जलाभिषेक कैसे करे ? महाशिवरात्रि पूजा सामग्री how to jalabhishek of lord shiva

jalabhishek kaise kare ?  जलाभिषेक कैसे किया जाता है? जलाभिषेक करने के लिए क्या करे ? जलाभिषेक कब करे ?  भगवान शिव का अभिषेक अनेक प्रकार से किया जाता है जल से भगवान शिव का अभिषेक किया जाता है | जो हमारे धार्मिक अनुष्ठानो में से एक माना जाता है | महाशिवरात्रि की पूजा कैसे की जाती है ?

जलाभिषेक क्या होता है?, अभिषेक कैसे किया जाता है?, जलाभिषेक कब का है?, अभिषेक में क्या क्या सामग्री लगती है?, jalabhishek 2021, jalabhishek abhiyan, jalabhishek in english, jalabhishek mantra, jalabhishek 2021 sawan, jalabhishek ka samay, jalabhishek ka time, jalabhishek campaign, jalabhishek abhiyan mp, jalabhishek at mahakaleshwar, jalabhishek benefits, jalabhishek date, ,

दुग्ध अभिषेक कैसे किया जाता है ? How to anoint milk ?

दूध से बहुत जल्दी सुबह सुबह भगवान शिव के मंदिरों पर भक्तों जवान और बूढ़ों का तांता लग जाता है । वह सभी पारंपरिक शिवलिंग पूजा करने के लिए जाते हैं। और भगवान से प्रार्थना करते हैं।

भक्त सूर्योदय के समय पवित्र स्थानों पर स्नान करते हैं, जैसे- गंगा, शिव सागर या किसी अन्य पवित्र जल स्रोत में जो शुद्धि के अनुष्ठान है जो सभी हिंदू त्योहारों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। पवित्र स्नान के बाद स्वच्छ वस्त्र वस्त्र पहने जाते हैं ।

भक्त शिवलिंग स्नान करने के लिए मंदिर में पानी का बर्तन ले जाते हैं। महिलाओं और पुरुषों दोनों सूर्य,विष्णु और शिव की प्रार्थना करते हैं ।

भक्त शिवलिंग की तीन या सात बार परिक्रमा करते हैं । और फिर शिवलिंग पर पानी या दूध चढ़ाते हैं । शिव पुराण के अनुसार महाशिवरात्रि पूजा में 6 वस्तुओं को अवश्य शामिल करना चाहिए ।


महाशिवरात्रि पूजा की पूजा सामग्री क्या होती है ? What is the worship material for Mahashivratri Puja ?

भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग कौन से होते है ? Which are the 12 Jyotirlingas of Lord Shiva ? 

12 ज्योतिर्लिंग की पूजा के लिए भगवान शिव के पवित्र धार्मिक स्थल और केंद्र हैं । वह स्वयंभू के रूप में जाने जाते हैं। 12 स्थानों पर 12 ज्योतिर्लिंग स्थापित हैं-

भगवान शिव का सोमनाथ मंदिर : Somnath 

भगवन सोमनाथ का मंदिर का शिवलिंग गुजरात के काठियावाड़ में स्थित है ।

भगवान शिव का श्री शैल मंदिर : Shree Shaili 

भगवान शिव का श्री शैल मंदिर मल्लिकार्जुन मद्रास में कृष्णा नदी के किनारे पर्वत पर स्थित है

भगवान शिव का  महाकाल मंदिर : Maha Kall 

भगवान शिव का महाकाल मंदिर उज्जैन के अनंत नगर में स्थापित महाकालेश्वर शिवलिंग जहां शिवजी ने दैत्यों का नाश किया था ।

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 582 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

कबूतर के पंख से प्रचंड वशीकरण कैसे करें ? मंत्र टोटका और उपाय How to vashikaran by pigeon feathers in hindi ?
दुश्मन को दोस्त बनाने का मंत्र क्या है ? How to make an enemy a friend mantra?

भगवान शिव का ओंकारेश्वर मंदिर : Aukareshvar 

मध्य प्रदेश के धार्मिक स्थल ओंकारेश्वर में नर्मदा तट पर पर्वतराज विंध्य की कठोर तपस्या से खुश होकर वरदान देने हेतु यहां प्रकट हुए थे

भगवान शिव का  नागेश्वर मंदिर : Nageshwar 

भगवन शिव का नागेश्वर मंदिर गुजरात के द्वारका धाम के निकट स्थापित नागेश्वर ज्योतिर्लिंग है ।

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

यह भी पढ़े :

भगवान शिव का बैजनाथ धाम : Baijnath Dham 

भगवन shiv का मंदिर बिहार के बैद्यनाथ धाम में स्थापित शिवलिंग स्थित है।

भगवान शिव का भीमाशंकर मंदिर  : Bhimashankar 

भगवन shiv का भीमाशंकर मंदिर महाराष्ट्र की भीमा नदी के किनारे स्थापित भीमशंकर ज्योतिर्लिंग है ।

भगवान शिव का त्रयंबकेश्वर मंदिर  : Trayambakeshwar 

नासिक से 25 किलोमीटर दूर त्रयंबकेश्वर में स्थापित ज्योतिर्लिंग है।

भगवान शिव का घुश्मेश्वर मंदिर : Ghushmeshwar 

महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में एलोरा गुफा के समीप बेलगांव में स्थापित घुश्मेश्वर ज्योतिर्लिंग है ।

भगवान शिव का केदारनाथ मंदिर : Kedarnath 

हिमालय का दुर्गम केदारनाथ ज्योतिर्लिंग हरिद्वार से 150 किलोमीटर दूर है।

भगवान शिव का काशी विश्वनाथ मंदिर : Kashi vishwanath 

भगवन shiv का काशी विश्वनाथ मंदिर बनारस के काशी विश्वनाथ मंदिर में स्थापित विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग है।

osir news

भगवान शिव का रामेश्वर मंदिर : Rameshwar 

रामेश्वरम त्रिचनापल्ली समुद्र तट पर भगवान श्री राम द्वारा स्थापित रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग है।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

पति-पत्नी में कलेश को दूर करने के आसान उपाय : तुरंत झगड़ा रोकने के 4 ज्योतिष उपाय
सपने में दूध देखने का क्या मतलब या अर्थ होता है : शुभ या अशुभ जाने – sapne mein dudh dekhna
हनुमान जी को खुस और प्रसन्न कैसे करे ? हनुमान जी को बुलाने के प्रमुख 5 मंत्र बताये ! Hanuman ji top 5 mantra in hindi
मोबाईल और कंप्यूटर पर हिंदी में टाइपिंग कैसे करे? App Software and website for hindi typing in smart phone and Laptop
हाथ पैर में दर्द के घरेलू उपाय : तुरंत आराम पाने के लिए 5 कारगर घरेलु इलाज | Hath pair me dard ke gharelu upay : जाने हाथ पैर में दर्द क्यों होता है?
★ सम्बंधित लेख ★