बिजली कैसे बनती है ? लाइट कैसे बनती है ? bijali kaise banti hai dikhaiye

Bijli kaise banti hai ?  bijali kaise banti hai dikhaiye? बिजली कैसे बनती है ? बिजली का निर्माण कैसे होता है ? आज के इस युग में हमें बिजली की बहुत ही आवश्यकता पड़ती है वह चाहे गांव हो या फिर शहर प्रत्येक जगह पर बिजली की जरूरत होती है सभी के घरों में आज के समय पर टीवी पंखा जैसे मशीनें आम तौर पर जरूर होती हैं या पाई जाती है |

जिनको चलाने के लिए हमें बिजली की आवश्यकता होती है और इसके साथ-साथ कुछ घरों में फ्रिज कूलर वाशिंग मशीन जैसे और भी इक्विपमेंट जोकि बिजली से ही चलते हैं इनको चलाने के लिए हमें बिजली की जरूरत होती है | पर बात यह भी आती है |

, बांध से बिजली कैसे बनाई जाती है, भारत में बिजली कहां बनती है, आसमान में बिजली कैसे बनती है, Turbine se bijli kaise banti hai, कोयले से बिजली कैसे बनती है, हवा से बिजली कैसे बनाएं, चुंबक से बिजली कैसे बनती है, Hawa se bijali kaise banti hai, पानी से बिजली कैसे बनती है, भारत में सबसे ज्यादा विद्युत उत्पादन किस राज्य में होता है, भारत में बिजली का आविष्कार कब हुआ, बिहार में बिजली कहां से आती है, भारत में बिजली का इतिहास, भारत में बिजली उत्पादन, राजस्थान में बिजली कहां बनती है, राजस्थान में बिजली कब आई, कोयले से बिजली कैसे बनती है, bijali kaise banati hai , bijali kaise banti hai video, bijali kaise banti hai vah dikhao, bijali kaise banti hai bijali kaise banti hai, bijali kaise banti hai aasman mein, bijali kaise banti hai pani se, bijali kaise banti hai video mein dikhayen, bijli kaise banti hai, bijli kaise banti hai in hindi, bharat mein bijali kaise banti hai, badalon mein bijli kaise banti hai, chumbak se bijali kaise banti hai, bijali kaise banti hai dikhaiye, bijali kaise banti hai bataen, bijali kaise banti hai bataiye, ,कोयले से बिजली कैसे बनती है, चुंबक से बिजली कैसे बनती है, भारत में बिजली कहां से आती है, भारत में बिजली कहां बनती है, लाइट कैसे बनती है, आकाशीय बिजली कैसे बनती है, बिजली कैसे चमकती है, घर में बिजली कैसे बनाएं,

कि कुछ इक्विपमेंट जो बिजली से ही नहीं बल्कि हमारे प्राकृतिक ऊर्जा सौर ऊर्जा के द्वारा भी चलाई जाती है परंतु हमारे जो बड़े इक्विपमेंट होते हैं जैसे- फ्रिज कूलर वाशिंग मशीन आदि जैसे इक्विपमेंट को चलाने के लिए हमें कई सौर ऊर्जा जिन्हें हम सोलर पैनल भी कहते हैं |

इनकी जरूरत होगी लेकिन हमारे सारे इक्विपमेंट इस प्राकृतिक ऊर्जा सौर ऊर्जा द्वारा नहीं चलाया जा सकता है जिसके लिए हमें बिजली की जरूरत जरूर पड़ती है आज हम आपको इस पोस्ट के जरिए यह बताएंगे कि बिजली कैसे बनाई जाती है |

बिजली कैसे बनाई जाती है ? How is electricity made ?

बिजली बनाने के लिए हमें कोयले की जरूरत होती है अभी आप लोगों के मन में यह सवाल उत्पन्न हो रहा होगा कि हमें बिजली चाहिए ना कि कोयला यह कोयला शब्द बीच में कैसे आ गया|


तो आइए हम जाने बिजली घर जहां पर बिजली बनाई जाती है वह जगह लगभग 3 किलोमीटर से 4 किलोमीटर की होती है इतने बड़े में पावर प्लांट फैला होता है इतना बड़ा पूरा का पूरा बिजली घर बना होता है |

जिसमें कई खंड होते हैं आइए एक-एक को विस्तार से बताते |

भारत में बिजली कैसे बनती है ? How is electricity made?

जी हां बिजली हमारी टरबाइन के घूमने से उत्पन्न होती है जिस को घुमाने के लिए हमें भाप की जरूरत होती है और वह भाप कोयले से एवं पानी से बनाई जाती है जिसमें जी हां कोयले के द्वारा ही बिजली उत्पन्न की जाती है बनाई जाती है कोयला का प्रयोग किया जाता है |

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 728 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

मकर राशि 2023 : कैरियर,रिलेशन,प्यार और भविष्यफल | मकर राशि वालों के लिए वार्षिक राशिफल 2023 : Makar rashifal 2023
दैनिक मंत्र : रोज जपने लायक 9 दैनिक मंत्र तथा उसके गुप्त रहस्य,लाभ और हानि

बिजली घर जहां पर बिजली बनाई जाती है वहां पर उसका एकखंड होता है जो बिजली घर के पूरी जमीन पूरी जगह जो होती है उसके 50% भाग में सिर्फ वही कार्य होता है उस जगह का नाम कोयलॉर्ड है|

कोयलार्ड में क्या होता है ? What happens in the coalyard?

  • यहां पर कोयले की ट्रेनें आती है जिनमें कोयला लदा होता है उन ट्रेनों में कोयला कई तरह से होता है छोटे-छोटे बड़े-बड़े और बहुत बड़े बड़े टुकड़ों में कोयला आता है जो कि उसको कोयलार्ड जगह पर रखा जाता है उसको उतारने के लिए कई तरह के यंत्र यूज किए जाते हैं |
  • कोयला जब ट्रेनों में आता है उसके बाद जहां पर ट्रेन खड़ी रहती है उसी ट्रेन के पटरी ओं के बगल में एक डिब्बों के नीचे जाली नुमा जगह बनी रहती है |
  • कोयले के डिब्बों को खोल दिया जाता है जोकि डिब्बों के निचली सतह से कोयला गिरता है और उन जालियों के द्वारा नीचे स्टोर में चला जाता है |
  • फिर एक मशीन लगी होती है जोकि ट्रेन की पटरियों पर ऊपर से लगी रहती है और जैसे ही ट्रेन आती है उस ट्रेन के डिब्बों को अलग कर दिया जाता है जहां पर वह मशीन लगी होती है उसी के पास ट्रेन को ले जाया जाता है |

  • और 1,1 डिब्बे को मशीन, जो क्रेन के जैसे बनी होती है उसको पकड़कर उलट देती है और उसमें कसारा कोयला नीचे स्टोर में चला जाता है |
  • इसी तरह ट्रेन को आगे बढ़ाया जाता है और 1,1 डिब्बों को खोल दिया जाता है एवं वह मशीन डिब्बे को पकड़कर उलट देती है और कोयला नीचे गिर जाता है|
  • उस कोलयार्ड में काफी भारी भरकम मशीन होती है जो कि उसे उठाती है वह मशीन पटेरिया पर चलाई जाती है|
  • वह उस मशीन के दोनों तरफ उठाने वाला बना रहता है जिसकी सहायता से कोयले को उठाया जाता है वह मशीन काफी दूर तक के कोयले को उठा सकती है जोकि क्रेन के जैसे ही बनी होती है पर उसकी लंबाई बहुत बड़ी होती है|
  • फिर वहां पर एक मशीन लगी होती है जिस मशीन में कन्वेयर बेल्ट लगा होता है उस बेल्ट की सहायता से कोयले को मशीन के पास तक ले जाया जाता है उस मशीन का नाम क्रशर मशीन होता है|
  • इस क्रशर मशीन हम कोयले को छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ देते हैं अब तोड़ने के बाद इसे अभी हम जलने के लिए आगे नहीं भेजते हैं इस कोयले को आगे पलवल राइस करने के लिए आगे बाउल मशीन में भेज देते हैं|
  • बाउल मिल में क्या होता है इस पहले को छोटे-छोटे टुकड़ों में जो कोयला होता है उसको पीस कर पाउडर के जैसे कि सीमेंट होते हो वैसे ही उतना महीने से पीस दिया जाता है|
  • ताकि पूरा जल जाए कंपलीटली जल जाए ताकि इसकी जो राख वह कम निकले ज्यादा ना निकले|
( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

यह भी पढ़े :

लगभग डेढ़ मिलियन कोयला कहाँ रखा जाता है ? Where about 1.5 million coal is kept?

कोयला जो कि एकदम जाता है आटे के नुमा पीसा जाता है उस कोयले को बाउल मशीन में डाला जाता है | वहां पर यह कोयला जो कि बड़े कड़ वाला होता है वह नीचे गिर जाता है नीचे गिर कर जलने लगता है और जो पीसा हुआ होता है वह उड़ते हुए भाप के जैसे चलता है उसमें पाइप के द्वारा गर्म हवा दी जाती है ताकि कोई कोयले में नमी ना रह जाए और वह अच्छे से जल सके|

जलने के बाद जो राख होती है वह नीचे पाइप द्वारा नीचे गिर जाती है जहां पर एक चलनी नुमा लगा होता है जिससे छन छन कर वह राख स्टोर रूम में गिर जाती है और फिर उस राख को सीमेंट फैक्ट्री में भेज दिया जाता है |

उस बाउल मशीन में पाइप लगी होती है जिनमें पानी भरा रहता है यह पाइप कुछ दूरी पर होती हैं और पतली होती हैं जिनमें पानी रहता है या पानी पाइपों में गर्व हो जाता है|

उस बाउल मशीन में इतना ज्यादा पावर हीट हो जाता है कि वह पानी खोलने लगता है और भाप बन जाता है वह बहुत ही High-temperature पर होती है जो हाई टेंपरेचर पर आता है |

उस स्ट्रीम को हम टरबाइन पर से गुजारा जाता है जोकि इतना हाई टेंपरेचर रहता है इसी की वजह से यह टरबाइन बहुत ही तेजी से नाचने लगती है और इसी टरबाइन में बाद एक जनरेटर लगा रहता है जिससे वह घूमता है और बिजली बनने लगती है |

osir news

यूं कहें कि टरबाइन को घुमाने के लिए हमें हाई टेंपरेचर की स्टीम चाहिए| स्टीम को बनाने के लिए हमें पानी और कोयला चाहिए उसी टरबाइन से फिर हमारा जनरेटर चलता है जिससे कि बिजली उत्पन्न हो जाती है तो इस तरह से विद्युत घर में बिजली बनाई जाती है |

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

कलाई पर तिल का होना : दाई या बायीं कलाई पर तिल होने का मतलब जाने | kalai pe til hone ka matlab kya hota hai ?
अध्यात्म का अर्थ और 10 नियम : आनंदपूर्ण अध्यात्मिक जीवन की शुरुआत कैसे करे? | What is spirituality : adhyatm ki suruaat kaise kare
दस्त रोकने की गोली का नाम और सेवन विधि कारण और निवारण | Dast rokne ki goli ka name
अगर पत्नी परेशान करे तो क्या करे ? वजह और उपाय जाने ! What to do if wife tortures in hindi ?
6 सर्व शक्तिशाली शिव मंत्र : सबसे ताकतवर मंत्र और जाप के लाभ | Sarva shaktishali shiv mantra
★ सम्बंधित लेख ★