमारे भारत भर में की जाती है| माता काली को दुर्गा माता के ही विभिन्न प्रकार के अवतारों में से एक अवतार माना जाता है|

माता काली को दुर्गा का अवतार ही माना जाता है| हमारे भारत में अधिकतर लोग माता काली की आराधना सिद्धि और तांत्रिक साधनाओं की पूर्ति के लिए करते हैं| इसीलिए तांत्रिक विधि में माता काली की काफी मान्यता है|

पावागढ़ मंदिर का रहस्य, कोलकाता की काली माता की फोटो, कोलकाता के काली मंदिर, माँ काली की घर में फोटो, काली माता का मंदिर, काली माता का मंदिर कहां पर है, दक्षिणेश्वर काली की कथा, कोलकाता का मंदिर, दक्षिणेश्वर काली मंदिर कहां है, कोलकाता की काली माता की फोटो, दक्षिणेश्वर काली की कथा, कोलकाता में कौन सा मंदिर है, काली मंदिर फोटो, दक्षिणेश्वर काली मंत्र, कोलकाता के दक्षिणेश्वर मंदिर, bharat ke prasiddha mandir , bharat ke prasidh mandir ok naam, bharat ke prasidh mandir in map, bharat ke prasidh mandir list, bharat ke prasidh mandir kaun kaun se hain, bharat ke prasidh mandir in hindi, bharat ke prasidh mandir gk, bharat ke prasidh mandir gk trick, india ke prasidh mandir, bharat ke prasidh mandir, bharat ke sabse prasidh mandir, bharat ke famous mandir, bharat ke 10 prasidh mandir, dakshin bharat ke prasidh mandir, भारत के प्रसिद्ध मंदिर pdf download, bharat ke prasidh ganesh mandir, bharat ke prasidh hanuman mandir, bharat ka sabse prasidh mandir kaun sa hai, ,


परंतु आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सिर्फ तंत्र  साधना में ही नहीं बल्कि सामान्य साधना में भी माता काली की आराधना करना काफी फायदेमंद माना गया है, क्योंकि माता काली प्रसन्न होने पर अपने भक्तों की सभी इच्छा को पूरा करने का काम करती हैं|

माता काली की मूर्ति देखने में काफी डरावनी लगती है, इसलिए बहुत से भक्त माता काली का भयंकर रूप देखकर उनसे डरते हैं, जो कि गलत बात है, जबकि सच्चाई यह है कि माता काली की आराधना करने से मनुष्य सभी प्रकार के डर से मुक्त हो जाता है| यह तो इनका रूप है जो इन्हें प्राप्त हुआ है, इसीलिए माता काली से डरने की आवश्यकता नहीं है, बल्कि इनके प्रति श्रद्धा का भाव रखकर इनकी पूजा करनी चाहिए|

भारत में काली माता का श्री काली देवी मंदिर कंहा है ? Shri Kali Devi Temple, Patiyala

बहुत से लोग पंजाब को सिर्फ स्वर्ण मंदिर के कारण ही जानते होंगे, परंतु आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पंजाब में स्वर्ण मंदिर के अलावा भी ऐसी कई चीजें हैं, जो देखने लायक है, और वहां पर भी ऐसे कई मंदिर हैं जो अद्भुत है|

पंजाब के पटियाला जिले में ही माता काली का एक शानदार मंदिर स्थापित है| पंजाब के पटियाला में स्थित इस माता काली मंदिर की स्थापना राजा भूपेंद्र सिंह ने की थी और यह मंदिर तकरीबन 200 साल पुराना बताया जाता है|

इस मंदिर में जो मूर्ति स्थापित की गई है, वह स्पेशल कोलकाता से मंगाई गई थी और नवरात्रि के समय में यहां पर काफी विशाल मेले का आयोजन किया जाता है| माता काली के इस मंदिर में काली माता को शराब, बकरा और मुर्गा की बलि दी जाती है|

अगर आप इस मंदिर में जाकर अपनी कोई मनोकामना मांगते हैं तो निश्चित ही आपकी मनोकामना पूरी होती है| इस मंदिर तक जाने के लिए आपको पटियाला रेलवे स्टेशन उतरना होगा और वहां से आप बस स्टैंड या फिर टैक्सी की सहायता से इस मंदिर तक पहुंच सकते हैं|

क्योंकि यह मंदिर पटियाला रेलवे स्टेशन से सिर्फ 1 किलोमीटर की दूरी पर ही स्थित है| इस मंदिर में भक्तों के लिए लंगर का आयोजन भी चलता रहता है जहां पर आप और निशुल्क भोजन कर सकते हैं|

भारत में काली माता का काली मंदिर की विशेषता और कंहा पर है ?  Kali mandir,Haryana

माता काली का यह मंदिर हरियाणा राज्य के कुरुक्षेत्र शहर में स्थित है और इस मंदिर को माता के 52 शक्तिपीठों में से एक माना जाता है और यह मंदिर देवीकूप भद्रकाली शक्तिपीठ के नाम से पूरे भारत भर में प्रसिद्ध है|

इस मंदिर के बारे में ऐसा भी कहा जाता है कि, इस मंदिर का संबंध माता काली के अलावा भगवान श्रीकृष्ण से भी है| इसी जगह पर माता सती के दाहिने पैर के घुटने का नीचे का भाग गिरा था, जिसके कारण इस मंदिर का काफी धार्मिक महत्व है और भगवान श्री कृष्ण का मुंडन भी हुआ था|

इसलिए यह मंदिर का चमत्कारिक मंदिर माना जाता है, इसीलिए अगर आपकी कोई मनोकामना है, तो आपको इस मंदिर पर अवश्य जाना चाहिए| आपकी मनोकामना निश्चित ही पूरी होगी| नवरात्रि के दिनों में यहां पर बड़ी धूमधाम से नवरात्रि मनाई जाती है|

India में काली माता के (दक्षिणेश्वर काली मंदिर), पश्‍चिम बंगाल : Dakshineswar kali mandir,West Bengal

माता काली का यह मंदिर पश्चिम बंगाल के कोलकाता शहर में स्थित है और इस स्थान पर देवी सती के दाहिने पैर की 4 उंगलियां गिरी थी| इसीलिए यह सती के 52 शक्तिपीठों में भी शामिल है|

साल 1847 में महारानी राजमणि ने इस मंदिर का निर्माण करवाया था और यह मंदिर टोटल 25 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है और साल 1955 में इस मंदिर का निर्माण कार्य पूरा हुआ था| इस मंदिर के पूरे क्षेत्र को कालीघाट कहा जाता है|यह मंदिर भी काफी चमत्कारिक मंदिर माना जाता है क्योंकि यह शक्तिपीठों में शामिल है|

भारत में काली माता का मां गढ़ कालिका मंदिर , उज्जैन- मध्यप्रदेश : Maa Garh Kalika, Ujjain, Madhya Pradesh

माता काली का यह प्रसिद्ध मंदिर मध्य प्रदेश के उज्जैन में स्थित है| यह मध्य प्रदेश के उज्जैन शहर में काली घाट के पास स्थित है और इस मंदिर को गढ़कालिका मंदिर के नाम से जाना जाता है|

उज्जैन शहर में ही माता हरसिद्धि का शक्ति पीठ है| इसीलिए इस क्षेत्र का महत्व काफी अधिक बढ़ जाता है| पुराणों में इस बात का उल्लेख मिलता है कि उज्जैन शहर में शिप्रा नदी के तट के पास स्थित भैरव पर्वत पर माता सती के ओठ गिरे थे, इसीलिए यह भी शक्ति पीठ माना जाता है|

वैसे तो इस मंदिर के बारे में कोई विशेष जानकारी नहीं है, पर ऐसा माना जाता है कि इस मंदिर की स्थापना महाभारत काल के दरमियान हुई थी, परंतु इस मंदिर में स्थापित मूर्ति सतयुग के काल की हैं और बाद में इस मंदिर का जीर्णोद्धार महाराजा हर्षवर्धन ने किया था|

 भारत में काली माता का महाकाली शक्तिपीठ मंदिर , पावागढ़ गुजरात : Mahakali Shakti Peeth, Pavagadh, Gujarat

माता काली का यह चमत्कारिक मंदिर गुजरात राज्य के वडोदरा शहर से तकरीबन 40 किलोमीटर की दूरी पर एक पहाड़ी के ऊपर स्थित है और इसे पावागढ़ मंदिर के नाम से जाना जाता है| यह शक्तिपीठ काफी जागृत शक्ति पीठ माना जाता है|

यहां पर माता काली को महाकाली कहा जाता है, और ऐसी मान्यता है कि माता पार्वती के दाहिने पैर की अंगुलियों इस पर्वत पर गिरी थी| इसीलिए इसे शक्ति पीठ माना जाता है|यह मंदिर काफी ऊंची पहाड़ी पर स्थित है और यहां पर आपको जाने के लिए सीढ़ी और रोप वे दोनों की सुविधा मिलती है|यह मंदिर बरसात के मौसम में देखने में काफी आकर्षक लगता है|

point down यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.
♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

( कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया )

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन