सम्पूर्ण लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित pdf और लाभ | लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित pdf

लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित PDF | Lakshmi Poojan vidhi mantra sahit PDF : हेलो दोस्तों नमस्कार स्वागत है आपका हमारे आज के इस नए लेख में आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित pdf के बारे में बताने वाले हैं वैसे क्या आप जानते हैं कि सप्ताह के सभी दिन किसी ना किसी देवता को समर्पित किए गए हैं उसी प्रकार माता लक्ष्मी को भी शुक्रवार का दिन समर्पित किया गया है.



लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित PDF, लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित pdf download, लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित pdf sanskrit, लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित पीडीएफ, laxmi pujan vidhi pdf, laxmi pujan vidhi hindi pdf, laxmi poojan pdf, laxmi puja vidhi pdf, लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित pdf free download, laxmi pujan vidhi in hindi pdf, laxmi pujan marathi pdf, laxmi pooja vidhi in marathi pdf, laxmi puja vidhi in sanskrit pdf, laxmi puja vidhi sanskrit, लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित pdf, diwali puja vidhi pdf download,

ऐसा कहा जाता है कि शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी की पूजा करने से आपको कभी भी धन की कमी नहीं होती है कार्तिक कृष्ण अमावस्या के दिन भी माता लक्ष्मी की पूजा करने का विधान बताया गया है आप चाहे तो दीपावली के दिन भी माता लक्ष्मी की पूजा कर सकते हैं.

जो भी व्यक्ति अपने जीवन में भौतिक सुख सुविधाओं को प्राप्त करना चाहता है और अपने घर में सुख समृद्धि का वास चाहता है तो उस व्यक्ति को माता लक्ष्मी की पूजा अवश्य करनी चाहिए इसीलिए आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित pdf के बारे में बताने वाले हैं.

♦ लेटेस्ट जानकारी के लिए हम से जुड़े ♦
WhatsApp ग्रुप पर जुड़े 
WhatsApp पर जुड़े 
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
Google News पर जुड़े 

अगर आप इस विषय को विस्तार से जानना चाहते हैं और माता लक्ष्मी की कृपा को प्राप्त करना चाहते हैं तो आप हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें ताकि आप लोगों को इसकी संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो सके और आप माता लक्ष्मी की कृपा को प्राप्त कर सके ।

लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र | Lakshmi Poojan vidhi mantra

लक्ष्मी Laxmi


ॐ स्वस्ति न इंद्रो वृद्धश्रवाः स्वस्ति नः पूषा विश्ववेदाः ।
स्वस्ति नस्तार्क्ष्यो अरिष्ट्टनेमिः स्वस्ति नो बृहस्पतिर्दधातु ॥
द्यौः शांतिः अंतरिक्षगुं शांतिः पृथिवी शांतिरापः
शांतिरोषधयः शांतिः।

वनस्पतयः शांतिर्विश्वे देवाः
शांतिर्ब्रह्म शांतिः सर्वगुं शांतिः शांतिरेव शांति सा
मा शांतिरेधि।

यतो यतः समिहसे ततो नो अभयं कुरु ।
शंन्नः कुरु प्राजाभ्यो अभयं नः पशुभ्यः।

सुशांतिर्भवतु ॥

लक्ष्मी पूजन विधि  | Lakshmi Poojan vidhi

  1. अगर आप लोग माता लक्ष्मी की पूजा करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको लक्ष्मी पूजन का एक शुभ मुहूर्त शाम से ही शुरू हो जाता है।
  2. लक्ष्मी पूजन के लिए आपको एक नई लकड़ी का खंभा , उसके बाद आपको उस सिंहासन पर एक लाल रंग का कपड़ा बिछा देना है और माता लक्ष्मी की मूर्ति को स्थापित कर देना है।
  3. उसके साथ आपको गणेश जी की मूर्ति को भी स्थापित कर देना है तथा लक्ष्मी को गणेश भगवान के दाहिने हाथ की ओर रख देना है।
  4. गणेश और लक्ष्मी की मूर्ति स्थापित करने के बाद आपको उनके सामने चावल के दानों से ऊपर जल ,अक्षत , धूप , सुपारी , रत्न , चांदी के सिक्के से भरकर कलश बनाकर रख देना है।
  5. उसके बाद आपको कलर्स पर सिंदूर या रोली से स्वास्तिक बनाना है और उस कलर्स पर चावल से भरी कटोरी को रखना है और उसके ऊपर नारियल को लाल कपड़े में लपेट कर रखना है नारियल के ऊपर 11 बार लपेट दे।
  6. अब आपको चावल धूप फूल इन सारी चीजों को गणेश भगवान और माता लक्ष्मी के सामने चढ़ा देना है और उनके सामने एक निरंतर दीपक जला देना है।
  7. दीपावली के दिन घर के मुखिया को पूजा अवश्य करनी चाहिए और घर के सभी सदस्यों को एक साथ बैठकर गणेश भगवान और माता लक्ष्मी को भोग लगाना चाहिए।

लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित PDF | Lakshmi Poojan vidhi mantra sahit PDF

इस लिंक पर जाकर आप आसानी से लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित PDF | Lakshmi Poojan vidhi mantra sahit PDF डाउनलोड कर सकते है.

लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित PDF | Lakshmi Poojan vidhi mantra sahit PDF  Download link 

लक्ष्मी पूजन मंत्र सहित | Lakshmi Poojan Mantra

महालक्ष्मी

माता लक्ष्मी की पूजा करते समय आपको इन मंत्रों का उच्चारण अवश्य करना चाहिए इन मंत्रों का उच्चारण करना शुभ माना जाता है।

रक्तचन्दनसम्मिश्रं पारिजातसमुद्भवम् ।
मया दत्तं महालक्ष्मि चन्दनं प्रतिगृह्यताम् ।
ॐ महालक्ष्म्यै नमः रक्तचन्दनं समर्पयामि ।।

जिसमें आप माता लक्ष्मी की पूजा कर रहे होते हैं उस समय आपको ऊपर दिए गए मंत्र का जाप करते हुए उनके सामने दुर्वा समर्पित करना है।

क्षीरसागरसम्भते दूर्वां स्वीकुरू सर्वदा ।
ॐ महालक्ष्म्यै नमः दूर्वां समर्पयामि ।।

ऊपर दिए गए मंत्र के साथ आपको माता लक्ष्मी को अक्षत समर्पित करने हैं।

अक्षताश्च सुरश्रेष्ठ कुंकुमाक्ताः सुशोभिताः ।
मया निवेदिता भक्त्या गृहाण परमेश्वरि ।
ॐ महालक्ष्म्यै नमः |

अक्षतान समर्पयामि ।।

ऊपर दिए गए मंत्र के साथ आपको माता लक्ष्मी को पुष्प माला समर्पित करना है।

माल्यादीनि सुगन्धीनि मालत्यादीनि वै प्रभो ।
ॐ मनसः काममाकूतिं वाचः सत्यमशीमहि ।
ॐ महालक्ष्म्यै नमः |

पुष्पमालां समर्पयामि ।।

अब आपको ऊपर दिए गए मंत्र के साथ माता लक्ष्मी को आभूषण समर्पित करने हैं।

त्नकंकणवैदूर्यमुक्ताहाअरादिकानि च ।
सुप्रसन्नेन मनसा दत्तानि स्वीकुरूष्व भोः । ॐ
क्षुत्पिपासामलां ज्येष्ठामलक्ष्मीं नाशयाम्यहम् ।
अभूतिमसमृद्धि च सर्वां निर्णुद मे गृहात् ।

ॐ महालक्ष्म्यै नमः ।

आभूषण समर्पयामि ।।

अब आपको ऊपर दिए गए मंत्र के साथ माता लक्ष्मी को वस्त्र समर्पित करने हैं।

दिव्याम्बरं नूतनं हि क्षौमं त्वतिमनोहरम् ।

( यह लेख आप OSir.in वेबसाइट पर पढ़ रहे है अधिक जानकारी के लिए OSir.in पर जाये  )

दीयमानं मया देवि गृहाण जगदम्बिके ।।
ॐ उपैतु मां देवसुखः कीर्तिश्च मणिना सह ।

प्रादुर्भूतोस्मि राष्ट्रेस्मिन कीर्तिमृद्धि ददातु मे ।।

अब आपको माता लक्ष्मी के ऊपर दिए गए मंत्र के साथ स्नान हेतु धी समर्पित करना है।

ॐ घृतं घृतपावानः पिबत वसां वसापावानः पिबतान्तरिक्षस्य हविरसि स्वाहा ।
दिशः प्रदिश आदिशो विदिश उद्धिशो दिग्भ्यः स्वाहा ।

ॐ महालक्ष्म्यै नमः घृतस्नानं समर्पयामि ।।

अब आपको माता लक्ष्मी की पूजा के साथ-साथ और इस मंत्र के साथ आपको माता लक्ष्मी को जल समर्पण करना है।

मन्दाकिन्याः समानीतैर्हेमाम्भोरूहवासितैः ।

स्नानं कुरूष्व देवेशि सलिलैश्च सुगन्धिभिः ।।
ॐ महालक्ष्म्यै नमः स्नानं समर्पयामि ।।

अब आपको इस मंत्र के साथ माता लक्ष्मी को आसन समर्पण करना है।

तप्तकाश्चनवर्णाभं मुक्तामणिविराजितम् ।

अमलं कमलं दिव्यमासनं प्रतिगृह्यताम् ।।
ॐ अश्वपूर्वां रथमध्यां हस्तिनादप्रमोदिनीम् ।

श्रियं देवीमुपह्वये श्रीर्मा देवी जुषताम् ।।

अब आपको इस मंत्र के साथ माता लक्ष्मी का आवाहन करना है।

सर्वलोकस्य जननीं सर्वसौख्यप्रदायिनीम ।
सर्वदेवमयीमीशां देवीमावाहयाम्यहम् ।।
ॐ तां म आवह जातवेदो लक्ष्मीमनपगामिनीम् ।

यस्यां हिरण्यं विन्देयं गामश्वं पुरुषानहम् ।।

माता लक्ष्मी पूजा विधि | Laxmi Pooja Vidhi Mantra

लक्ष्मी Laxmi

  1. अगर आप लोग माता लक्ष्मी की पूजा करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको दीपावली के दिन पूजा करना शुभ बताया गया है इसीलिए आप दीपावली के दिन माता लक्ष्मी की पूजा अवश्य करें इसके लिए आपको सबसे पहले सुबह उठकर स्नान आदि से निश्चिंत होने के बाद घर में गंगाजल से छिड़काव करना है।
  2. अब आपको अपने पूरे घर को अच्छी तरह से सजा लेना है और मुख्य द्वार पर रंगोली भी बनानी है।
  3. अब आपको अपने घर का मुख्य नवाजे पर तोरण द्वार से सजाना है अपने घर के मेन दरवाजे पर दोनों तरफ शुभ लाभ और स्वास्तिक का निशान भी बनाना है।
  4. उसके बाद अब आपको शाम होते ही पूजा की सारी तैयारी कर लेनी है उसके बाद मुहूर्त होते ही आपको पूजा स्थल पर बैठ जाना है उसके बाद आपको एक चौकी रखनी है उसके ऊपर लाल रंग का कपड़ा बिछाना है और गंगाजल से छिड़काव करना है उसके बाद आपको गणेश भगवान और माता लक्ष्मी की मूर्ति को स्थापित करना है पार्वती और कुबेर देवता की मूर्ति को भी स्थापित करना है।
  5. पूजा सामग्री को एकत्रित करने के बाद चौकी के पास जल से भरा कलश रख लेना है।
  6. उसके बाद आपको शुभ मुहूर्त का ध्यान रखते हुए पूजा को प्रारंभ करना है और विधि विधान पूर्वक माता लक्ष्मी की पूजा करनी है।
  7. माता लक्ष्मी की पूजा करने के बाद आपको तिजोरी और अपने बहीखाते और पुस्तकों की पूजा भी करनी है।
  8. उसके बाद आपको माता लक्ष्मी की आरती करके अपने घर के सभी सदस्यों को आरती देनी है और अपने घर के सभी हिस्सों में घी और तेल के दीपक जला देना है।

लक्ष्मी पूजा के लाभ | Laxmi Pooja ke labh

  1. अगर आप लोग पूरे विधि विधान पूर्वक माता लक्ष्मी की पूजा करते हैं तो आपको धन शांति और समृद्धि की प्राप्ति होती है।
  2. अगर कोई व्यक्ति माता लक्ष्मी की पूजा करता है तो उसे माता लक्ष्मी की दिव्य कृपा और उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है।
  3. माता लक्ष्मी की विधि-विधान पूर्वक पूजा करने से घर के सभी प्रकार के कष्ट और समस्याएं दूर हो जाती हैं।
  4. माता लक्ष्मी की विधि विधान पूर्वक पूजा करने से आपके रास्ते से सभी बाधाएं दूर हो जाती हैं और आप एक खुशहाल जीवन जीने लगते हैं।

माता लक्ष्मी की आरती | Mata Lakshmi Ki Aarti

लक्ष्मी

 

ॐ जय लक्ष्मी माता,मैया जय लक्ष्मी माता।
तुमको निशिदिन सेवत,हरि विष्णु विधाता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
उमा, रमा, ब्रह्माणी,तुम ही जग-माता।
सूर्य-चन्द्रमा ध्यावत,नारद ऋषि गाता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
दुर्गा रुप निरंजनी,सुख सम्पत्ति दाता।
जो कोई तुमको ध्यावत,ऋद्धि-सिद्धि धन पाता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
तुम पाताल-निवासिनि,तुम ही शुभदाता।
कर्म-प्रभाव-प्रकाशिनी,भवनिधि की त्राता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
जिस घर में तुम रहतीं,सब सद्गुण आता।
सब सम्भव हो जाता,मन नहीं घबराता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
तुम बिन यज्ञ न होते,वस्त्र न कोई पाता।
खान-पान का वैभव,सब तुमसे आता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
शुभ-गुण मन्दिर सुन्दर,क्षीरोदधि-जाता।
रत्न चतुर्दश तुम बिन,कोई नहीं पाता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
महालक्ष्मीजी की आरती,जो कोई जन गाता।
उर आनन्द समाता,पाप उतर जाता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥

FAQ : लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित pdf

लक्ष्मी पूजा करते समय कौन सा मंत्र पढ़ना चाहिए?

मां लक्ष्मी मंत्र- ऊं श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद, ऊं श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम:॥ सौभाग्य प्राप्ति मंत्र- ऊं श्रीं ल्कीं महालक्ष्मी महालक्ष्मी एह्येहि सर्व सौभाग्यं देहि मे स्वाहा।।

लक्ष्मी जी के मंत्र कौन कौन से हैं?

ऊँ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ऊँ महालक्ष्मी नमः:।। अगर आप लोग माता लक्ष्मी का या मंत्र जाप करते हैं तो आपके घर में सुख समृद्धि और यश की प्राप्ति होने लगती है महालक्ष्मी के इस मंत्र का जाप आपको 108 बार करना शुभ बताया गया है ऊँ श्रीं क्लीं महालक्ष्मी महालक्ष्मी एह्येहि सर्व सौभाग्यं देहि मे स्वाहा।।  

लक्ष्मी जी को कैसे खुश करे?

अगर आप लोग माता लक्ष्मी को खुश करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने मुख्य द्वार पर शुभ लाभ लिख कर उस पर स्वास्तिक बनाना चाहिए इससे आपके घर में लक्ष्मी का आगमन होता है अगर आप प्रतिदिन अपने घर के मुख्य द्वार पर स्वास्तिक बनाते हैं और माता लक्ष्मी की विधि विधान पूर्वक पूजा करते हैं तो माता लक्ष्मी आप से जल्द ही प्रसन्न हो जाती हैं अगर आप इस स्वास्तिक पर दीपक जलाते हैं तो और भी ज्यादा फायदेमंद होता है।

निष्कर्ष

जैसा कि आज हमने आप लोगों को इस लेख के माध्यम से लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित pdf के बारे में बताया और लक्ष्मी माता की पूजा करने के क्या फायदे हैं इसके बारे में भी बताया है लक्ष्मी माता की पूजा की संपूर्ण विधि भी बताई है और लक्ष्मी माता की आरती भी दी है अगर आपने हमारे इस लेख को अच्छे से पढ़ा है तो इसकी संपूर्ण जानकारी आपको प्राप्त हो गई होगी उम्मीद करते हैं हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और आपके लिए उपयोगी भी साबित हुई होगी।

osir news
यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिचितों एवं Whats App और फेसबुक मित्रो के साथ नीचे दी गई बटन के माध्यम से अवश्य शेयर करे जिससे वह भी इसके बारे में जान सके और इसका लाभ पाये .

क्योकि आप का एक शेयर किसी की पूरी जिंदगी को बदल सकता हैंऔर इसे अधिक से अधिक लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे.

अधिक जानकरी के लिए मुख्य पेज पर जाये : कुछ नया सीखने की जादुई दुनिया

♦ हम से जुड़े ♦
फेसबुक पेज ★ लाइक करे ★
TeleGram चैनल से जुड़े ➤
 कुछ पूछना है?  टेलीग्राम ग्रुप पर पूछे
YouTube चैनल अभी विडियो देखे
कोई सलाह देना है या हम से संपर्क करना है ? अभी तुरंत अपनी बात कहे !
यदि आप हमारी कोई नई पोस्ट छोड़ना नही चाहते है तो हमारा फेसबुक पेज को अवश्य लाइक कर ले , यदि आप हमारी वीडियो देखना चाहते है तो हमारा youtube चैनल अवश्य सब्सक्राइब कर ले .

यदि आप के मन में हमारे लिये कोई सुझाव या जानकारी है या फिर आप इस वेबसाइट पर अपना प्रचार करना चाहते है तो हमारे संपर्क बाक्स में डाल दे हम जल्द से जल्द उस पर प्रतिक्रिया करेंगे . हमारे ब्लॉग OSir.in को पढ़ने और दोस्तों में शेयर करने के लिए आप का सह्रदय धन्यवाद !

 जादू सीखे   काला जादू सीखे 
पैसे कमाना सीखे  प्यार और रिलेशन