काला जादू क्या है A to Z ? काले जादू से बचने के उपाय ! जादू-टोना तंत्र के लक्षण कैसे पहेचाने ? what is black magic and how to do black magic

kala jadu kya hai ? यदि आप अभी तक kala jadu या Black magic के बारे में कुछ नहीं जानते थे तो इस पोस्ट को पूरी पढ़ने के बाद आपको काले जादू के बारे में लगभग सब कुछ पता चल जाएगा कि यह क्या होता काले जादू के लक्षण क्या होते हैं और यदि किसी पर काला जादू किया गया है तो कौन से उपाय से सही किया जाए. kale jadu ke upay

दोस्तों विज्ञान में तो अभी तक जादू या काले जादू की पुष्टि नहीं की गई इसीलिए बहुत से लोग इसे मानने से इनकार भी करते हैं पर पुरातन काल से लोग इसे मानते आए हैं और बहुत से लोगों ने इसे बहुत नजदीक से महसूस भी किया है  इसलिए हम लोग इसके अस्तित्व को नाकार भी नहीं सकते है .

आप ने भी गली नुकड़ या फिर बड़े बड़े स्टेजो पर जादूगरों को काला जादू दिखाते देखा होगा किन्तु यंहा हम उस प्रदर्सन वाले जादू की बात नही करने जा रहा हूँ यंहा हम तांत्रिको tantriko ke Tantra Mantra vale Jadu के बारे में बतायेंगे यदपि आप प्रदर्सन वाले जादू के बारे में पढना चाहते है तो यह पोस्ट पढ़े :-

काला जादू क्या होता है ?

काले जादू के माध्यम से व्यक्ति किसी भी हद्द तक जाकर अपनी मनोकामना की पूर्ति एवम अपने स्वार्थ को सिद्ध करने का प्रयत्न  करता है या किसी को नुकसान पहुंचाने का कार्य  करता है। बंगाल और असम को काला जादू का गढ़ माना जाता रहा है। काले जादू के माध्यम से किसी को बकरी बनाकर कैद कर लिया जाता है या फिर किसी को वश में कर उससे मनचाहा कार्य कराया जा सकता है। काले जादू के माध्यम से किसी को किसी भी प्रकार के भ्रम में डाला जा सकता है और किसी को मारा भी जा सकता है।
काला जादू शरीर में नकारात्‍मक ऊर्जा उत्‍पन्‍न करता है। ये शक्तियां बाहरी व्‍यक्ति के द्वारा भेजी जाती हैं जो उस व्‍यक्ति पर आतंरिक प्रभाव डालती है।(आप यह पोस्ट OSir.in पर पढ़ रहे है)  दरअसल काला जादू मनोवैज्ञानिक ढंग से कार्य करता है। काला जादू करने वाले आपके अचेतन मन को पकड़ लेते हैं। इसका प्रभाव आपके मन पर होता है। काले जादू के अंतर्गत मूठकर्णी विद्या, वशीकरण, स्तंभन, मारण, भूत-प्रेत, टोने और टोटके आदि आते हैं। अधिकतर इसे तांत्रिक विद्या भी कहते हैं।
इसके अलाव बहुत से ऐसे पारंपरिक अंधविश्वास और टोटके हैं जो अंधविश्वास हैं, जो लोक परंपरा से आते हैं जिनके पीछे कोई ठोस आधार नहीं होता। ये शोध का विषय भी हो सकते हैं। इसमें से बहुत-सी ऐसी बातें हैं, जो धर्म का हिस्सा हैं और बहुत-सी बातें नहीं हैं।

नकारात्मक दिमाग वाले लोग काले जादू का स्तेमाल इसलिए करते हैं ताकि जल्द से जल्द अपनीइच्छाओं को पूरा कर सकें.तंत्र शास्त्र में काले जादू , टोने टोटके वशीकरण सम्मोहन मारण आदि शब्द भी आते है जो नकारात्मक शक्तियों के परिणामो के घोतक है |

यह जिस व्यक्ति पर लागू किया जाता है उसकी मानसिक अवस्था बिगर जाती है और अजीबोगरीब हरकते करने लगता है | तंत्र विद्या में मार और सम्हाल दोनो उपलब्ध है। अर्थात इसमें तांत्रिक क्रियाओं से बचाव हेतु उसका काट भी मौजूद है। ये एक घातक हथियार है जो न केवल जिसपर प्रयोग किया जाता है उसको नष्ट करता है बल्कि जो इसका प्रयोग करता है उसको भी नष्ट करता है.

इस विषय पर जानकारी से भरी यह यह पोस्ट भी पढ़े :-

विश्वस्तरीय काला जादू और तंत्र-मंत्र , टोटका बचाव और उपाय ! World class black magic and tantra-mantra

जादू-टोना तंत्र के लक्षण :

पहले तो यह अच्छे से जान ले की जिस व्यक्ति पर आपको संदेह है , कही वो किसी बीमारी से ग्रसित तो नही है | फिर जांचे की उस व्यक्ति की कुण्डली में कोई ग्रह अशुभ फल तो नही दे रहा | यदि कुण्डली और चिकित्सक जांच सही आये और व्यक्ति की हालत में कोई सुधार ना हो तब हो सकता है की किसी ने उसके ऊपर काला जादू , तंत्र मंत्र किया हो |
आइये जानते है की काला जादू टोना होने पर व्यक्ति के लक्षण कैसे हो जाते है |

  1. पीड़ित व्यक्ति का स्वयं पर नियंत्रण नहीं रहता | (आप यह पोस्ट OSir.in पर पढ़ रहे है) वो स्वयं को और दुसरे को शारीरिक मानसिक नुकसान पहुंचा सकता है |
  2. व्यक्ति के शरीर के हिसाब से उसमे अधिक बल आ जाता है |
  3. उसके नेत्रों में जलन , बार बार पेशाब आना और उदासीन और गुमसुम रहना शुरू कर देता है |
  4. पीड़ित व्यक्ति गुस्से वाला , चिडचिडा हो जाता है |
  5. चेहरा कांतिहीन तथा पीला हो जाता है पर भूख ज्यादा लगती है |

ये बहुत ही दुर्भाग्य की बात है की अज्ञानता और धीरज की कमी के कारण आज लोग शैतानी शक्तियों के स्तेमाल करने से भी नहीं चूकते हैं. ऐसे बहुत से केस मेरे पास आते रहते हैं जिनमें काले जादू के कारण लोग विभिन्न प्रकार के फल को भोगते हैं जैसे की-

1. सारे गुण होने के बावजूद भी रोजगार न मिलना.
2. अच्छा कार्य करने पर भी तरक्की मिलना और ऊपर से अफसरों से सुनना.
3. आय के स्त्रोत का अकस्मात् बंद हो जाना.
4. शक्ति होने के बावजूद भी घर में बैठे रहना, काम नहीं करना.

5. दिन भर सोते रहना.
6. रोज बुरे सपने आना.
7. व्यापार में अकस्मात् हानि होना शुरू हो जाना और कारणो का पता नहीं चलना.
वक्तिगत जीवन पर भी काले जादू से बहुत प्रभाव पड़ता है जैसे की –
8. वैवाहिक जीवन का नष्ट हो जाना, सब कुछ ठीक चलते चलते अचानक से रिश्तों में खटास आ जाना.
9. प्रेम संबंधों में विच्छेद हो जाना बिना किसी कारण के.
10. बिना किसी कारण के तलाक की नौबत आना.
11. रोज गली गलोच मरना पीटना आदि भी दिखाई पड़ते हैं.
12. अचानक कोई गंभीर रोग होना और इलाज करने पर भी असर न होना.
13. दुर्घटनाये होना और बड़े किसी हानि का होना.

इसके अलावा भी कुछ विचित्र बातें सामने आई है जैसे की –

1. कहीं पर भी आग लग जाना और नुक्सान होना.
2. घर पर से चीजों का गायब हो जाना .
3. पुरे घर में एक भय का वातावरण का निर्माण हो जाना.

4. खून की उल्टियाँ होना और मृत्यु नजर आना.
5. गंभीर बिमारी से ग्रस्त हो जाना और सब तरफ नकरात्मक वातावरण का निर्माण होना.
6. कहीं भी राह नजर न आना आदि .

काले जादू से बचाव के उपाय :-

जैसा मैंने ऊपर बताया की काला जादू एक बहुत ही भयानक विद्या है और इसके परिणाम किसी भी हालत में ठीक नहीं होते हैं अतः इससे बचाव जरुरी है. अगर आप एक सुखी समपन्न परिवार में है ,(आप यह पोस्ट OSir.in पर पढ़ रहे है) अच्छा व्यापार चलाते हैं या फिर काले जादू से ग्रस्त हैं तो आपको अपने सुरक्षा के उपाय करने चाहिए. यहाँ में कुछ सलाह दे रहा हूँ जिसे अपना कर आप जीवन को सुगमता से जी सकते हैं –
1. एक सिद्ध महाकाली यन्त्र अपने घर में स्थापित करे और रोज दीपक और धुप देते रहे.
2. अगर परिणाम ज्यादा गंभीर हो तो पुरे घर को सुरक्षा कवच से बांधा जाता है
3. घर के सदस्यों को सुरक्षित करने के लिए उन्हें महाकाली कवच या हनुमान कवच जो की सिद्ध हो उसे पहनाया जाए.
4. अमवस्या को सफाई करके उतरा जरुर करना चाहिए और गूगल की धुप देना चाहिए.
5. अगर बिमारी नहीं जा रही हो तो अभिमंत्रित जल पिला कर के रोग निवारण कवच पहनना चाहिए.
6. कुछ गंभीर स्थितियों में विशेष पूजा की जरुरत होती है जिसके लिए पूरी जांच करने के बाद ही निवारण बताया जा सकता है जिसके लिए संपर्क कर सकते हैं.

जादू-टोने टोटके दूर करने के उपाय :-

1. गुगल में जावित्री, गायत्री और केसर के चुर्ण को मिलाकर २१ दिन तक लगातार सुबह शाम धूप दें अपने घर में |
2. गोमती चक्र ले लें चार की संख्या में | अब इसे पीड़ित मनुष्य के ऊपर से वार कर फेंक दे चारों दिशाओं में | यह आप बुधवार, जो शुक्ल पक्ष में पड़ता है उस दिन करें |
3. कपूर, पीली सरसों, गाय का घी तथा गूगल को मिलाकर धूप बनाए | आप प्रतिदिन इसे संध्या समय गोबर (गाय के) के द्वारा बनाए गए गोएठें (उपलों) के साथ जला कर धूप दें | इस क्रिया को लगाकर २१ दिन तक करें घर के हर हिस्से में |
4. प्रतिदिन पूरे घर में गौमूत्र का छिड़काव करें |
5. प्रतिदिन एक सुपारी (साबुत) अर्पण करें गणेश जी को |
6. हर रोज किसी दरिद्र नारायण को एक कटोरी भर कर अन्न का दान करें |
7. लहसुन का रस और हींग मिला ले | अब इसे सुंघा दें पीड़ित को |
8. जड़ ले लें काले धतूरे की | किसी भी रविवार के दिन उसका ताबीज बनाकर पहना दे पीड़ित व्यक्ति को |
9. गोरोचन और तगर को एक नए लाल रंग के कपड़े में बांधकर रख दे अपने पूजा स्थान में |
10.पौधा लगाएं तुलसी का अपने घर में |

11.पाँच बूंद शहद की मिला ले गाय के कच्चे दूध(आधा लीटर) में संध्या के वक्त | अब इसका छिड़काव करे घर के प्रत्येक स्थान पर | मुख्य द्वार तक पहुंच कर बाकी सारा दूध को वहीं पर गिरा दें |
12.प्रतिदिन पीड़ित व्यक्ति को पाठ करना चाहिए हनुमान चालीसा का | इसके साथ ही साथ गायत्री मंत्र का ११ बार जप करना चाहिये |
13.कोयला सवा किलो को एक किलोग्राम साबुत उड़द के साथ मिलाकर काले रंग के सवा मीटर कपड़े में बांध लें | अब इसे पीड़ित व्यक्ति के ऊपर से वार कर जल में प्रवाहित कर दें |
किया कराया जादू टोना उपाय/किया कराया कैसे दूर करें
14.एक चांदी की कटोरी में लौंग और कपूर एक साथ डालकर पूजा स्थान में जला दें प्रतिदिन रात को सोने से पहले |
15.पौधा धतूरे का जड़ सहित उखाड़ लें पुष्य नक्षत्र में | अब इसे जमीन में इस कुछ इस तरह दबा दें कि पूरा पौधा जमीन के अंदर चला जाए और उपर रह जाए केवल जड़ वाला भाग | इस टोटके को अपनाने से घर में सुख शांति का अनुभव होता है |
16.शनिवार या मंगलवार के दिन पाठ करें बजरंग बाण का |
17.सदा हनुमान जी का ध्यान करें व सुंदरकांड का पाठ करें शनि मंगल के दिन |
18.शनि तथा मंगलवार के दिन श्रंगार करें हनुमान जी का और उन्हें चोला चढ़ाएं |
19.्रतिदिन पवित्र होकर सुबह शाम दो-दो अगरबत्ती महाकाली के लिए जलाएं और उनसे अपने शरीर और घर की रक्षा के लिए प्रार्थना करें |
20.अपने घर के मंदिर में सात पत्ते रखे अशोक वृक्ष के | उनकी पूजा करें और सूख जाने पर इन पत्तों के स्थान पर नए पत्तों को स्थान दें तथा पुराने पत्तों को रख दें .

21.केसर, गायत्री तथा जावित्री को कूटकर चूर्ण बना लें तथा उसमें गुग्गल मिश्रित कर प्रातः काल तथा संध्या काल निरंतर 21 दिनों तक घर में धूप दें।
22.चार गोमती चक्र लेकर शुक्ल पक्ष के बुधवार को पीड़ित व्यक्ति के ऊपर उतारकर चारो दिशा में फेंक दें। (आप यह पोस्ट OSir.in पर पढ़ रहे है)
23.घर में हनुमान चालीसा की चमत्कारी चौपाइयो का सुबह और शाम पीड़ित के सामने पाठ करे ।
24.नियमित रूप से अपने घर में गौ मूत्र और गंगा जल छिड़कैं।
25.घर के बगीचे में आक तथा तुलसी का पौधा लगाएं।
26.नित्य गणेश जी को एक साबुत सुपारी अर्पित करें तथा गरीब को कटोरी भर अन्न दान करें।
27.रविवार के दिन काले धतूरे की जड़ ले और उसका ताबीज बनाकर पीड़ित व्यक्ति को पहनाये |
28.लहसून के रस में हींग मिलाकर पीड़ित को सुंघा दें।

29.पीड़ित व्यक्ति को नारायण कवच का पाठ कराये |

30.गाय के घी, पीली सरसो, कपूर तथा गुग्गल का धूप बनाकर सूर्यास्त के समय गाय के गोबर से बने उपलों की सहायता से जलाएं। यह धुनी 21 दिनों तक घर में दे । यह घर से नकारात्मक शक्तियों को दूर करने में रामबाण ईलाज है |

दोस्तों मुझे पूरा यंकीन है की यह जानकारी आप को पसन्द आई होगी , इसको आप whatsapp पर अपने सारे मित्रो और परिवार के लोगो को अवस्य भेजे जिससे उनको भी इस पोस्ट से लाभ हो सके !

नोट :-

हमारी वेबसाइट OSir.in का उदेश्य अंधविश्वास को बढ़ावा देना नही है किन्तु आप तक वह जानकारी पहुचाना है जो मैजिक या पेरानोर्मल (परालोकिक) से सम्बन्ध रखती है , इस जानकारी से होने वाले प्रभाव या दुष्प्रभाव के लिए हमारी वेबसाइट की कोई जिम्मेदारी नही होगी , कृपया-कोई भी कदम लेने से पहले अपने स्वा-विवेक का प्रयोग करे !  

(Visited 5,704 times, 5 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published.