वास्तु शास्त्र : छत का पानी किस दिशा में गिरना चाहिए?

Chhat ka pani me kis disha me girna chahiye ? आज के इस आर्टिकल में हम आपके साथ इस मुद्दे पर चर्चा करने वाले हैं कि घर के छत का पानी किस दिशा में गिरना चाहिए| अगर आप वास्तु शास्त्र में विश्वास करते हैं या फिर आप वास्तु शास्त्र के अनुसार यह जानना चाहते हैं कि घर के छत का पानी किस दिशा में गिरना चाहिए तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े|

chhat ka pani kis disha me girna chahiye

दोस्तों जैसा की हम सभी जानते हैं की वास्तु शाश्त्र का हमारे जीवन कितना ज्यादा महत्त्व होता है आज के इस लेख में मै आपको पहले यह बताने का प्रयास करूंगा की वास्तु शाष्त्र क्या है , इसका हमारे जेवण में क्या महत्त्व है उसके इस लेख के अंत में मै आपको विस्तार रूप से बताने का प्रयास करूंगा की हमारी छत का पानी किस दिशा गिरना चाहिए .

वास्तु शास्त्र क्या है ? What is Vastu Shastra

वास्तु शास्त्र का अर्थ होता है घर निर्माण करने की वह कला, जो ईशान कोण से चालू होती है और जिसका पालन करने से घर में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं आती है,साथ ही घर में होने वाली सभी परेशानियां भी दूर हो जाती है|

इसके अलावा अगर आप वास्तु शास्त्र का इस्तेमाल करके घर का निर्माण करते हैं, तो आपके घर में हमेशा खुशहाली और पॉजिटिव एनर्जी रहती है, साथ ही बुरी शक्तियां और नेगेटिव एनर्जी हमेशा आपके घर से दूर ही रहती हैं|

इसके अलावा ऐसा कहा जाता है कि घर निर्माण के लिए योग्य भूमि को वास्तु कहा जाता है| कुल मिलाकर आपको बता दें कि, वास्तु एक ऐसा विज्ञान है, जो भूखंड पर भवन निर्माण से लेकर उसमें इस्तेमाल होने वाली चीजों के बारे में आपको मार्गदर्शन प्रदान करता है|

VAASTU DIRECTION DISHA


वास्तु शास्त्र हमारे भारत का एक प्राचीन शास्त्र है, जिसमें घर बनाने से संबंधित जानकारियों के बारे में जानकारी दी जाती है|

वास्तु शास्त्र का सिद्धांत प्रकृति में संतुलन बनाए रखता है|जैसा कि आप जानते हैं कि, प्रकृति में विविध बल मौजूद हैं जिनमें वायु, अग्नि, पृथ्वी, जल और आकाश शामिल है, जिसका व्यापक प्रभाव इस धरती पर रहने वाले सभी प्राणियों पर पड़ता है|

वास्तु शास्त्र के अनुसार इस प्रक्रिया का इफेक्ट हमारे काम के प्रदर्शन,हमारे स्वभाव, हमारे भाग्य तथा हमारी जिंदगी के अन्य मुद्दों पर भी काफी गहराई से पड़ता है| वास्तु शास्त्र की कला को विज्ञान, खगोल विज्ञान और ज्योतिष का मिक्सर कहा जाता है,आइए अब आगे जानते हैं कि वास्तु शास्त्र का हमारी जिंदगी में क्या महत्व होता है|

वास्तु शास्त्र का हमारी जिंदगी में क्या महत्व है ? Importance of Vastu Shastra in our life

ऐसा माना जाता है कि, वास्तु शास्त्र का इस्तेमाल करने से हमारी जिंदगी में हमें नेगेटिव शक्तियों से रक्षा की प्राप्ति होती है| एक प्रकार से वास्तु शास्त्र नेगेटिव एनर्जी को दूर करके वातावरण को सुरक्षित रखता है|

pairent

वास्तु शास्त्र में यह बताया जाता है कि आपको अपने घर का द्वारा किस दिशा में रखना है, साथ ही आपको अपने घर की तरक्की में रुकावट ना आए इसके लिए कौन से उपाय करने हैं,आपको किस दिशा में मंदिर रखना है, किस दिशा में टॉयलेट या बैडरूम रखना है.

इस जानकारी को सही से समझने
और नई जानकारी को अपने ई-मेल पर प्राप्त करने के लिये OSir.in की अभी मुफ्त सदस्यता ले !

हम नये लेख आप को सीधा ई-मेल कर देंगे !
(हम आप का मेल किसी के साथ भी शेयर नहीं करते है यह गोपनीय रहता है )

▼▼ यंहा अपना ई-मेल डाले ▼▼

Join 731 other subscribers

★ सम्बंधित लेख ★
☘ पढ़े थोड़ा हटके ☘

गर्लफ्रेंड बनाने वाला एप्प का नाम और डाऊनलोड लिंक | Girlfriend Banane Wala App
त्राटक के 6 चमत्कार जाने : त्राटक के नुकसान और 8 सावधानियां | त्राटक के चमत्कार और नुकसान जाने

किस दिशा में आपको अपना किचन हॉल रखना है इत्यादि बातें तथा अन्य कई बातें भी आपको वास्तु शास्त्र में सिखाई जाती है, आइए अब जानते हैं कि घर छत का पानी किस दिशा में गिरना चाहिए|

पानी गिरने की दिशा का वास्तु शाष्त्र में क्या महत्व है ? Significance of the direction of falling water

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

घर चाहे छोटा हो या फिर बड़ा हो, उसमें जल की निकासी की व्यवस्था करना बहुत ही ज्यादा आवश्यक होता है| हम अपने घर में अपने रोज के काम जैसे कि नहाना, कपड़े धोना, बर्तन साफ करना इत्यादि काम करते हैं और इसमें से जो गंदा पानी निकलता है,उसकी निकासी के लिए हम ड्रेनेज सिस्टम की व्यवस्था करते हैं|

water element

इसके अलावा बरसाती पानी की निकासी के लिए भी यह जरूरी होता है|जल निकासी की व्यवस्था सामान्य तौर पर घर के फर्श के अनुरूप या फिर सार्वजनिक नाली के अनुरूप होती है और विभिन्न दिशाओं में घर के पानी की निकासी का प्रभाव वास्तु शास्त्र के अनुसार निम्न प्रकार से पड़ सकता है|

  • अगर आपके घर का गंदा पानी इसान की ओर से बहकर बाहर की ओर जाता है तो यह स्थिति आपके घर में संतान वृद्धि करती है, साथ ही आपके वैभव और मान सम्मान में भी बढ़ोतरी करती है|
  • जिस घर का गंदा पानी पूरब दिशा की ओर निकल कर घर के बाहर जाता है, वहां पर हमेशा शांति बनी रहती है और उस घर में हमेशा सुख शांति रहती है|
  • अगर आपके घर का गंदा पानी आग्नेय में से निकल कर बाहर की ओर जाता है, तो यह पुत्र तथा संतान के लिए अशुभ माना जाता है|इसलिए आपको इस व्यवस्था को चेंज कर देना चाहिए|
  • जिस घर का पानी दक्षिण की ओर से बहकर घर के बाहर जाता है, वह घर स्त्रियों के लिए अशुभ माना जाता है|इसीलिए अगर आपके घर में यह व्यवस्था है,तो आपको इसे चेंज कर देना चाहिए और अपने घर में से बहने वाले पानी की दिशा को बदल देना चाहिए|
  • जिस घर का पानी नैऋत्य की ओर से बहकर घर के बाहर जाता है तो यह परिवार के सदस्यों को मृत्युतुल्य कष्ट देता है|
  • अगर आपके घर का गंदा पानी पश्चिम की ओर से बहकर घर के बाहर जाता है तो यह आपके परिवार के मान सम्मान और ऐश्वर्य को समाप्त कर देता है|
  • जिस घर का गंदा पानी उत्तर की ओर से बहकर घर के बाहर जाता है वहां पर हमेशा मान प्रतिष्ठा के साथ साथ सुख भी बना रहता है और ऐसे घर में हमेशा खुशहाली टिकी रहती है|

वास्तु शास्त्र के टोटके / उपाय क्या होते है ? वास्तु शास्त्र के उपाय कैसे करे ? What are the tricks of Vastu Shastra and how to do if hindi ?

घर का नक्शा कैसे बनाएं? | ऑनलाइन मकान का नक्सा बनाने की वेबसाइट, App और सावधानियाँ | How to make a house map in hindi ?

छत का पानी किस दिशा में गिरना चाहिए ? | In which direction should the roof water fall

BACHCHE CHAATACHHAT RAIN TERRACE

अगर हम बात करें छत पर से गिरने वाले पानी की दिशा के बारे में तो आपकी छत का पानी पश्चिम या फिर दक्षिण दिशा में गिरना चाहिए,क्योंकि छत का पानी गंदा पानी होता है और इसीलिए गंदी चीजें हमेशा नेगेटिव होती है|इसलिए आपके छत का पानी दक्षिण या फिर पश्चिम दिशा में गिरना चाहिए|

छत का पानी सही दिशा में गिरने से क्या फायदे हैं ? Benefits of falling roof water in the right direction

अगर आपके छत का पानी सही दिशा में गिरता है, तो ऐसा होने से आपके घर का वास्तु शास्त्र ठीक रहता है और जब आपके घर का वास्तु शास्त्र ठीक रहता है,तो आपको कई फायदे भी होते हैं| इसीलिए आपने देखा होगा कि वर्तमान के समय में पढ़े लिखे लोग भी अपने घर का निर्माण वास्तु शास्त्र के हिसाब से ही करवाते हैं|

HAND COMPASS DISHA

क्योंकि वास्तु शास्त्र में घर का निर्माण किस प्रकार करवाया जाए, ताकि घर में सुख शांति बनी रहे तथा घर की तरक्की हो, इसके बारे में काफी बातें बताई गई हैं| इसीलिए लोग अपने घरों का निर्माण वास्तु शास्त्र के अनुसार ही करवाते हैं|

osir news

छत का पानी सही दिशा में गिरने के कारण आपके घर में तरक्की बनी रहती है, साथ ही आपके घर में किसी भी प्रकार का वास्तु दोष नहीं रहता है| इसके अलावा आपके घर में कोई नेगेटिव एनर्जी प्रवेश नहीं कर पाती है तथा आपको अपने धंधे तथा नौकरी में भी फायदा होता है|

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले . यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !
 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन 
☘ पढ़े थोडा हटके ☘

पेट्रोल की चोरी कैसे करते है ? पेट्रोल पंप वाले चूना कैसे लगाते है ? | Petrol ki chori se kaise bache
घर से भागे हुए व्यक्ति को बुलाने का उपाय जाने !
गर्लफ्रेंड को खुश कैसे करें ? 7 बेहतरीन टिप्स How to make your girlfriend happy?
बिना ओटीपी या मोबाइल नंबर के आधार कार्ड डाउनलोड कैसे करें ? | Downloading aadhar card without mobile number otp
सूरह हिंदी में : कुरान की 10 छोटी सूरतें नमाज़ के लिए अरबी व हिंदी तर्जुमे के साथ
★ सम्बंधित लेख ★